mp mirror logo

पटवारी परीक्षा: 9 दिसंबर से, 18 दिन लगातार देंगे 55 हजार कैंडीडेट ऑनलाइन टेस्ट

ग्वालियर. पटवारी की 9235 पोस्ट के लिए 10 लाख से ज्यादा लोगों ने आवेदन किया है। इसका ऑनलाइन टेस्ट 9 दिसंबर से शुरू होगा। यह टेस्ट 29 दिसंबर तक लगातार 18 दिन चलेगा। केवल 17 और 25 दिसंबर को छुट्टी रहेगी। प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड (PEB) यह टेस्ट TCS के जरिए करा रहा है। टेस्ट में प्रतिदिन 55 हजार कैंडिडेट्स शामिल होंगे। फर्जीवाड़े की आशंका को देखते हुए हर कैंडिडेट्स की एक्जाम सेंटर पर 3 बार चेकिंग होगी। ऐसे होगी परीक्षा......

-कई सालों के बाद एमपी में पटवारी पोस्ट के लिए वेकेंसी निकलीं और व्यापमं ने इसके लिए 9235 पद निकाले। इन पदों के लिए व्यापमं के पास रिकॉर्ड संख्या में, करीब 10 लाख से ज्यादा आवेदन पहुंचे। 
-इसके बाद अब PEB सभी कैंडिडेट्स का ऑनलाइन टेस्ट 9 दिसंबर से लेने जा रहा है। 16 जिलों में एक साथ यह ऑनलाइन टेस्ट 9 दिसंबर से शुरू होकर 29 दिसंबर तक होगा। केवल 17 और 25 दिसंबर की छुट्टी रहेगी।
तीन बार होगी चेकिंग
-चूंकि व्यापमं की परीक्षाओं में फर्जीवाड़े के मामलों का रिकॉर्ड बना हुआ है, जिसके कारण कड़ी सुरक्षा और उपायों से पटवारी परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। जिन कैंडिडेट्स को एक्जाम देना है, उन्हें परीक्षा के तीन दिन पहले सेंटर बताया जाएगा। 
-परीक्षा की तैयारियों के लिए संबंधित जिले के अफसरों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए निर्देश दिए गए हैं। सबसे ज्यादा जोर फर्जीवाड़ा रोकने पर ही दिया गया है। 
-PEB अफसरों के मुताबिक टेस्ट देने वाले कैंडिडेट की परीक्षा केन्द्र पर 3 बार चेकिंग की जाएगी। केन्द्र में घुसते समय, परीक्षा देते समय केन्द्र के अंदर और परीक्षा खत्म होने पर चेकिंग की जाएगी।

नेटवर्क को लेकर डरे हैं अफसर
-पटवारी पद के लिए ऑनलाइन परीक्षा का जिम्मा TCS को सौंपा गया है। चूंकि इसमें बड़ी संख्या में उम्मीदवार शामिल हो रहे हैं, इसलिए परीक्षा से जुड़े अफसरों को नेटवर्क प्रॉब्लम को लेकर डर है।
-यदि नेटवर्क डाउन रहा तो परीक्षा समय पर पूरी होना मुश्किल है। ऐसे में उम्मीदवारों का गुस्सा सेंटर में देखने को मिल सकता है।
ये निर्देश जारी किएPEBने
-परीक्षा सुबह 9-11 व दोपहर 3 से शाम 5 बजे तक होगी।
-रिपोर्टिंग टाइम के 30 मिनट बाद आने पर प्रवेश नहीं मिलेगा।
-स्टाफ व कैंडीडेट मोबाइल, कैलकुलेटर व घड़ी लेकर नहीं जाएंगे।
-उम्मीदवार को मूल फोटो युक्त पहचान पत्र दिखाना होगा।
-ई-आधार तभी मान्य होगा जब वह यूआईडीएआई द्वारा सत्यापित होगा।
-एडमिट कार्ड के दोनों भागों का प्रिंट लेकर सेंटर पर जाना होगा।
-एडमिट कार्ड में कोई गलती होने पर अब उसमें सुधार संभव नहीं होगा।
-एक उम्मीदवार का चार बार बायोमैट्रिक सत्यापन सेंटर पर होगा।
-पिन नंबर जरूर याद रखें, यह उम्मीदवार को कम्प्यूटर में डालना होगा।
-एडमिट कार्ड दो जारी होंगे, पहले में नाम व जिला होगा, दूसरे में रोल नंबर व सेंटर।

"जिलों की ख़बरें" से अन्य खबरें

शिवराज सिंह की मुश्किलें बढ़ी, चुनाव से पहले सेन समाज ने की आरक्षण की मांग

मध्य प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में आरक्षण की मांग को लेकर सेन समाज ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. सेन समाज के सैकड़ों लोग शनिवार को राजधानी भोपाल में जुट रहे हैं. जहां वे सेन समाज को अनुसूचित जाति में शामिल किए जाने की मांग कर रहे हैं. प्रदर्शन कर रहे आंदोलनकारियों को मुताबिक सेन समाज को मिल रहे आरक्षण का दायरा बढ़ाते हुए अनुसूचित जाति में शामिल करने के लिए राज्य सरकार ने विधानसभा में अशासकीय संकल्प पारित  किया था, लेकिन उसके सालों बाद भी अमल नहीं हो सका.

Read More

MP: कर्ज और फसल बीमा क्लेम न मिलने से परेशान किसान ने लगाई फांसी

मध्य प्रदेश के सागर जिले के गढ़ाकोटा में कर्ज में डूबे किसान ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. किसान पर करीब तीन लाख रुपए का कर्ज था और हाल ही में ओलावृष्टि से चने की फसल भी तबाह हो गई थी.

जानकारी के अनुसार, गढ़ाकोटा थाना क्षेत्र के सिंगपुर कला में रहने वाले किसान गुलाब पटेल ने शुक्रवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. किसान की पत्नी सियारानी पटेल ने बताया कि वह कर्ज की वजह से काफी परेशान थे. उन पर तीन लाख रुपए का कर्ज था.

Read More

ओलावृष्टि पर बोले सीएम- अभी चुनाव है, कुछ नहीं कहूंगा, जो लागू, वही मिलेगा

अशोकनगर.प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को पिपरई क्षेत्र के ढ़ोढ़िया गांव पहुंचे। जहां उन्होंने चार दिन पहले ओलावृष्टि से नष्ट हुई फसलों का निरीक्षण कर किसानों ने बातचीत की। मुख्यमंत्री श्री सिंह ने ग्रामीणों से कहा कि अभी कुछ घोषणा करूंगा तो कांग्रेस वाले चिल्लाने लगेंगे कि आचार संहिता का उल्लंघन हो रहा है। उन्होंने किसानों ने कहा कि टीवी देखते हो या अखबार पढ़ते हो। उसमें देख लेना। जो भी नुकसान की भरपाई होगी वहीं अशोकनगर जिले को भी मिलेगा।

Read More

कांग्रेस का सवाल, शिवराज जी! अवैध कब्जेदारों पर इतनी मेहरबानी?

भोपाल। मध्यप्रदेश में भारी बारिश और ओलावृष्टि से करीब 1000 गांवों में फसलें पूरी तरह चौपट हो गयी हैं, जिससे किसान परेशान हैं, बस इसी परेशानी को राजनीतिक पार्टियां भुनाने में लगी हैं, सत्ताधारी पार्टी जहां किसानों को उनके नुकसान की भरपाई करने का आश्वासन दे रही है, वहीं विपक्ष किसानों की उपेक्षा का आरोप लगा रही है।

Read More

उपचुनाव: बढ़ती जा रही भाजपा की मुश्किल, अब गैस पीड़ित भी सीधी जंग को तैयार

भोपाल। मध्यप्रदेश के दो विधानसभा क्षेत्रों में हो रहे उपचुनाव में भोपाल के यूनियन कार्बाइड पीड़ितों के लिए संघर्ष करने वाले पांच संगठनों ने सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों का विरोध करने का ऐलान किया है। इन उपचुनाव में इन संगठनों के नेता भाजपा के खिलाफ प्रचार अभियान चलाएंगे।

Read More

एमपी में सियासी भूचाल, अल्पेश ठाकोर की दस्तक से तिलमिलाई बीजेपी,

भोपाल। गुजरात के राधनपुर से कांग्रेस विधायक व ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर के मध्यप्रदेश में दस्तक देते ही सियासत गरमा गई है। आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। बीजेपी का कहना है कि अल्पेश के एमपी में आने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि कांग्रेस के पास कार्यकर्ता बचे नहीं, अब वह बाहरी कार्यकर्ताओं का सहारा ले रही है।

Read More

सीएम ने बुलाई आपात बैठक, अफसरों से कहा-नुकसान की भरपाई करें

भोपाल। प्रदेश में ओलावृष्टि से प्रभावित गांवों की संख्या बढ़ती जा रही है। 13 जिलों में 621 गांवों के प्रभावित होने की प्रारंभिक रिपोर्ट सरकार के पास पहुंची है। यहां 27 हजार हेक्टेयर की फसल खराब हुई है। नुकसान को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को आपात बैठक बुलाई।

Read More

कम्प्लीशन सर्टिफिकेट मामला : हटाए गए तीनों अफसर निगम में लौटे

भोपाल। कम्प्लीशन सर्टिफिकेट में गड़बड़ी मामले में दोषी करार देते हुए नगर निगम आयुक्त प्रियंका दास ने जिन तीन अफसरों को हटाया था उनकी मंगलवार को वापसी के आदेश हो गए। अपर आयुक्त मलिका निगम नागर, वीके चतुर्वेदी और नगरयंत्री जीएस सलूजा को आयुक्त ने हटाते हुए उन्हें उनके मूल विभाग भेज दिया था और विभागीय जांच के आदेश दिए थे। अपर आयुक्त चतुर्वेदी ने निगम में वापस ज्वाइन भी कर लिया।

Read More

राजस्थान में किसानों का कर्ज मॉफ, CM शिवराज ने कहा- नहीं है भीख की जरूरत

भोपाल। एक तरफ जहां मध्यप्रदेश में कर्ज से परेशान किसान आए दिन आत्महत्या जैसे कदम उठा रहे हैं, वहीं प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने कर्ज माफी के नाम पर कहा कि मध्यप्रदेश में किसानों को भीख की जरूरत नहीं है।

Read More

सिंधिया के निशाने पर मोदी-शिवराज, कहा- जुमलों की सरकार के अंत का वक्त

भोपाल। कोलारस-मुंगावली में होने वाले उपचुनाव के लिए प्रदेश की दोनों मुख्य पार्टियां कमर कस चुकी हैं। आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी जोर पकड़ चुका है। इसी क्रम में कांग्रेस की ओर से मोर्चा संभाल रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भोपाल में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सूबे की शिवराज सरकार के साथ ही पीएम मोदी पर भी जमकर निशाना साधा।

Read More