mp mirror logo

शिवराज चौहान को मुख्यमंत्री पद से हटा सकता है भाजपा नेतृत्व

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री को हटाये जाने की सुगबुगाहट सियासी क्षेत्रों में शुरू हो गई। जिस ढंग से उन्होंने मंदसौर सहित प्रदेश के किसान मूवमेंट को हैंडल किया है उसके अच्छे संकेत नहीँ गये हैं।अगले साल सूबे में विधानसभा चुनाव होंगे। शिवराज अगर जीत गए तो यह उनकी हैट्रिक होगी।

शिवराज के भोपाल उपवास को भी भाजपा का शीर्ष नेतृत्व ने सही नहीँ माना है।इसी के चलते केंद्रीय नेतृत्व ने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर को उपवास समाप्त कराने की जिम्मदारी के साथ भोपाल भेजा गया। भाजपा के फेस सेविंग के लिए मंदसौर से पीडित किसान परिवार को भोपाल बुलवा कर उपवास तुड़वाने की अपील करानी पड़ी। इस परिवार को जो भोपाल ले कर आया वह डोडा चूरा का तस्कर बताया जाता है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार चौहान की भी विदाई तय मानी जा रही है।

चला चली की बेला

मध्य प्रदेश के किसान आंदोलन को कौन हवा दे रहा है? भाजपा नेताओं पर भरोसा करें तो इसके पीछे कांग्रेस का हाथ है। कांग्रेस की एक महिला विधायक ने नाराज किसानों को भड़काया, इसकी वीडियो फुटेज प्रचारित की जा रही है। पर क्या एक विधायक की इतनी ताकत हो सकती है कि वह इतना बड़ा और उग्र आंदोलन खड़ा कर दे। हकीकत तो यही है कि इस आंदोलन के असली सूत्रधार तो लंबे समय तक आरएसएस से जुड़े रहे शिव कुमार शर्मा हैं। संघी उन्हें कक्काजी के नाम से जानते हैं। 2012 से ही वे शिवराज चौहान सरकार के खिलाफ मुखर हैं।

इसीलिए चौहान ने उन्हें आरएसएस से बाहर करा दिया था। मंदसौर में किसानों पर हुई फायरिंग से सारे देश में भाजपा के खिलाफ संदेश गया है। उत्तर प्रदेश में सत्ता हासिल करने के लिए भाजपा ने खुद किसानों के कर्ज माफ करने का वादा किया था। अभी तक यह वादा पूरा नहीं हो पाया है। पर बाकी राज्यों में इसने अभावग्रस्त किसानों को कर्जमाफी की मांग के लिए उकसा दिया। इस मायने में तो मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के किसान आंदोलन की दोषी खुद भाजपा ही हुई न। बहरहाल उलटा असर अब केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की लोकप्रियता पर दिखने लगा है। मोदी सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया अचानक मुखर और सक्रिय हुआ है। अच्छे दिनों से लेकर बेरोजगारी, घटती विकास दर और किसानों की बेहाली जैसे सवाल उठ रहे हैं ।

ऐसे में राजधानी के सियासी गलियारों में नई हवा चली है कि शिवराज चौहान को भाजपा नेतृत्व मुख्यमंत्री पद से हटा सकता है। बहाना भले किसानों की नाराजगी बने पर असलियत कुछ और मानी जा रही है। अगले साल सूबे में विधानसभा चुनाव होंगे। शिवराज अगर जीत गए तो यह उनकी हैट्रिक होगी।

कांग्रेस नेतृत्व मध्य प्रदेश को लेकर उलझन में है। वहां से दिग्विजय सिंह को दरकिनार कर ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ में से किसी एक को बढ़ाने की मांग आ रही है। पार्टी के पास चुनाव लड़ने के लिए पर्याप्त फंड की भी किल्लत है।

जानकार सूत्रों का कहना है कि कमलनाथ खुद कांग्रेस की तरफ से मुख्यमंत्री पद का दावेदार बनने के लिए लाबिंग कर रहे हैं। वे चुनाव का करोड़ों का खर्च भी अकेले उठा सकते हैं।

बेअसर उपवास

शिवराज चौहान ने किसान आंदोलन की समाप्ति के लिए शनिवार को भोपाल में उपवास का अच्छा उपक्रम किया। पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी ने उन्हें धरने पर बैठाया था। पर उसका ज्यादा असर होता नहीं दिखा। खुद को फंसा देख चौहान ने दूसरे ही दिन रविवार को रास्ता निकाला। हालांकि दावा यही था कि शांति बहाली तक वे उपवास करेंगे। दूसरे नेताओं ने कैलाश जोशी से आग्रह कर दिया कि वे आकर चौहान का उपवास खत्म कराएं। क्योंकि किसानों का आंदोलन खत्म हो गया है और मंदसौर से कर्फ्यू भी उठ गया है। यह बात अलग है कि सूबे में शांति अभी भी नहीं हो पाई है।

इंदौर में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने मीडिया से साफ कहा कि सरकारी योजनाओं का फायदा सूबे में पैसे दिए बिना नहीं मिलता।

अलबत्ता रविवार को भोपाल में विजयवर्गीय ने सफाई दी कि वे मुख्यमंत्री पद की दौड़ में नहीं हैं। पाठकों को बता दें कि कैलाश विजयवर्गीय हरियाणा विधानसभा चुनाव के बाद से ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की आंखों के तारे बने हैं। उन्हें मुख्यमंत्री पद का दावेदार भी कम से कम उनके समर्थक तो कब से मानते आ रहे हैं।

"जिलों की ख़बरें" से अन्य खबरें

छिंदवाड़ाः एयरपोर्ट पर पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ पर पुलिसवाले ने तानी राइफल, सस्पेंड

पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद कमलनाथ की सुरक्षा में बड़ी लापरवाही हुई है। मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में एक पुलिसकर्मी ने उन पर राइफल तान दी। यह घटना शुक्रवार शाम चार बजे के आसपास की है। कमलनाथ इस दौरान राज्य से बाहर जा रहे थे। 

Read More

सरकारी राशन की कालाबाजारी में बड़ा नाम बन गया था अयाज, जबलपुर, रीवा से भी आता था गेहूं

भोपाल. करोंद मंडी में अयाज अली की विक्की ट्रेडर्स और जेडएम ट्रेडर्स से बरामद हुए कल्याणकारी योजना के गेहूं में सिर्फ भोपाल ही नहीं, जबलपुर, रीवा, होशंगाबाद, सीहोर और विदिशा की सोसाइटियों का गेहूं भी मिला है। इससे साफ होता है कि अयाज राशन के गेहूं की कालाबाजारी में बड़ा नाम हो गया था।

Read More

हाईकोर्ट ने कहा आरोप सिद्ध हुए तो छात्रों के भविष्य के सामूहिक संहार का केस हो सकता है

जबलपुर .पीएमटी 2012 में की गई गड़बड़ी के मामले में सीबीआई द्वारा आरोपी बनाए गए चिरायु मेडिकल कॉलेज के डायरेक्टर डॉ. अजय गोयनका, एलएन मेडिकल कॉलेज के एडमिशन इंचार्ज डॉ. दिव्य किशोर सत्पथी, एलएनसीटी ग्रुप

Read More

धान के कम रेट पर भड़के किसान, भोपाल-सागर हाईवे पर लगाया जाम

रायसेन.कृषि उपज मंडी में बुधवार को धान की खरीदारी करने वाली बाहर की कंपनी और स्थानीय व्यापारियों के बीच ज्यादा भाव लगाने को लेकर कहासुनी हो गई। इसके बाद व्यापारियों ने नीलामी बंद कर दी। नीलामी बंद होने के बाद धान बेचने के लिए आए किसान आक्रोशित हो गए अौर वे भोपाल-सागर हाईवे पर पहुंच गए। उन्होंने हाईवे पर ट्रैक्टर-ट्रॉलियां खड़ी कर जाम लगा दिया। 

Read More

संविदा नियुक्ति नियम में बदलाव पर वित्त विभाग ने लगाया अड़ंगा

भोपाल। संविदा नियुक्ति नियम में बदलाव की सामान्य प्रशासन विभाग की कोशिशों पर वित्त विभाग ने अड़ंगा लगा दिया है। विभाग ने लिखित में राय दी है कि सभी पदों को यदि संविदा के तहत भरने का प्रावधान रखा गया तो इससे संविदा नियुक्ति के मामलों में बेतहाशा वृद्धि हो सकती है।

वित्त विभाग की इस राय से उन लोगों के अरमानों पर पानी फिरता नजर आ रहा है जो सेवानिवृत्ति के बाद संविदा नियुक्ति की आस लगाए थे।

Read More

कैबिनेट ने बैरंग लौटाया प्रस्ताव, एआरटीओ की नियुक्तियां अटकी

भोपाल। 13 सहायक क्षेत्रीय परिवहन अधिकारियों (एआरटीओ) की नियुक्तियों का रास्ता निकालने परिवहन विभाग द्वारा कैबिनेट में रखा प्रस्ताव बैरंग वापस लौटा दिया गया। विभाग ने इन्हें पदोन्न्ति के पदों के विरुद्ध नियुक्त करने या सीधी भर्ती के पद न होने से चयनित उम्मीदवारों को नियुक्ति न देने का प्रस्ताव रखा था। बैठक में प्रस्ताव आते ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इस पर बाद में विचार किया जाएगा। इसी तरह मांझी जाति के प्रमाण-पत्र बनाकर धीमर, कहार, भोई, केवट, मल्लाह और निषाद जाति के व्यक्तियों द्वारा सरकारी नौकरी और शैक्षणिक संस्थाओं में प्रवेश लेने वालों को सरंक्षण देने का फैसला लिया गया। हालांकि इन्हें आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा।

Read More

भावांतर योजना के सिस्टम में गुम हो गए सैकड़ों किसान

इंदौर। भावांतर भुगतान योजना के सिस्टम में इंदौर संभाग के सैकड़ों किसान गुम हो गए हैं। इनमें अकेले इंदौर जिले के करीब 180 किसान हैं, जिन्हें करीब 30 लाख का भुगतान करना है लेकिन मंडी बोर्ड और बैंकों के ऑनलाइन सिस्टम में ये मिल नहीं पा रहे हैं। इनकी तलाश की जा रही है। माना जा रहा है कि किसानों द्वारा योजना के फॉर्म में भरे गए अपने बैंक के आईएफएससी कोड गलत हो सकते हैं। इसके लिए मंडी बोर्ड और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने आरबीआई से भी मदद मांगी है।

Read More

मंत्री आर्य को किया गिरफ्तार , बनाया फरारी का पंचनामा

भोपाल। माखन लाल जाटव हत्याकांड के मामले में कोर्ट ने मंत्री लाल सिंह आर्य के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया है। मंगलवार सुबह भिंड पुलिस की टीम गिरफ्तारी वारंट के साथ भोपाल स्थित मंत्री आर्य के बंगले पर पहुंची। यहां पर पुलिस ने पूरे घर की तलाशी ली, जब आर्य नहीं मिले तो पुलिस ने फरारी का पंचनाम बनाया और इसके बाद वहां से चली गई। माना जा रहा है कि किसी भी वक्त मंत्री की गिरफ्तारी हो सकती है।

Read More

बाबरी विध्वंस को सरकारी आयोजन में बताया शहादत

भोपाल (राजीव सोनी)। राजधानी के रवीन्द्र भवन परिसर में चले तीन दिनी सरकारी आयोजन 'जश्न-ए-उर्दू" मुशायरे में एक शायरा ने बाबरी विध्वंस को शहादत का दर्जा देते हुए एक शेर के जरिए इसका जिक्र किया। मप्र संस्कृति विभाग के उर्दू अकादमी द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में मुनव्वर राना, वसीम बरेलवी, डॉ. तरन्नुम रियाज, तनवीर गाजी और मुमताज सिद्दिकी जैसे नामचीन शायर भी शामिल हुए।

Read More

भोपाल। विदेश मंत्रालय कॉलेज में अध्ययनरत छात्रों के पासपोर्ट बनाने की भोपाल में विशेष मुहिम

भोपाल। विदेश मंत्रालय कॉलेज में अध्ययनरत छात्रों के पासपोर्ट बनाने की भोपाल में विशेष मुहिम 'स्टूडेंट कनेक्ट' शुरू करेगा। इसके तहत विभिन्न कॉलेज के छात्रों को 25 टाइम स्लॉट आवंटित किए जाएंगे। इसी तरह भोपाल और इंदौर में पासपोर्ट संबंधी समस्याओं के निराकरण के लिए मेला भी लगाने की तैयारी है।

विदेश सचिव ध्यानेश्वर मुले के निर्देश पर पासपोर्ट कार्यालय ने भोपाल में 'स्टूडेंट कनेक्ट' कार्यक्रम आयोजित करने की तैयारी की है। इस कार्यक्रम में राजधानी के विभिन्न कॉलेज के छात्रों को बुलाया जाएगा। इन युवाओं को पासपोर्ट संबंधी बुनियादी जानकारियां दी जाएंगी।

Read More