mp mirror logo

हंगामा व वेल में नारेबाजी से दोनों सदन कल 11 बजे तक स्थगित

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा के पहले सत्र का पहला दिन आज हंगामे की भेंट चढ़ गया। समाजवादी पार्टी के साथ ही बसपा व कांग्रेस के विधायकों के प्रदेश में खराब कानून-व्यवस्था को लेकर हंगामा किया। जिसके कारण राज्यपाल के संबोधन के बाद आज दोनों सदन को कल दिन में 11 बजे तक स्थगित कर दिया गया। 

विधान परिषद में भी विपक्ष ने काफी हंगामा किया। इस दौरान वेल में नारेबाजी भी की गई। जिसके कारण सदन की आगे की कार्यवाही कल तक 11 बजे तक स्थगित कर दी गई है। 

लखनऊ में आज विधानसभा की कार्यवाही शुरु होते ही हंगामा होने लगा। इस हंगामा के दौरान राज्यपाल राम नाईक के ऊपर विपक्ष ने कागज के टुकड़े फेंके। लॉ एंड आर्डर की स्थिति को लेकर समाजवादी पार्टी के विधायको ने हाथ में बैनर और तख्ती लेकर प्रदर्शन और हंगामा किया। विपक्षी विधायक सदन में प्लेकार्ड लेकर आए थे। राज्यपाल का अभिभाषण शुरू होते ही समाजवादी पार्टी के विधायकों ने उनकी ओर कागज के गोले फेंके। सभी सपा नेता लाल टोपी पहनकर आए हैं और हाथों में सीटी भी थी। कानून व्यवस्था को लेकर विपक्ष लामबंद है।
हंगामे के बीच राज्यपाल ने पूरा किया संबोधन

राज्यपाल राम नाइक ने हंगामे और नारेबाजी के दौरान ही अपना संबोधन पूरा किया। विपक्ष के हंगामे पर कैबिनेट के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि हम आशा करते हैं कि विपक्ष अपनी सकारात्मक भूमिका निभाएगा। सिद्धार्थ नाथ ने कहा कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर विपक्ष को आत्मनिरीक्षण करना चाहिए। सिद्धार्थ नाथ सिंह ने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि सपा सरकार खुद राज्य की कानून-व्यवस्था बेहतर नहीं कर पाई और हमसे 50 दिनों की रिपोर्ट मांगी जा रही है। इससे पहले राज्यपाल राम नाईक के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी विधानभवन में पहुंचे। राष्ट्रगान के बाद विधानसभा की कार्यवाही शुरु की गई।

भाजपा ने नए विधायकों को प्रशिक्षित किया 

विपक्ष के विरोध को झेलने के लिए भाजपा ने पूरी तैयारी की है। नए विधायकों को सदन में व्यवहार के लिए प्रशिक्षित किया गया है। सरकार भी करीब 2 महीने के शासनकाल के दौरान अपने कामों का खाका पेश करेगी। सदन में विपक्ष का संख्या बल महज 74 विधायकों का है, लेकिन हाल ही में बुलंदशहर, सहारनपुर, संभल और गोंडा में जातीय और सांप्रदायिक हिंसा को मुद्दा बनाकर सरकार के पक्ष को कमजोर करने की कोशिश होगी।


उत्तर प्रदेश में योगी सरकार की हुकूमत कायम होने के बाद सोमवार 15 मई से पहले विधानसभा सत्र की शुरुआत हुई। 17वीं विधानसभा के गठन के बाद विधानमंडल का आज पहला सत्र है। विधानसभा अध्यक्ष की अगुआई में कार्य मंत्रणा समिति की बैठक में 15 से 22 मई तक के कार्यक्रम को मंजूरी दी गई। इस बीच सदन की छह बैठकें होंगी। सत्र के दौरान विधानसभा की कार्यवाही का लोकसभा की तरह दूरदर्शन पर सीधा प्रसारण होगा। 

विपक्ष कर सकती है इन मुद्दों पर हमला

विपक्ष ने विधानसभा के पहले सत्र में योगी सरकार पर जोरदार हमला करने की तैयारी कर ली है। ऐसे में सदन में कितनी मर्यादा का ख्याल रखा जाएगा और नेता चर्चा कितनी करेंगे यह देखना दिलचस्प होगा। विपक्ष की ओर से योगी सरकार पर पहला हमला कानून व्यवस्था को लेकर किया जाएगा। इसके अलावा ब्याज सहित गन्ना मूल्य भुगतान, समाजवादी पेंशन बंद करने और प्रदेश में विकास कार्य ठप रहने के मुद्दों पर भी सरकार को विपक्ष घेरने की कोशिश करेगा।

सदन संचालन के लिए कल बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी दलों के नेताओं से सहयोग की अपेक्षा की और सदन अधिकतम अवधि तक चलाए जाने का आश्वासन भी दिया। उन्होंने कहा कि सभी सदस्य शांतिपूर्वक राज्यपाल का अभिभाषण सुनें ताकि पता चले कि सरकार लोक कल्याण के कौन से काम कर रही है। 

विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित का कहना था कि तार्किक व गुणात्मक बहस से ही जनता को लाभ पहुंचाया जा सकता है। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि पक्ष व विपक्ष के सहयोग से ही सदन को सुचारू रूप से चलाया जा सकता है। बैठक में नेता विरोधी दल रामगोविंद चौधरी की गैरहाजिरी चर्चा का मुद्दा थी। चौधरी का कहना है अपरिहार्य कारणों से वह बैठक में नहीं पहुंच सके। इसे किसी तरह के विरोध से नहीं जोड़ा जाना चाहिए। बैठक में बसपा के लालजी वर्मा, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के ओमप्रकाश राजभर, व कांग्रेस के अजय कुमार व अपना दल के नील रतन सिंह पटेल 'नीलू' ने अपने दलों की ओर से सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया। 

जीएसटी पर हो सकती है बहस

वैसे तो योगी सरकार का विधानसभा में बहुमत है लेकिन विधानपरिषद में समाजवादी पार्टी बहुमत में है। विपक्ष जोरदार हमले में कोई कोर कसर नहीं छोडऩा चाहता। संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना के अनुसार इसी सत्र में जीएसटी विधोयक भी पारित कराया जाना है। सरकार की कोशिश है इसे जल्द से जल्द पारित करा लिया जाए।

विधानसभा अध्यक्ष ने विधानभवन की सुरक्षा समिति की बैठक बुलाई। उन्होंने विधानभवन परिसर के भीतर और बाहर सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रखने के निर्देश दिए।

"राजनीतिक खबरें" से अन्य खबरें

बीजेपी सांसद बोले- रॉबर्ट वाड्रा हैं सरकार का अगला निशाना, फंस सकते है राहुल और सोनिया गांधी

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में हुए घोटाले को लेकर भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साध रही कांग्रेस पर बीजेपी सांसद ने पलटवार किया है। सांसद ने कहा है कि कांग्रेस को घोटाले के मामले में बोलने का अधिकार नहीं है, क्योंकि यह सब उसकी सरकार में शुरू हुआ है। 

Read More

PNB घोटाला मामला: विपक्षियों ने भाजपा पर साधा निशाना

पीएनबी बैंकिंग घोटाला मामले में विपक्षी दलों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर हमला किया और कहा कि बीजेपी इस मामले में समय पर कार्रवाई करने में नाकाम रही है।

दरअसल, राहुल गांधी ने ट्वीट के जरिये पीएम मोदी पर हमला बोला और कहा कि 'नीरव मोदी ने समझाया है कि भारत को कैसे लूटा जा सकता है। सबसे पहले पीएम मोदी को गले मिलो, दावोस में पीएम मोदी के साथ भी नजर आओ। देश के 12000 करोड़ रुपए चुराओ और विजय माल्या की तरह देश से पैसे लेकर भाग जाओ।' यहां तक की राहुल ने नीरव मोदी को 'छोटा मोदी' का नाम दे डाला।

Read More

नेपाली प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने दिया इस्तीफा, वाम-मोर्चा की बनेगी अगली सरकार

नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा ने गुरुवार को अपने पद से इस्तीफा देकर वाम-मोर्चा की अगली सरकार के गठन के लिए रास्ता साफ कर दिया है। गौरतलब है कि देश में हुए ऐतिहासिक संसदीय और स्थानीय चुनावों में पार्टी की बुरी हार के करीब दो महीने बाद देउबा ने इस्तीफा दिया है। देउबा सीपीएन (माओवादी सेन्टर) के समर्थन से पिछले वर्ष छह जून को नेपाल के 40वें प्रधानमंत्री बने थे। 

Read More

सुशील मोदी का हमला, कहा- भ्रष्टाचार में डूबा लालू परिवार CM पर उछाल रहा कीचड़

पटना। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ट्वीट करते हुए राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के परिवार पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार में डूबा लालू परिवार उस मुख्यमंत्री पर कीचड़ उछाल रहा है जिन्हें सार्वजनिक जीवन में ईमानदारी के लिए मुफ्ती मुहम्मद सईद पुरस्कार से सम्मानित किया गया। संपत्ति के स्थान पर मुख्यमंत्री का 22वें स्थान पर होना अपने आप में एक प्रमाण है।

Read More

उमा भारती ने किया बड़ा ऐलान- अब मैं कोई चुनाव नहीं लड़ूंगी

झांसी: केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की अत्यंत मुखर नेता के तौर पहचानी जाने वाली झांसी की सांसद साध्वी उमा भारती ने अब चुनाव न लड़ने का फैसला कर लिया है. उन्होंने यह बात रविवार को संवाददाताओं से चर्चा के दौरान कही. क्षेत्रीय सांसद उमा भारती ने संवाददाताओं से अपनी उम्र और स्वास्थ्य का हवाला देते हुए कहा, "अब मैं कोई चुनाव नहीं लड़ूंगी, मगर पार्टी के लिए काम करती रहूंगी. "

Read More

मेघालय चुनाव: कांग्रेस ने स्टार प्रचारकों की लिस्ट की जारी

शिलांग: मेघालय में फरवरी के अंत में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं और राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी ने चुनाव प्रचार के लिए संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस नेता शशि थरूर को अपने स्टार प्रचारकों में शामिल किया है. पार्टी के एक पदाधिकारी ने इसकी जानकारी दी. उन्होंने बताया कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी चुनाव प्रचार के लिए राज्य में लौट रहे हैं. गांधी ने पिछले महीने एक रॉक कंसर्ट के जरिए आधिकारिक रूप से चुनावी बिगुल फूंका था.

Read More

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पर जमीन की धोखाधड़ी का आरोप, प्राथमिकी हुई दर्ज

पटना। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पर कोर्ट के आदेश के बाद जमीन की धोखाधड़ी, जालसाजी और जाति सूचक शब्दों का इस्तेमाल कर अपशब्द कहने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की गई है। उनके साथ 33 अन्य लोगों पर भी प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसी के साथ मौके की ताक में बैठे आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने गिरिराज सिंह से इस्तीफे की मांग की है।

Read More

विनय कटियार: भारत में मुसलमानों का क्या काम, पाकिस्तान या बांग्लादेश जाएं

नई दिल्ली: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भारतीय मुस्लिमों को पाकिस्तानी कहे जाने को दंडनीय अपराध घोषित करने की मांग पर बीजेपी के राज्यसभा सांसद विनय कटियार ने पलटवार किया है. न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में विनय कटियार ने कहा, जो लोग वंदे मातरम का सम्मान नहीं करते हैं और जो पाकिस्तानी झंडे को फहराते हैं उनपर कार्रवाई करने का बिल लाया जाना चाहिए.' विनय कटियार ने यहीं नहीं रुके उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, 'मुसलमानों को इस देश में रहना ही नहीं चाहिए.

Read More

त्रिपुरा में ढहेगा “लाल किला”, पहली बार बीजेपी की बहुमत सरकार

देश के पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा में जैसे-जैसे चुनाव की तारीख नजदीक आती जा रही है, वैसे-वैसे राजनीतिक दलों और राजनेताओं के दावों-प्रतिदावों और आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। 60 सदस्यों वाली त्रिपुरा विधान सभा के लिए 18 फरवरी को वोट डाले जाएंगे लेकिन अभी से ही कयास लगाने का दौर जारी है। न्यूज एक्स के ओपिनियन पोल के मुताबिक 25 सालों से सत्ता पर काबिज सीपीआईएम इस बार सत्ता से बेदखल होती नजर आ रही है। सर्वे के मुताबिक यहां पहली बार भाजपा की सरकार बनती दिखाई दे रही है।

Read More

उत्तराखंड की BJP सरकार ने 9 महीने में मेहमानों के चाय-नाश्ते पर खर्च किए 68 लाख रुपए, RTI में खुलासा

देहरादून. उत्तराखंड सरकार ने मेहमानों के चाय-नाश्ते पर बीते 9 महीने में सरकारी फंड से 68 लाख 59 हजार 865 रुपए खर्च कर दिए। एक आरटीआई में इस बात का खुलासा हुआ है। बता दें कि 18 मार्च 2017 को त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।

दिसंबर में लगाई गई थी एप्लिकेशन
– हेमंत सिंह गौनियां नाम के आरटीआई एक्टिविस्ट ने 19 दिसंबर 2017 को एप्लिेकशन लगाई थी। इसमें पूछा गया था कि त्रिवेंद्र सिंह रावत के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद से अब तक चाय-पानी तक कितना सरकारी पैसा खर्च हुआ?

Read More