mp mirror logo

फौज का खौफ : आतंकियों ने डर से घुसपैठ का रास्ता बदला

घाटी में सेना की ताबड़तोड़ कार्रवाई से खौफजदा आतंकियों ने घुसपैठ का रास्ता बदल दिया है। खुफिया सूत्रों के मुताबिक, आतंकी अब घुसपैठ के लिए नए रास्ते तलाश रहे हैं। उरी सेक्टर में कुछ ऐसे स्थानों से आतंकी घुसपैठ के प्रयास हुए भी हैं, लेकिन सेना ने उन्हें विफल कर दिया।
सेना के अनुसार घुसपैठ के सभी मौजूदा एवं संभावित रास्तों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। घुसपैठ के संभावित नए रास्तों की पहचान कर त्वरित कार्रवाई के लिए सेना की तैनाती की जा रही है।

पुराने रास्ते छोड़े

सूत्रों के अनुसार आतंकी पाक अधिकृत कश्मीर से उरी, गुरेज, नौगाम, पुंछ, सांबा, कुपवाड़ा में पुराने रास्तों से घुसपैठ नहीं कर रहे हैं। अब उन्होंने नई रणनीति बनाते हुए गहरी खाइयों वाले रास्ते से घुसपैठ की योजना बना रहे हैं।
नए रास्ते से घुसपैठ की खबर नहीं
सेना के प्रवक्ता के अनुसार हालांकि अभी तक नए रास्ते से आतंकियों के घुसने की खबर नहीं है। लेकिन फिर भी सेना ऐसी घटनाओं पर नजर रखे हुए है। उत्तर कश्मीर में सीमा पर उन स्थानों को भी चिह्नित कर लिया है जो बर्फ आदि के कारण ढंक जाते थे जहां अभी तक सेना को तैनात नहीं किया जा सका था। अब इन स्थानों पर न सिर्फ निगरानी होगी बल्कि सेना की तैनाती भी रहेगी। ज्यादातर ये खाई वाले स्थान हैं। यहां निगरानी पूरे साल भर रहेगी। दक्षिण कश्मीर में घुसैपठ की आशंकाएं कम हैं।

खुफिया तंत्र पर जोर

सेना उत्तरी कश्मीर के सीमावर्ती इलाकों में खुफिया तंत्र को मजबूत बनाने में जुटी है। इसके तहत स्थानीय लोगों से सूचनाएं प्राप्त करने के लिए उन्हें भरोसे में ले रही है। खासकर सर्च अभियान के दौरान लोगों को किसी तरह की दिक्कत नहीं होने दे रही है। दूसरे, मिलिटरी इंटेलीजेंसी के नेटवर्क को भी इस इलाके में मजबूत किया गया है।

तीन से चार किलोमीटर पीछे हटे

कुपवाड़ा, गुरेज, उरी समेत अन्य क्षेत्रों में आतंकी पहले घुसपैठ करते थे, लेकिन सेना के आक्रामक रुख के बाद अब उन्होंने अपने रास्ते बदले हैं जो पुराने रास्ते से तीन-चार किलोमीटर आगे-पीछे हैं।

इसलिए बदली रणनीति

खुफिया सूचनाएं हैं कि इन्हीं क्षेत्रों में आतंकी दूसरे स्थानों से घुसपैठ के नए रास्ता बना सकते हैं। क्योंकि इनमें पहाड़, नाले, खाइयां आदि हैं। इन सब जगह सेना या सुरक्षा बल नहीं हैं। उरी में एक-दो घटनाएं ऐसे रास्ते पर हुई हैं जहां कभी घुसपैठ नहीं हुई।
घुसपैठ को लेकर सेना के सख्त होते ही आतंकी रास्ता बदल लेते हैं,लेकिन ज्यादा समय तक ऐसा रास्ता सेना या सुरक्षा बलों की नजर से बचा नहीं रह सकता। उत्तरी कश्मीर में ऐसे कई नए रास्ते पिछले कुछ सालों के दौरान बने हो सकते हैं।

"मुख्य ख़बरें" से अन्य खबरें

सरकार ने ब्लॉक किए 81 लाख आधार कार्ड

नई दिल्ली(एजैंसियां): पैन कार्ड नंबरों को ब्लॉक करने के बाद सरकार का चाबुक आधार कार्ड पर चला है। केंद्र सरकार ने करीब 81 लाख से ज्यादा आधार कार्ड ब्लॉक कर दिए हैं। आधार कार्ड को जारी करने वाली संस्था (यू.आई.डी.ए.आई.) ने यह कदम उठाया है।

Read More

अमेरिकी रिपोर्ट में दावा- पाकिस्तान में नहीं है धार्मिक आजादी

वाशिंगटन। अमेरिका द्वारा जारी की गई एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान में सिख, ईसाई और हिंदू जैसे अल्पसंख्यक जबरन धर्मांतरण के डर में रहते हैं। रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि अल्पसंख्यकों को यह चिंता भी है कि पाकिस्तान सरकार जबरन धर्मांतरण को रोकने के लिए जरूरी कदम नहीं उठा पाती है।

Read More

सेना को बड़ी कामयाबी, मारा गया हिजबुल टॉप कमांडर यासीन इट्टू

श्रीनगर । जम्‍मू कश्‍मीर के शोपियां में मुठभेड़ में मारे गए तीन आतंकियों में हिजबुल का टॉप कमांडर यासीन इट्टू भी मारा गया है. यासिन बड़गाम के चादूरा का रहने वाला था. वह छह दिसंबर 2015 को हिजबुल से जुड़ा था. बाद में उस बड़गाम का जिला कमांडर बना दिया गया था. शोपियां के अवनीरा में शुक्रवार को मुठभेड़ शुरू हुई थी.

Read More

नंबर 1 की इस लड़ाई में चीन से हारा भारत, बीच रेस में ही खराब हो गए दोनों टैंक

रूस में चल रहे अंतरराष्ट्रीय सैन्य खेल 2017 में भारत बाहर हो गया। भारत के दोनों टैंक तकनीकी दिक्कतों की वजह से रेस को पूरा ही नहीं कर पाए।
एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, भारत इन खेलों के लिए T-90 टैंक लेकर शामिल हुआ था। इसमें से एक प्रमुख और एक रिजर्व में रखा गया टैंक शामिल था। लेकिन रेस के दौरान दोनों ही टैंक खराब हो गए। दोनों टैंक खराब होने के बाद भारत को अयोग्य घोषित करके बाहर कर दिया गया। भारतीय आर्मी के लिए यह प्रतियोगिता का अंत बिल्कुल अच्छा नहीं रहा वह भी ऐसे वक्त में जब शुरुआती चरण में भारत की तरफ से बाकी देशों को कड़ी टक्कर दी जा रही थी।

Read More

Indian Railway में निकली कई पदों पर भर्ती, बिना परीक्षा के होगा सलेक्शन

नई दिल्ली । भारतीय रेलवे ने कई जोन में भर्ती निकाली है और अलग अलग पदों पर उम्मीदवारों की नियुक्ति की जाएगी। इन भर्तियों में हर जोन के अनुसार पदों की संख्या और पद आदि तय किए गए हैं और उन पदों के अनुसार आवेदन प्रक्रिया और चुनाव प्रक्रिया भी निर्धारित की गई है। अगर आप भी भारतीय रेलवे में नौकरी करना चाहते हैं और इन पदों के योग्य हैं तो आप अपने जोन या पदों की योग्यता के अनुसार आवेदन कर सकते हैं। 

Read More

पीएम मोदी ने BJP सांसदों की लगाई क्लास, बोले-जो करना है करें, मैं 2019 में देखूंगा

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बीजेपी संसदीय दल की बैठक में पार्टी सांसदों की क्लास लगाई.  इस बैठक में प्रधानमंत्री सांसदों द्वारा आए दिन दिए जा रहे बयानों और संसद में अनुपस्थिति को लेकर नाराज दिखे. पीएम मोदी ने सांसदों से दो टूक कहा कि आप कुछ नहीं है, मैं कुछ नहीं हूं, जो कुछ भी है वो पार्टी की वजह से है. सांसद में आने के लिए आपको बार-बार कहना पड़ता है.  मीडिया में सब कुछ छपता है, आपको जो करना है वो कीजिए 2019 में मैं देखूंगा. इसके अलावा भी प्रधानमंत्री मोदी ने सांसदों को जमकर फटकार लगाते हुए कई बाते कहीं. 

Read More

अब अर्जुन कपूर की 'मुबारकां' 'इशकजादे' से पहुंची आगे, कर रही जोरदार कमाई

मल्टीस्टारर फिल्म 'मुबारकां' की कमाई ने अर्जुन कपूर की 'इशकजादे' को पीछे कर दिया है। उनकी पहली फिल्म 'इशकजादे' ने 45 करोड़ रुपए कमाए थे।

'मुबारकां' ने दूसरे शुक्रवार को मात्र एक करोड़ की कमाई की थी लेकिन फिर मामला बदल गया। शनिवार को अचानक इसकी कमाई बढ़ी और दो करोड़ रुपए हो गई। संडे को फिर एक करोड़ बढ़ गए और इस दिन की कुल कमाई तीन करोड़ रुपए रही। सोमवार और मंगलवार को लगभग 4.50 करोड़ मिले।

Read More

शाहरुख, सलमान की फिल्म FLOP.. डर गए हैं अक्षय कुमार!

सलमान खान की 'ट्यूबलाइट' और शाहरुख खान की 'जब हैरी मेट सेजल' की बॉक्स ऑफिस हालत को देखते हुए शायद अक्षय कुमार की अपनी आने वाली फिल्म 'टॉयलेट एक प्रेम कथा' को लेकर टेंशन में आ गए हैं। शायद इसीलिए फिल्म को लेकर एक बड़ा निर्णय लिया गया है।

Read More

OMG! एक ऐसा रेस्टोरेंट, जहां नहीं देना है खाने का बिल

अहमदाबाद,गुजरात के सेवा कैफे में जाइये और वहां पेटभर खाना खाइये और वो भी बिना बिल पे किये हुए. इस सेवा कैफे में आपका लंच या डिनर एक तोहफा है, किसी अनजान शख्स की तरफ से.

पिछले 11 सालों से सेवा कैफे इसी तरह से काम कर रहा है. एक तरफ जहां आज पूरी दुनिया पैसे और धंधे के पीछे भाग रही है, वहीं मानव सदन, ग्राम श्री और स्वच्छ सेवा जैसे एनजीओ मिलकर सेवा कैफे चला रहे हैं. ये सेवा कैफे गिफ्ट इकॉनमी के मॉडल पर काम करता है.

Read More

OMG! एक ऐसा रेस्टोरेंट, जहां नहीं देना है खाने का बिल

अहमदाबाद,गुजरात के सेवा कैफे में जाइये और वहां पेटभर खाना खाइये और वो भी बिना बिल पे किये हुए. इस सेवा कैफे में आपका लंच या डिनर एक तोहफा है, किसी अनजान शख्स की तरफ से.

पिछले 11 सालों से सेवा कैफे इसी तरह से काम कर रहा है. एक तरफ जहां आज पूरी दुनिया पैसे और धंधे के पीछे भाग रही है, वहीं मानव सदन, ग्राम श्री और स्वच्छ सेवा जैसे एनजीओ मिलकर सेवा कैफे चला रहे हैं.

Read More