mp mirror logo

दवाओं से अधिक गुणकारी होती है आम की पत्तियां

     आम की पत्तियां के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ
गर्मियों में सबसे ज्‍यादा मिलने और पसंद किये जाने वाले फलों के राजा आम के बिना गर्मियां अधूरी सी लगती है। यह काफी स्वादिष्ट होने के साथ सेहत के लिए लाभकारी भी होता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि आम के साथ-साथ इसकी पत्तियों भी हमारे लिए बहुत ही गुणकारी होती है। इसमें मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटीमाइक्रोबियल गुण होने के कारण यह लगभग हर बीमारी का आसानी से इलाज कर सकती है। इसके अलावा इसमें बहुत अधिक मात्रा में विटामिन सी, बी और ए भी पाया जाता है। आम की पत्‍तियां एक ऐसा खजाना हैं, जो आपको फ्री में ही मिलता है। इसलिये इसे अच्‍छी ढंग से प्रयोग करें। आम की पत्‍तियां साल भर में मौजूद रहती हैं, इसलिये आपको बीमारी दूर करने के लिये किसी खास मौसम का इंतजार करने की जरुरत नहीं है। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से इसके स्‍वास्‍थ्‍य लाभ की जानकारी लेते हैं।

    आम की पत्तियां इस्‍तेमाल करने का तरीका
आप आम की पत्तियों का कई तरीके से इस्‍तेमाल कर सकते हैं। जैसे हल्के हरे रंग के छोटे आकार की आम की पत्तियों को तो़ड़ लें, उन्हें अच्छे से धोएं और छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर चबाइये। या आम के कुछ पत्तों को तोड़िये और रात भर के लिये हल्‍के गुनगुने पानी में डालकर भिगो दें। अगली सुबह इसका सेवन करें। साथ ही पत्तियों को धोकर धूप में सुखाएं और पाउडर बना लें। इस पाउडर की एक चम्मच लें और एक गिलास पानी में मिलाकर पी लें। ध्यान रखें इसका सेवन खाली पेट ही करें।

    अस्‍थमा से बचाये
आम की पत्तियां अस्‍थमा की बीमारी को कंट्रोल और इससे आपको बचाती हैं। आम की पत्तियां चाइनीज दवाओं में भी बहुत प्रयोग की जाती हैं, आप अस्थमा से निजात पाने के लिए इसकी पत्तियों का काढ़ा बनाकर थोड़ा सा शहद मिलाकर प्रयोग कर सकते हैं।

    पेट के लिये रामबाण
प्रकृति हमें कई बीमारियों का उपचार स्वयं उपलब्ध कराती है, आमतौर पर प्राकृतिक उपचार के कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होते हैं। पेट की बीमारी  के लिये में आम के मुलायम पत्ते आपके लिये संजीवनी का काम करते हैं। थोड़ी सी आम की पत्‍तियों को गर्म पानी में डालें, बर्तन को ढंक दें और रातभर के लिये इसे ऐसे ही छोड़ दें। अगली सुबह पानी को छान कर खाली पेट पी जाएं। इसे नियमित पीने से पेट की सारी गंदगी बाहर निकल जाती है और पेट का कोई रोग नहीं होता।

    ब्लड-शुगर पर नियंत्रण
आम के पत्‍तों की मदद से आप ब्‍लड-शुगर को भी कंट्रोल कर सकते हैं। ऐसा आम के पत्तों में मौजूद टैनिन के कारण होता है। आम के पत्तों से निकला अर्क इंसुलिन उत्पादन और ग्लूकोज को बढ़ने से रोक कर ब्लड शुगर का स्तर घटाता है। इसके अलावा आम के पत्‍तों में मौजूद हाइपोग्‍लाइसेमिक प्रभाव से ब्‍लड शुगर का स्‍तर कम हो जाता है। रोज सुबह एक चम्मच आम की पत्तियों का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है।

    गॉल ब्‍लैडर और किडनी स्‍टोन से बचाये
आम की पत्तियों से किडनी में पथरी की समस्या को हल करने और किडनी को सेहतमंद रखने में मदद मिलती है। इसी तरह यह आपको गॉल ब्‍लैडर की पथरी से निजात पाने और लिवर को सेहतमंद रखने में भी मदद करता है। रोजाना आम की पत्‍तियों के पाउडर से बना घोल पीने से किडनी के स्‍टोन दूर करने में मदद मिलती है।

    कोलेस्ट्रॉल को कम करें
कोलेस्ट्रॉल का उच्च स्तर आपके दिल को नुकसान पहुंचा सकता है। यदि आप शुगर की बीमारी से पीड़ित हैं, तो आपको बाकी चीजों का भी ध्‍यान रखना होगा। चूंकि आम के पत्तों में फाइबर, पेक्टिन और विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है इसलिए यह आपके कोलेस्ट्रॉल, खासतौर पर एलडीएल या हानिकारक कोलेस्ट्रॉल के स्‍तर को घटाता है। इसके अलावा इससे आपकी धमनियां मजबूत और स्वस्थ बनती है।

"सेहत" से अन्य खबरें

ज्यादा सिगरेट पीने से हो सकता है इरेक्टाइल डिस्फंक्शन

दिन में 20 सिगरेट से ज्यादा धूम्रपान करने वालों में शुक्राणुओं की कमी की समस्या देखी गई है. साथ ही ऐसे लोगों में इरेक्टाइल डिस्फंक्शन (ईडी) का जोखिम भी 60 प्रतिशत तक अधिक रहता है. एक अध्ययन के अनुसार, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और उच्च कोलेस्ट्रॉल आदि भी ईडी की समस्या के लिए जिम्मेदार कारकों में हैं. आईएमए के अनुसार, धूम्रपान से स्खलन, शुक्राणुओं की कमी और शुक्राणुओं की गुणवत्ता में भी कमी आती है.

Read More

सावधान! अगर आपका बच्चा पर्याप्त नींद नहीं लेता है तो हो सकता है डायबिटीज

माता पिता के लिए सचेत होने वाली खबर है कि रात में पर्याप्त नींद नहीं लेने वाले बच्चों को टाइप 2 मधुमेह होने का खतरा अधिक होता है. ब्रिटेन में लंदन की सेंट जॉर्जेज यूनिवर्सिटी में अनुसंधानकर्ताओं ने ब्रिटेन में नौ से 10 आयुवर्ग के विभिन्न जातियों के 4525 बच्चों के शारीरिक माप, उनके रक्त के नमूने और प्रश्नावली आंकड़ा एकत्र किया.

Read More

बेरोजगारी के मुकाबले कम वेतन पर काम करने से खराब होती है सेहत

लंदन: कम वेतन पर या अत्यधिक तनावपूर्ण माहौल में नौकरी कर रहे लोगों के बेरोजगार लोगों के मुकाबले स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझने की अधिक आशंका होती है. ब्रिटेन में मैनचेस्टर विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने यह पता लगाया है. वैज्ञानिकों में भारतीय मूल का एक वैज्ञानिक भी शामिल है. शोधकर्ताओं ने वर्ष 2009 से 2010 के दौरान बेरोजगार 35 से 75 साल की आयु के 1,000 लोगों का अध्ययन किया.

Read More

पेट की समस्याओं से बचने के लिए अपनाएं ये आसान टिप्स

नई दिल्ली: बारिश के मौसम में सही से आहार नहीं लेने के चलते पेट संबंधी बीमारी होने की संभावना ज्यादा होती है. विशेषज्ञों का कहना है कि कोई भी अपने दैनिक आहार में परिवर्तन कर स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को कम कर सकता है. फिटपास की पोषण व आहार विशेषज्ञ मेहर राजपूत और कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल (गाजियाबाद) की प्रमुख आहार विशेषज्ञ अदिति शर्मा ने पेट संबंधी संक्रमण से बचने के लिए ये सुझाव दिए हैं : 

Read More

रात में सोने से पहले इन फूड्स को बिल्कुल भी ना खाएं क्योंकि…

बहुत से फूड ऐसे हैं जिनको खाने से रात में एसिडिटी, ब्‍लोटिंग, स्टमक हैवीनेस जैसी चीजें हो जाती हैं. इतना ही नहीं, कुछ फूड ऐसे भी हैं जिनसे एलर्जी, कोल्ड और कफ तक बढ़ सकता है. ऐसे में कुछ फूड्स को आपको खाने से बचना चाहिए. अगर रात के खाने के बाद भी आपको भूख लगती है तो हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे फूड जिसे नजरअंदाज करें क्योंकि इससे आपकी सेहत को नुकसान पहुंचता है.

Read More

अब डिप्रेशन को तुरंत दूर भगाएगा ये स्पेशल खाना, जरूर करें ट्राई

कभी-कभी हमारी लाइफ में कुछ चीजें ऐसी हो जाती है जिन्हें हैंडिल करना मुश्किल हो जाता है जिसकी वजह से इंसान डिप्रेशन का शिकार हो जाता है या फिर उस पर टेंशन हावी होने लगती है। ऐसे में इंसान अकेले रहना ही पसंद करता है या यूं कहे कि लोगों के बीच होकर भी खुद में खोया रहता है।

Read More

खाली पेट पीएं किशमिश का पानी और फिर देखें कमाल

भागदौड़ भरी इस जिदंगी में लोगों को कोई न कोई शारीरिक समस्याएं लगी ही रहती हैं। ऐसे में वे कई तरह की दवाओं का सेवन करते हैं। इसके अलावा शरीर को स्वस्थ रखने के लिए डॉक्टर उन्हें पोष्टिक आहार और खूब पानी पीने की सलाह देते हैं। 

Read More

कई गंभीर बिमारियों से बचाव के साथ ही वजन घटाने में काफी सहायक है वॉटर फास्टिंग

नई दिल्ली: वजन कम करने और शरीर से प्रदूषित तत्वों को बाहर निकालने के लिए फास्टिंग एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है. वॉटर फास्टिंग के दौरान कुछ लोग खाना छोड़ सिर्फ पानी का ही उपयोग करते हैं. यह अपनी जरुरत के हिसाब से अलग-अलग अवधी के लिए हो सकता है. जैसे शुरुआत में एक दिन फिर धीरे-धीरे इसकी अवधि बढ़ाई भी जा सकती है.

Read More

तेजी से फैल रहा है वायरल हेपेटाइटिस, जानिए इससे बचने के उपाय

नई दिल्ली: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) का कहना है कि देश में वायरल हेपेटाइटिस बी एक गंभीर समस्या है. लगभग 40 करोड़ लोग दुनिया भर में हेपेटाइटिस बी और सी से संक्रमित हैं. आईएमए के अनुसार, भारत में चार करोड़ लोग लंबे समय से हेपेटाइटिस बी से संक्रमित हैं और हेपेटाइटिस सी से पीड़ित भारतीयों की संख्या छह से 12 लाख के बीच हो सकती है. यकृत विफलता के सबसे अधिक गंभीर मामलों में हेपेटाइटिस ई वायरस (हेवीवी) को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है. हेपेटाइटिस सी वाले लगभग 90 प्रतिशत लोगों को इलाज से ठीक किया जा सकता है.

Read More

खाली पेट न खाएं ये चीजेें, सेहत को होगा नुकसान

सेहतमंद रहने के लिए इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि खाली पेट क्या खाएं और क्या नहीं? जानिए कौन सी चीजें खाली पेट लेने पर नुकसान पहुंचा सकती हैं।

मिर्च-मसालेदार खाना
खाली पेट कभी भी चटपटा, मिर्च मसाले वाला खाना नहीं खाना चाहिए। ये पेट का हाजमा बिगाड़कर एसिडिटी का कारण बन सकते हैं।

Read More