mp mirror logo

पं. दीनदयाल उपाध्याय प्रदेश प्रशिक्षण महाअभियान का शुभारंभ

इंदौर (एमपी मिरर)। भारत हजारों वर्ष से अपनी सांस्कृतिक एकता के लिये विश्व में विख्यात है। संस्कृतियों का समूह इस राष्ट्र की विशेषता है समय-समय पर हमारी सांस्कृतिक एकता को खंडित करने के प्रयत्न होते रहे है लेकिन समाज सुधारकों एवं मनीषियों ने सांस्कृतिक एकता के सूत्र में पिरोने का काम किया है। आज भी भारत की समृद्धि, शक्ति और गौरव की वृद्धि के लिये भारतीय जनता पार्टी की सरकारें, अनवरत प्रयत्न कर रही है, लेकिन तमाम ऐसी ताकते भी सक्रिय हो गई है जो इस देश को सांस्कृतिक रूप से नष्ट करना चाहती है, तोड़ना चाहती है। कार्यकर्ताओं को इस दृष्टि से सतर्क व सचेत रहना चाहिए, कि जाति और समाज के नाम पर भारत को बांटने के कुत्सित प्रयास सफल नहीं होने पाये। इसके लिये हमें स्वयं को पूरी तरह खपाकर राष्ट्र भक्ति के सभी प्रयासों को नीचे तक ले जाने के लिये प्रयत्न करना होंगे। यह बात आज मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने भाजपा के पं. दीनदयाल उपाध्याय महाप्रशिक्षण महाअभियान के उद्घाटन समारोह में बोलते हुए कहीं। कार्यक्रम की अध्यक्षता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमारसिंह चैहान ने की।


 शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि हमारा देश हजारों वर्ष से सांस्कृतिक रूप से समृद्ध राष्ट्र रहा है लेकिन जब-जब इस संस्कृति को आंच आई है तब-तब भारत टूटा है बंटा है, हम जानते है कि कंधार से लेकर तिब्बत तक और जावा, सुमात्रा, बाली, इंडोनिशिया तक आज भी भारतीय सभ्यता बिखरी पड़ी है। यह भारत की संस्कृतिक एकता का ही उदाहरण है कि कन्या पार्वती दक्षिण के अंतिम छोर पर खड़ी होकर कैलाश पर बैठे शिवजी के लिये तपस्या करती है और वे एकात्म होते है, आदि शंकराचार्य के उन प्रयत्नों को भारत की सांस्कृतिक एकता के बड़े प्रयासों में माना जाता है जिसमें उन्होंने चारों दिशाओं में धाम स्थापित किये। आज भी उत्तर से दक्षिण तक और पूर्व से पश्चिम तक भारतवासी इन धामों की यात्रा कर अपनी सांस्कृतिक चेतना का परिचय देते है।

उन्होंने कहा कि भारत का समाज सर्वसमावेशी और सर्वग्राही है। हम द्वैत और अद्वैत तथा निराकार और साकार सभी का सम्मान करते है। हमारें प्रणेता पं. दीनदयाल उपाध्यायजी ने हमें जो एकात्म चिंतन दिया है वह भी यही कहता है कि मनुष्य पशु, वनस्पति, नदियों, पहाड़ सभी में एक ही चेतना है, इसीलिये वसुधेव कुटुम्बकम की बात करते है।
 शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीजी एक युग पुरूष की तरह इस देश से भ्रष्टाचार और सांस्कृतिक प्रदूषण को मिटाने के लिये कठोर परिश्रम कर रहे है, ऐसे में हम सभी कार्यकर्ताओं का दायित्व है कि उनका परिश्रम व्यर्थ नहीं जाने पाये, चाहे स्वच्छता अभियान हो, बेटी बचाओं हो, स्टार्ट अप इंडिया की बात हो और आज डिजीटल इंडिया की बात हो इतनी योजनाएं कोई युग पुरूष ही लागू कर सकता है। हमारे वैचारिक परिवार को राष्ट्र के पुनः निर्माण में इस अधिष्ठान में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी। क्योंकि हमारा काम सिर्फ सरकारे चलाना नहीं है सर्वागीण के उत्थान का प्रकल्प हाथ में लेना भी है। नमामि नर्मदे इस भावना का प्रतीक है। इस कार्य में समाज पूरी चेतना के साथ उठ खड़ा हुआ है और प्रदूषण तथा नशामुक्ति जैसे बड़े कार्य इस दौरान होने वाले है साथ ही पर्यावरण की सुरक्षा मे लाखों पेड़ लगाकर एक बड़ी यज्ञ में आहूति देने हम जा रहे है। उन्होंने यह भी कहा कि कार्यकर्ता का चरित्र समाज में विचारधारा के बारे में धारणा तय करना है इसलिये हमें अपने वरिष्ठजनों के आचरण से यह सिखना चाहिए कि समाज को जोड़ने की तड़प कैसे पैदा की जाती है चाहे वे दीनदयालजी रहे हो या कुशाभाऊ ठाकरे जी उनका जीवन यहीं बताता है कि गुटबाजी से मुक्त, योग्यता से भरपूर, अंहकार से रहित, धैर्यवाद, उत्साही और सदा आनंद में रहना वाला ही आदर्श कार्यकर्ता होता है। इसलिये हमें अपनी संपूर्ण क्षमताओं का प्रयोग करते हुए उत्साह के साथ अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ना चाहिए प्रादर्शिता और प्रमाणिकता कि व वस्तु है जो समाज को आपके निकट लायेगी। उद्घाटन सत्र के मंच पर भाजपा के प्रदेश संगठन महांमत्री सुहास भगत, महापौर श्रीमती मालिनी गौड एवं नगर अध्यक्ष कैलाश शर्मा उपस्थित थे।

द्वितीय सत्र
    द्वितीय सत्र को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र प्रचारक श्री अरूण जैन ने भाजपा कार्यकर्ताओं से आव्हान किया कि वे समाज में समरसता लाने के लिये अपने गौरवशाली इतिहास का अध्ययन करें। हम पायेंगे कि अनेकों संतों और मनीषियों ने भारत की सामाजिक एकता के लिये उल्लेखनीय प्रयत्न किये है, चाहे वे संत रविदास हो, गुरू तेगबहादूर हो, विश्वामित्र हो, रामानंदजी हो, स्वामी रामानुजाचार्य हो या फिर डॉ. भीमराव अम्बेडकर सभी का अपना-अपना महत्व है। उन्होंने कहा कि हमारे देश में आक्रमणकारी तभी सफल हुए जब उन्होंने हमारे सामाजिक भेदभाव को भांप दिया।
   उन्होंने कहा कि डॉ. अम्बेडकरजी के पास 64 विषयों की विशेषज्ञता थी 21 डिग्रीयां थी सारे विश्व में उनका सम्मान हुआ, लेकिन जो भारतीय समाज सभी में ईश्वर देखता है उसे क्या हो गया था कि अम्बेडकर जैसे विद्ववान को भी भेदभाव सहना पड़ा। यह अम्बेडकरजी की भारत भक्ति थी कि उन्होंने तमाम अपमान सहने के बावजूद भारत की मूल चेतना में भी अपना धार्मिक अनुष्ठान खोजा, क्योंकि वे जानते थे कि कुछ अज्ञानी लोग उनके साथ सामाजिक भेदभाव करते है जबकि वस्तु स्थिति यह है कि एक ब्रम्हाण शिक्षक ने ही उनकी प्रारंभिक शिक्षा में अपनत्व भरी भूमिका निभाई और महाराजा गायकवाड़ ने उनकी विदेशी शिक्षा का संपूर्ण बंदोबस्त किया।
 उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ अपनी स्थापना काल से ही सामाजिक समरसता के लिये कार्य कर रहा है स्वंय गांधीजी ने वर्धा में संघ के एक कार्यक्रम में जातिवाद रहित वातावरण देखकर आश्चर्य प्रकट किया था और अम्बेडकरजी अपै्रल 1947 में पूरे दिन संघ के कार्यक्रम में रहे और अपने विचार भी व्यक्त किये। आज आवश्यकता इस बात की है कि हम घर-घर जाकर अपने कार्य व्यवहार से सामाजिक बराबरी के लिये प्रयत्न करें क्योंकि समाज में कोई किसी से सुविधा नहीं मांगता बराबरी मांगता है। उन्होंने कहा कि समाज को आज बताने की आवश्यकता है कि जिस डाॅ. अम्बेडकर ने भारत की एकता के लिये अपने संपूर्ण प्रयत्न किये उन्हीं का नाम लेकर आज कुछ तत्व देश को तोड़ने का प्रयास कर रहे है। इन्हें हर कीमत पर रोका जाना चाहिए। यह कार्य समाज में अपनत्व के विकास से ही किया जा सकता है और इसे करने के लिये अब समय बर्बाद करने की आवश्यकता नहीं है। इस सत्र की अध्यक्षता प्रदेश के पशुपालन मंत्री अंतरसिंह आर्य ने की।

"राजनीतिक खबरें" से अन्य खबरें

चुनाव आयुक्त का राजनीतिक दलों पर प्रहार, 'विधायकों की खरीद-फरोख्त चुनावी मैनेजमेंट बना'

नई दिल्ली : चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि आजकल हर हाल में चुनाव जीतने का चलन बना है. रावत ने कहा, “लोकतंत्र तब फलता-फूलता है जब चुनाव पारदर्शी, निष्पक्ष और मुक्त हों. लेकिन ऐसा लगता है कि स्वार्थी आदमी सबसे ज्यादा जोर इस बात पर देता है कि उसे हर हाल में जीत हासिल करनी है और खुद को नैतिक आग्रहों से मुक्त रखता है.”

Read More

बीजेपी ने पैन, आधार पूछे बिना लिया 159 करोड़ का चंदा: एडीआर

राजनीतिक पार्टियों को मिलने वाला चंदा हमेशा ही विवादों में रहा है। राजनीतिक पार्टियों को सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत  लाने की कोशिशों को सबसे बड़ा झटका तब लगा था जब नरेंद्र मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में इस मामले में हुई सुनवाई में राजनीतिक दलों को आरटीआई से बाहर रखने की पैरवी की थी। एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म (एडीआर) की ताजा रिपोर्ट से एक बार फिर ये मुद्दा सुर्खियों में है। एडीआर ने पिछले चार साल में राजनीतिक दलों के मिले चंदे का विश्लेषण किया है।

Read More

उन्‍नाव के पास हिरासत में लिए गए यूपी के पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव

उन्‍नाव : उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को पुलिस ने उन्नाव के पास रोकते हुए हिरासत में ले लिया.  उनके साथ दर्जन भर एमएलसी को भी हिरासत में लिया गया है. वह एक पूर्व विधायक की गिरफ्तारी का विरोध करते हुए लखनऊ से औरेया जा रहे थे. उन्हें बीच में ही रोकते हुए पुलिस ने उन्नाव के पास से हिरासत में ले लिया. बताया जा रहा है कि पहलेे अखिलेश को कन्नौज में ही हिरासत में लेने की तैयारी थी.  

Read More

राहुल गांधी ने लॉन्च की इंदिरा कैंटीन, 10 रुपये में मिलेगा भोजन

बेंगलुरु । कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गरीबों को सस्ती दरों पर भोजन मुहैया कराने के लिए बेंगलुरु में इंदिरा कैंटीन लॉन्च की। इसके बारे में प्रदेश के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने स्वतंत्रता दिवस लोगों को जानकारी दी थी।

कैंटीन हर दिन 5 रुपये में शाकाहारी टिफिन (नाश्ता), 10 रुपये में दोपहर का भोजन और इसी दाम में रात का भोजन मुहैया कराएंगे। अक्टूबर में महात्मा गांधी के 148वें जन्मदिन के अवसर पर 97 वॉर्डों में भी ऐसी कैंटीन खोली जाएंगी। 

Read More

ज्योतिरादित्य ने इंदौर में जारी किया कांग्रेस प्रचार

इंदौर । मध्यप्रदेश में कथित रुप से भ्रष्ट सरकार की पोल खोलने व जन-जन के समक्ष भ्रष्टाचार की कलई खोलने के उद्देश्य से इंदौर कांग्रेस आईटी सेल द्वारा तैयार किया गया वीडियो गीत “एमपी, तूने शिवराज पर भरोसा क्यों किया?” का आज गुना के सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा रेसीडेंसी कोठी, इंदौर में वीडियो व ऑडियो क्लिप का विधिवत औपचारिक रुप से जारी किया ।

Read More

शरद को ठिकाने लगाने नीतीश खेमे ने चली नई चाल, राज्यसभा में आरसीपी सिंह को बनाया नेता

जनता दल यूनाइटेड (जदयू) में अब आर-पार की स्थिति आ गई है। नीतीश कुमार गुट ने एक अहम चाल चलते हुए बागी शरद यादव को ठिकाने लगाने की कोशिश की है। उन्हें राज्य सभा में पार्टी संसदीय दल के नेता के पद से हटा दिया है। राज्यसभा में जदयू के सांसदों ने आज (12 अगस्त को) सभापति वेंकैया नायडू से मिलकर आरसीपी सिंह को सदन में पार्टी का नया नेता बनाने का आधिकारिक पत्र सौंपा। राज्य सभा सभापति को लिखे पत्र में जदयू सांसदों ने कहा है कि उनलोगों ने सर्वसम्मति से आरसीपी सिंह को सदन में पार्टी का नया नेता चुना है। इससे एक दिन पहले शरद यादव के करीबी राज्य सभा सांसद अली अनवर को नीतीश खेमे ने पार्टी के संसदीय दल से निलंबित कर दिया था।

Read More

हम सदन में लड़ते झगड़ते रहे, लेकिन बाहर एकसाथ रहे : गुलाम नबी आजाद

नई दिल्‍ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद राज्‍यसभा के नए सभापति वेंकैया नायूड के स्‍वागत में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने अपने विचार रखें. उन्‍होंने इस मौके पर वेंकैया नायडू की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि वेंकैया ने काफी नीचे से ऊपर तक का सफर तय किया. गुलाम नबी आजाद ने वेंकैया नायडू को नई जिम्‍मेदारी के लिए कांग्रेस की तरफ से बधाई दी. उन्‍होंने कहा कि हम सदन में कई मुददों को लेकर लड़ते झगड़ते रहे, लेकिन बाहर जब भी मिले तो एकसाथ रहे. गुलाम नबी आजाद के भाषण की खास बातें...

Read More

मायावती मे साधा पीएम मोदी पर निशाना

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने आज आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार के साम, दाम, दंड, भेद आदि अनेकों हथकंडों के अलावा उनकी असंवैधानिक एवं अलोकतान्त्रिक नीति तथा व्यवहार के कारण आज देश में हर तरफ भय, आतंक, हिंसा, बेचैनी और अफरातफरी जैसा माहौल है.

Read More

राज्यसभा में अंसारी को दी गई विदायी, लचीले रुख एवं सूझबूझ से सदन के संचालन को लेकर की गई सराहना

राज्यसभा में आज तमाम दलों के नेताओं ने सभापति के रूप में हामिद अंसारी के कार्यकाल की मुक्त कंठ से प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने इस दौरान सूझबूझ से सदन का संचालन किया
और कई महत्वपूर्ण अवसरों पर उनके अनुभव का सदन को लाभ मिला. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राज्यसभा में सदन के नेता अरुण जेटली, विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद सहित विभिन्न दलों के नेताओं ने सदन संचालन में उनके लचीले रुख को भी रेखांकित किया.

Read More

राज्यसभा चुनाव: गुजरात के इस इकलौते जेडीयू एमलए ने नीतीश स्टाइल में ही नीतीश कुमार को दिया झटका

गुजरात राज्यसभा चुनाव 2017 में जनता दल युनाइटेड (जदयू) के विधायक छोटूभाई वासवा ने कांग्रेस के उम्मीदवार अहमद पटेल को वोट दिया। उन्होंने अंत तक किसी को पता नहीं लगने दिया था कि वोट किसको गया है। जदयू नेता के सी त्यागी ने खुलेआम मीडिया में कहा था कि नीतीश कुमार ने छोटूभाई वासवा से बात की थी और उनको बीजेपी उम्मीदवार बलवंत राजपूत को वोट देने के लिए कहा था। बावजूद इसके छोटूभाई वासवा का वोट अहमद पटेल को गया। 

Read More