mp mirror logo

NGT का सम-विषम योजना से महिलाओं, दो पहिया वाहनों को छूट से इनकार

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने महिलाओं और दो पहिया वाहनों को दिल्ली सरकार की सम-विषम योजना से बाहर रखने से आज इनकार कर दिया और उसे यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि दस वर्ष से अधिक पुराने डीजल वाहनों को सड़कों से बिना देरी के हटा दिया जाए.
अधिकरण ने प्रदूषण के उच्च स्तर पर चिंता जतायी जो कि पर्यावरण और स्वास्थ्य की दृष्टि से आपात स्थिति है और कहा कि शहर को अपने बच्चों को संक्रमित फेफड़ों का उपहार नहीं देना चाहिए.  

एनजीटी अध्यक्ष न्यायमूर्ति स्वतंत्र कुमार के नेतृत्व वाली एक पीठ ने दिल्ली की आप सरकार को आज ही दिल्ली के सबसे प्रदूषित इलाकों की पहचान करके ऊंची इमारतों से पानी का छिड़काव करने का निर्देश दिया. 

अधिकरण ने यद्यपि उन गैर प्रदूषणकारी उद्योगों को चलाने की इजाजत दे दी जो आवश्यक वस्तुओं का विनिर्माण करते हैं. 

सुनवायी के दौरान एनजीटी ने सवाल किया कि पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश राज्य एक-दूसरे पर आरोप लगाने के अलावा क्या कर रहे हैं. पीठ ने कहा,  उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब क्या कर रहे हैं? आप सभी एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं. आप सिर्फ एक दूसरे पर आरोप ही नहीं लगा सकते.    

दिल्ली सरकार ने अपनी अर्जी वापस ले ली क्योंकि एनजीटी उसकी इस दलील से संतुष्ट नहीं था कि शहर के पास 25 लाख से अधिक यात्रियों को संभालने के लिए पर्याप्त सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था नहीं है.
पीठ ने कहा, दिल्ली सरकार अपनी अर्जी वापस लेना चाहती है जो उसने हमारे आदेश में बदलाव के लिए दायर की थी. उन्हें एक नयी अर्जी दायर करने की स्वतंत्रता है. अर्जी का निस्तारण किया जाता है.  

एनजीटी ने 11 नवम्बर के अपने आदेश में सम-विषम योजना को मंजूरी देते हुए महिलाओं और दो पहिया वाहनों को इससे छूट देने से इनकार कर दिया था. दिल्ली सरकार ने इस निर्णय में बदलाव के लिए कल एक अर्जी दायर की थी.
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में उद्योगों के संचालन के बारे में पीठ ने कहा,  हम स्पष्ट करते हैं कि खाद्य पदार्थ जैसी आवश्यक वस्तुओं का निर्माण करने वाले उद्योगों को एनजीटी के रोक वाले आदेश से छूट दे दी गई है.  

अधिकरण ने कहा,  हम निर्देश देते हैं कि ऐसे उद्योग जिनका उत्सर्जन निर्धारित मानकों के भीतर है और जो गैर प्रदूषणकारी हैं और निर्देशों के अनुरूप हैं, वे संचालित हो सकते हैं लेकिन यह जांच पर आधारित होगा. 


अधिकरण ने इसके साथ ही एनसीआर में पूर्वी परिधीय एक्सप्रेसवे के निर्माण कार्य को भी इजाजत दे दी जो कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के वरिष्ठतम अधिकारी के आश्वासन पर आधारित होगा कि इससे कोई प्रदूषण नहीं होगा.

अधिकरण ने उल्लेख किया कि प्रदूषण नियंत्रण समितियों के अनुसार दो पहिया वाहन अधिक प्रदूषण करते हैं तथा केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) और दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी (डीपीसीसी) के अनुसार करीब 30 प्रतिशत प्रदूषण उनके द्वारा होता है.

पीठ ने कहा, यदि आप 68 लाख दो पहिया वाहनों को सड़कों पर चलने की इजाजत देंगे, कितनी सीमा तक प्रदूषण होगा? आपने कहा कि हजारों बसों का आर्डर दिया गया है लेकिन अभी तक एक भी बस नहीं मिली है. आप किसी संकट का इंतजार कर रहे हैं.  

पीठ ने महिला चालकों को सम-विषम योजना से छूट प्रदान करने की अर्जी को लेकर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए सवाल किया, क्या आप (दिल्ली सरकार) उन महिलाओं की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार नहीं हैं जिनके पास कारें नहीं हैं और वे रोज मेट्रो और बसों से सफर करती हैं? आप विशेष महिला बसें क्यों नहीं चला सकते?  

यह उल्लेख करते हुए कि पीएम10  900 से अधिक है, पीठ ने कहा, आप (दिल्ली सरकार) पेड़ों पर पानी छिड़काव कर रहे हैं. आपको करना यह है कि आप बहुमंजिला इमारत पर चढ़ेंगे और दमकल उपकरण की मदद से पानी का छिड़काव करेंगे.  

पीठ ने इसके साथ ही पर्यावरण एवं वन मंत्रालय, दिल्ली जीएनसीटी, परिवहन विभाग और प्रदूषण नियंत्रण बोर्डो को हवा में प्रदूषकों पर नियंत्रण के लिए एक-दूसरे से समन्वय करने और उसके आदेश के अनुसार कदम उठाने के लिए कहा.

"नेशनल" से अन्य खबरें

साइबर स्पेस में बोले PM, भ्रष्‍टाचार हुआ कम जनधन-आधार और मोबाइल से कम

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज साइबर सुरक्षा को जीवन का हिस्सा बनाने की अपील करते हुए गोपनीयता और पारदर्शिता के बीच संतुलन को जरूरी बताया। मोदी ने यहां साइबर सुरक्षा पर आयोजित पांचवें वैश्विक सम्मेलन के उद्घाटन के मौके पर कहा कि साइबर हमले प्रजातांत्रिक दुनिया के लिए आज बड़ा खतरा बन गया है। 

Read More

केंद्र सरकार से सफाई के लिए रहा है मोटा बजट, कोचिंग के लिए कोटा आए छात्रों पर टैक्स

कोटा को मेडिकल और इंजीनियरिंग कोचिंग के लिए सर्वश्रेष्ठ शहर माना जाता है. हर साल लाखों छात्र और छात्राएं यहां कोचिंग के लिए आते हैं. जहां छात्र बिना किसी टेंशन के यहां कोचिंग लेने आते हैं वहीं अब सरकार कोचिंग करने आने वाले बाहरी छात्रों से 1000 रुपए टैक्स वसूलेगी.

Read More

नक्सलियों का दावा, 62 जवानों की हत्या

बीजापुर। माओवादियों के दक्षिण सब जोनल ब्यूरो ने प्रेस नोट जारी कर इस बात का खुलासा किया है कि सुरक्षाबलों द्वारा चलाए गए मिशन 2017 के दौरान उनके कुल 155 साथी मारे गए हैं, जिनमें सिर्फ दंडकारण्य के ही 115 और सब जोनल ब्यूरो के 45 माओवादी नेता व साथी शामिल हैं।

माओवादियों ने यह दावा भी किया है कि इस दौरान उन्होंने 62 जवानों की हत्या व 68 जवानों को घायल कर 35 आधुनिक हथियार और करीब 3500 कारतूस बरामद किए हैं।

Read More

राजपूतों के तीन बड़े आंदोलन हर बार सरकार मांग के आगे झुकना पड़ा है।

जयपुर। राजस्थान में भाजपा का सबसे बडा वोट बैंक राजपूत समुदाय इस बार मौजूदा सरकार से लगातार नाराज हो रहा है। राजपूत समुदाय को राजस्थान में पिछले एक साल में तीन बार बडे आंदोलन करने पडे है और हर बार सरकार को उनकी मांग के आगे झुकना पड़ा है।

राजस्थान में जातियों के हिसाब से राजपूत, जाट, ब्राह्मण, मीणा और गुर्जर पांच बडे वोट बैंक माने जाते है। इनमें से जाट समुदाय शेखावटी, जोधपुर और भरतपुर सम्भाग में और मीणा व गुर्जर उदयपुर, जयपुर और भरतपुर सम्भाग में ही ज्यादा मौजूदगी रखते है। लेकिन राजपूत और ब्राह्मण हर सम्भाग में है और इन दोनों में से भी राजपूत परम्परागत रूप से भाजपा के समर्थक माने जाते है।

Read More

तीन तलाक पर रोक के लिए बिल लाएगा केंद्र मोदी सरकार

नई दिल्ली: तीन तलाक को पूरी तरह खत्म करने के लिए मोदी सरकार अब कड़ा कदम उठाने वाली है. सूत्रों के मुताबिक दिसंबर में तीन तलाक खत्म करने के लिए संसद के शीत सत्र में बिल लाया जाएगा. बिल तैयार करने के लिए एक मंत्रिमंडलीय समिति बनाई गई है.

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल 22 अगस्त को एक बार तीन तलाक यानी तलाक-ए-बिद्दत को अवैध घोषित कर दिया था. लेकिन अभी भी कई ऐसी खबरें आई हैं जहां एक झटके में तीन तलाक दिया गया था. ऐसा एक मामला उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से आया था.

Read More

Exclusive: भारत के इस्राइल से मिसाइलें नहीं खरीदने पर पाकिस्तान हुआ 'ज़्यादा ताकतवर'

नई दिल्ली: इस्राइल के साथ 50 करोड़ अमेरिकी डॉलर के मिसाइल सौदे से भारत सरकार के हट जाने की वजह से भारतीय फौजियों के पास पाकिस्तानी सेना की तुलना में 'कम ताकत' रह गई है. भारतीय सेना के सूत्रों ने NDTV को बताया कि पाकिस्तान के पास अपने इन्फैन्ट्री सौनिकों के लिए पोर्टेबल एन्टी-टैंक मिसाइलें हैं, जो तीन से चार किलोमीटर दूर मौजूद भारतीय टैंकों और बंकरों को निशाना बना सकती हैं, जबकि भारत के पास इसी तरह की जो मिसाइलें हैं, उनकी मारक क्षमता सिर्फ दो किलोमीटर है.

Read More

जानिए कोन है इंडिया के बेस्ट मोटिवेशन गुरु

<strong>मोटिवेशन गुरु : जानिए कोन है इंडिया के Best Motivational Speakers जिनको सुनकर मन हो जाता है आनंदित</strong>
कोन है इंडिया का बेस्ट मोटिवेशन गुरु ? जिनकी विडियो आपको YouTube पर देखनी चाहिए और उन विडियो को देखकर आप मोटीवेट हो और आपको किसी मैं काम को करने में कोई समस्या न हो. आज में आपको 5 ऐसे लोगो के बारे में बताने जा रहा हूँ जिन्होंने जीरो से अपनी लाइफ स्टार्ट करी थी और आज सब लोग अपनी-अपनी जगह पर काफी ज्यादा सफल है|

Read More

इंटरव्‍यू : इंडिया मोटिवेशनल स्पीकर और लाइफ कोच वोम गुरु अतुल विनोद पाठक

<strong>नमस्कार दोस्तों आज मैं आपको मिलवा रहा हूं इंडिया के एक जाने-माने मोटिवेशनल स्पीकर और लाइफ कोच वोम गुरु श्री अतुल विनोद पाठक जी से :</strong>
भारत के लगभग सभी बड़े शहरों और मध्यप्रदेश में अपनी मोटिवेशनल सेमिनार और यूट्यूब चैनल वोम गुरु : पर अपने प्रोग्राम्‍स के माध्यम से उन्होंने लाखों लोगों की जिंदगी सवारी हैं. इनके पाठको में एक से बढ़कर एक कॉरपोरेट कंपनी और सरकारी संस्था है वही देश के जाने-माने कॉलेज और स्कूल भी हैं. आइए मै भोपाल के रहने वाले वोम गुरु श्री अतुल विनोद पाठक जी से इंटरव्यू के कुछ अंश आपके साथ शेयर कर रहा हूं.

Read More

बद्रीनाथ धाम पर मुसलमानों का दावा, बाबा रामदेव बोले- इस्‍लाम को बदनाम कर रहा है

हिन्दू समुदाय के पवित्रतम तीर्थस्थलों में शुमार बद्रीनाथ धाम पर एक मौलाना ने दावा किया है। मौलाना का कहना है कि उत्तराखंड में स्थित बद्रीनाथ धाम सदियों पहले मुसलमानों का तीर्थस्थल था। मदरसा दारुल उलूम निश्वाह के मौलाना अब्दुल लतीफ कासमी ने दावा किया है कि सैकड़ों साल पहले बद्रीनाथ धाम बदरुद्दीन शाह या बद्री शाह के नाम से जाना जाता था। मौलाना अब्दुल लतीफ कासमी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर मांग की है कि इस धार्मिक स्थल को हिन्दुओं से लेकर मुसलमानों को सौंपा जाए। 

Read More

पीएम आवास योजना: मकानों का कारपेट एरिया बढ़ा

केंद्र सरकार ने बृहस्पतिवार को मध्य आय वर्ग (एमआईजी) के तहत घर खरीदारों को बड़ा तोहफा दिया। सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी के तहत इस श्रेणी के लिए घरों के कारपेट एरिया में बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी है। इससे अब 150 वर्ग मीटर तक का घर खरीदने वालों को भी सब्सिडी मिलेगी।

Read More