mp mirror logo

दवाओं से अधिक गुणकारी होती है आम की पत्तियां

     आम की पत्तियां के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ
गर्मियों में सबसे ज्‍यादा मिलने और पसंद किये जाने वाले फलों के राजा आम के बिना गर्मियां अधूरी सी लगती है। यह काफी स्वादिष्ट होने के साथ सेहत के लिए लाभकारी भी होता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि आम के साथ-साथ इसकी पत्तियों भी हमारे लिए बहुत ही गुणकारी होती है। इसमें मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटीमाइक्रोबियल गुण होने के कारण यह लगभग हर बीमारी का आसानी से इलाज कर सकती है। इसके अलावा इसमें बहुत अधिक मात्रा में विटामिन सी, बी और ए भी पाया जाता है। आम की पत्‍तियां एक ऐसा खजाना हैं, जो आपको फ्री में ही मिलता है। इसलिये इसे अच्‍छी ढंग से प्रयोग करें। आम की पत्‍तियां साल भर में मौजूद रहती हैं, इसलिये आपको बीमारी दूर करने के लिये किसी खास मौसम का इंतजार करने की जरुरत नहीं है। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से इसके स्‍वास्‍थ्‍य लाभ की जानकारी लेते हैं।

    आम की पत्तियां इस्‍तेमाल करने का तरीका
आप आम की पत्तियों का कई तरीके से इस्‍तेमाल कर सकते हैं। जैसे हल्के हरे रंग के छोटे आकार की आम की पत्तियों को तो़ड़ लें, उन्हें अच्छे से धोएं और छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर चबाइये। या आम के कुछ पत्तों को तोड़िये और रात भर के लिये हल्‍के गुनगुने पानी में डालकर भिगो दें। अगली सुबह इसका सेवन करें। साथ ही पत्तियों को धोकर धूप में सुखाएं और पाउडर बना लें। इस पाउडर की एक चम्मच लें और एक गिलास पानी में मिलाकर पी लें। ध्यान रखें इसका सेवन खाली पेट ही करें।

    अस्‍थमा से बचाये
आम की पत्तियां अस्‍थमा की बीमारी को कंट्रोल और इससे आपको बचाती हैं। आम की पत्तियां चाइनीज दवाओं में भी बहुत प्रयोग की जाती हैं, आप अस्थमा से निजात पाने के लिए इसकी पत्तियों का काढ़ा बनाकर थोड़ा सा शहद मिलाकर प्रयोग कर सकते हैं।

    पेट के लिये रामबाण
प्रकृति हमें कई बीमारियों का उपचार स्वयं उपलब्ध कराती है, आमतौर पर प्राकृतिक उपचार के कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होते हैं। पेट की बीमारी  के लिये में आम के मुलायम पत्ते आपके लिये संजीवनी का काम करते हैं। थोड़ी सी आम की पत्‍तियों को गर्म पानी में डालें, बर्तन को ढंक दें और रातभर के लिये इसे ऐसे ही छोड़ दें। अगली सुबह पानी को छान कर खाली पेट पी जाएं। इसे नियमित पीने से पेट की सारी गंदगी बाहर निकल जाती है और पेट का कोई रोग नहीं होता।

    ब्लड-शुगर पर नियंत्रण
आम के पत्‍तों की मदद से आप ब्‍लड-शुगर को भी कंट्रोल कर सकते हैं। ऐसा आम के पत्तों में मौजूद टैनिन के कारण होता है। आम के पत्तों से निकला अर्क इंसुलिन उत्पादन और ग्लूकोज को बढ़ने से रोक कर ब्लड शुगर का स्तर घटाता है। इसके अलावा आम के पत्‍तों में मौजूद हाइपोग्‍लाइसेमिक प्रभाव से ब्‍लड शुगर का स्‍तर कम हो जाता है। रोज सुबह एक चम्मच आम की पत्तियों का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है।

    गॉल ब्‍लैडर और किडनी स्‍टोन से बचाये
आम की पत्तियों से किडनी में पथरी की समस्या को हल करने और किडनी को सेहतमंद रखने में मदद मिलती है। इसी तरह यह आपको गॉल ब्‍लैडर की पथरी से निजात पाने और लिवर को सेहतमंद रखने में भी मदद करता है। रोजाना आम की पत्‍तियों के पाउडर से बना घोल पीने से किडनी के स्‍टोन दूर करने में मदद मिलती है।

    कोलेस्ट्रॉल को कम करें
कोलेस्ट्रॉल का उच्च स्तर आपके दिल को नुकसान पहुंचा सकता है। यदि आप शुगर की बीमारी से पीड़ित हैं, तो आपको बाकी चीजों का भी ध्‍यान रखना होगा। चूंकि आम के पत्तों में फाइबर, पेक्टिन और विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है इसलिए यह आपके कोलेस्ट्रॉल, खासतौर पर एलडीएल या हानिकारक कोलेस्ट्रॉल के स्‍तर को घटाता है। इसके अलावा इससे आपकी धमनियां मजबूत और स्वस्थ बनती है।

"सेहत" से अन्य खबरें

बहुत हेल्दी है मूंग दाल और पालक का यह सूप

अगर कुछ हेल्दी खाने का मन है तो आप मूंग दाल और पालक का सूप बना सकते हैं। ये हेल्दी होने के साथ-साथ आपको टेस्टी भी लगेगा। 

Read More

हाई यूरिक एसिड को यूं करें कम

आजकल हर दूसरा व्यक्ति हाई यूरिक एसिड से परेशान है। यह परेशानी शुरू में तो कम होती हैं पर यदि इसका समय रहते इलाज न किया जाए तो यह गंभीर रूप भी ले लेती है। जैसे कि गठिया,जोड़ो में दर्द और किडनी में पत्थरी होने तक की संभावना हो जाती है। घुटनों,एडियों, उंगलियों में दर्द होने से इसकी शुरूआत होती है। लेकिन आप घर पर ही कुछ आसान से उपाय करके इसे समय रहते ठीक कर सकते हैं।

1. बेकिंग सोडा का सेवन

Read More

नाइट शिफ्ट में काम करने से आपके लीवर को झेलने पड़ते हैं ये बुरे प्रभाव

रात के वक्त यानी नाइट शिफ्ट में काम करना आपके स्वास्थय के लिए काफी नुकसानदेह साबित हो सकता है। शोध में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है कि नाइट शिफ्ट में जिगर यानी लीवर बुरी तरह प्रभावित होता है। लिवर 24 घंटों में दिन और रात के हिसाब से भोजन और भूख के चक्र का आदी हो जाता है।

रात की ड्यूटी यानी नाइट शिफ्ट के चलते आप समय पर भोजन नहीं कर पाते, जिसका सीधा असर आपके लिवर पर पड़ता है। शोधकर्ताओं ने चूहों पर प्रयोग कर पाया कि लिवर का आकार रात में बढ़ता है और वह खुद को ज्यादा खुराक के लिए तैयार करता है, लेकिन उसे समय पर उतनी खुराक नहीं मिल पाती।

Read More

ठंडी होती है जामुन की तासीर, गर्मियों में खाने से होंगे ये 8 फायदे

खाने में स्वादिष्ट और औषधीय गुणों से भरपूर जामुन गर्मियों का फल है. स्वाद में थोड़ा मीठा और थोड़ा खट्टा होता है. जामुन में लगभग वे सारी चीजें होती हैं, जिनकी जरूरत हमारे शरीर को है. आम के साथ ही जामुन का मौसम भी शुरू हो जाता है. इस फल के गर्मियों में पैदा होने के पीछे भी एक कारण है. जामुन की तासीर ठंडी होती है और लू लग जाने की स्थिति में यह बहुत लाभदायक है.

Read More

रोजना ताजे फलों का सेवन घटा सकता है डायबिटीज का डर

फल खाना सेहत के लिए अच्छा यह तो हम सभी जानते हैं, क्योंकि इससे हमारे शरीर को कई जरूरी पोषक तत्व प्राप्त होते हैं। एक ताजे शोध में कहा गया है कि रोजाना ताजे फलों का सेवन और जीवनशैली में बदलाव लाकर डायबिटीज के खतरे को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

Read More

गर्मियों में शरीर को ठंडा रखता है शर्बत!

नई दिल्ली : गर्मियों में तेज धूप और पसीने के कारण आपको डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है. इसलिए इन दिनों कोल्ड ड्रिंक और पैकेज फ्रूट जूस जैसी अन्हेल्दी चीजें नहीं बल्कि घर में बनने वाले विभिन्न तरह के हेल्दी और टेस्टी शर्बत ही पिएं. 

सौंफ का शर्बत- इसे पीने से आपका शरीर और दिमाग कूल रहते हैं. इसे बनाने के लिए एक चम्मच सौंफ को रातभर पानी में भिगोकर रखें. सुबह सौंफ अलग कर लें और पानी में चीनी व शहद डालकर शर्बत बनाएं.

Read More

सावधान.. ज्‍यादा मीठा खाने के हैं शौकीन, तो हो सकता है ये नुकसान

मीठे पेय पदार्थ याददाश्त के लिए नुकसानदेह होते हैं. एक शोध में पता चला है कि इस तरह के पेय पदार्थो से स्ट्रोक और डिमेंशिया का खतरा बढ़ जाता है. शोध के निष्कर्षो के अनुसार, मीठे पेय पदार्थो से दिमाग की याददाश्त पर प्रभाव पड़ता है. इन निष्कर्षो को दो पत्रिकाओं में प्रकाशित किया गया है. शोध का प्रकाशन पत्रिका 'अल्जाइमर्स एंड डिमेंशिया' में किया गया है. पत्रिका में कहा गया है कि मीठे पेय पदार्थो का सेवन करने वालों में खराब स्मृति, दिमाग के आयतन में कमी और खास तौर से हिप्पोकैम्पस छोटा होता है.

Read More

सेहत के लिए फायदेमंद है देसी गाय का दूध!

नई दिल्ली: एक ताजा शोध में ये बात सामने आई है कि देशी गाय का दूध जिसे कि ए-2 दूध कहा जाता है, हमारी सेहत के लिए वरदान है. वहीं दूसरी ओर बाजार में बिकने वाले ज्यादातर गाय के दूध क्रॉस ब्रीड या विदेशी गायों का होता है वो सेहत के लिए सही नहीं है.  

अमूल जैसी बड़ी कंपनियां भी अब A-2 दूध के साथ बाजार में उतर रही हैं. लेकिन अमूल के एमडी आरएस सोढ़ी का कहना है कि, "जब आप इसे प्रिमियम प्राइस पर बेचना चाहते हैं तब मार्केट अपने आप छोटा हो जाता है. लेकिन धीरे-धीरे अब जागरूकता बढ़ रही है."

Read More

दिल के लिए जरूरी ये हरी सब्जियों का सेवन

हरी और पत्तेदार सब्जियां हर लिहाज से फायदेमंद हैं। ये शरीर के ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने में मदद करती हैं और कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों से बचाने में भी मदद करती हैं। खासतौर पर दिल के स्वास्थ्य के लिए ये सब्जियां बहुत लाभकारी हैं। आज हम आपको ऐसी ही कुछ हरी पत्तेदार सब्जियों के बार में बता रहे हैं जो आपके हार्ट को हमेशा फिट रखने में मदद करती हैं।

ब्रोकली
इसका सेवन आपके दिल को लम्बे समय तक स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। साल 2010 में जर्नल प्लांट फूड फॉर ह्यूमन न्यूट्रीशन में प्रकाशित शोध के अनुसार ब्रोकली स्प्राउट्स का रोजाना सेवन न सिर्फ ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करता है बल्कि हार्ट सेल्स को डैमेज होने से भी बचाता है। इस बतौर सलाद भी खाया जा सकता है।

Read More

गर्मियों में सोडा पीने से पहले पढ़ लें ये खबर!

नई दिल्लीः क्या आप भी गर्मियों में शर्बत का सेवन करते हैं? क्या आप बहुत ज्यादा स्वीटनर ड्रिंक्स का सेवन करते हैं? अगर हां, तो ये खबर आपके लिए है. हाल ही में इससे रिलेटिड एक रिसर्च आई है.

क्या कहती है रिसर्च-
एक हालिया रिसर्च में ये बात सामने आई है कि बहुत ज्यादा आर्टिफिशियल स्वीटनर्स के सेवन से याददाश्त कमजोर हो सकती है. शोध के मुताबिक, बहुत ज्यादा मीठे पेय पदार्थों के सेवन से स्ट्रोक और डिमेंशिया का खतरा बढ़ जाता है. इससे याददाश्त‍ पर भी बुरा असर पड़ता है.

Read More