mp mirror logo

66 वस्तुओं पर जीएसटी घटाई गई, क्या हुआ सस्ता

नई दिल्ली:  माल एवं सेवा कर (जीएसटी) पर केंद्र तथा राज्यों के अधिकार प्राप्त मंच ने विभिन्न उद्योगों की मांग पर 66 तरह की वस्तुओं और मदों पर पहले निर्धारित कर की दरों में संशोधन कर उन्हें कम रखने का निर्णय किया. इन मदों में अचार, मुरब्बा और मस्टर्ड सॉस जैसे खाने के उत्पाद तथा 100 रुपये मूल्य तक के सिनेमा टिकट शामिल हैं. इसके साथ ही परिषद ने छोटे उत्पादकों, व्यापारियों और रेस्तरां परिचालकों को राहत देते हुए 75 लाख रपये सालाना तक कारोबार करने वाले कारोबारियों को कंपोजिशन (एकमुश्त कर) योजना की सुविधा प्रदान की है. जीएसटी पहली जुलाई से लागू करने का लक्ष्य है.

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद की यहां रविवार को हुई 16वीं बैठक में 133 वस्तुओं में से उन 66 पर जीएसटी दरें घटा दी गईं, जिनके लिए अप्रत्यक्ष कर संचरना के चार स्लैब में मूल रूप से निर्धारित ढाचे में बदलाव के लिए सिफारिशें प्राप्त हुई थीं. उद्योग जगत ने जीएसटी परिषद के नवीनतम फैसले का स्वागत किया, क्योंकि यह खास तौर से सूक्ष्म एवं मध्यम उद्यमों के लिए फायदेमंद है. 

सिफारिशों पर रविवार को परिषद में चर्चा हुई

इस महीने की शुरुआत में परिषद की 15वीं बैठक में श्रीनगर में 1,211 वस्तुओं पर फैसला किया गया था. इसके बाद सोना व बीड़ी सहित छह बाकी बची वस्तुओं पर फैसला लेने के लिए इसे आयोजित किया गया था. परिषद के प्रमुख, केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि अधिकारियों की समिति जरूरत पड़ने पर विभन्न व्यापार और उद्योग संघों से प्राप्त सिफारिशों के आधार पर दर समायोजन की जांच करेगी. उनकी सिफारिशों पर रविवार को परिषद में चर्चा हुई है.

जेटली ने बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, "प्राप्त 133 सिफारिशों पर विचार किया गया और अधिकारियों की समिति ने अपनी सिफारिशें दी. परिषद ने 133 वस्तुओं में से 66 पर कर घटा दिया है." मंत्री ने स्पष्ट किया कि दो उद्देश्यों को ध्यान में रखकर दर घटाने पर विचार किया गया. उन्होंने कहा, "मौजूदा करों को एक समान बनाए रखना था और कुछ दूसरे मामलों में इस निर्धारण ने समानता के सिद्धांत का उल्लंघन किया था. अन्य में इस कमी की जरूरत अर्थव्यवस्था की बदलती प्रकृति और उपभोक्ता की बदलती वरीयता के कारण पैदा बदलावों के कारण पड़ी."
क्या होगा सस्ता

कुछ कटौती की व्याख्या करते हुए जेटली ने कहा कि काजू पर कर घटाकर उसे 12 से पांच फीसदी कर दिया गया है. भोजन एवं सब्जी उत्पाद जैसे पैकिंग वाले खाद्य पदार्थो यानी अचार, चटनी, केचप और इंस्टैंट भोजन मिश्रणों पर ऐतिहासिक रूप से रहे 18 फीसदी कर को घटाकर 12 फीसदी कर दिया गया, क्योंकि इन वस्तुओं का आम आदमी उपयोग करता है. कटलरी पर कर 18 से घटकर 12 फीसदी हो जाएगा, जबकि कंप्यूटर प्रिंटर्स पर भी कर 28 से कम होकर 18 फीसदी हो जाएगा. इंसुलीन और अगरबत्ती पर कर घटकर 12 से पांच फीसदी होगा. जेटली ने कहा कि दूसरी वस्तुओं में स्कूल बैग पर कर 28 से घटकर 18 फीसदी हो जाएगा, जबकि अभ्यास पुस्तिका पर 18 फीसदी से कम होकर 12 फीसदी होगा.

जीएसटी के तहत सभी वस्तुओं एवं सेवाओं को चार कर स्लैब की श्रेणी में रखा गया 

जीएसटी व्यवस्था के तहत सभी वस्तुओं एवं सेवाओं को चार कर स्लैब 5,12,18 और 28 फीसदी की श्रेणी में रखा गया है. इसमें कर विहीन वस्तुओं को शामिल नहीं किया गया है. जेटली ने कहा कि मनोरंजन कर पर फिल्म उद्योग के आग्रह के बाद जीएसटी परिषद ने दो स्लैब संरचना वाले सिनेमा टिकट का फैसला किया है. 100 रुपये से कम कीमत वाले टिकट पर 18 फीसदी कर होगा, जबकि इससे अधिक कीमत वाले टिकट पर 28 फीसदी कर लगेगा. हीरा, चमड़ा, वस्त्र, आभूषण और छपाई जैसे सेक्टर में आउटसोर्सिग के रोजगार को प्रोत्साहित करने के लिए जीसटी दर घटा कर पांच फीसदी किया गया है. जेटली ने कहा कि इसके अलावा 75 लाख रुपये तक के कारोबार वाले व्यापारी, विनिर्माता और रेस्तरॉ कंपोजीशन योजना का लाभ उठा सकते हैं, जबकि पहले यह योजना 50 लाख रुपये तक के कारोबार के लिए थी.

उन्होंने कहा कि लॉटरी और ई-वे बिल दो विशिष्ट मुद्दे हैं, जिन्हें परिषद की 18 जून को होने वाली अगली बैठक में उठाया जाएगा. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित राज्य एक जुलाई से जीएसटी लागू करने के लिए तैयार हैं, जबकि पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री अमित मित्रा ने नई अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था की व्यवहार्यता पर गंभीर संदेह जताया है और इसे एक महीने टालने का प्रस्ताव दिया है.

मित्रा ने परिषद की 16वीं बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, "मैंने एक चेतावनी भी (जीएसटी परिषद की बैठक में) जोड़ी है कि एक जुलाई को काफी मुश्किल दिखता है. लेकिन आप दुनिया की सबसे बड़े वित्तीय सुधार जीएसटी के लिए किफायती नवाचार नहीं कर सकते. आप एक जुलाई से जीएसटी शुरू करने जा रहे हैं. इसलिए मेरा कहना है कि हम ऐसा कुछ करने के लिए किफायती नवाचार न करें, जो विश्व का सबसे बड़ा वित्तीय सुधार है."
जीएसटी के एक महीने या उसके बाद टालने में कोई नुकसान नहीं है

उन्होंने कहा कि जीएसटी के एक महीने या उसके बाद टालने में कोई नुकसान नहीं है. उन्होंने कहा, "यह एक बिंदु है, जिसे मैंने रिकॉर्ड में कहा है. जब भी हम पूरी तरह से तैयार हो व संतुष्ट हो, जब सभी सहज हो तो हम आगे बढ़ सके हैं." केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दोहराया है कि व्यापारी और उद्योग के पास एक जुलाई तक तैयार रहने के सिवा कोई विकल्प नहीं है, क्योंकि कोई प्रक्रिया अधूरी नहीं है. यह पूछे जाने पर कि कुछ उद्योग के प्रतिनिधि इसे लागू करने के ज्यादा समय मांग रहे उन्होंने संवाददाताओं से कहा, "इसे लागू करने के तारीख के बावजूद कुछ लोग कहेंगे कि हम तैयार नहीं है. उनके पास तैयार होने के सिवाय कोई विकल्प नहीं है. आप को इसके लिए ईमानदारी की मंशा की जरूरत है." उद्योग एवं हितधारकों ने रविवार को जीएसटी परिषद के व्यापरियों, विनिर्माण व रेस्तरां के 75 लाख से नीचे के कारोबार को कंपोजिशन स्कीम के तहत लाने का स्वागत किया और कहा कि इससे देश में छोटे और मध्यम उद्यमों को बढ़ावा मिलेगा.

"मुख्य ख़बरें" से अन्य खबरें

गणतंत्र दिवस पर 10 देशों के नेता होंगे मुख्य अतिथि

नई दिल्ली: भारत के 69वें गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में पहली बार एक की बजाए दस देशों के नेता मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे। ये नेता भारत एवं दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के संघ (आसियान) के संबंधों के 25 साल पूरे होने के अवसर पर भारत आसियान विशेष स्मृति शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए यहां मौजूद होंगे। राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड में भारत-आसियान संबंधों पर झांकी और सांस्कृतिक कार्यक्रम भी पेश किए जाएंगे जो भारत की ‘एक्ट ईस्ट’ नीति के महत्व को रेखांकित करेंगे। भारत एवं आसियान देशों के बीच संवाद स्थापित होने के 25 साल पूरे होने के मौके पर जनवरी में कुल 21 कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे।

Read More

रायपुर।कई नेता, रसूखदार सीबीआई के रडार पर

रायपुर। मंत्री के कथित अश्लील सीडी कांड को लेकर सियासी प्याले में एक बार फिर तूफान उठ गया है। बुधवार को सीबीआई ने रायपुर आते ही प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली। बघेल और कथित पत्रकार विनोद वर्मा के खिलाफ राज्य पुलिस की रिपोर्ट में एफआईआर पहले से ही दर्ज है।

माना जा रहा है कि इससे भूपेश की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। सीबीआई ने मंत्री की शिकायत के आधार पर ही दोनों के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की। इसके साथ ही सीबीआई ने भाजपा नेता प्रकाश बजाज की शिकायत पर धारा 384, 50 (6) के तहत दूसरी एफआईआर भी दर्ज की है। 

Read More

अमेरिकी वैज्ञानिकों का दावा, मानव निर्मित है रामसेतु

हिन्दुओं के पौराणिक ग्रंथों में भारत-श्रीलंका को जोड़ने वाले पुल यानी राम सेतु से क्या रहस्य का पर्दा उठ पाएगा? भू-वैज्ञानिकों के हवाले से दावा करने वाले एक टीवी शो- ऐन्सिएंट लैंड ब्रिज, का प्रोमो तो यही इशारे कर रहा है। इसका प्रसारण अमेरिका में एक साइंस चैनल पर किया जाएगा। अमेरिकी भू-वैज्ञानिकों के अनुसंधान के मुताबिक रामेश्वरम के पम्बन द्वीप से श्रीलंका के मन्नार द्वीप के बीच 50 किलोमीटर लंबी श्रृंखला मानव निर्मित है। राम सेतु को एडम्स ब्रिज भी कहा जाता है। इंस चैनल पर चल रहे इस प्रोमो को 24 घंटे के अंदर 11 लाख से ज्यादा लोग देख चुके हैं। सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति इरानी ने इस विडियो को ट्वीट करते हुए 'जय श्री राम' भी लिखा है।

Read More

अल्पेश ठाकोर बोले ‘मेरी तरह काले थे मोदी, करोड़ों के विदेशी मशरूम खाकर हुए गोरे’

कांग्रेस उम्मीदवार व ओबीसी (अन्य पिछला वर्ग) नेता अल्पेश ठाकोर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजराती खाने को पसंद नहीं करते हैं और ताइवानी मशरूम खाना पसंद करते हैं.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर प्रतिदिन चार लाख रूपये का ताइवानी मशरूम खाकर अपना रंग काला से गोरा कर लेने का अजीबोगरीब आरोप लगाने वाला कांग्रेस नेता तथा गुजरात चुनाव में पार्टी के उम्मीदवार अल्पेश ठाकोर का एक वीडियो मंगलवार को सोशल मीडिया में वायरल हो गया.
      

Read More

EVM रूम में जैमर लगाने की मांग खारिज, चुनाव आयोग ने कहा- ऐसी कोई पॉलिसी नहीं

नई दिल्ली। गुजरात चुनाव में ईवीएम में गड़बड़ी की आशंका जताते हुए कांग्रेस ने चुनाव आयोग से एक अपील की। जिस पर विचार करने के बाद चुनाव आयोग ने उसे खारिज कर दिया। दरअसल गुजरात चुनाव में कांग्रेस ने ईवीएम में छेड़छाड़ की आशंका जताई थी। कांग्रेस ने मांग की थी कि जिस कमरे में ईवीएम मशीने रखी जाती हैं, उस कमरे में सेलफोन जैमर्स लगाए जाएं। इस पर गुजरात के मुख्य चुनाव आयोग बीबी स्वेन ने कहा कि फिलहाल ऐसी कोई पॉलिसी है। इस वजह से कांग्रेस की मांग खारिज की जाती है।

Read More

गुजरात में आज पीएम मोदी और शाह की 4-4 रैलियां

पीएम मोदी आज गुजरात चुनाव को लेकर चार चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे. वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी आज चार रैलियों को संबोधित करेंगे.

अहमदाबाद। गुजरात में आज पहले चरण की 89 सीटों पर वोटिंग हो रही है. इस बीच दूसरे चरण के चुनाव प्रचार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह आज चार-चार रैलियों को संबोधित करेंगे. वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी कई जनसभाओं को संबोधित करेंगे.

Read More

निलंबित हो चुके कांग्रेस पार्टी से मणिशंकर अय्यर का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'नीच' कहने का मामला

कांग्रेस पार्टी से निलंबित हो चुके मणिशंकर अय्यर का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'नीच' कहने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है.

हालांकि कांग्रेस ने गुरुवार को मणिशंकर अय्यर को 'कारण बताओ नोटिस' जारी करते हुए पार्टी से निलंबित कर दिया. इससे पहले राहुल गांधी के कहने पर मणिशंकर अय्यर ने अपने बयान पर माफ़ी भी मांगी थी.

लेकिन शुक्रवार को निकोल में एक चुनावी रैली के दौरान नरेंद्र मोदी ने इस मुद्दे को उठाया और कहा कि कांग्रेस ने पहली बार उन्हें नीच नहीं कहा है.

Read More

गुजरात विधानसभा चुनाव : भाजपा ने किया दावा, हम 150 से अधिक सीटें जीतेंगे

भावनगर: गुजरात विधानसभा चुनावों के पहले चरण में 89 सीटों पर मतदान जारी है. प्रदेश के भाजपा प्रमुख जीतू वघानी ने दावा किया है कि विधानसभा चुनावों में भाजपा राज्य में 150 से अधिक सीटें जीतेगी. भावनगर पश्चिम सीट से चुनाव लड़ रहे जीतू वघानी ने कहा, हमारे सामने कोई बाधा नहीं है. पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हम 150 से अधिक सीटें जीतने जा रहे हैं. 

Read More

दिल्ली सरकार की बड़ी कार्रवाई: मैक्स अस्पताल का लाइसेंस रद्द

पिछले हफ्ते जिंदा नवजात को ‘मृत’ घोषित करने वाले दिल्ली के शालीमार बाग स्थित मैक्स हॉस्पिटल पर दिल्ली सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। केजरीवाल सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस गंभीर चूक के लिए अस्पताल का लाइसेंस रद्द कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि हमने शालीमार बाग स्थित मैक्स अस्पताल का लाइसेंस रद्द कर दिया है। 

Read More

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले के वकीलों पर बरसे चीफ जस्टिस

सर्वोच्च न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले की सुनावाई के दौरान कुछ वरिष्ठ वकीलों के व्यवहार पर गुरुवार को खेद जताया और उनके आचरण को शर्मनाक बताया। शीर्ष अदालत की ओर से अयोध्या प्रकरण में अधिवक्ता सी.एस. वैद्यनाथन को दलील शुरू करने को कहे जाने पर मंगलवार को वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल, राजीव धवन और दुष्यंत दवे ने छोड़कर चले जाने की चेतावनी दी। 

Read More