mp mirror logo

राजधानी में मास्टर प्लान लागू करने की कवायद शुरू

भोपाल (एमपी मिरर)। राजधानी भोपाल में तेजी से विकास हो रहा है, लेकिन कई स्थानों पर विकास कार्य बेतरतीब हुए हैं। इस कारण राजधानीवासियों को समस्याएं होती हैं। राजधानी में अगर पहले ही मास्टर प्लान लागू हो जाता तो एक सुनियोजित तरीके से विकास होता। अब जब मास्टर प्लान को लागू करने की तैयारी चल रही है तो शहर में विकास कार्य और तेजी से बढ़ जाएंगे। इसके अलावा राजधानी से सटे क्षेत्रों में भी विकास की गंगा दौड़ने लगेगी। 12 साल बाद भोपाल विकास योजना (मास्टर प्लान) का मसौदा चौथी बार तैयार किया जाएगा।...

Read More

चौतरफा घिरे मंत्री पाठक, कभी भी हो सकता है इस्तीफ़ा...

कटनी (एमपी मिरर)। हवाला कांड के आरोपों उलझे मंत्री संजय पाठक की कुर्सी पर खतरा बरक़रार है।संजय पाठक पर लगातार इस्तीफ़ा देने का दबाव  बढता जा रहा है। कटनी के असंतुष्ट भाजपाईयों ने मंत्री पाठक  के खिलाफ जो गोपनीय अभियान चलाया है उसका असर दिखाई देने लगा है। इस पूरे मामले पर भाजपा आला कमान भी अपनी नजर गढ़ाए हुए है। इस मामले का खुलासा करने वाले कटनी एसपी गौरव तिवारी को मध्यप्रदेश में ही नहीं बल्कि पूरे देश में जबरदस्त समर्थन मिल रहा है। इसको लेकर  आरएसएस ने भी  पाठक का इस्तीफ़ा लेने का दबाव बनाना शुरू कर दिया है।...

Read More

सुहास भगत जी अपने संगठन महामंत्री होने का एहसास भी कराएं

  • पवन देवलिया

भोपाल (एमपी मिरर)। मध्यप्रदेश की राजनीति मे इस समय कटनी मे पकडे गये हवाला 500 करोड की आग कटनी भोपाल दिल्ली तक फैल चुकी।मोदी के नोटबंदी के बाद देशभर मे हवाला हुआ।एमपी के कटनी मे तो एसपी गौरव तिवारी के नेतृत्व मे देश का सबसे बडा हवाला पकडा गया।500 करोड के हवाले की रकम मे अभी अभी काग्रेस से भाजपा मे आकर मंत्री बने संजय पाठक के सहयोगियों का नाम आया मंत्री जी को आरोपों मे घिरते देख  आनन फानन मे सरकार ने कार्यवाही करने वाले एसपी गौरव तिवारी को जिले से हटा दिया। एसपी को हटाने की स्थानीय जनता सडको पर उतर आई सरकार के पास यह रिपोर्ट भी आई कि महाकौशल क्षेत्र के संघ प्रचारक भी सरकार के इस निर्णय के खिलाफ हुए और पुराने भाजपाईयो को सरकार के इस कथित निर्णय की खिलाफत करने का संदेश कान टू कान भेजा गया फिर क्या था जो जनता सडको पर थी उसे पीछे से संघ और भाजपा का गुप्त समर्थन मिलते है आग और भडक गई जो आज तक सुलग रही है।...

Read More

कटनी में दमन का काला अध्याय शुरू ...

भोपाल (एमपी मिरर)। आम आदमी की दबाई जा रही है आवाज 2003 से लगातार भारी बहुमत से जनता द्वारा चुनी जा रही भाजपा सरकार की दमकारी नीति शुरू...कटनी वासियों को आई अग्रेजो के शासन की याद...500 करोड के हवाला लेन देन मे काग्रेस से भाजपा मे जाकर मंत्री बने संजय पाठक का नाम आने के बाद ईमानदार अफसर को जिले से हटाने की कार्यवाही के विरोध मे समूचा जिला लामबंद हुआ....शहर के प्रमुख स्थान सुभाष चौक जो हमेशा अभिव्यक्ति के जाना पहचाना स्थान है पर शासन प्रशासन ने जनता की अभिव्यक्ति पर लगाया प्रतिबंध... आगे देखिये सरकार एक खदान व्यापारी से मंत्री बने नेता को बचाने के लिए कैसे आम जनता को प्रदर्शन करने से रोक रही है। आवाज़ दबा रही है। ये तो इमरजेंसी जैस माहौल बनता जा रहा है।कटनी जिला प्रशासन ने सुभाष चौक पर लगे टेंट और ध्वनि विस्तारक यंत्रों को उखाड कर 100 डायल खडी करवा दी है।...

Read More

सीएमएचओ के संरक्षण में अवैध तरीके से संचालित हो रहे नर्सिंग होम

  • नितिन चौबे
दमोह (एमपी मिरर)। सूबे के वित्तमंत्री जयंत मलैया के गृह जिला दमोह में स्वास्थ्य विभाग का भ्रष्टाचार चरम पर है। वर्तमान में मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी कार्यालय भ्रष्टाचार का गढ़ बना हुआ है। स्वास्थ्य सेवाओं के नाम पर लकदक करता जिला अस्पताल जहां एक ओर डॉक्टरों की कमी से जूझ रहा है, वहीं दूसरी ओर जिले में लगातार एक के बाद एक नए नए नर्सिंग होम अस्तित्व में आ रहे हैं। जिला अस्पताल की कमियों का फायदा उठाकर नित नए खुल रहे नर्सिंग होम्स में मरीज के परिजनों का जमकर आर्थिक शोषण किया जाता है। जिले में वर्तमान में 14 नर्सिंग होम एवं क्लीनिक विभाग में पजीकृत हैं और अनेक नर्सिंग होम बिना अनुमति के ही संचालित हो रहे हैं। मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी की नाक के नीचे जिले में ऐसे नर्सिंग होम भी संचालित हैं, जो बिना रजिस्ट्रेशन के ही संचालित किए जा रहे हैं।

Read More

आईएएस अफसर ने बदली जिले की तकदीर

  • पवन देवलिया

भोपाल (एमपी मिरर)। एक भागीरथ को भारतीय इतिहास में इसलिए जाना जाता है कि वे गंगा को इस धरती पर लाए थे। इस पुण्य कार्य को सफल बनाने के लिए भागीरथ ने अपना सारा जीवन खपा दिया था। इस पुण्य कार्य को करने के बाद उनके साथ दो चीजें हमेशा के लिए जुड़ गईं। एक तो गंगा को धरती पर लाने के बाद उनका नाम गंगाजी के साथ हमेशा के लिए जुड़ गया। इसके लिए उन्हें भागीरथी कहा जाने लगा। दूसरा यह कि जो दुनिया में उस हर असंभव कार्य को संभव कर दिखाता है, उस कार्य को करने का जो प्रयास, प्रयत्न, मेहनत करता है, उस हर कार्य को भागीरथी प्रयत्न कहा जाने लगा।

Read More

मुख्यमंत्री के दावों की पोल खोलती स्कूल की खास रिपोर्ट...

सुरेन्द्र त्रिपाठी

उमरिया (एमपी मिरर)। यह स्कूल उमरिया जिले की शासकीय प्राथमिक शाला बेलमना है जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर है यहाँ का हाल बेहाल है, सन 2013 में इस भवन में शाला लगना चालू हो गई शासन स्तर पर यहाँ सारी सुविधाएँ मुहैया है, यदि एजुकेशन पोर्टल पर देखा जाय तो यहाँ हैण्ड पम्प, बाउंड्री वाल सब कुछ है, लेकिन जब जमीनी हकीकत देखने पहुँचे तो वहां कुछ और ही नजर आया, देखिये ये बच्चे बोतल अपने पास रख कर बैठे हैं, इन बोतलों को देख कर पहले तो चौंक गए कि जंगल और तीन तरफ से नाले के किनारे बनी इस स्कूल में आखिर ऐसी क्या बात है कि बच्चे बोतल लेकर बैठे हैं | इन बच्चों से जब जाना गया तो पता चला कि यहाँ तो पानी ही नहीं है, कक्षा 4 का छात्र भरत यादव बताया कि पानी पीने बहुत दूर जाना पड़ता है और अगर स्कूल समय में शौच के लिए जाना पड़ गया तो बहुत दूर पानी लेने जाना पड़ता है, वहीँ कक्षा 5 की छात्राएं कुमारी नंदिनी साहू और नीतू राय बताई कि यहाँ हैण्ड पम्प नहीं है बहुत दूर से पानी लेट हैं तब पीते हैं और टायलेट में ताला लगा होने का कारन पानी का न होना बताई, नीतू राय बताई कि जब बोतल लाना भूल जाते हैं तो प्यासे रहना पड़ता है|...

Read More

ये कैसा शिक्षा अभियान, खड़ी ट्रेन के नीचे से गुजरने को मजबूर स्कूली बच्चे

गुना (एमपी मिरर)। स्कूल चलें हम..., सर्व शिक्षा अभियान..., राष्ट्रीय साक्षरता मिशन... और पढ़ें और पढ़ाएं... जैसे अलग-अलग नाम से जिले में वर्षों से शिक्षा को बढ़ावा देने को लेकर अभियान चलाए जाते रहे हैं। यही नहीं, बच्चों को शिक्षित करने के लिए स्कूलों में भोजन, साइकिल आदि कई सुविधाएं भी मुहैया की जा रही हैं। इसके बाद भी ऐसी तस्वीर सामने आ जाती हैं, जो शिक्षा और बच्चों के बीच धुंधली सी दूरी तय कर देती है। ताजा मामला किसी गांव का नहीं बल्कि शहर के महावीरपुरा इलाके का है, जहां बच्चों को स्कूल पहुंचने के लिए पटरियां पार करना पड़ता है। मजबूरियां झेलकर शिक्षा हांसिल करने की ये तस्वीर उस वक्त और विचित्र हो जाती है, जब पटरियों पर कोई ट्रेन या मालगाड़ी खड़ी होती है और उसके नीचे से बच्चे गुजरकर स्कूल पहुंचते हैं। ऐसा नहीं है, कि बच्चों को स्कूल तक पहुंचने का वैकल्पिक रास्ता नहीं है, लेकिन तीन किमी की दूरी तय करने की वजाय वे पटरियां पार कर चंद मिनिटों में स्कूल पहुंचने का जोखिम उठाते हैं। वर्षों से महावीरपुरा क्षेत्र के स्कूली बच्चे भार्गव कालोनी स्थित निजी स्कूल पहुंचते हैं। जबकि भार्गव कालोनी के भी कुछ बच्चे इसी तरह रेलवे ट्रेक पार दूसरे छोर पर स्थित निजी और सरकारी स्कूल में पहुंचते हैं।...

Read More

मुख्यमंत्री के मंच पर पहुंची महिला ने मचाया उत्पात

बैतूल/भोपाल (एमपी मिरर)। प्रधानमंत्री आवास योजना हितग्राही सम्मलेन के तहत यहां चल रही सीएम शिवराज सिंह चौहान की लाइव आमसभा में शराबियों ने जमकर हंगामा मचाया। सरकार की व्यवस्थाओं से नाराज एक युवती नशे में टल्ली होकर आई और मंच पर चढ़कर हंगामा करने लगी। वहीं मंच के नीचे दूसरा शराब आराम से धूल चाटते हुए सीएम का सीधा प्रसारण देख रहा था।...

Read More

शिक्षकविहीन स्कूलों में बच्चों का भविष्य अंधकार में

  • मनोहर पाल

भोपाल (एमपी मिरर)। मप्र के सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर लगातार गिरता जा रहा है और बच्चों का भविष्य अंधकारमय होता जा रहा है, फिर भी सरकार इस ओर कोई कदम नहीं उठा रहा है। प्रदेश के हजारों स्कूल शिक्षकविहीन हैं और इन स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति के लिए सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है। जनशिक्षा अधिकार संरक्षण समिति के अध्यक्ष रमाकांत पांडे ने बताया कि स्कूल संचालन की केवल प्रशासकीय खानापूर्ति हो रही है। इसका समाधान खोजने में प्रशासनिक तंत्र की कोई रुचि नहीं है। पांडे ने बताया कि जनशिक्षा अधिकार संरक्षण समिति इस संबंध में प्रदेश सरकार से लेकर केंद्र सरकार तक को अवगत करा चुकी है, लेकिन सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंगा और स्कूलों के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। यही कारण है कि अभिभावक सरकारी स्कूलों को छोड़कर निजी स्कूलों का सहारा ले रहे हैं।

Read More