mp mirror logo

रुपये में मजबूती के चलते विदेशियों के बीच कॉरपोरेट बॉन्ड्स की मांग बढ़ी

मुंबई विदेशी निवेशकों के लिए भारत पसंदीदा ठिकाना बना हुआ है, लेकिन वे सिर्फ यहां के शेयर बाजार पर ही फिदा नहीं हैं। भारतीय कंपनियों के बॉन्ड्स में भी वे काफी रकम लगा रहे हैं क्योंकि इससे उन्हें अच्छा रिटर्न मिल रहा है। भारतीय करंसी मजबूत हो रही है। इससे उन्हें कॉरपोरेट बॉन्ड्स से आगे चलकर अच्छा रिटर्न मिलने की उम्मीद है। इस साल बॉन्ड और शेयर बाजार दोनों का ही प्रदर्शन अच्छा रहा है क्योंकि डॉलर के मुकाबले रुपये में 5 पर्सेंट की मजबूती आई है। इससे पता चलता है कि दुनिया के बड़े देशों में सबसे तेजी से बढ़ रही इकनॉमी के फाइनेंशियल एसेट्स में विदेशी निवेशकों की कितनी दिलचस्पी है।

विदेशी फंड्स ने पिछले कुछ हफ्तों में 17,654 करोड़ रुपये भारतीय बॉन्ड्स में लगाए हैं। इनमें एचडीएफसी, टाटा ग्रुप की कंपनियों, बजाज ग्रुप की कंपनियों और कई सरकारी बैंक और वित्तीय संस्थान के बॉन्ड्स शामिल हैं। विदेशी निवेशकों को कॉरपोरेट बॉन्ड्स में जितना निवेश करने की इजाजत है, वे उसकी 80 पर्सेंट लिमिट का इस्तेमाल कर चुके हैं। महीना भर पहले यह 72 पर्सेंट थी। 18 अप्रैल तक के नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी के डेटा से पता चलता है कि निवेश में 11 मार्च के बाद अच्छी बढ़ोतरी हुई है। इस दिन विधानसभा चुनाव के नतीजे आए थे।

डीलरों ने बताया कि सरकारी बॉन्ड्स की तुलना में कॉर्पोरेट बॉन्ड्स से इनवेस्टर्स को 0.30-0.40 पर्सेंट अधिक रिटर्न मिलता है। इस बारे में आईडीएफसी बैंक में रेट्स ट्रेडिंग के हेड पीयूष वाधवा ने कहा, 'महीना भर पहले विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद निवेशकों की दिलचस्पी इस बाजार में बहुत बढ़ी है।' उन्होंने बताया, 'भारत में राजनीतिक स्थिरता से फॉरेन पोर्टफोलियो इनवेस्टर्स कंफर्टेबल महसूस कर रहे हैं। वहीं, रुपये की स्टेबिलिटी भी उन्हें लुभा रही है। उन्होंने कॉरपोरेट बॉन्ड्स में निवेश शुरू कर दिया है और वे कम रेटिंग वाले ऐसे बॉन्ड्स में भी पैसे लगा रहे हैं। सरकारी बॉन्ड्स में फॉरेन इनवेस्टर्स की निवेश की लिमिट खत्म होने को है। इसलिए वे आगे भी कॉरपोरेट बॉन्ड्स में पैसे लगाना जारी रख सकते हैं।'

इस साल देश के डेट और इक्विटी मार्केट में फॉरेन पोर्टफोलियो इनवेस्टर्स ने 87,465 करोड़ रुपये लगाए हैं। डेट में 46,028 करोड़ रुपये और इक्विटी में उनका नेट इनवेस्टमेंट 41,437 करोड़ रुपये रहा है। एफपीआई भारतीय कॉरपोरेट बॉन्ड्स में 2,44,323 करोड़ रुपये लगा सकते हैं। इनमें विदेशी बाजार में बेचे जाने वाले रुपी बॉन्ड्स भी शामिल हैं। आमतौर पर सरकारी कंपनियों के बॉन्ड्स में विदेशी निवेशकों की दिलचस्पी ज्यादा रहती है क्योंकि उनकी रेटिंग अच्छी होती है और उन्हें अर्ध-सरकारी माना जाता है। प्राइवेट कंपनियों के बॉन्ड्स की रेटिंग कम होती है।

"बिजनेस" से अन्य खबरें

Reliance AGM Live: ग्राहकों को मुफ्त में मिलेगा जियो 4जी फीचर फोन

रियायंस इंडस्ट्रीज  की 40वीं सालाना जनरल मीटिंग (AGM) मुंबई स्थित बिरला मातोश्री सभागार में चल रही है। चेयरमैन मुकेश अंबानी शेयर होल्डर्स को संबोधित कर रहे हैं। पिछले साल इसी मीटिंग में मुकेश अंबानी ने रिलायंस जियो इंफोकॉम की लॉन्चिंग की थी। माना जा रहा है कि इस बार भी जियो से जुड़ी कुछ बड़ी घोषणाएं की जा सकती हैं। पढ़िए लाइव अपडेट:
11. 55 AM:  इस फोन की प्रभावी कीमत शून्य है। हालांकि इसके लिए 1500 रुपए सिक्योरिटी डिपोजिट करने होंगे। 3 साल बाद 1500 रुपए वापस हो जाएगे।

Read More

मोदी के लिए सोने की मुर्गी साबित हुआ GST, 15 दिन में 11 फीसदी बढ़ा राजस्व

जीएसटी के प्राप्त कुल राजस्व के बारे में उन्होंने कहा कि इसका पहला अनुमान अक्टूबर तक ही मिल पाएगा, क्योंकि व्यापारी सितंबर में रिटर्न दाखिल करेंगे.

उन्होंने कहा, "हमें जीएसटी शासन का कम से कम एक तिमाही (जुलाई-अगस्त-सितंबर) का आंकड़ा चाहिए होगा, जोकि अक्टूबर में आएगा. राजस्व का आकलन करने के लिए कम से कम तीन महीनों के आंकड़ों को देखना होगा."

Read More

रेलवे में पांच लाख करोड़ का निवेश, विश्व बैंक की मदद से 2021 तक कायाकल्प करवाना चाहते हैं सुरेश प्रभु

भारत के रेल मंत्री सुरेश प्रभु भारतीय रेल में बदलाव के लिए नित-नई योजनाएं बनाते रहते हैं। ताजा मामला विश्व बैंक की मदद से भारतीय रेल का पूरी तरह कायाकल्प का है। विश्व बैंक पांच लाख करोड़ रुपये के निवेश से भारतीय रेल की स्थिति बदलने का खाका तैयार करने में मदद करेगा। इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार भारतीय रेलवे विभिन्न एजेंसियों के निवेश की मदद से 164 साल पुरानी भारतीय रेलवे में आमूलचूल परिवर्तन करना चाहता है। 

Read More

सेंसेक्स 363 अंक लुढ़कर 31710 के स्तर पर, आईटीसी 12 फीसद से ज्यादा की गिरावट के साथ बंद

मंगलवार के कारोबारी सत्र में भारतीय शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुआ है। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 363 अंक की कमजोरी के साथ 31710 के स्तर पर और निफ्टी 89 अंक की कमजोरी के साथ 9827 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुआ है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर मिडकैप में 0.52 फीसद और स्मॉलकैप (0.59 फीसद) की कमजोरी के साथ कारोबार कर बंद हुआ है।

Read More

सिगरेट ने इन दो बड़ी कंपनियों को कराया 52,000 करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली. मंगलवार के कारोबारी सत्र में भारतीय शेयर बाजार के लिए हलचल भरा साबित हो रहा है। दरअसल सोमवार को सरकार ने सिगरेट पर 5 फीसदी का सेस लगाया था, जिसका असर आज भारतीय बाजारों पर देखा गया। मंगलवार को सेंसेक्स 283 अंक गिरकर 31,791 अंक और निफ्टी 61 अंक लुढ़ककर 9854कारोबार कर रहा है। 

Read More

रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैप पहली बार 5 लाख करोड़ के पार

बाजार की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीड की पहली बार मार्केट कैप पांच लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गई है। टाटा कंसल्टेंसी सर्विस के बाद यह दूसरी कंपनी ने जिसकी मार्केट कैप 5 लाख करोड़ के पार पहुंची है। जानकारी के लिए बता दें कि वर्तमान में टीसीएस दूसरी सबसे मूल्यवान कंपनी है।

Read More

GST लागू होने के बाद परिषद की पहली बैठक आज

नई दिल्ली: माल एवं सेवा कर (जी.एस.टी.) को लागू हुए दो सप्ताह हो गए हैं। इसी के मद्देनजर जी.एस.टी. परिषद की आज बैठक होने जा रही है जिसमें इस नई अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था के क्रियान्वयन के बाद स्थिति की समीक्षा की जाएगी।

Read More

बड़ा धमाका: आ गया 1000 mbps की स्‍पीड से चलने वाला इंटरनेट

नई दिल्ली। भारत संचार निगम लिमिटेड(बीएसएनएल) ने शुक्रवार को 100G ऑप्‍टीकल ट्रांसपोर्ट नेटवर्क की शुरुआत की। इसकी मदद से बीएसएनएल 1,000 mbps की डाउनलोड स्‍पीड का ब्रॉडबैंड कनेक्शन उपलब्ध करा पाएगी।

– टेलीकॉम राज्‍य मंत्री मनोज सिन्‍हा ने इस सर्विस को लॉन्‍च करते हुए कहा कि बीएसएनएल अपने अपग्रेड नेटवर्क के जरिये मॉडर्न टेक्‍नोलॉजी आधारित अल्‍ट्रा फास्‍ट ब्रॉडबैंड सर्विस देश में उपलब्‍ध कराएगी। बीएसएनएल अभी फाइबर से होम नेटवर्क पर 100 मेगाबाइट प्रति सेकेंड की डाउनलोड स्‍पीड के साथ ब्रॉडबैंड सेवा की पेशकश कर रही है।

Read More

बाबा रामदेव की पतंजलि देश की सबसे विश्वसनीय ब्रैंड, ये है टॉप लिस्ट

योगगुरु बाबा रामदेव की पतंजलि देश के टॉप 10 प्रभावशाली ब्रैंड्स में शामिल हो गई है. ग्लोबल रिसर्च फर्म ईप्सोस ने भारत में 100 बड़े ब्रैंड के एनालिसिस के बाद टॉप 20 प्रभावशाली ब्रैंड्स की लिस्ट जारी की है. लिस्ट में पहले नंबर पर सर्च इंजन गूगल, दूसरे पर माइक्रोसॉफ्ट और तीसरे पर सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक है.

Read More

SBI से ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, बैंक ने समाप्त किया ये शुल्क

नई दिल्लीः देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने छोटे डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए 1,000 रुपये तक के आईएमपीएस (इमिजिएट पेमेंट सर्विस) ट्रांसफर पर शुल्क समाप्त कर दिया है.

इससे पहले 1,000 रुपये तक के आईएमपीएस लेनदेन पर देय सेवाकर के साथ स्टेट बैंक प्रति लेनदेन 5 रुपये का शुल्क वसूल रहा था. ज्ञात हो कि आईएमपीएस एक त्वरित अंतरबैंकिंग इलेक्ट्रॉनिक कोष हस्तांतरण सेवा है.

Read More