mp mirror logo

एक गुरुद्वारा ऐसा, जहां न गोलक है, न लंगर बनता है फिर भी कोई भूखा नहीं रहता

एक गुरुद्वारा ऐसा भी है, जहां पर न तो लंगर बनता है और न ही गोलक है। फिर भी यहां कोई भूखा नहीं रहता। पढ़िए इस खास गुरुद्वारे की रोचक कहानी...

हम बात कर रहे हैं चंडीगढ़ के सेक्टर-28 स्थित गुरुद्वारा नानकसर की। यहां पर न तो लंगर बनता है और न ही गोलक है। दरअसल, गुरुद्वारे में संगत अपने घर से बना लंगर लेकर आती है। यहां देशी घी के परांठे, मक्खन, कई प्रकार की सब्जियां और दाल, मिठाइयां और फल संगत के लिए रहता है।

संगत के लंगर छकने के बाद जो बच जाता है उसे सेक्टर-16 और 32 के अस्पताल के अलावा पीजीआई में भेज दिया जाता है, ताकि वहां पर भी लोग प्रसाद ग्रहण कर सकें। यह सिलसिला वर्षों से चला आ रहा है।

दांतों का फ्री इलाज होता है यहां पर
गुरुद्वारा नानकसर का निर्माण दिवाली के दिन हुआ था। चंडीगढ़ स्थित नानकसर गुरुद्वारे के प्रमुख बाबा गुरदेव सिंह बताते हैं कि 50 वर्ष से भी अधिक इस गुरुद्वारे के निर्माण को हो गए हैं। पौने दो एकड़ क्षेत्र में फैले इस गुरुद्वारे में लाइब्रेरी भी है और यहां दातों का फ्री इलाज होता है। 

यहां एक लैब भी है। हर वर्ष मार्च में वार्षिक उत्सव होता है। यह वार्षिकोत्सव सात दिनों का होता है। बड़ी संख्या में देश-विदेश से संगत इसमें शामिल होने आती है। इस दौरान एक विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन होता है।

लुधियाना के पास है हेडक्वार्टर
गोलक के लिए झगड़ा न हो, इसलिए यहां पर गोलक नहीं है। यहां मांगने का काम नहीं है, जिसे सेवा करनी हो वह आए। इसका हेडक्वार्टर नानकसर कलेरां है, जो लुधियाना के पास है। वर्ष में दो वार अमृतपान कराया जाता है।

गुरुद्वारा नानकसर में 30 से 35 लोग, जिसमें रागी पाठी और सेवादार हैं। चंडीगढ़ हरियाणा, देहरादून के अलावा विदेश जिसमें अमेरिका, कनाडा, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और इंग्लैंड में एक सौ से भी अधिक नानकसर गुरुद्वारे हैं।

लंगर लगाने के लिए दो महीने का लंबा इंतजार
बाबा गुरदेव सिंह का कहना है कि संगत सेवा के लिए अपनी बारी का इंतजार करती है। गुरुद्वारे में तीनों वक्त लंगर लगता है। लोग अपने घरों से लंगर बनाकर लाते हैं। किसी को लंगर लगाना हो तो उन्हें कम से कम दो महीने का इंतजार करना होता है। किसी ने सुबह तो किसी ने दोपहर का तो कोई रात के लंगर की सेवा करता है। हर वक्त अखंड पाठ चलता रहता है। सुबह सात बजे से नौ बजे तक और शाम पांच से रात नौ बजे तक कीर्तन का हर दिन आयोजन होता है। हर महीने अमावस्या के दिन दीवान लगता है।

"अजब-गजब" से अन्य खबरें

3 साल के बच्चे की कराई कुतिया से शादी, जानिए किस डर से यह कदम इस राज्य के हर मां-बाप उठाते हैं

ग्रामीण इलाकों में आज भी अंधविश्वास चरम पर है। बच्चों की सलामती के लिए अजीब-अजीब रस्में निभाई जातीं हैं। कुछ ऐसी ही एक रस्म झारखंड और पड़ोसी ओडिशा के कुछ इलाकों में होती है। जिसके बारे में सुनकर आपको  अजीब लगेगा। यहां बच्चों की शादी जानवरों से कराई जाती है। ताकि अपशकुन कट जाए और बच्चा को लंबी जिंदगी मिले। झारखंड के बुरुडीह टोला आसुरा में विकास नामक तीन वर्षीय बच्चे की शादी परिवार वालों ने कुतिया से कराई। यह खबर चर्चा-ए-खास है।

Read More

3 साल के बच्चे की कराई कुतिया से शादी, जानिए किस डर से यह कदम इस राज्य के हर मां-बाप उठाते हैं

ग्रामीण इलाकों में आज भी अंधविश्वास चरम पर है। बच्चों की सलामती के लिए अजीब-अजीब रस्में निभाई जातीं हैं। कुछ ऐसी ही एक रस्म झारखंड और पड़ोसी ओडिशा के कुछ इलाकों में होती है। जिसके बारे में सुनकर आपको  अजीब लगेगा। यहां बच्चों की शादी जानवरों से कराई जाती है। ताकि अपशकुन कट जाए और बच्चा को लंबी जिंदगी मिले। झारखंड के बुरुडीह टोला आसुरा में विकास नामक तीन वर्षीय बच्चे की शादी परिवार वालों ने कुतिया से कराई। यह खबर चर्चा-ए-खास है।

Read More

प्यारी नन्ही मछलियों के मरने पर कैंडल जलाकर दी श्रद्धांजलि, किया अंतिम संस्कार

पालतू पशु पक्षियों के लिए इंसानियत और जज़्बात रखना कोई नई बात नहीं है. दुर्लभ जंतुओं के संरक्षण के लिए विश्व भर में तमाम संस्थाएं भी काम करती हैं. उनके मरने पर दुख होना लाजमी है, पर अपनी पालतू मछलियों के लिए भी उतना ही प्यार रखना थोड़ी सी आश्चर्यजनक घटना लगती है. लेकिन तब आप क्या कहेंगे जब कोई शख्स अपनी प्यारी नन्ही मछलियों के मरने पर उन्हें किसी इंसान के मरने की तरह अंतिम विदाई दे.

Read More

सेक्स लेता है इन सांपों की जान, 8 महीने इंतजार के बाद एक ही मादा पर टूट पड़ते हैं सैकड़ों सांप

कनाडा में पाए जाने वाले गार्टर स्नेक्स में नर मादाओं के मुकाबले कम जीते है। इसके पीछे का कारण उनका अधिक सहवास करना होता है।

सेक्स (सहवास) इंसान के लिए बेहद जरूरी है। यह किसी के लिए प्यार जताने का तरीका है, तो किसी के लिए दवा है। यह हमारे लिए जरूरी शारीरिक क्रिया है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि यही सहवास जान भी ले सकता है। जी हां, अधिक सहवास जान ले लेता है। सांपों (स्नेक्स) के मामले में यह उनकी जीवन अवधि घटा देता है।

Read More

दो साल में पेट के कीड़े पी गए 22 लीटर खून!

यह सुनने में अजीब लगेगा पर यह बात सत्य है कि दो साल में 14 साल के बच्चे के पेट में पल रहे कीड़े 22 लीटर खून पी गए. लेकिन सच यह भी है कि एक 14 साल का बच्चा साल 2015 से 50 यूनिट ब्लड चढ़वा चुका है.

बावजूद इसके बीमारी ठीक नहीं हो रही थी. कई जगह उपचार कराने के बाद जब उत्तराखंड के हल्द्वानी निवासी इस बच्चे को जब दिल्ली स्थित सर गंगाराम अस्पताल लाया गया तो यहां के डॉक्टरों ने उसकी बीमारी की गहनता से जांच की, जिसके बाद कीड़ों की स्थिति और इतनी मात्रा में रक्त की कमी होने का कारण समझ आया. इस उपचार के बाद फिलहाल बच्चा स्वस्थ है.

Read More

एक गलती और बदल गई किस्मत, कुछ इस तरह ये महिला बन गई करोड़पति

नई दिल्ली: अमेरिका में लॉटरी से किसी की जिंदगी बदली तो किसी को कंगाल कर दिया. अमेरिका में लॉटरी का चलन आम है. वहां हर छोटी सी छोटी दुकान और पेट्रोल पंप में लॉटरी टिकट मिलती है. एक गलती की वजह से महिला की किसमत बदल गई और वो करोड़पति बन गई. न्यू जर्सी के मैनहैटन में शॉपिंग करने गईं ओक्साना जहारोव ने सुपरमार्केट में 1 डॉलर की लॉटरी टिकट खरीदी. लेकिन स्टोर क्लर्क ने गलती से उसे 10 डॉलर की 'सेट फॉर लाइफ' की लॉटरी टिकट दे दी. गलत टिकट मिलने के बाद उन्होंने किसी भी तरह इसके लिए भुगतान करने का फैसला किया. 

Read More

करोड़ों का मालिक है ये 'महाराजा', विरासत में मिला है लाखों का फोन बिल

ग्वालियर. कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया 1 जनवरी को 47वां के हो गए। सेंटर में पावर मिनिस्टर का पद संभाल चुके ग्वालियर के महाराज ने हाल ही में एलान किया था कि वे राज्य में बढ़ते किसानों के सुसाइड्स की वजह से अपना बर्थडे सेलिब्रेट नहीं करेंगे।इस मौके पर देश के इस यंग पॉलिटीशियन से जुड़े फैकट्स बता रहा है।

Read More

गजब है ये परिवार हड्डी टूटने पर भी नहीं होता दर्द

इटली में एक परिवार ऐसा है जिन्हें चोट में दर्द का एहसास नहीं होता, उल्‍टा इस परिवार का एक सदस्य तो ऐसा है जो पैर टूटने के बावजूद स्की के मजे लेता है। खबरों के अनुसार इस परिवार की तीन पीढ़ियो के 6 सदस्य ऐसे हैं जिन्होंने कभी दर्द का अहसास नहीं किया है। इस परिवार में उनकी 78 नानी, उनकी दो बेटियां जो 50 और 52 साल की हैं और उन बेटियों के तीन 24, 21 और 16 साल के बच्चे शामिल हैं। वैज्ञानिकों को उनकी इस अदभुद क्षमता के चलते उम्‍मीद है कि इस परिवार की मदद से दर्द निवारक दवा बनाई जा सकती हैं।

Read More

बिना सोये लगातार ढाई दिन तक करता रहा ये आदमी अपनी वीवी का किस, बना विश्व रिकार्ड

झारखंड के एक आदिवासी गांव में सार्वजनिक तौर पर किस करने का एक कॉम्पीटिशन आयोजित किया गया. कई लोगों ने इसका विरोध किया है. भारतीय समाज में भले ही सबके सामने किस करना आम बात नहीं हो, लेकिन कई देशों में इसके उलट चलन है. किस कॉन्टेस्ट दुनिया के कई शहरों में आयोजित होते रहे हैं. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे किस के बारे में बता रहे हैं जो सबसे लंबे वक्त तक चला. एक कपल ने 58 घंटे 35 मिनट और 58 सेकंड तक एक दूसरे को किस किया.

Read More

पाकिस्‍तान के फैशन डिजाइनर ने बाल‍िका वधू से करवाई रैंप वॉक, म‍िल रही है शाबाशी

नई द‍िल्‍ली : वेडिंग सीजन है और ऐसे में आपके फेसबुक की टाइमलाइन शादी और हनीमून की तस्‍वीरों से अटी पड़ी हैं. इस बीच पाकिस्‍तान के डिजाइनर अली जिशान ने 'हम ब्राइडल कुट्यूर वीक' के दौरान फैशन से इतर काम कर सबको चौंका दिया

Read More