mp mirror logo

चित्रकूट में कांग्रेस ने लहराया जीत का परचम, 14133 मतों से हारी भाजपा

कांग्रेस विधायक प्रेम सिंह के निधन से खाली हुई चित्रकूट विधानसभा के उपचुनाव में कांग्रेस ने सीट बरकरार रखते हुए भाजपा को 14 हजार 133 मतों से करारी शिकस्त दी। कांग्रेस के नीलांशु चतुर्वेदी को 66 हजार 810 तो भाजपा के शंकरदयाल त्रिपाठी को 52 हजार 677 मत मिले। 2 हजार 455 मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया।

मालूम हो, इससे पहले 2013 में हुए चुनाव में कांग्रेस के प्रेम सिंह ने भाजपा के सुरेंद्र सिंह गहरवार को 10970 वोटों से हराया था। इस तरह देखा जाए तो कांग्रेस की जीत का अंतर बढ़ा है। सिर्फ 7 राउंड में भाजपा आगे रविवार को सतना के वेंकट स्कूल में सुबह भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच चुनाव आयोग के पर्यवेक्षक की मौजूदगी में मतगणना शुरू हुई।

मतों की गिनती के 19 चक्र चले, जिसमें सिर्फ सात चक्र में ही भाजपा के शंकरदयाल त्रिपाठी को कांग्रेस के नीलांशु चतुर्वेदी से ज्यादा मत मिले। बाकी सभी चक्रों में कांग्रेस आगे रही। यहां 9 नवंबर को मतदान हुआ था।

जिस गांव में सीएम रुके, वहां से भी भाजपा को नहीं मिले वोट

भाजपा ने चित्रकूट में पूरी ताकत झोंक दी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने 29 सभाएं, 11 रोड शो किए और तीन दिन चित्रकूट में रुके। सीएम जिस तुर्रा गांव में आदिवासी लल्लू सिंह गोंड के घर रुके, उस गांव में भी भाजपा हार गई। भाजपा इस सीट को इतनी अहम मान रही थी कि उसने मैदान में 29 मंत्री समेत संगठन के दिग्गज नेताओं की फौज उतार दी थी। खुद उत्तर प्रदेश के ओबीसी चेहरा व डिप्टी सीएम केशवप्रसाद मौर्य रोड शो करने चित्रकूट आए। भाजपा नेताओं ने 750 से ज्यादा सभाएं भी कीं, पर वे जनता के दिल में उतर नहीं पाए।

अपनी ससुराल और गांव में भी हारे भाजपा प्रत्याशी

भाजपा प्रत्याशी शंकरदयाल त्रिपाठी अपनी ससुराल सिंहपुर और खुद के गांव देवरा में भी हार गए। ससुराल में भाजपा को महज 196 व कांग्रेस को 519 वोट मिले।

60 साल में एक बार भाजपा जीती

चित्रकूट विधानसभा में भाजपा ने 1957 से लेकर अब तक सिर्फ एक बार जीत दर्ज की है। 2008 में भाजपा के सुरेंद्र सिंह गहरवार जीते थे। कांग्रेस के प्रेम सिंह यहां से 1998, 2003 और 2013 में जीते थे।

11 महीने तक विधायक रहेंगे नीलांशु चतुर्वेदी

2018 में प्रदेश में विधानसभा चुनाव होना है। उपचुनाव में जीतने वाले कांग्रेस के नीलांशु चतुर्वेदी सिर्फ 11 महीने के लिए विधायक बने हैं।

निर्दलियों की जमानत जब्त

भाजपा और कांग्रेस के बाद सबसे ज्यादा वोट नोटा को मिले। नोटा 2435 वोट लेकर तीसरे स्थान पर रहा। बाकी दस निर्दलीय उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई।

नेताओं ने कहा

जनता का फैसला स्वीकार है, फिर भी चित्रकूट के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। – शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री

चित्रकूट की जनता ने परंपरा को चुना है। हमने विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ा था, लेकिन जनता का फैसला कुछ और था। – नंदकुमार सिंह, प्रदेश अध्यक्ष, भाजपा

दिवंगत विधायक के कामों और लोगों के प्रति प्रेम के कारण कांग्रेस जीती है। कांग्रेस की जीत का शंखनाद हो गया है

"जिलों से" से अन्य खबरें

मुख्यमंत्री श्री चौहान के मंदसौर आगमन पर हेलीपैड पर हुआ स्वागत

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल से प्रस्थान कर मंदसौर हेलीपैड पर दोपहर 1.30 बजे पहुंचे। 

Read More

आदि गुरु शंकराचार्य के संदेश जन-जन तक पहुंचाने के लिये निकाली गई एकात्म यात्रा

आदि गुरु शंकराचार्य के सिद्धान्तों और उनके संदेशों को जन-जन तक पहुंचाने के लिये तथा प्रसिद्ध धर्मस्थली ओंकारेश्वर में स्थापित की जाने वाली आदि शंकराचार्य की 108 फीट ऊंची विशाल प्रतिमा के लिये जन जागृति हेतु आज इंदौर शहर में एकात्म यात्रा और अनेक उप यात्राओं का आयोजन किया गया। यह यात्रा आज सुबह एरोड्रम स्थित अखण्डधाम आश्रम से शुरू होकर बड़े गणपति, राजवाड़ा, एमजी रोड होते हुए शाम में गाँधी हाल में समाप्त हुई। 
  

Read More

अन्ना हजारे की खजुराहो में लिखी इबारत पर गांधीवादियों की मुहर

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने तीन दिसंबर को विश्व पर्यटन स्थल खजुराहो की दीवार पर आगामी 23 मार्च से जन-आंदोलन की इबारत लिखी थी, जिस पर देश के तमाम गांधीवादियों ने अपनी मुहर लगा दी। अब 23 मार्च से पानी, किसानी और जवानी को लेकर देशव्यापी आंदोलन होगा। 

Read More

एकात्म यात्रा में भिड़े सांसद-विधायक, सांसद समर्थकों ने की विधायक से हाथापाई

 एकात्म यात्रा में उस समय हंगामा मच गया, जब ध्वज उठाने की बात पर भाजपा सांसद मनोहर ऊंटवाल और भाजपा विधायक गोपाल परमार आपस में भिड़ गए। बहस सेे शुरू हुआ विवाद हाथापाई तक पहुंच गया। पहले तो सांसद- विधायक ध्वज को एक दूसरे से छीनते रहे। बाद में सांसद के सामने ही उनके समर्थकों ने विधायक के साथ हाथापाई कर दी। 

Read More

चुनाव से ठीक पहले बीजेपी की महिला विधायक का वीडियो वायरल, जिसे देख मच गया हड़कंप!

भोपाल। जब कोई नेता सरकार में मंत्री होता है तो पूरा महकमा उसकी आवभगत में लगा होता है, उसका रुतबा और रसूख के आगे कोई नहीं टिक पाता। प्रशासन भी नहीं। लेकिन, मंत्री पद गंवा देने के बाद जब प्रशासन नियम पर चलने की सलाह दे तो गुस्सा आना लाजिमी है।

 

Read More

एमपी में स्कूल बस संचालकों की हड़ताल पर सरकार सख्त

मध्य प्रदेश में स्कूल बस संचालकों की हड़ताल को लेकर सरकार सख्त नजर आ रही है. गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने हड़ताली बस संचालकों को दो टूक कह दिया है कि अगर हड़ताल जारी रही तो सरकार उनसे सख्ती से निपटेगी.

Read More

सीएम शिवराज ने अपने सुरक्षाकर्मी को जड़ा थप्पड़, वीडियो वायरल

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के लिए फिर एक बार एक वीडियो परेशानी का सबब बन गया है। नगरीय निकाय चुनाव के प्रचार के आखिरी दिन सीएम के रोड-शो का ये वीडियो बताया जा रहा है। जिसमें सीएम सुरक्षाकर्मी को धक्का देते और थप्पड़ मारते नजर आ रहे हैं।

Read More

एेसे तो अगले सौ साल में राजधानी से खत्म हो जाएगी सर्दी

भोपाल. राजधानी में सितम्बर का न्यूनतम औसत तापमान 0.075 डिग्री सेल्सिसय बढ़ गया है। जबकि, ग्वालियर शहर में जून और अगस्त के अधिकतम औसत तापमान में क्रमश: 0.067 और 0.064 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी हो चुकी है। भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में मानसून की तरीख लगभग एक सप्ताह आगे बढ़ गई हैं।

 

Read More

7th Pay: सरकार ने दिया संक्रांति का बड़ा तोहफा, अब मेडिकल स्टाफ को भी मिलेगा सातवां वेतनमान

भोपाल. सातवें वेतनमान की मांग कर रहे निगम-मण्डलों पर राज्य सरकार ने शर्त लगा दी है कि उन्हें लाभ दिए जाने के पहले वित्त विभाग से अनुमति ली जाए। दूसरी ओर नर्सिंग स्टाफ को यह लाभ दिए जाने के लिए मेडिकल कॉलेजों, नर्सिंग कॉलेजों, अस्पताल प्रबंधन से खर्च की जानकारी मांगी है।

 

Read More

भारत की सांस्कृतिक एकता को समृद्ध बनाने का श्रेय आदि गुरू शंकराचार्य को -मुख्यमंत्री श्री चौहान विदिशा में एकात्म यात्रा के दौरान जनसंवाद

देश में एक नहीं अनेक मत मतान्तर दिखाई देते है। ऐसे समय में आदि गुरू शंकराचार्य द्वारा बताए गए अद्वैतवाद दर्शन में विश्व की समस्याओं का समाधन निहित है। इस आशय के विचार प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज विदिशा में नगर में आयोजित जनसंवाद यात्रा को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि विश्व में आंतकवाद जैसी प्रवृतियों को समाप्त करने और सभी मत मतान्तरों को समाप्त कर शांति स्थापित करने की दिशा में शंकराचार्य का एकात्म दर्शन सही दिशा दे सकता है। 

Read More