mp mirror logo

मध्‍य प्रदेश : शांति की अपील के साथ शिवराज ने शुरू किया उपवास, कहा-खेती सरकार की प्राथमिकता

भोपाल: मंदसौर हिंसा और किसानों के प्रदर्शन के बीच मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यहां के दशहरा मैदान में अपना अनिश्चितकालीन उपवास शुरू कर दिया है. उन्‍होंने किसानों से शांति की अपील के साथ अपना उपवास शुरू किया. उनके साथ कई मंत्री भी उपवास पर बैठे हैं. इस मौके पर बोलते हुए मुख्‍यमंत्री ने कहा कि किसानों के बिना प्रदेश आगे नहीं बढ़ सकता. खेती सरकार की पहली प्राथमिकता है. सरकार पूरी तरह से किसानों के साथ है. सरकार ने किसानों के लिए कई कल्‍याणकारी योजनाएं चलाई हैं. किसान के खेतों तक पानी पहुंचाया है. किसानों के लिए फसल बीमा योजना लांच की गई है.

उपवास शुरू करने से पहले सीएम ने किसानों को संबोधित कई ट्वीट कर कहा, ''मेरे किसान भाइयों, बापू के देश में हिंसा की आवश्‍यकता नहीं है. हम-आप शांतिपूर्ण ढंग से हर समस्‍या का समाधान ढूंढ़ लेंगे...''. उन्‍होंने कहा, मेरा यह उपवास किसानों की लड़ाई में उनके साथ खड़े होने का प्रतीक है. यह उपवास हिंसा के विरुद्ध है. हिंसा से कोई सृजन नहीं होता है.
  
मध्य प्रदेश में हिंसक किसान आंदोलन को लेकर घिरे चौतरफा घिरे शिवराज सिंह चौहान ने इससे पहले शुक्रवार को अपने सरकारी निवास पर एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि 'मैं पत्थर दिल नहीं हूं. शांति बहाली के लिए मैंने फैसला किया है कि कल से मैं वल्लभ भवन (मंत्रालय) में नहीं बैठूंगा. मैं भोपाल के भेल दशहरा मैदान पर पूर्वाह्न 11 बजे से अनिश्चितकालीन उपवास पर बैठूंगा. तब तक बैठूंगा, जब तक शांति बहाल न हो जाए'.

उन्होंने कहा, 'मैं भोपाल में दशहरा मैदान में किसानों की समस्याओं के समाधान हेतु चर्चा के लिए उपलब्ध रहूंगा. वहीं से सरकार चलाऊंगा. मैं सभी किसानों एवं जनता से अपील करता हूं कि वे वहां चर्चा करने के लिए आएं, ताकि शांतिपूर्ण तरीके से बातचीत करके किसान आंदोलन का समाधान निकाला जा सके'.

मुख्‍यमंत्री ने किसानों से अपना आंदोलन स्थगित करने का अनुरोध करते हुए कहा, 'आप कहीं मत जाओ, चर्चा के लिए आओ. जो चर्चा के लिए आना चाहते हैं, आइये. सभी समस्याओं को बातचीत से सुलझाया जा सकता है. यही लोकतंत्र का तरीका है'. उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता की सुरक्षा के साथ कोई समझौता नहीं होगा और राजधर्म का पालन करते हुए 'अराजक तत्वों से सख्ती से निपटा जाएगा' चौहान ने किसानों के प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा से दुखी होकर कहा, 'अराजक तत्वों से निपटेंगे. जनता को सुरक्षा देंगे. राजधर्म का पालन किया जाएगा'. उन्होंने कहा, 'कुछ लोगों ने 18 से 22 साल के बच्चों के हाथ में पत्थर थमाने का काम किया है. कई जगह चक्काजाम की स्थिति होती है और वे (बच्चे) नजर आते हैं. मुझे तकलीफ इस बात से होती है कि पत्थर वाले हाथ भी अपने बच्चों के हैं और उनको नेतृत्व देने वाला तंत्र भी अपना है'.

इस मसले पर विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि प्रदेश में किसान अपनी मांगों को लेकर सड़कों पर हैं. उनका समाधान करने के बजाय एक संवैधानिक पद पर बैठे मुख्यमंत्री नौटंकी पर उतर आए हैं. केजरीवाल शैली की इस नौटंकी में चौहान एक बार फिर करोड़ों रुपये खर्च करेंगे.

उन्होंने सवाल किया, "यह अनिश्चितकालीन उपवास किसके विरुद्ध है, अपनी ही सरकार या जनता के. वह केजरीवाल शैली की इस नौटंकी में अपनी ब्रांडिंग पर करोड़ों रुपये खर्च करने वाले हैं. सच्चाई यह है कि मुख्यमंत्री एक बार फिर मूल मुद्दे से ध्यान हटाने और प्रदेश की जनता को गुमराह करने के सस्ते हथकंडे पर उतर आए हैं."  

"जिलों की ख़बरें" से अन्य खबरें

अमित शाह का कार्यकर्ताओं को मंत्र, 50 साल के लिए सत्ता में आई है बीजेपी

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी पांच-दस नहीं, बल्कि 50 साल के लिए सत्ता में आई है, और यह भाव कार्यकर्ताओं के भीतर होना चाहिए, तभी देश में आमूलचूल परिवर्तन संभव है.

भोपाल के तीन दिवसीय दौरे पर आए शाह ने पार्टी के कोर ग्रुप के सदस्यों, प्रदेश पदाधिकारियों, सांसदों, विधायकों और जिला अध्यक्षों की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए कहा, "संगठन के कार्यकर्ताओं को अब आराम करने का अधिकार नहीं है, इस राष्ट्र में आमूलचूल सकारात्मक परिवर्तन देखना चाहते हैं तो हमें बिना थके, बिना रुके अपनी दिशा में आगे बढ़ते रहना है."

Read More

भाजपा के ‘शाह’ का भोपाल में शाही स्वागत , हुई फूलों की बारिश,

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह तीन दिवसीय यात्रा पर शुक्रवार सुबह भोपाल पहुंचे। इस दौरान कई जगहों पर ढोल-नगाड़ों और फूलों की बारिश कर कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया। युवाओं के जोश और उत्साह का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता था कि 20 मिनट का सफर शाह के काफिले ने लगभग डेढ़ घंटे में पूरा किया।

Read More

अमित शाह खुद तय करेंगे मुद्दे, तीन दिन की बैठकों का कोई एजेंडा नहीं

भोपाल। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और उनकी टीम मप्र की सत्ता और संगठन को कसौटी पर कसेगी। पार्टी के छोटे से छोटे कार्यक्रम से लेकर सत्ता की नीतियों की समीक्षा खुद अमित शाह करेंगे। भाजपा के इतिहास में पहली बार कोई राष्ट्रीय अध्यक्ष तीन दिन के प्रवास पर मप्र आ रहा है। खास बात यह है कि इस प्रवास में होने वाली बैठकों के लिए मप्र के संगठन के पास कोई एजेंडा नहीं है। दरअसल, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह खुद बैठक के मुद्दे तय करेंगे।

Read More

भाजपा ने दो निकाय गंवाए, कांग्रेस को छह का फायदा

भोपाल। विधानसभा चुनाव के पहले सत्ता का सेमीफाइनल माने जा रहे नगरीय निकाय के चुनाव भाजपा और कांग्रेस के लिए संतोष का सबब रहे। भाजपा ने जहां 25 सीटों पर जीत का परचम लहराया, वहीं कांग्रेस ने वापसी करते हुए 15 जगह पर जीत हासिल की। निर्दलियों के खाते में सिर्फ तीन निकाय रहे। 2012 में हुए चुनाव में भाजपा ने 27, कांग्रेस ने 9, बसपा ने 1 और निर्दलियों ने 6 स्थानों पर जीत हासिल की थी। इस हिसाब से देखा जाए तो फायदे में कांग्रेस ही रही है। ये स्थिति भी तब है जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कई सभाएं और रोड शो किए।

Read More

अमित शाह रात 9 बजे पहुंचेंगे भोपाल, शिव’राज’ का तैयार होगा रिपोर्ट कार्ड

भोपाल . भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में मोदी के नेतृत्व में भाजपा की जीत सुनिश्चित करने के मकसद से देश के सभी राज्यों में कुल 110 दिनों के अपने विस्तृत प्रवास कार्यक्रम के तहत भाजपा अध्यक्ष अमित शाह अपने तीन दिवसीय दौरे पर गुरुवार रात भोपाल आएंगे.

Read More

मध्य प्रदेश नगर निकाय चुनाव 2017: BJP ने जीतीं आधे से ज्यादा सीटें, कांग्रेस दूसरे नंबर पर

मध्य प्रदेश में 43 नगरीय निकाय और पंचायत प्रतिनिधियों के चुनाव की मतगणना बुधवार को भारी सुरक्षा इंतजाम के बीच जारी है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार 25 स्थानों पर आगे हैं, जबकि कांग्रेस के उम्मीदवार 15 स्थानों पर आगे हैं। राज्य निर्वाचन आयोग के कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, नगरीय निकायों के चुनाव की मतगणना का काम अंतिम चरण में है। 

Read More

श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर भी GST का असर, 55 हजार की बनेगी पोशाक

ग्वालियर। भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव के रूप में मनाई जाने वाली श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर भी इस बार जीएसटी का असर देखने को मिल रहा है। सबसे बड़ा असर तो भगवान श्रीकृष्ण की पोशाक पर दिख रहा है।

शहर में 20 रुपए से लेकर 2 हजार रुपए तक की पोशाक मिल रही है, जबकि इससे अधिक कीमत की पोशाक लोग मथुरा से बनवा रहे हैं। 2 हजार रुपए से अधिक कीमत की अधिकांश पोशाक मंदिरों के लिए बनवाई जा रही है।

Read More

जबलपुर में आग से 30 गैस सिलेंडर फटे, दहशत में गुजरी पूरी रात

जबलपुर। शहर के शारदा चौक इलाके में देर रात का कैटरिंग सर्विस के गोदाम में भीषण आग लग गई, जिससे वहां रखे 30 सिलेंडर एक-एक कर फटने लगे। सिलेंडरों की फटने की तेज आवाज से क्षेत्र में दहशत फैल गई। सूचना मिलने के बाद दकमल की गाड़ि‍यां मौकै पर पहुंची और आग पर काबू पाने का प्रयास शुरू किया। इस दौरान इलाके में बिजली लाइन को बंद कर ब्लैक आउट कर दिया गया।

Read More

प्रदेश के 44 नगरीय निकायों में चुनाव के लिए मतदान जारी

भोपाल। मध्यप्रदेश में 44 नगरीय निकाय में चुनाव के लिए शुक्रवार सुबह से मतदान जारी है। जिसमें 8 लाख 51 हजार से ज्यादा मतदाता वोटिंग करेंगे। चुनाव में अध्यक्ष पद के लिए 206 और पार्षद के लिए 2 हजार 133 उम्मीदवार मैदान में हैं। सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस बल को तैनात किया गया है। केंद्रों में वॉटरप्रूफ टेंट भी लगवाए गए हैं।

Read More

MP भाजपा विधि, झुग्‍गी-झाेपड़ी, चिकित्‍सा प्रकोष्ठ की कार्यसमिति एवं जिला संयोजक घोषित

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के विधि प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक संतोष शर्मा ने प्रदेश कार्यसमिति एवं जिला संयोजकों की घोषणा कर दी है।

विधि प्रकोष्ठ – सह संयोजक एवं कार्यालय प्रभारी श्री नितिन पंडित भोपाल, सह संयोजक श्री कपिल त्यागी विदिशा, श्री शशांक शुक्ला जबलपुर, श्री बनवारीलाल यादव इंदौर, श्री महेन्द्र जैन उज्जैन, श्री राजेन्द्र पटैरिया सागर, श्री दीपक खोत ग्वालियर, सह संयोजक एवं महिला प्रमुख कुं कविता सोनी देवास, कार्यकारिणी सदस्य श्री सुरेन्द्र पाण्डे कटनी, श्री आर.के. अवस्थी दतिया, श्री रमाकांत शर्मा इंदौर, श्री जी.आर. घोरे मुलताई, बैतूल, श्री रमेश फुडंडे बालाघाट, श्री सुनील शर्मा रायसेन, श्री दीपनारायण अमरपाटन, श्री अशोक कुमार तिवारी रीवा, श्री वरूण देव शर्मा ग्वालियर, श्री विवेक शर्मा जबलपुर, सह कार्यालय प्रभारी श्री श्रवण भटनागर भोपाल, श्री अभिजीत सक्सेना भोपाल की घोषणा की है।

Read More