mp mirror logo

ग्वालियर के चायवाले, आनंद ने भी भरा राष्ट्रपति के लिए नामांकन

भोपाल | जब एक चायवाला देश का प्रधानमंत्री बन सकता है तो क्या एक चायवाला देश का राष्ट्रपति बनने का सपना नहीं देख सकता? ऐसा मानना है कि मध्य प्रदेश के रहने वाले आनंद सिंह कुशवाहा का। वह पेशे से चायवाले हैं और देश के राष्ट्रपति की कुर्सी तक पहुंचने की इच्छा रखते हैं। अपनी इसी इच्छा को पूरा करने के लिए उन्होंने चौथी बार देश के राष्ट्रपति बनने के लिए नामांकन भरा है। आनंद अब तक 20 बार चुनाव हार चुके हैं। जहां बीजेपी और कांग्रेस राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार को लेकर अपने-अपने पत्ते खोलने को तैयार नहीं हैं। वहीं आनंद ने चौथी बार अपनी दावेदारी पेश कर दी है।

एमपी के ग्लावियर के रहने वाले आनंद सिंह कुशवाहा पेशे से चाय विक्रेता है और साल 1994 से अबतक चुनाव लड़े रहे हैं। वह राष्ट्रपति के अलावा उपराष्ट्रपति का भी चुनाव लड़ चुके हैं। राष्ट्रपति का चुनाव लड़ रहे कुशवाहा ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में बताया कि वह उत्तर प्रदेश के सांसदों और विधायकों के संपर्क में हैं। उन्होंने कहा कि पिछले के चुनावों में उन्हें ज्यादा वोट नहीं मिले, लेकिन इस बार मुझे भरोसा है कि मुझे समर्थन मिलेगा। राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़ने के लिए 50 वैध वोटर्स और कम से कम 50 बैकर्स की जरुरत होती है। कुशवाहा चुनाव लड़ने के लिए फंड की व्यवस्था अपनी रोजमर्रा की कमाई से कटौती करके बचाते हैं। इन पैसों को सिक्योरिटी मनी के रूप में जमा करते हैं।

साल 2014 में आम चुनाव के दौरान जमा किए गए हलफनामे में आनंद सिंह ने बताया था कि उनके पास 5000 रुपए कैश और दस हजार रुपए कीमत की अचल संपत्ति है। सिंह बताते है कि वह प्रचार के लिए गाड़ी का खर्च नहीं उठा सकते हैं, इसलिए पैदल ही प्रचार करते हैं। साल 2013 के विधानसभा चुनाव में कुशवाहा को 376 वोट मिले थे।

पति-पत्नी ने भी भरा पर्चा

राष्ट्रपति चुनाव के लिए चुनाव आयोग द्वारा नोटिफिकेशन जारी करने के बाद कई लोग राष्ट्रपति पद के लिए अपनी उम्मीदवारी पेश कर चुके हैं। इससे पहले एक पति और पत्नी द्वारा राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति पद के लिए निर्वाचन पर्चा भरने का मामला सामने आया था। पटेल दंपति ने निर्वाचन अधिकारी को बताया कि यदि उनमें से कोई एक राष्ट्रपति बन जाए और दूसरा उप-राष्ट्रपति बन जाए तो यह अच्छा रहेगा। बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया 28 जून तक चलेगी। नामों की छंटनी 29 जून को होगी। जिसके बाद 17 जुलाई को वोटिंग होगी और फिर 20 जुलाई को काउंटिंग की जाएगी।

"जिलों से" से अन्य खबरें

अतिकुपोषण समाप्त करने मन लगाकर करें कार्य-कलेक्टर

कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने कहा है कि जिला अतिकुपोषित जिलो में पारंपरिक कारणों से शामिल है। अतिकुपोषण को समाप्त करने के लिए मन लगाकर कार्य करना अनिवार्य है। महिला बाल विकास एवं महिला सशक्तिकरण विभाग को महिलाओं एवं बच्चों को संभालने का दायित्व है। अमला पूरी तत्परता और ईमानदारी से अपने दायित्वों का निर्वहन करें। कार्य परिणाममूलक रहे। यह सभी परियोजना अधिकारी एवं सुपरवाईजर सुनिश्चत करें एवं अपनी कमियां और त्रुटियां दूर करें अन्यथा अपना इस जिले से स्थानान्तरण करा लें। 

Read More

कलेक्टर व नगर निगम आयुक्त ने देखीं प्रस्तावित एवं निर्माणाधीन आवासीय योजनायें

ग्वालियर शहर को मलिन बस्ती व झुग्गी मुक्त बनाने के लिये प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत समेकित कार्ययोजना बनाकर झुग्गीवासियों को आवास मुहैया कराए जायेंगे। इस कार्ययोजना को नगर निगम, ग्वालियर विकास प्राधिकरण, हाउसिंग बोर्ड व साडा मिलकर मूर्त रूप देंगे। समेकित आवासीय कार्ययोजना पर अमल के सिलिसिले में कलेक्टर श्री राहुल जैन एवं नगर निगम आयुक्त श्री विनोद शर्मा ने बुधवार को शहर भ्रमण कर निर्माणाधीन और प्रस्तावित विभिन्न आवासीय परियोजनाओं का जायजा लिया। साथ ही शहर के अन्य विकास कार्य भी देखे। 

Read More

शिवराज के शासन में ‘चकरघिन्नी’ बनी बेचारी महिला तहसीलदार

राजगढ़। लगातार तबादले से परेशान राजगढ़ जिले की ब्यावरा तहसील में पदस्थ महिला तहसीलदार अमिता सिंह तोमर ने इस बार सीधे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ट्वीट कर न्याय की गुहार लगाई है। तहसीलदार ने गुरुवार को किए ट्वीट में लिखा- 13 साल की नौकरी के दौरान यह मेरा 25 वां ट्रांसफर है। 

Read More

कार्य सम्पादन में गति लाए, ताकि लोगों को दफ्तरों के चक्कर न लगाना पड़ें- कलेक्टर

राजस्व संबंधी प्रकरणों और लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत लोगों के आवेदन पत्रों का त्वरित निराकरण किया जाए, ताकि आमजन को दफ्तरों के चक्कर न लगाना पड़े। आमजन की बहुत छोटी-छोटी मांग एवं शिकायतें होती हैं, जिनका अविलम्ब निराकरण किया जा सकता है। यह बात कलेक्टर श्रीमती भावना वालिम्बे ने राजस्व अधिकारियों की बैठक में कही। 

Read More

पोषण पुनर्वास केन्द्र खैरलांजी में किया गया सब्जी बीज का वितरण

परियोजना एकीकृत बाल विकास सेवा खैरलांजी अन्तर्गत परियोजना अधिकारी श्री पुष्पेन्द्र रानाडे के मार्गदर्शन में ईसीसीई समन्वयक श्री संदीप सिंह एवं पर्यवेक्षक श्रीमती रा‍धा सिंहा, श्रीमती तिजिया ताराम वरिष्ठ उद्यान विकास अधिकारी श्री एन.एम.चौधरी के सहयोग से एन.आर.सी. में भर्ती बच्चों की माताओं को सब्जियों के बीज वितरण किये गये।

Read More

शिवराज चौहान का ‘रीप्ले’ : अब ओडिशा के विधायक को गोद में उठाकर कीचड़ के पार ले गए समर्थक

ओडिशा में सत्तासीन बीजू जनता दल (बीजेडी) के विधायक मानस मडकामी उस समय विवादों में घिर गए, जब कीचड़ से भरे एक इलाके को पार करते वक्त उनके समर्थकों ने उनके सफेद रंग के जूतों को मैला होने से बचाने के लिए उन्हें गोद में उठा लिया, और यह पूरी घटना कैमरे की नज़रों में कैद हो गई.

Read More

वित्तमंत्री पहुंचे बांदकपुर भगवान जागेश्वरनाथ का किया पूजन

वित्त और वाणिज्यिक कर मंत्री जयंत कुमार मलैया ने आज सुबह 9 बजे बांदकपुर पहुंचकर यहां गृहस्थ संत पं. देवप्रभाकर शास्त्री के दर्शन किये, उनका आशीर्वाद लिया। इसके उपरांत आपने दद्दा जी से चर्चा भी की। ज्ञात हो बांदकपुर में आज सुबह से शिवलिंग निर्माण का कार्यक्रम चल रहा है, जहां बड़ी संख्या में भक्तगण शिवलिंग निर्माण करने में लगे हुये हैं।

Read More

किसानों को घर-घर जाकर दी जायेंगी खसरा-खतौनी की नकलें

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य सरकार जनता के लिये है। ऐसी व्यवस्था बनायें जिसमें जनता को कोई परेशानी नहीं हो। जनता की दिक्कतों को सहन नहीं किया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राजस्व और ऊर्जा विभाग की समीक्षा कर रहे थे। कलेक्ट्रेट कार्यालय स्थित एनआईसी के वीसी कक्ष में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अमनवीर सिंह बैंस, अपर कलेक्टर श्री एमके जैन, एसडीएम श्री वरूण अवस्थी सहित सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Read More

सावन सोमवार : महाकाल और ओंकारेश्वर में लगी भक्तों की भीड़

उज्जैन। सावन के पहले सोमवार पर उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में अल सुबह से ही भक्तों की भीड़ लगी रही। ओंकारेश्वर और महेश्वर में भी भक्त भोलेनाथ के दर्शन करने पहुंचे। प्रदेशभर में शिव मंदिरों में भगवान शिव को जल अर्पित करने के लिए श्रद्धालुओं की कतार लगी रही।

Read More

पिपलियामंडी में रोकी किसान मुक्ति यात्रा, भारी पुलिस बल तैनात

मंदसौर। गुरुवार को ग्राम बूढ़ा से प्रारंभ हुई किसान मुक्ति यात्रा को पुलिस ने पिपलियामंडी पहुंचने से पहले ही रोक दिया। यहां लगभग 130 किसान संघटनों के पदाधिकारी और सैकड़ों किसान एकत्र हुए। इनमें योगेंद्र यादव, मेघा पाटकर, सांसद राजू शेट्टी सहित महाराष्ट्र, उड़ीसा, पंजाब, हरियाणा, तेलंगाना, मध्यप्रदेश, राजस्थान से आए किसान नेता भी शामिल थे।

Read More