mp mirror logo

EVM: कांग्रेस के भीतर ही रार, मनीष तिवारी ने अमरिंदर के बयान पर उठाए सवाल

नई दिल्ली। ईवीएम से कथित छेड़छाड़ के मुद्दे पर कांग्रेस के भीतर ही मतभेद उभर गए हैं। ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोप को नकारने वाले पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर उनकी ही पार्टी के नेता मनीष तिवारी ने सवाल उठाया है। तिवारी ने गुरुवार को ट्वीट किया, '2010 और उससे भी पहले 2001 में जब अमरिंदर सिंह पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष थे, तब खुद उन्होंने करके बताया था कि ईवीएम से कैसे छेड़छाड़ की जा सकती है।'

दूसरी तरफ कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने ईवीएम से छेड़छाड़ करने की चुनाव आयोग की चुनौती पर ही ट्वीट करके सवाल उठाया। सिंह ने गुरुवार को ट्वीट किया, 'चुनाव आयोग सभी को ईवीएम से छेड़छाड़ करके दिखाने की चुनौती देता है। हैकिंग करने वाले जबरदस्त बिजनस कर रहे हैं, वे खुद को क्यों सामने आने देंगे?' कांग्रेस नेता ने अगले ट्वीट में लिखा, 'सबसे ज्यादा फायदा तो बीजेपी और हैकरों का हो रहा है तो वे क्यों सोने के अंडे देने वाली मुर्गी को मारेंगे? क्या आप सोचते हैं कि बीजेपी और हैकर्स मूर्ख हैं? चुनाव आयोग इतना अनाड़ी क्यों बन रहा है'


गौरतलब है कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ईवीएम से छेड़छाड़ के अपनी ही पार्टी के आरोपों को बुधवार को खारिज करते हुए कहा था कि अगर ऐसा होता तो वह पंजाब में सत्ता में नहीं आ पाते। कैप्टन ने कहा था, 'अगर ईवीएम में छेड़छाड़ होती तो मैं यहां सीएम की सीट पर नहीं बैठा होता बल्कि अकाली दल का कोई नेता यहां होता।' इससे पहले कांग्रेस के ही वरिष्ठ नेता और पूर्व कानून मंत्री वीरप्पा मोइली ने भी ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोपों को खारिज करते हुए इसे 'पराजयवादी मानसिकता' करार दिया था।

मोइली ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा, 'मैं पूर्व कानून मंत्री हूं। मेरे कार्यकाल में ही ईवीएम शुरू की गई थीं। उस समय भी शिकायतें आईं। हमने उन शिकायतों की जांच की। आपको इतिहास नहीं भूलना चाहिए।' मोइली ने कहा कि केवल ईवीएम के खिलाफ भावनाओं को देखते हुए उनकी पार्टी ने भी इसका विरोध कर दिया। हालांकि कांग्रेस ने मोइली के बयान से दूरी बनाते हुए उसे उनका न सिर्फ निजी बयान बताया बल्कि पार्टी ने बुधवार को राष्ट्रपति को दिए जाने वाले ज्ञापन पर उनसे साइन भी करवाए। और तो और, उनको राष्ट्रपति से मिलाने भी ले गए।

"राजनीतिक खबरें" से अन्य खबरें

मर्जी के बिना दीवारों पर लिखा- 'मेरा घर, भाजपा का घर' जानें क्या है मामला

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन से अभी बीजेपी सरकार उबर भी नहीं पाई है कि एक नया विवाद शुरू हो गया है. प्रदेश की राजधानी भोपाल के एक इलाके में कुछ बीजेपी कार्यकर्ताओं पर आरोप है कि उन्होंने कुछ घरों के बाहर 'मेरा घर, भाजपा का घर' लिख दिया है. स्थानीय लोगों का कहना है कि  ऐसा उनकी मर्ज़ी के ख़िलाफ़ किया गया है. बहुत से लोगों ने इसका विरोध भी किया लेकिन बीजेपी कार्यकर्ता नहीं माने.

Read More

राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी दलों की अलग-थलग ‘आप’

राष्ट्रपति चुनाव के निर्वाचक मंडल में 9000 मतों की भागीदारी वाली आम आदमी पार्टी अपनी रणनीति गुरुवार को होने वाले विपक्षी दलों की बैठक के बाद ही तय करेगी। शुरू से ही राष्ट्रपति की चुनावी रणनीति तय करने की कवायद से अलग-थलग रखे गए आप को इस बैठक के लिए भी अब तक आमंत्रण नहीं है।

Read More

नीतीश ने छोड़ा लालू का साथ, जदयू देगी रामनाथ कोविंद को समर्थन

पटना। भाजपा ने रामनाथ कोविंद को एनडीए का राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाकर विपक्ष के साथ लालू यादव को बड़ा झटका दिया है। इसके बाद कोविंद को कई दलों ने समर्थन दे दिया है। ताजा मामले में नीतीश कुमार की पार्टी जदयू ने भी कोविंद को समर्थन देने का फैसला कर लिया है।

Read More

राष्‍ट्रपति चुनाव: उद्धव ठाकरे से मिले अमित शाह, मोदी चुनें उम्‍मीदवार इसपर राजी नहीं शिवसेना

राष्ट्रपति चुनाव से पहले एनडीए में आम सहमति बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज (18 जून, 2017) शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे से मुलाकात की। मुलाकात में अमित शाह ने शिवसेना से राष्ट्रपति पद के लिए उनकी पसंद के उम्मीदवार को चुनने की बात कही। 

Read More

कुमार विश्वास पर बीजेपी का एजेंट होने का लगा आरोप: 'भाजपा का यार है, कवि नहीं गद्दार है'

आम आदमी पार्टी के अंदर मचा घमासान खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। आए दिन कभी अरविंद केजरीवाल के उपर आरोप लगाए जाते हैं तो कभी पार्टी में अच्छी छवि रखने वाले कुमार विश्वास पर बीजेपी का एजेंट होने का आरोप लगाया जाता है। और अब तो ऐसा लगता है कि कुमार विश्वास की मुश्कीलें खत्म होने की बजाए उल्टा बढ़ती ही जा रही है। दरअसल आम आदमी पार्टी के दफ्तर के बाहर अच्छी छवि रखने वाले कुमार विश्सार के खिलाफ पोस्टर चस्पा किए गए हैं।

Read More

शिवसेना का नया पैंतरा : राष्‍ट्रपति चुनाव में MS स्‍वामीनाथन के नाम का प्रस्‍ताव, शाह-ठाकरे की मुलाकात संभव

राष्‍ट्रपति चुनाव पर बढ़ती सियासी तपिश के बीच सूत्रों के मुताबिक शिवसेना नया दांव खेलते हुए मशहूर कृषि वैज्ञानिक एमएस स्‍वामीनाथन का नाम आगे कर सकती है. बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह शुक्रवार से महाराष्‍ट्र के तीन दिवसीय दौरे पर हैं. उनकी इस दौरान शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे से मुलाकात संभव है. सूत्रों के मुताबिक मीटिंग में शिवसेना प्रमुख एमएस स्‍वामीनाथन की उम्‍मीदवारी पर चर्चा कर सकती है. 

Read More

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को 'पप्पू' कहने वाले कांग्रेसी नेता की छुट्टी

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को अभी तक तो विपक्ष पार्टी वाले ही पप्पू कहते थे, लेकिन अब तो कांग्रेस के ही जिला अध्यक्ष ने राहुल गांधी को पप्पू बताकर व्हाट्सएप ग्रुप में पोस्ट डाला. इसके बाद कांग्रेस ने कांग्रेस नेता को पार्टी से बाहर कर दिया.
मेरठ के जिलाध्यक्ष विनय प्रधान ने कांग्रेस के व्हाट्सएप ग्रुप में एक पोस्ट शेयर किया.

Read More

बीजेपी नेता ने लगाया आरोप, नेशनल हेरल्ड के ‘रीलॉन्च’ के लिए कांग्रेस ने रद्द किया कर्नाटक विधान सभा का सत्र

जवाहरलाल नेहरू द्वारा स्थापित अखबार नेशनल हेरल्ड सोमवार (12 जून) को कर्नाटक के बेंगलुरु में दोबारा लॉन्च किया गया। जवाहरलाल नेहरू द्वारा 1938 में शुरू किया गया ये अखबार अब साप्ताहिक रूप से प्रकाशित होगा। उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने आजादी की 70वीं वर्षगाठ के मौके पर नेशनल हेरल्ड की एक विशेष स्मारिका भी लॉन्च की। वहीं भारतीय जनता पार्टी की महिला मोर्चा की कार्यकारिणी की सदस्य प्रीति गांधी ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए आरोप लगाया है कि कर्नाटक विधान सभा का सत्र सोमवार को इसलिए रद्द कर दिया गया ताकि उसके नेता अखबार के रीलॉन्च कार्यक्रम में शामिल हो सकें। 

Read More

राष्ट्रपति का उम्मीदवार चुनने के लिए अमित शाह ने बनाई 3 सदस्य कमेटी

भारतीय जनता पार्टी ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए राजनीतिक दलं से चर्चा करके एकराय से राष्ट्रपति उम्मीदवार चुनने के लिए तीन सदस्यों की एक कमेटी बनाई है।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा बनाई इस कमेटी में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली और सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू इस कमेटी के सदस्य हैं।

Read More

SCO के मंच से पीएम मोदी की स्‍पीच के दौरान देखने लायक था नवाज शरीफ का चेहरा

शंघाई कॉपरेशन समिट के दौरान भारत और पाकिस्‍तान को इसका स्‍थाई सदस्‍य घोषित कर दिया गया। भारत को करीब 12 वर्षों के बाद इसमें एंट्री मिली है। यह मौका बेहद खास था। खास महज इसलिए ही नहीं कि इसमें भारत को इतने वर्षों के बाद एंट्री मिली, बल्कि खास इसलिए है क्‍योंकि भारत और पाकिस्‍तान एक ही मंच पर आमने-सामने थे। अस्ताना में हुए वार्षिक सम्मेलन में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग भी मौजूद थे। इसमें भाषण देते हुए मोदी ने एक साथ इन दोनों देशों को निशाने पर लिया।

Read More