mp mirror logo

मकर संक्राति: जानें क्यों मनाते हैं ये त्योहार और क्या हैं इसके मायने

नई दिल्ली: मकर संक्रांति हिन्दुओं का प्रमुख पर्व है जो जनवरी के महीने में 14 या 15 तारीख को मनाया जाता है. पूरे भारत में इस त्योहार को किसी न किसी रूप में मनाया जाता है. तमिलनाडु में इसे पोंगल के रूप में मनाते हैं जबकि कर्नाटक, केरल और आंध्र प्रदेश में इसे केवल 'संक्रांति' कहते हैं. पौष मास में जब सूर्य मकर राशि पर आता है जब इस पर्व को मनाया जाता है. 

संक्रांति के दिन होता है सूर्य का उत्तरायण
यह पर्व जनवरी माह के तेरहवें, चौदहवें या पन्द्रहवें दिन ( जब सूर्य धनु राशि को छोड़ मकर राशि में प्रवेश करता है ) पड़ता है. मकर संक्रांति के दिन से सूर्य की उत्तरायण गति प्रारंभ होती है. इसलिए इसको उत्तरायणी भी कहते हैं.

सौ गुना बढ़कर मिलता है दान
शास्त्रों के अनुसार, दक्षिणायन को देवताओं की रात्रि यानि नकारात्मकता का प्रतीक और उत्तरायण को देवताओं का दिन अर्थात सकारात्मकता का प्रतीक माना गया है. इसीलिए इस दिन जप, तप, दान, स्नान, श्राद्ध, तर्पण आदि धार्मिक क्रियाकलापों का विशेष महत्व है. धारणा है कि इस अवसर पर दिया गया दान सौ गुना बढ़कर पुन: प्राप्त होता है.

इस दिन शुद्ध घी एवं कंबल दान मोक्ष की प्राप्त करवाता है. मकर संक्रांति के अवसर पर गंगास्नान एवं गंगातट पर दान को अत्यंत शुभकारक माना गया है. इस पर्व पर तीर्थराज प्रयाग एवं गंगासागर में स्नान को महास्नान की संज्ञा दी गई है. सामान्यत: सूर्य सभी राशियों को प्रभावित करते हैं, किंतु कर्क व मकर राशियों में सूर्य का प्रवेश धार्मिक दृष्टि से अत्यंत फलदायक है. यह प्रवेश अथवा संक्रमण क्रिया छह-छह माह के अंतराल पर होती है.

रातें छोटी व दिन होंगे बड़े
भारत देश उत्तरी गोलार्द्ध में स्थित है. मकर संक्रांति से पहले सूर्य दक्षिणी गोलार्ध में होता है अर्थात भारत से दूर होता है. इसी कारण यहां रातें बड़ी एवं दिन छोटे होते हैं तथा सर्दी का मौसम होता है, लेकिन मकर संक्रांति से सूर्य उत्तरी गोलार्द्ध की ओर आना शुरू हो जाता है. अत: इस दिन से रातें छोटी एवं दिन बड़े होने लगते हैं तथा गरमी का मौसम शुरू हो जाता है.

शनि देव से मिलने जाते हैं भगवान भास्कर
ऐसी पौराणिक मान्यता है कि इस दिन भगवान भास्कर अपने पुत्र शनि से मिलने स्वयं उसके घर जाते हैं. चूंकि शनिदेव मकर राशि के स्वामी हैं, अत: इस दिन को मकर संक्रांति के नाम से जाना जाता है.

संक्रांति पर भीष्म पितामह ने त्यागी थी देह
महाभारत काल में भीष्म पितामह ने अपनी देह त्यागने के लिए मकर संक्रांति का ही चयन किया था. मकर संक्रांति के दिन ही गंगाजी भगीरथ के पीछे-पीछे चलकर कपिल मुनि के आश्रम से होकर सागर में जा मिली थीं. इसलिए संक्रांति मनाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है. इस दिन तिल-गुड़ के सेवन का साथ नए जनेऊ भी धारण करना चाहिए.

"नेशनल" से अन्य खबरें

सीएम रघुवर दास ने पेश किया झारखंड का बजट

रांची. मुख्यमंत्री रघुवर दास मंगलवार को विधानसभा में वित्तीय वर्ष 2018-19 का मूल बजट पेश किया. सीएम रघुवर दास ने बतौर वित्त मंत्री चौथी बार बजट पेश किया. उन्होंने सुभाषचंद्र बोस को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी. इस दौरान  मुख्यमंत्री ने कहा कि बायोगैस प्लांट खुलेगा और दीवाली तक सभी घरों को बिजली. मुख्यमंत्री ने कहा, यह  बजट आम जनता की राय से तैयार हुआ है. झारखंड की जनता आम बजट को अपना बजट समझे.

Read More

मंदिर की अनोखी पहल : 'हेल्मेट नहीं तो पूजा भी नहीं'

जगतसिंहपुर, ओडिशा के मां सरला मंदिर के बाहर लगे एक बोर्ड की इन दिनों हर कोई चर्चा कर रहा है. कोई इसे सराहनीय कदम बता रहा है तो कोई कहता है कि ये अनोखी मुहिम हर किसी के लिए एक सबक है. लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए मंदिर प्रशासन ने आदेश दिया है- 'हेल्मेट नहीं, तो पूजा भी नहीं.'

दरअसल मां सरला मंदिर के बाहर लगे इस बोर्ड पर लिखा है कि मंदिर में बिना हेल्मेट के आ रही दो पहिया गाड़ियों की पूजा नहीं की जाएगी. इलाके में बढ़ते सड़क हादसों के नज़र में रखते हुए मंदिर प्रशासन ने ये फैसला लिया.

Read More

छत्तीसगढ़: 'पद्मावत' पर बवाल, क्षत्रिय समाज ने कहा- लगे बैन

रायपुर। सुप्रीम कोर्ट ने चार राज्यों से फिल्म पद्मावत से बैन हटा दिया है। इस फैसले के बाद से राजपूत समाज के तेवर विरोधी हो गए हैं। SC के फैसले के बाद छत्तीसगढ़ में फिल्म को बैन करने के लिए राजपूत क्षत्रिय समाज ने गृहमंत्री रामसेवक पैकरा को ज्ञापन सौंपा है।

राजधानी में राजपूत समाज के लोगों ने फिल्म पद्मावत के रिलीज होने की घोषणा पर जमकर हंगामा किया। राजधानी के कई सिनेमा घरों में लगे पोस्टर को फाड़ कर विरोध जताया। इस दौरान संजय लीला भंसाली के खिलाफ जमकर नारेबाजी हुई। 

Read More

कोलकाता में सड़कों पर उतरे मुस्लिम संगठन, मोदी-नेतन्याहू के खिलाफ नारेबाजी

कोलकाता में गुरुवार (18 जनवरी) को मुस्लिम समूहों ने इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की भारत यात्रा का विरोध किया। प्रदर्शनकारियों ने शहर के गांधी मैदान में भारी विरोध प्रदर्शन के बीच नेतन्याहू और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पोस्टरों पर पहले स्याही छिड़की और फिर उन्हें आग के हवाले कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि इजरायल फिलिस्तीन में मुसलमानों का जीना दूभर कर रहा है, उनकी जगहों पर अतिक्रमण कर रहे है और प्रधानमंत्री उसी के प्रधानमंत्री नेतन्याहू का देश में स्वागत कर रहे है।

Read More

आरएसपुरा व अरनिया में पाक ने की भारी गोलाबारी, जवाबी कार्रवाई में 3 पाक रेंजर ढेर

पाकिस्तान ने एक बार फिर अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जम्मू के अरनिया और आरएसपुरा सेक्टर में बुधवार रात भारतीय चौकियों और रिहायशी इलाकों में भारी गोलाबारी शुरू कर दी। इस दौरान पाकिस्तान की ओर से दागे गए स्नाइपर शॉट में बीएसएफ का एक जवान शहीद व एक नागरिक घायल हो गया। 

Read More

मदरसों को बंद करना कोई हल नहीं, आधुनिकीकरण होना चाहिए: योगी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजधानी में विधानभवन के तिलक हॉल में अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के मंत्रियों की बैठक का उद्घाटन किया। इस दौरान सीएम योगी ने अपने संबोधन में कहा कि मदरसों को बंद करना कोई हल नहीं। 

Read More

इजरायल के पीएम ने उद्योगपतियों से की मुलाकात, कहा- भविष्य इनोवेशन का है

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने गुरुवार को नाश्ते पर भारतीय उद्योगपतियों से मुलाकात की। नेतन्याहू ने बिजनेस लीडर्स से अरब समुद्र के नज़दीक ताज होटल में बातचीत की। इसके बाद यहीं पर भारत-इजरायल बिजनेस समिट को संबोधित किया जाएगा।

Read More

PM मोदी ने खोला 'iCreate' में छोटे 'आई' का राज, कहा- उद्यम जुड़ेंगे-देश जुड़ेगा

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू अपने भारत दौरे के चौथे दिन बुधवार को गुजरात के अहमदाबाद पहुंचे. यहां वो सबसे पहले साबरमती आश्रम गए, जहां उन्होंने अपनी पत्नी के साथ बापू की तस्वीर पर सूत की माला चढ़ाई. साथ ही वहां रखा चरखा भी चलाया. 

Read More

हज सब्सिडी: क्या करेंगे ममता, केजरीवाल और विजयन?

नेशनल डेस्क (वसुधा शर्मा): केंद्र सरकार ने इस साल से हज यात्रा पर मुसलमानों को दी जाने वाली सब्सिडी खत्म करके गेम उन राज्यों के पाले में डाल दी है जहां मुस्लिम आबादी राजनीति को प्रभावित करने की स्थिती मे है।

Read More

CA Final, CPT Result 2017 LIVE: ICAI चार्टर्ड एकाउंटेंट फाइनल और कॉमन प्रोफिशिएंसी टेस्ट के रिजल्ट जल्द

CA Final Nov Result 2017, ICAI CA CPT Result 2017 Latest Updates
– उम्मीदवार आईसीएआई की आधिकारिक वेबसाइट नियमित रूप से चेक करते रहें ताकि वे लगातार अप्डेट्स हासिल कर सकें।

-वेबसाइट से नतीजे चेक करने के लिए आपको अपना रजिस्ट्रेशन नंबर या PIN नंबर/रोल नंबर का इस्तेमाल करना होगा।

Read More