mp mirror logo

डॉक्टरों और मेडीकल स्टाफ के दल ने जीता रोगियों एवं उनके परिजनों का दिल

तापोबाई की उम्र महज 48 साल है। गुना जिले के बरखेड़ी की रहने वाली तापोबाई मजदूरी करके अपना पेट पालती है। उसका पति राधेश्याम भी दिहाड़ी मजदूर है। उनके जिम्मे दो बेटों एवं एक बेटी को पालने का भार है। उन्नीस साल पहले गरीब तापोबाई को बच्चादानी खराब होने की बीमारी ने चपेट में ले लिया। डॉक्टर को दिखाया, तो पता चला कि ऑपरेशन कराना पड़ेगा और खर्च पच्चीस-तीस हजार के आसपास आएगा। तापोबाई तो सुनकर ही चक्कर खा गई।
    साठ साल की दयाबाई की कहानी भी तापोबाई जैसी ही है। रामपुर गांव की दयाबाई का पति भरोसा दिहाड़ी मजदूर है। दयाबाई बच्चादानी की समस्या से अठारह वर्ष से परेशान है। उसने अपनी परेशानी पति को बताई। पति ने रामपुर के डॉक्टर से उसका इलाज कराया। परन्तु इलाज से फायदा नहीं हुआ। उसने ऑपरेशन कराने की सलाह दी। ऑपरेशन कराने की सार्म्थ्य नहीं थी। मीराबाई तो महज 35 साल की है। बारह साल पहले उसकी बच्चादानी खराब हो गई थी। इतनी छोटी-सी उम्र में ही बच्चादानी तकलीफ दे गयी। इसी तरह पीपिया गांव की ममता अभी 38 साल की है और उसका पति ट्रेक्टर चलाता है। वह इस बीमारी को दस साल से पाले हुए थी।
    इन महिलाओं की तरह इमलिया की रहने वाली पचास साल की मेगधे बाई भी छः साल से इस बीमारी को पाले हुए थी। किसी के कहने पर उसने अपनी तकलीफ के बारे में पता किया, तो पता चला कि इस समस्या का हल ऑपरेशन है, जिस पर करीब चालीस हजार से ऊपर खर्च आएगा। मेगधेबाई का पति जगराम भी एक दिहाड़ी मजदूर है। वह सुनकर सन्न रह गया। ये सभी महिलाएं गरीब वर्ग की हैं और इतना खर्च कर ऑपरेशन करवाना तो दूर ये किसी शल्य विशेषज्ञ को एक बार दिखाने की फीस-चुकाने और जांचें कराने तक की हैसियत में नहीं हैं।
    लेकिन सबको इलाज सुलभ कराने की राज्य शासन की मंशा को ध्यान में रखते हुए बच्चादानी ऑपरेशन शिविर के माध्यम से मुफ्त ऑपरेशन कराने का बीड़ा कलेक्टर श्री राजेश जैन एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रामवीर सिंह रघुवंशी ने दो माह पहले उठाया था। फिर पिछले दिनों भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी, भारतीय शल्य चिकित्सक संघ एवं लोक स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से यहां जिला अस्पताल में निःशुल्क बच्चादानी ऑपरेशन शिविर लगाया गया। जिसमें उपर्युक्त महिलाओं सहित कुल 127 गरीब महिलाओं के मुफ्त ऑपरेश्न किए गए। इसमें इन्दौर के डॉक्टर एन.के. जैन एवं डॉ. (श्रीमती) सी.पी. जैन उनके मददगार हैं। ऑपरेशन करने के बाद भी लोक स्वास्थ्य विभाग की टीम इन रोगियों की पूरी तीमारदारी करती है। इन महिलाओं को जिला अस्पताल में भर्ती रखा हुआ है। इन महिला रोगियों के आने-जाने रहने, खाने-पीने, दवा, साबुन और तेल का खर्च भी लोक स्वास्थ्य विभाग ही उठा रहा है। राज्य शासन ने इन महिलाओं के मुफ्त ऑपरेशन, जांचों एवं दवाइयों का इंतजाम कर नया जीवन दिया है। अब ये महिलाएं अपनी दिनचर्या को सामान्य रूप से कर सकेंगी।
    इन महिलाओं की देखभाल हेतु नियुक्त डॉ. (श्रीमती) सोनू रघुवंशी के मुताबिक मुख्य रूप से घर पर प्रसव कराने, माहवारी के समय वजन उठाने तथा क्षमता से अधिक वजन उठाने की वजह से बच्चादानी की समस्या होती है। देर से इलाज शुरू कराने वाली ऐसी महिलाओं की बच्चादानी भी समय के साथ खराब होती रहती है। समय गुजरने के साथ-साथ महिलाओं की तकलीफें भी बढ़ती जाती हैं। ऑपरेशन उन रोगियों का किया जाता है, जिनकी बच्चादानी खराब हो जाती है और जिनकी दिनचर्या सामान्य नहीं रह पाती। डॉ. (श्रीमती) रघुवंशी कहती हैं कि ऑपरेशन कराने वाली महिलाओं में ग्रामीण क्षेत्र की 80 फीसद और शहरी क्षेत्र की 20 फीसद महिलाएं हैं। इनमें 90 फीसद महिलाओं की बच्चादानी बाहर निकल आई थी और दस फीसद महिलाओं की बच्चादानी में गांठ पड़ गई थी। इनमें से अपनी यह समस्या पति को बताने वाली महिलाएं 70 फीसद हैं और सास को समस्या बताने वाली महिलाएं 20 फीसद हैं। जबकि 10 फीसद महिलाओं ने किसी को अपनी समस्या बताई ही नहीं थी। ममता के पति राजाराम, मीरा के पति भारत, मेगधेबाई के पति जगराम का कहना है, "आर्थिक तंगी के कारण हम ऑपरेशन नहीं करवा पा रहे थे। लेकिन सरकार ने हमारी पत्नियों को नई जिंदगी दी है।" वे कहते हैं, "डॉक्टरों एवं मेडीकल स्टाफ का दल रोगियों की सेवा में जुटा हुआ है।" जीवन की उम्मीद छोड़ चुके पत्नियों के सफल इलाज की खुशी उनके चेहरों से साफ झलक रही थी।
    कलेक्टर श्री राजेश जैन कहते हैं, "गरीब महिलाओं के निःशुल्क बच्चादानी ऑपरेशन के लिए शीघ्र एक और शिविर लगवाया जाएगा।" मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रघुवंशी बताते हैं, "निःशुल्क बच्चादानी ऑपरेशन शिविर के लिए महिलाओं का पंजीयन किया जा रहा है। उन्हें सारी सुविधाएं मुफ्त उपलब्ध कराई जाएंगी।"

"जिलों से" से अन्य खबरें

मुख्यमंत्री अल्प प्रवास पर ग्वालियर आए

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान गुरुवार को अल्प प्रवास पर ग्वालियर पहुँचे। इस दौरान वे विभिन्न वैवाहिक समारोह में शामिल हुए और वर-वधुओं को आशीर्वाद देकर उनके सुखद दांपत्य जीवन के लिए कामना की। उच्च शिक्षा एवं लोकसेवा प्रबंधन मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया तथा राज्यसभा सांसद श्री प्रभात झा भोपाल से विमान द्वारा मुख्यमंत्री के साथ आए थे।

Read More

वीरांगना झलकारी बाई जयंती के अवसर पर कार्यशाला आयोजित

वीरांगना झलकारी बाई जयंती के अवसर पर 22 नवम्बर को शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय वनगवां में महिला सशक्तिकरण विभाग द्वारा कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री संजय गहरवाल ने बताया कि वीरंगना झलकारी बाई प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में रानी लक्ष्मी बाई की महिला सेना की सेनापति थी और क्रांति के दौरान रानी लक्ष्मी बाई को महत्तवपूर्ण सहयोग प्रदान किया।

Read More

भोपाल को स्मार्ट सिटी बनाने के अभियान में तेजी

भोपाल को सुन्दर और स्वच्छ बनाने के लिए चलाये जा रहे अभियान के तहत शहर के 14 चौराहे चिन्हित किये गये हैं, जिन पर 51 कैमरे लगाये जाएंगे।स्मार्ट सिटी के अंतर्गत नगर में चलने वाले वाहनों की सघन चैकिंग की जाएगी। अनियमितता पाये जाने पर चालान संबंधित व्यक्ति के घर पहुँचाये जाएंगे। 

Read More

हमारी नीयत बेहतर काम करने की है और मंशा शहर को बेहतर तरीके से बसाना- वित्त मंत्री जयंत मलैया

हमारी नीयत बेहतर काम करने की है और मंशा शहर को बेहतर तरीके से बसाना है। शहर में सड़को का विकास, ड्रेनेज सिस्टम पानी की सुगम व्यवस्थाएं सहित विकास के अन्य कार्य व्यवस्थित रूप से कराये और सतत् जारी है। इस आशय के उद्गार आज वित्त और वाणिज्यिक कर मंत्री जयंत कुमार मलैया ने व्यापारीगण द्वारा बस स्टेण्ड के समीप आयोजित नागरिक अभिनंदन कार्यक्रम के दौरान व्यक्त किये। इस अवसर पर संसाद प्रहलाद पटेल विशेष रूप से मौजूद थे।

Read More

कलेक्ट्रेट बुरहानपुर में ''''नेकी की दीवार'''' का हुआ शुभारंभ

जिला प्रशासन द्वारा कलेक्ट्रेट बुरहानपुर में आनंदम कार्यक्रम के तहत ‘‘नेकी की दीवार‘‘ स्थापित की गई है। आज नेकी की दीवार का विधिवत् शुभारंभ किया गया। इस कार्यक्रम में शहर के समाजसेवी नागरिकों ने विभिन्न उपयोगी सामग्री उपलब्ध कराई। 

Read More

भावांतर भुगतान योजना पर पूरे देश की निगाहें - मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भावांतर भुगतान योजना किसानों के हित संरक्षण की अद्भुत योजना है। इस पर पूरे देश की निगाहें हैं। उन्होंने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये हैं कि किसानों की उपज के भावांतर की सही राशि किसानों के खातों में पहुंचाना सुनिश्चित करें। इस योजना के अंतर्गत पहला भुगतान एक लाख 35 हजार से ज्यादा किसानों को 22 नवम्बर को एक साथ होगा। 

Read More

रबी सीजन के लिए पर्याप्त खाद-बीज की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के कलेक्टर ने दिए निर्देश

कृषि आदान संबंधी समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर श्रीमती भावना वालिम्बे ने आगामी सीजन के खाद तथा बीज की उपलब्धता के साथ ही भावांतर योजना के अंतर्गत चल रहे पंजीयन की समीक्षा की। इसके साथ ही उन्होंने धान उपार्जन के संबंध में सभी मंडियों की विस्तृत जानकारी ली।

Read More

महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा के लिए ओर उठाये जाये कदम-मुख्यमंत्री

प्रत्येक जिले में कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ऐसे स्थानो, क्षेत्रो का संयुक्त दौरा करेंगे, जहां पर बालिका-महिला पढ़ने, रहने या अन्य रूप में एकत्रित होती है। इस दौरान यदि किसी असामाजिक तत्वो की उपस्थिति की शिकायत मिलती है, यह ज्ञात होता है तो उनके विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायें। शिक्षण संस्थानो में भी महिलाओ-बालिकाओ से संबंधित कानूनी प्रावधानो, सूचना तंत्र हेतु बनाये गये एप, निर्धारित टेलीफोन नम्बरो की जानकारी दी जाये। जिससे आवश्यकता पड़ने पर माताएं-बहने, बालिका इनका उपयोग कर सके। 

Read More

प्रभारी मंत्री श्री रामपाल सिंह 20 नवम्बर को जिले के प्रवास पर

 लोक निर्माण, विधि एवं विधायी कार्य मंत्री और नरसिंहपुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री रामपाल सिंह सोमवार 20 नवम्बर को जिले के प्रवास पर रहेंगे। वे सांईखेड़ा में जिला योजना समिति की बैठक की अध्यक्षता करेंगे और अन्य कार्यक्रमों में शामिल होंगे।

Read More

स्वरोजगार योजनाओं के प्रकरण बैंकर्स संवेदनशीलता के साथ स्वीकृत एवं वितरित करें : कलेक्टर

प्रदेश सरकार की मंशा है कि युवाओं को स्वयं का व्यवसाय प्रारंभ करने हेतु अधिक से अधिक अवसर मिले। इसीलिए प्रदेश सरकार द्वारा अनेको स्वरोजगार योजनाओं का संचालन विभिन्न शासकीय विभागों द्वारा किया जा रहा है। विभिन्न विभागों द्वारा स्वरोजगार के प्रकरण बैकों को भेजे जाते हैं, प्रकरणों के स्वीकृति एवं वितरण में देरी के कारण स्वरोजगारी परेशान होते हैं

Read More