mp mirror logo

ऑर्डनेंस फैक्ट्री में लगी आग में फटे 26000 बम, स्पेशल टीम ने राख से खंगाले सैम्पल

जबलपुर. खमरिया ऑर्डनेंस फैक्ट्री में शनिवार शाम लगी आग में कुल 26 हजार बम फटे थे। धमाकों की शुरुआत रिजेक्टेड RCL बमों से हुई थी। इसके बाद एंटी-टैंक बमों, 125 एमएम बमों में ब्लास्ट शुरू हुआ। बाद में एंटी-एयरक्राफ्ट बमों की खेप भी चपेट में आ गई। फूटने वाले सभी बम रिजेक्टेड थे। इनमें सबसे ज्यादा 20 हजार RCL बम थे। वहीं, पांच हजार एंटी-एयरक्राफ्ट बम एल-70 और करीब एक हजार टैंक भेदी बम भी फटे। धमाकों के दौरान कोई नहीं था आसपास...

- फैक्ट्री की ट्रांजिट बिल्डिंग में RCL बम करीब 30 साल से रखे हैं। इनके साथ ही रिजेक्टेड टैंक भेदी और एंटी-एयर क्राफ्ट बमों का जखीरा भी रखा था।
- धमाकों के दौरान कोई भी इम्प्लॉई बिल्डिंग के आसपास नहीं था। शुरुआती जांच में पता चला कि धमाकों में ट्रांजिट बिल्डिंग नंबर 845 पूरी तरह तबाह हो गई है।
- पहले कहा जा रहा था कि बिल्डिंग नंबर 316 और 324 में ब्लास्ट हुआ है, लेकिन रविवार को साफ हुआ कि ब्लास्ट मिनी मैगजीन की बिल्डिंग में हुआ। इसकी खास वजह RCL बमों का फ्यूज कटना बताया गया है।

- बताया जा रहा है कि बंदरों या जंगली जानवरों की उछल-कूद या चूहों के फ्यूज काटने के चलते हादसा हुआ होगा।
- पहले RCL बम फ्यूज लगाकर बनाए जाते थे, लेकिन सुरक्षा कारणों के चलते बाद में यह बम बनाने बंद कर दिए गए।
- ऑर्डनेंस फैक्टरी के जीएम एके अग्रवाल के मुताबिक, ब्लास्ट के कारणों की जांच चल रही है। जो रिजेक्टेड बम खत्म करने थे, वही फटे हैं। पूरी रात ऑपरेशन चला। अब स्थिति पूरी तरह से कंट्रोल में है। हादसे में कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ।

पुणे से आई स्पेशल टीम ने राख से खंगाले सैम्पल, बिल्डिंग सील
- हादसे के 24 घंटे के अंदर ही पुणे से स्पेशल टीम पहुंच गई है। टीम में शामिल चारों अफसर रविवार को मौके पर पहुंचे। बिल्डिंग नंबर 824 का बारीकी से मुआयना किया।

- राख के सैम्पल लिए। गोला-बारूद के अवशेष भी जुटाए गए। बिल्डिंग नंबर 845 को सील कर दिया गया है। सैम्पल पुणे स्थित लैब में जाएंगे, जिससे हादसे की असल वजह को तलाशा जा सकेगा।
- वैसे क्वालिटी इन्श्योरेंस मिलिट्री एक्सप्लोसिव (क्यूएएमई) के अफसरों के आने की उम्मीद तो सोमवार को की जा रही थी। मामले की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि टीम रविवार को ही पहुंच गई।

- इसके बाद टीम ने एडमिनिस्ट्रेशन के साथ मीटिंग भी की। जानकाराें का कहना है कि एडमिनिस्ट्रेटिव अफसरों से चर्चा के दौरान जांच का पूरा ब्योरा लिया गया, साथ ही हादसे के मुमकिन वजहों पर भी चर्चा की गई है। इस दौरान उन्होंने यह जानना चाहा कि आखिर किन हालात में इस तरह का हादसा हो सकता है।

सिक्युरिटी के मद्देनजर बनाया दायरा
- जिस जगह हादसा हुअा उस पूरे इलाके को जांच के दायरे में लिया गया है। साथ ही, फैक्ट्री एडमिनिस्ट्रेशन ने बिल्डिंग नंबर 845 को सील कर दिया गया है। इस बिल्डिंग के 5 सौ मीटर के दायरे में भी किसी काे आने-जाने की इजाजत नहीं होगी।
- इधर फैक्ट्री एडमिनिस्ट्रेशन ने अपने लेवल पर इस मामले की जांच करने की तैयारी कर ली है। पता चला है कि सोमवार को हाई लेवल टीम बनाई जाना है। इसमें फैक्ट्री के अलावा सेना के अफसर भी शामिल हो सकते हैं। एडमिनिस्ट्रेशन का कहना है कि जांच टीम को एक हफ्ते के अंदर अपनी रिपोर्ट सौंपनी होगी।

1993 में ब्लास्ट में 5 की मौत हुई थी
- 27 जनवरी 1993 में भी इस फैक्ट्री में बड़ा हादसा हो चुका है। तब 5 इम्प्लॉइज की मौत हुई थी। वे सभी रिजेक्टेड बम हटा रहे थे। उसी दौरान ब्लास्ट हो गया। उसके बाद से इस बिल्डिंग को सिक्युरिटी के मद्देनजर खतरनाक घोषित कर दिया गया था।

ऐसे होगी जांच-पड़ताल
- सबूत के तौर पर ली गई राख का पुणे की लैब में हाई लेवल टेस्ट किया जाएगा। 
- राख का केमिकल टेस्ट कर यह पता लगाया जाएगा कि हादसे की वजह क्या थी। 
- जानकारों का मानना है कि जिस फैक्टर की वजह से हादसा हुआ, उसके पार्टिकल राख में मौजूद रह सकते हैं।
- बमों के अवशेष से यह जानने की कोशिश होगी कि ब्लास्ट किस वजह से हुआ। 
- शाॅर्ट सर्किट की चिंगारी या दूसरे किसी कारण से ब्लास्ट के हालात को जांचेगी टीम।

"जिलों से" से अन्य खबरें

मुख्यमंत्री अल्प प्रवास पर ग्वालियर आए

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान गुरुवार को अल्प प्रवास पर ग्वालियर पहुँचे। इस दौरान वे विभिन्न वैवाहिक समारोह में शामिल हुए और वर-वधुओं को आशीर्वाद देकर उनके सुखद दांपत्य जीवन के लिए कामना की। उच्च शिक्षा एवं लोकसेवा प्रबंधन मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया तथा राज्यसभा सांसद श्री प्रभात झा भोपाल से विमान द्वारा मुख्यमंत्री के साथ आए थे।

Read More

वीरांगना झलकारी बाई जयंती के अवसर पर कार्यशाला आयोजित

वीरांगना झलकारी बाई जयंती के अवसर पर 22 नवम्बर को शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय वनगवां में महिला सशक्तिकरण विभाग द्वारा कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री संजय गहरवाल ने बताया कि वीरंगना झलकारी बाई प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में रानी लक्ष्मी बाई की महिला सेना की सेनापति थी और क्रांति के दौरान रानी लक्ष्मी बाई को महत्तवपूर्ण सहयोग प्रदान किया।

Read More

भोपाल को स्मार्ट सिटी बनाने के अभियान में तेजी

भोपाल को सुन्दर और स्वच्छ बनाने के लिए चलाये जा रहे अभियान के तहत शहर के 14 चौराहे चिन्हित किये गये हैं, जिन पर 51 कैमरे लगाये जाएंगे।स्मार्ट सिटी के अंतर्गत नगर में चलने वाले वाहनों की सघन चैकिंग की जाएगी। अनियमितता पाये जाने पर चालान संबंधित व्यक्ति के घर पहुँचाये जाएंगे। 

Read More

हमारी नीयत बेहतर काम करने की है और मंशा शहर को बेहतर तरीके से बसाना- वित्त मंत्री जयंत मलैया

हमारी नीयत बेहतर काम करने की है और मंशा शहर को बेहतर तरीके से बसाना है। शहर में सड़को का विकास, ड्रेनेज सिस्टम पानी की सुगम व्यवस्थाएं सहित विकास के अन्य कार्य व्यवस्थित रूप से कराये और सतत् जारी है। इस आशय के उद्गार आज वित्त और वाणिज्यिक कर मंत्री जयंत कुमार मलैया ने व्यापारीगण द्वारा बस स्टेण्ड के समीप आयोजित नागरिक अभिनंदन कार्यक्रम के दौरान व्यक्त किये। इस अवसर पर संसाद प्रहलाद पटेल विशेष रूप से मौजूद थे।

Read More

कलेक्ट्रेट बुरहानपुर में ''''नेकी की दीवार'''' का हुआ शुभारंभ

जिला प्रशासन द्वारा कलेक्ट्रेट बुरहानपुर में आनंदम कार्यक्रम के तहत ‘‘नेकी की दीवार‘‘ स्थापित की गई है। आज नेकी की दीवार का विधिवत् शुभारंभ किया गया। इस कार्यक्रम में शहर के समाजसेवी नागरिकों ने विभिन्न उपयोगी सामग्री उपलब्ध कराई। 

Read More

भावांतर भुगतान योजना पर पूरे देश की निगाहें - मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भावांतर भुगतान योजना किसानों के हित संरक्षण की अद्भुत योजना है। इस पर पूरे देश की निगाहें हैं। उन्होंने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये हैं कि किसानों की उपज के भावांतर की सही राशि किसानों के खातों में पहुंचाना सुनिश्चित करें। इस योजना के अंतर्गत पहला भुगतान एक लाख 35 हजार से ज्यादा किसानों को 22 नवम्बर को एक साथ होगा। 

Read More

रबी सीजन के लिए पर्याप्त खाद-बीज की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के कलेक्टर ने दिए निर्देश

कृषि आदान संबंधी समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर श्रीमती भावना वालिम्बे ने आगामी सीजन के खाद तथा बीज की उपलब्धता के साथ ही भावांतर योजना के अंतर्गत चल रहे पंजीयन की समीक्षा की। इसके साथ ही उन्होंने धान उपार्जन के संबंध में सभी मंडियों की विस्तृत जानकारी ली।

Read More

महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा के लिए ओर उठाये जाये कदम-मुख्यमंत्री

प्रत्येक जिले में कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ऐसे स्थानो, क्षेत्रो का संयुक्त दौरा करेंगे, जहां पर बालिका-महिला पढ़ने, रहने या अन्य रूप में एकत्रित होती है। इस दौरान यदि किसी असामाजिक तत्वो की उपस्थिति की शिकायत मिलती है, यह ज्ञात होता है तो उनके विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायें। शिक्षण संस्थानो में भी महिलाओ-बालिकाओ से संबंधित कानूनी प्रावधानो, सूचना तंत्र हेतु बनाये गये एप, निर्धारित टेलीफोन नम्बरो की जानकारी दी जाये। जिससे आवश्यकता पड़ने पर माताएं-बहने, बालिका इनका उपयोग कर सके। 

Read More

प्रभारी मंत्री श्री रामपाल सिंह 20 नवम्बर को जिले के प्रवास पर

 लोक निर्माण, विधि एवं विधायी कार्य मंत्री और नरसिंहपुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री रामपाल सिंह सोमवार 20 नवम्बर को जिले के प्रवास पर रहेंगे। वे सांईखेड़ा में जिला योजना समिति की बैठक की अध्यक्षता करेंगे और अन्य कार्यक्रमों में शामिल होंगे।

Read More

स्वरोजगार योजनाओं के प्रकरण बैंकर्स संवेदनशीलता के साथ स्वीकृत एवं वितरित करें : कलेक्टर

प्रदेश सरकार की मंशा है कि युवाओं को स्वयं का व्यवसाय प्रारंभ करने हेतु अधिक से अधिक अवसर मिले। इसीलिए प्रदेश सरकार द्वारा अनेको स्वरोजगार योजनाओं का संचालन विभिन्न शासकीय विभागों द्वारा किया जा रहा है। विभिन्न विभागों द्वारा स्वरोजगार के प्रकरण बैकों को भेजे जाते हैं, प्रकरणों के स्वीकृति एवं वितरण में देरी के कारण स्वरोजगारी परेशान होते हैं

Read More