mp mirror logo

क्या योगी राज में यूपी के मुसलमानों का हाल भी गुजारती मुसलामानों जैसा ?

उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की जबरदस्त जीत और योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाए जाने के बाद मुस्लिम समाज में खलबली सी मच गई। व्हाट्सऐप समूह में तरह-तरह की अफवाहें फैलने लगीं, आदित्यनाथ के मुस्लिम-विरोधी पुराने वीडियोज शेयर किेए जाने लगे। एक मैसेज आया, "क्या हमारा हाल अब गुजराती मुसलमानों जैसा होगा?।

क्या अब हमारा भविष्य अंधकार में है?" उत्तर प्रदेश के मुसलमान इन घटनाओं की तुलना 1992 में बाबरी मस्जिद के गिरने वाली त्रासदी से कर रहे थे। जिस तेजी से चीजें हो रही थीं उससे समुदाय के अंदर बौखलाहट पैदा हो रही थी। ऐसे में राम मंदिर के निर्माण की मांग जोर पकड़ने लगी। इसके इलावा अवैध कहे जाने वाले बूचड़खानों के खिलाफ मुहीम शुरू हो गई।

मुसलमानों के बेचैन होने का कारण ये था कि बीजेपी ने उन्हें टिकट दिए बिना और उनके वोट लिए बगैर इतनी भारी जीत हासिल की थी। सियासत में समुदाय की हिस्सेदारी अब खतरे में थी। वो सोचने लगे कि अगर सत्ता और पावर में साझेदारी खत्म हो गई तो समुदाय की आवाज कौन उठाएगा।

क्या है गुजरात का मॉडल


ऐसे में लोग गुजरात के मुसलमानों का उदाहरण दे रहे थे। यूपी में हुई घटनाओं को वो गुजरात मॉडल कह रहे थे। एक ने कहा कि भाई गुजरात में बीजेपी पिछले 25 सालों से सत्ता में है। हर चुनाव जीतती है। मुस्लिम उम्मीदवार को चुनावी मैदान में नहीं उतारती और उनके वोट हासिल करने की कोशिश भी नहीं करती। क्या यूपी के मुसलमानों का हाल 25 साल बाद वही होगा जो आज गुजरात में मुसलमानों का हो रहा है?

यूपी के मुसलमानों के डर को ठीक से समझने के लिए और जमीन से सीधी जानकारी हासिल करने के लिए मैं ने उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों का दौरा किया। वहां लोगों से मिलने पर एहसास हुआ कि वो असलियत में अधिक भयभीत हैं -- आम लोगों में और नेताओं में भी। मीट की एक दुकान के मालिक मुहम्मद कुरैशी का आरोप था कि उत्तर प्रदेश में बूचड़खानों के खिलाफ जारी अभियान मुस्लिम विरोधी है। उन्होंने कहा, "मुसलमानों के काम पर ही हाथ डाला जा रहा है।

वो मुसलमान को कारोबार से तोड़ना चाह रहे हैं। कारोबार जब टूट जाएगा, उसके पास पैसा नहीं होगा, तो जाहिर है वो गुलाम बन कर रहेगा।" कई लोगों को लगने लगा कि हिन्दू राष्ट्र बनने की तैयारी शुरू हो गयी है जिसमे मुसलमानों को दूसरे दर्जे का नागरिक बनकर रहना पड़ेगा। तौसीफुर्रहमान नामी गांव के एक आदमी ने कहा, ""इस में कोई शक नहीं कि ये हिन्दू राष्ट्र होने वाला है। लोग इसकी काफी कोशिश कर रहे हैं।"

समुदाय के वरिष्ठ नेताओं में भी ऐसी ही भावना है। संभल से समाजवादी पार्टी के छठी बार विधायक बने और पिछली सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे इकबाल महमूद कहते हैं कि भारत हिन्दू राष्ट्र तो आजादी के पहले दिन से है। "हिन्दू राष्ट्र में रखा क्या है? हिंदुस्तान के अंदर हिन्दू मेजोरिटी में हैं। इनकी सरकारें बनती आयीं हैं पहले दिन से और आगे भी उन्हीं की सरकार होगी। मुसलमान या दूसरी माइनॉरिटी ने कभी दावा नहीं किया कि हम प्रधानमंत्री बनेंगे। हिन्दू राष्ट्र है हिन्दू ही बनेंगे।"

"मुख्य ख़बरें" से अन्य खबरें

आज रिलीज हुई फिल्‍म 'सचिन ए बिलियन ड्रीम'

नई दिल्‍ली: क्रिकेट के दीवानों के लिए आज का शुक्रवार काफी खास है क्‍योंकि 'क्रिकेट के भगवान' यानी सचिन तेंदुलकर के जीवन से जुड़े कई पहलुओं से आज पर्दा उठने वाला है. आज रिलीज हुई फिल्‍म 'सचिन ए बिलियन ड्रीम' सचिन तेंदुलकर के क्रिकेट सचिन तेंदुलकर बनने की कहानी है. लेकिन अपको बता दें कि यह फिल्‍म 'भाग मिल्‍खा भाग' या 'एम एस धोनी: द अनटोल्‍ड स्‍टोरी' जैसी फीचर फिल्‍म नहीं है, बल्कि ये एक डॉक्यु-ड्रामा है. यानी इस फिल्‍म के कुछ हिस्से, जिनकी असल फुटेज उपलब्‍ध नहीं थी, सिर्फ उसी का नाट्य रूपांतरण किया गया है, जैसे सचिन का बचपन दिखाने के लिए.

Read More

असम: आज जहां देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार (26 मई) को देश के सबसे लंबे पुल का असम में उद्घाटन करेंगे। पीएम के दौर से एक दिन पहले राज्य के डिब्रुगढ़ जिले में स्थित एक तेल पाइपलाइन को बम धमाके से उड़ा दिया गया। धमाके की जिम्मेदारी उग्रवादी संगठन उल्फा (आई) ने ली है। धमाके के बाद पीएम मोदी के दौरे के मद्देनजर असम को हाई अलर्ट पर रखा गया है। पीएम मोदी ब्रह्मपुत्र नदी पर बने धोला-सादिया पुल के उद्घाटन के बाद गुवाहाटी में एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे। 26 मई को मोदी सरकार के तीन साल पूरे हो रहे हैं।

Read More

CBSE मॉडरेशन नीति: हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जा सकता है बोर्ड

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड मॉडरेशन नीति को लेकर दिए गए दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देने का विचार कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक बोर्ड हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में स्पेशल लीव याचिका दायर कर सकता है। बता दें कि हाल ही में हाईकोर्ट ने सीबीएसई द्वारा परीक्षा में कठिन प्रश्न के बदले 15 फीसदी तक अतिरिक्त अंक दिए जाने के प्रावधान को खत्म करने के फैसले पर रोक लगाई है। हाईकोर्ट ने सीबीएसई को इस साल मॉडरेशन नीति को बहाल रखने का आदेश दिया है।

Read More

ब्रिटेन के मैनचेस्टर में म्यूजिक कंसर्ट के दौरान धमाका, 19 लोगों की मौत, IS पर संदेह

ब्रिटेन के मैनचेस्टर शहर में एक म्यूजिक कंसर्ट के दौरान बम धमाके ने दहशत मचा दी. इस ब्लास्ट में 19 लोगों की मौत की खबर है. जबकि करीब 60 लोग घायल बताए जा रहे हैं. ब्रिटिश पुलिस इसे आतंकी हमला मानकर जांच कर रही है. धमाकों के बाद मैनचेस्टर शहर की नाकेबंदी कर दी गई है. किसी आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है लेकिन आईएस पर संदेह है. सोशल मीडिया पर आईएस के समर्थक जश्न मना रहे है इससे एजेंसिया मानकर चल रही हैं कि इस हमले के पीछे आईएस का हाथ हो सकता है. हाल में पेरिस समेत यूरोप के अन्य शहरों में आतंकी हमलों के पीछे आईएस की सक्रियता रही है.

Read More

कटिहार: दहेज और बालविवाह रोकने का आइडिया सुन, सीएम नीतीश भी कह उठे वाह

कटिहार। समाज से दहेज खत्म करने के लिए सीएम नीतीश कुमार पूरी तरह प्रयासरत हैं। दहेज नामक दानव को कैसे खत्म किया जाए, इसे लेकर सीएम नीतीश कुमार लगातार लोगों से सुझाव मांग रहे हैं। इसके तहत एक सुझाव कटिहार के अमित गुप्ता ने दिया है, जिसे सुनकर नीतीश कुमार चौंक गये।

पटना में आयोजित 15 मई को लोक संवाद कार्यक्रम में राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज के सहायक प्राध्यापक अमित कुमार गुप्ता ने दहेज प्रथा उन्मूलन एवं बाल विवाह पर रोक के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सुझाव दिया।

Read More

सोनिया ने महिला आरक्षण के लिये शुरु किया राष्ट्रव्यापी अभियान

नई दिल्ली । संसद और विधानसभा में महिलाओं को आरक्षण दिलाने के लिए कांग्रेस ने बड़ा पहल की है। कांग्रेस ने संसद और विधानसभा में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण देने की मांग के लिए सिग्नेचर कैंपेन की शुरुआत की है। कांग्रेस ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 26वीं पुण्यतिथि के मौके पर इस अभियान की शुरुआत की। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और रॉबर्ट वाड्रा ने कैंपेन की शुरुआत करते हुए हस्ताक्षर किए।

Read More

एयर लाइंस चलाने के भी पैसे नहीं बचे पाकिस्तान सरकार के पास, बंद होगी पीआईए!

नई दिल्ली ।घाटे में चल रही पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) के लिए पाकिस्तान सरकार ने सभी दलों से पार्टी लाइन से हटकर इसे दिवालिया घोषित कर बंद करने की अपील की है क्योंकि एयरलाइन में अनुशासन, शीर्ष गुणवत्ता प्रबंधन, नैतिक और पेशवर अधिकारियों का अकाल है। संसद की विशेष समिति के समक्ष यह प्रस्ताव प्रधानमंत्री के विमानन सलाहकार सरदार मेहताब अब्बासी ने रखा। इस समिति का गठन पीआईए के एक विमान में लंदन में नशीली दवाएं पाए जाने के बाद उसके प्रदर्शन के आकलन के लिए किया गया है।

Read More

जाधव मामले की फिर से सुनवाई के लिए आईसीजे पहुंचा पाकिस्तान

दुनिया न्यूज ने कहा कि अपीली अदालत के फैसले के 60 दिनों के भीतर दोषी पाकिस्तान के सेना प्रमुख के समक्ष दया याचिका दाखिल कर सकता है. मौत की सजा का सामना कर रहा दोषी सेनाप्रमुख के फैसले के 90 दिनों के भीतर राष्ट्रपति के समक्ष दया की अपील कर सकता है.

आईसीजे ने जाधव की सजा पर लगाई रोक

भारत ने गुरुवार (18 मई) को उस वक्त पाकिस्तान पर बड़ी कूटनीतिक विजय हासिल की जब हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने पाकिस्तानी सैन्य अदालत से जासूसी के आरोप में फांसी की सजा पाये भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की सजा पर रोक लगा दी.

Read More

Aishwarya Rai Cannes 2017: ऐश्‍वर्या राय बच्‍चन ने की रेड कारपेट पर शानदार शुरुआत

नई दिल्‍ली: कान फिल्‍म फेस्टिव में पहुंची ऐश्‍वर्या राय बच्‍चन ने शुक्रवार को रेड कारपेट पर शानदार शुरुआत की. ऐश्‍वर्या रेड कारपेट पर किसी राजकुमारी जैसी नजर आ रही थीं. ऐश्‍वर्या ने अपने इस पहले दिन के लिए डिजाइनर माइकल सिन्‍को के डिजाइनर ब्‍लू कलर के ब्रोकेड बॉल गाउन को चुना. ऐश्‍वर्या ने अपने इस लुक में कोई जूलरी नहीं जोड़ी और वह किसी डिजनी प्रिंसेस की तरह नजर आ रही थीं. कान फिल्‍म फेस्टिवल का 16वीं बार हिस्‍सा बन रही ऐश ने अपने लुक से सारी निगाहे अपनी तरफ मोड़ लीं.

Read More

कुलभूषण जाधव मामला : पाकिस्तान ने नहीं माना आईसीजे का फैसला, अब क्या कर सकता है भारत

नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय पंचाट, यानी आईसीजे ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को पाकिस्तानी सैन्य अदालत द्वारा सुनाई गई फांसी की सज़ा पर अंतिम निर्णय सुनाए जाने तक रोक लगाने का आदेश दिया है, लेकिन पाकिस्तान ने यह कहकर इस आदेश को मानने से इंकार कर दिया है कि वह राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मामलों में अंतरराष्ट्रीय पंचाट के अधिकारक्षेत्र को कबूल नहीं करता है. अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि इस 'बाध्यकारी' फैसले को पाकिस्तान द्वारा नहीं माने जाने की स्थिति में भारत क्या-क्या कर सकता है, या दूसरे शब्दों में उसके पास क्या-क्या विकल्प बचते हैं.

Read More