mp mirror logo

रुपये में मजबूती के चलते विदेशियों के बीच कॉरपोरेट बॉन्ड्स की मांग बढ़ी

मुंबई विदेशी निवेशकों के लिए भारत पसंदीदा ठिकाना बना हुआ है, लेकिन वे सिर्फ यहां के शेयर बाजार पर ही फिदा नहीं हैं। भारतीय कंपनियों के बॉन्ड्स में भी वे काफी रकम लगा रहे हैं क्योंकि इससे उन्हें अच्छा रिटर्न मिल रहा है। भारतीय करंसी मजबूत हो रही है। इससे उन्हें कॉरपोरेट बॉन्ड्स से आगे चलकर अच्छा रिटर्न मिलने की उम्मीद है। इस साल बॉन्ड और शेयर बाजार दोनों का ही प्रदर्शन अच्छा रहा है क्योंकि डॉलर के मुकाबले रुपये में 5 पर्सेंट की मजबूती आई है। इससे पता चलता है कि दुनिया के बड़े देशों में सबसे तेजी से बढ़ रही इकनॉमी के फाइनेंशियल एसेट्स में विदेशी निवेशकों की कितनी दिलचस्पी है।

विदेशी फंड्स ने पिछले कुछ हफ्तों में 17,654 करोड़ रुपये भारतीय बॉन्ड्स में लगाए हैं। इनमें एचडीएफसी, टाटा ग्रुप की कंपनियों, बजाज ग्रुप की कंपनियों और कई सरकारी बैंक और वित्तीय संस्थान के बॉन्ड्स शामिल हैं। विदेशी निवेशकों को कॉरपोरेट बॉन्ड्स में जितना निवेश करने की इजाजत है, वे उसकी 80 पर्सेंट लिमिट का इस्तेमाल कर चुके हैं। महीना भर पहले यह 72 पर्सेंट थी। 18 अप्रैल तक के नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी के डेटा से पता चलता है कि निवेश में 11 मार्च के बाद अच्छी बढ़ोतरी हुई है। इस दिन विधानसभा चुनाव के नतीजे आए थे।

डीलरों ने बताया कि सरकारी बॉन्ड्स की तुलना में कॉर्पोरेट बॉन्ड्स से इनवेस्टर्स को 0.30-0.40 पर्सेंट अधिक रिटर्न मिलता है। इस बारे में आईडीएफसी बैंक में रेट्स ट्रेडिंग के हेड पीयूष वाधवा ने कहा, 'महीना भर पहले विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद निवेशकों की दिलचस्पी इस बाजार में बहुत बढ़ी है।' उन्होंने बताया, 'भारत में राजनीतिक स्थिरता से फॉरेन पोर्टफोलियो इनवेस्टर्स कंफर्टेबल महसूस कर रहे हैं। वहीं, रुपये की स्टेबिलिटी भी उन्हें लुभा रही है। उन्होंने कॉरपोरेट बॉन्ड्स में निवेश शुरू कर दिया है और वे कम रेटिंग वाले ऐसे बॉन्ड्स में भी पैसे लगा रहे हैं। सरकारी बॉन्ड्स में फॉरेन इनवेस्टर्स की निवेश की लिमिट खत्म होने को है। इसलिए वे आगे भी कॉरपोरेट बॉन्ड्स में पैसे लगाना जारी रख सकते हैं।'

इस साल देश के डेट और इक्विटी मार्केट में फॉरेन पोर्टफोलियो इनवेस्टर्स ने 87,465 करोड़ रुपये लगाए हैं। डेट में 46,028 करोड़ रुपये और इक्विटी में उनका नेट इनवेस्टमेंट 41,437 करोड़ रुपये रहा है। एफपीआई भारतीय कॉरपोरेट बॉन्ड्स में 2,44,323 करोड़ रुपये लगा सकते हैं। इनमें विदेशी बाजार में बेचे जाने वाले रुपी बॉन्ड्स भी शामिल हैं। आमतौर पर सरकारी कंपनियों के बॉन्ड्स में विदेशी निवेशकों की दिलचस्पी ज्यादा रहती है क्योंकि उनकी रेटिंग अच्छी होती है और उन्हें अर्ध-सरकारी माना जाता है। प्राइवेट कंपनियों के बॉन्ड्स की रेटिंग कम होती है।

"बिजनेस" से अन्य खबरें

GST: 65 हजार करोड़ के क्‍लेम पर बोली सरकार, राजस्‍व पर नहीं पड़ेगा कोई फर्क

माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के तहत कारोबारियों ने 65 हजार रुपये ट्रांजिशन क्रेडिट के तौर पर क्‍लेम किए हैं. इसको लेकर केंद्र सरकार ने सफाई जारी की है. वित्‍त मंत्रालय ने कहा है कि कारोबारियों के क्रेडिट क्‍लेम करने का उसके राजस्‍व पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

जुलाई में 46 लाख कारोबारियों ने भरा जीएसटी

जुलाई में 46 लाख से भी ज्‍यादा कारोबारियों ने जीएसटी भरा है. जीएसटी लागू होने के पहले महीने में सरकार को 95 हजार करोड़ रुपये टैक्‍स की रकम के तौर पर प्राप्‍त हुई. हालांकि इसी दौरान कारोबारियों ने 65 हजार करोड़ रुपये का ट्रांजिशनल क्रेडिट भी क्‍लेम किया है. यह क्रेडिट पिछली टैक्‍स नीति के तहत भरे गए एक्‍साइज और सर्विस टैक्‍स के बदले क्‍लेम किया गया है.

Read More

देशभर के शेयर बाजारों में गिरावट, 30 अंक गिरा सेंसेक्‍स

देश के शेयर बाजारों में गुरुवार को गिरावट रही। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 30.47 अंकों की गिरावट के साथ 32,370.04 पर और निफ्टी 19.25 अंकों की गिरावट के साथ 10,121.90 पर बंद हुआ। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 5.91 अंकों की तेजी के साथ 32,406.42 पर खुला और 30.47 अंकों या 0.09 फीसदी गिरावट के साथ 32,370.04 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 32,462.61 के ऊपरी और 32,164.42 के निचले स्तर को छुआ।

Read More

निफ्टी 10,178.95 की नयी ऊंचाई पर, सेंसेक्स 100 अंक चढ़ा

मुंबई : नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी सूचकांक आज शुरआती कारोबार में 26 अंक चढकर 10,178.95 अंक की नई ऊंचाई पर पहुंच गया। वहीं सेंसेक्स भी 100 अंक चढकर खुला है. इसके पीछे अहम कारण एशियाई बाजारों में सकारात्मक रख और घरेलू सांस्थानिक निवेशकों की ओर से सतत निवेश करना रही.निफ्टी 25.85 अंक यानी 0.25 चढ़कर 10,178.95 की नई ऊंचाई पर पहुंच गया. इसने कल दिन में कारोबार के समय 10,171.70 अंक के उच्च स्तर को पीछे छोड़ दिया.

Read More

GSTN ने कंपोजिशन स्कीम सुविधा दोबारा शुरू की, छोटे कारोबारियों को मिलेगा फायदा

जीएसटी नेटवर्क (GSTN) ने 75 लाख रुपये तक कारोबार करने वाले छोटे व्यापारियों के लिए कंपोजिशन स्कीम की सुविधा अपनाने का विकल्प फिर से दिया है. इसके अनुसार इस तरह के छोटे करदाताओं को अब यह योजना अपनाने के लिए 30 सितंबर तक का समय दिया गया है. 

Read More

अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमत कम, फिर भी भारत में इसकी मार से परेशान हैं ग्राहक

हाल के कुछ दिनों में कीमतों में हुई खासी वृद्धि ने पेट्रोल, डीजल की कीमतों के निर्धारण की व्यवस्था पर सवालिया निशान लगा दिया है। जून 2010 से पहले पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस इत्यादि की कीमतों को सरकार निर्धारित करती थी। ऐसे में अंतरराष्ट्रीय बाजार में रोज-रोज बदलती कच्चे तेल की कीमतें इन ईंधनों की कीमतों को प्रभावित नहीं करती थी।

Read More

7th Pay Commission: इस फॉर्मूले से पता करें कितनी होगी आपकी बढ़ी हुई सैलरी

ओडिशा राज्य वित्त मंत्रालय द्वारा 7वें वेतन आयोग के लागू होने के बाद सभी सरकारी विभागों और सभी जिला कलेक्टरों को आज यानि 16 सितंबर को एक नोटिस जारी किया है। इस नोटिस में कहा गया है कि ओडिशा रिवाइज़ड स्केल पेय 2017 के नियम को फॉलो करते हुए सरकारी कर्मचारी सिंतबर 2017 महीने की सैलरी आसानी से निकाल सकते हैं। यदि आप अपनी बढ़ी हुई सैलरी के बारे में पता करना चाहते हैं तो इसके लिए एक आसान से फॉर्मूला है जिससे आप आसानी से अपनी बढ़ी हुई सैलरी पता कर सकते हैं। जिन मामलों में प्रक्रिया के अनुसार, वेतन का निर्धारण संभव नहीं है, वहां सैलरी का पता लगाने के लिए इस अस्‍थायी फॉर्मूले का इस्‍तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए कर्मचारी को अपने बेसिक पे (पे+ग्रेड पे, 1 जनवरी, 2016 के अनुसार) में 2.57 का गुणा करना होगा। इसके अलावा नए वेतन पर 4 प्रतिशत का महंगाई भत्‍ता भी मिलेगा।

Read More

दिल्ली-एनसीआर में नहीं चलेंगी 10 साल पुरानी गाड़ियां, NGT ने दिया केंद्र को झटका

नई दिल्ली: नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने दिल्ली-एनसीआर में 10 साल पुराने डीजल वाहनों पर प्रतिबंध लगाने वाले अपने आदेश में बदलाव करने के केन्द्र के आवेदन को खारिज कर दिया है. एनजीटी ने कहा कि डीजल वाहनों से होने वाला उत्सर्जन कैंसरकारक प्रकृति का होता है और एक डीजल वाहन, 20 पेट्रोल वाहनों और 40 सीएनजी वाहनों के बराबर प्रदूषण फैलाते हैं.

Read More

सरकार जारी करेगी 100 रुपये का सिक्‍का, जानिए क्‍या है खासियत

नई दिल्‍ली : सरकार की तरफ से 100 रुपये का सिक्‍का और 5 रुपये का नया सिक्‍का जारी किया जाएगा. तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और दक्षिण भारत के सुपरस्टार रहे डॉ. एमजी रामचंद्रन की जन्‍म शताब्‍दी पर सरकार की तरफ से यह घोषणा की जाएगी. इस बारे में वित्‍त मंत्रालय ने एक अधिसूचना भी जारी की है. फिलहाल चलन में चल रहे 10 रुपये और 5 रुपये के सिक्‍कों से य‍ह सिक्‍का कई मामलों में अलग होगा. सिक्के पर एमजी रामचंद्रन की आकृति होगी और इसके नीचे 'DR M G Ramachandran Birth Centenary' भी लिखा होगा.

Read More

Paytm मुफ्त में देगा 2 लाख रुपये का बीमा, जानें कैसे मिलेगी ये सुविधा

नई दिल्ली: पेटीएम पेमेंट्स बैंक (पीपीबी) ने रूपे आधारित डिजिटल डेबिट कार्ड लाने के लिए नेशनल पेमेंट कारपोरेशन आफ इंडिया (एनपीसीआई) के साथ भागीदारी की है. पीपीबी डिजिटल डेबिट कार्ड के जरिए ग्राहक उन सभी व्यापारियों को भुगतान करने में सक्षम होंगे जो क्रेडिट और डेबिट कार्ड स्वीकार करते हैं. इससे पेटीएम के ग्राहक ऑनलाइन भी भुगतान कर सकेंगे. इतना ही नहीं पेटीएम ने अपने ग्राहकों को फ्री बीमे का भी तोहफा दिया है. जिसमें ग्राहकों को दो लाख तक का कवर दिया जा रहा है. 

Read More

PNB कस्टमर्स को झटका, ATM से 5 से ज्यादा बार लेनदेन पर देना होगा पैसा

नई दिल्ली: पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के ग्राहकों को एटीएम से महीने में 5 बार से ज्यादा लेन-देन करने पर पैसे देने होंगे. यह नियम अक्टूबर महीने से लागू होगा. वर्तमान में ग्राहकों को पीएनबी के एटीएम से महीने में कितने भी वित्तीय और गैर-वित्तीय लेनेदेन करने पर कोई शुल्क नहीं देना पड़ता है. हालांकि नया नियम लागू होने के बाद से यह सुविधा समाप्त हो जाएगी.

Read More