mp mirror logo

गृह मंत्रालय का फरमान; संपत्ति का ब्यौरा नहीं तो प्रमोशन भी नहीं

नई दिल्‍ली : केंद्र सरकार ने नौकरशाही में भ्रष्टाचार रोकने के लिए एक और बड़ा कदम उठाया है. गृह मंत्रालय ने अपने नए आदेश में कहा है कि संपत्ति का ब्यौरा नहीं देने वाले भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारियों को अपनी अचल संपत्ति का ब्यौरा नहीं देने पर प्रमोशन नहीं मिलेगी. 

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्य सरकारों से संपत्ति का ब्यौरा नहीं देने वाले आईपीएस अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगने का निर्देश देते हुए ताकीद की है कि ऐसे अधिकारियों को केंद्र सरकार से मिलने वाली अन्य सेवा संबंधी सुविधाएं भी नहीं मिलेंगी. मंत्रालय ने सभी राज्यों के मुख्य सचिव, पुलिस महानिरीक्षक और केन्द्रीय पुलिस संगठन के प्रमुख को भेजे निर्देश में अचल संपत्ति का साल 2016 का ब्यौरा अभी तक नहीं देने वाले आईपीएस अधिकारियों से जवाब मांगने को कहा है. 

मंत्रालय ने आईपीएस अधिकारियों को साल 2016 में अचल संपत्ति का ब्यौरा 31 जनवरी 2017 तक ऑनलाइन मुहैया कराने का समय दिया था. मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि देशभर में तैनात कुल 3,894 आईपीएस अधिकारियों में से लगभग 15 फीसदी अधिकारियों ने अभी तक अचल संपत्ति का ब्यौरा नहीं दिया है. मंत्रालय ने निर्देश में स्पष्ट कहा है कि ऐसे अधिकारियों को प्रमोशन और अन्य सेवा संबंधी सुविधाएं नहीं मिलेंगी.

अखिल भारतीय सेवा नियम, 1968 के तहत सभी अधिकारियों को हर साल अपनी अचल संपत्ति का ब्यौरा अगले नए साल की 31 तारीख तक मंत्रालय को ऑनलाइन मुहैया कराना अनिवार्य होता है. साल 2011 में संशोधित दिशानिर्देशों के तहत इस समय सीमा का पालन नहीं करने वाले अधिकारियों को सतर्कता विभाग से अपनी सेवाएं जारी रखने की मंजूरी नहीं मिलेगी.

"स्पेशल रिपोर्ट" से अन्य खबरें

फारुक बोले- कश्मीर पर US-चीन की लें मदद, BJP बोली- सलाह की जरूरत नहीं

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और पाकिस्तान से सहानुभूति रखने वाले फारुख अब्दुल्ला ने जम्मू-कश्मीर की समस्या पर बड़ा बयान दिया है. शुक्रवार को उन्होंने कहा कि कश्मीर के मुद्दे पर भारत को अमेरिका और चीन की मदद स्वीकार कर लेनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि हम लोग चीन और पाकिस्तान से युद्ध नहीं कर सकते हैं, क्योंकि हमारी तरह उनके पास भी एटम बम हैं. इसलिए इस मुद्दे को बातचीत से ही सुलझाना चाहिए. अब्दुल्ला ने कहा कि दोस्तों का इस्तेमाल बातचीत करने के लिए, मुद्दे को हल करने के लिए कीजिए. अब्दुल्ला ने कहा कि कभी-कभी बैल को सींग से पकड़ना होता है, कभी ऐसा करना पड़ता है.

Read More

पाक को भारतीय सेना का मुंहतोड़ जवाब, कई सैनिक मारे, बंकर ध्वस्त

जम्मू। सीमापार से लगातार भारी गोलाबारी कर रही पाक सेना को बुधवार को भारतीय जांबाजों ने मुंह तोड़ जवाब दिया। जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान की कई चौकियां तबाह होने की खबर है साथ ही इन चौकियों में मौजूद कई पाकिस्तानी सैनिक भी ढेर हो गए हैं। पाक सेना ने पुंछ व राजौरी जिलों में बुधवार को कई गांवों, बस्तियों व चौकियों को निशाना बनाया। इसमें एक नागरिक जख्मी हो गया।

Read More

अमेरिका की चीन को चेतावनी, भारत को कुछ हुआ तो चुप नहीं बैठेंगे

नई दिल्ली। डोकलाम में जारी तनाव के बीच चीन लगातार भारत को आंख दिखा रहा है। इस बीच अमेरिका ने चीन को चेतावनी दी है कि अगर उसने भारत को साथ कुछ किया तो वो चुप नहीं रहेगा। एक तरफ अमेरिका ने चीन को परोक्ष चेतावनी दी है कि अगर हिंद महासागर में भारत के खिलाफ कुछ होता है तो वह जापान के साथ मदद के लिए सामने आ सकता है।

वहीं ऑस्ट्रेलिया ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र के अहम लोकतांत्रिक देशों- भारत, इंडोनेशिया, जापान और ऑस्ट्रेलिया को एक साथ काम करने का आह्वान किया है। भारत दौरे पर आईं ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री जूली बिशॉप ने हिंद महासागर में भारत को निर्विवाद तौर पर लीडर कह कर अपनी मंशा साफ कर दी है कि चीन की लगातार बढ़ती नौसैनिक गतिविधियों को लेकर अंतरराष्ट्रीय बिरादरी की चिंता बढ़ रही है।

Read More

भारत से तनातनी के बीच अब अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया ने चीन को लेकर चेताया

भारत और दक्षिण चीन सागर में चीन के अडियल रवैये के बीच अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया ने चीन की बढ़ती राजनीतिक और सैन्य महत्वकांक्षाओं को लेकर चेताया है. शीर्ष पेंटागन कमांडर ने जहां एशिया प्रशांत क्षेत्र में चीन के सैन्य जमावड़े को लेकर, तो ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण चीन सागर पर प्रभुत्व स्थापित करने की चीनी तिकड़म का विरोध किया है.

अमेरिकी वायुसेना के जनरल पॉल सेल्वा ने कहा कि चीनी सेना का आधुनिकीकरण एशिया प्रशांत क्षेत्र में अमेरिकी सैन्य तकीनीकी बढ़त के लिए चुनौती बन सकता है. सेल्वा ने साथ ही कहा, 'चीनियों ने अपने क्षेत्रिय राजनीतिक लक्ष्यों को बढ़ाने के मकसद से अपने आर्थिक लाभ का दोहन की तत्परता दिखाई है. 

Read More

सशक्त भारत : मोदी सरकार ने सेना को दी ये पावर, डरे पाक और चीन

नई दिल्ली । मोदी सरकार देश की सुरक्षा को लेकर एक से बढ़कर एक फैसले लेने में लगी हुई है। इसी कड़ी में सरकार ने एक अभूतपूर्व फैसला लेते हुए सेना को 40 हजार करोड़ रुपये के हथियार बिना किसी की अनुमति के खरीदने की इजाजत दे दी है।

Read More

पाक नहीं चीन को ध्यान में रखकर परमाणु हथियार बना रहा भारतः परमाणु विशेषज्ञ

वाशिंगटन (प्रेट्र)। अमेरिका के दो शीर्ष परमाणु विशेषज्ञों का कहना है कि भारत अपने परमाणु हथियारों के जखीरे को लगातार आधुनिक बनाता जा रहा है। परंपरागत रूप से पाकिस्तान को ध्यान में रखकर परमाणु नीति बनाने वाले इस देश का ध्यान अब चीन की तरफ ज्यादा है।

Read More

यूपी के कई बाहुबलियों,दिग्गज मंत्रियों व नेताओं की सुरक्षा वापस

लखनऊ। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने योगी सरकार के आधा दर्जन मंत्रियों सहित कई नेताओं की सुरक्षा लौटाने का आदेश जारी किया है। आदेश में जिनकी सुरक्षा वापस ली गई है, उनमें X, Y और Z श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त माननीय शामिल हैं।

Read More

केंद्र और राज्य कॉलेजों के शिक्षकों की सैलरी में 22 से 28 प्रतिशत इजाफा, 8 लाख स्टाफ को मिलेगा फायदा

केंद्र और राज्यों के कॉलेज, विश्वविद्यालयों और इंस्टीट्यूशन के शिक्षकों के लिए एक बहुत बड़ी खुशबरी है। इन संस्थानों के शिक्षकों की सैलरी में 22 से 28 प्रतिशत का इजाफा किया जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि कैबिनेट ने यीजूसी पैनल द्वारा दी गई शिक्षकों की सैलरी बढ़ाने वाली सिफारिश को मंजूरी दे दी है। 

Read More

लालू के ठिकानों पर छापेमारी से बौखलाए कांग्रेस नेता, कहा- हजारों जानें लेकर प्रधानमंत्री बने हैं मोदी

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के ठिकानों पर की गई छापेमारी के बाद कांग्रेस खुलकर उनके समर्थन में खड़ी हो गई है। शुक्रवार को लालू यादव के 12 ठिकानों पर छापेमारी की गई। सीबीआई की ओर से छापेमारी की कार्रवाई का विरोध करते हुए बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और राज्य सरकार में मंत्री अशोक चौधरी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी हजारों लोगों की जान लेकर प्रधानमंत्री बने हैं। शनिवार को चौधरी ने कहा, “हम लालू यादव के साथ खड़े हैं। 

Read More

चीन से बढ़ते तनाव को कैसे शांत कर सकता है भारत

जर्मनी के हैम्बर्ग शहर में जी-20 सम्मेलन आज से शुरू हो रहा है, जिसमें भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग दोबारा आमने-सामने होंगे.
पिछली बार अस्ताना में दोनों नेताओं की मुलाक़ात के बाद मोदी ने ट्वीट किया था, ‘हमने भारत-चीन संबंधों और आगे संबंध सुधारने के बारे में बात की.’ तब वह निश्चित तौर पर इस बात से अनजान थे कि ठीक उसी वक़्त चीन की पीबल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) भूटान की संप्रभुता का हनन कर रही हैं.

Read More