mp mirror logo

ऑर्डनेंस फैक्ट्री में लगी आग में फटे 26000 बम, स्पेशल टीम ने राख से खंगाले सैम्पल

जबलपुर. खमरिया ऑर्डनेंस फैक्ट्री में शनिवार शाम लगी आग में कुल 26 हजार बम फटे थे। धमाकों की शुरुआत रिजेक्टेड RCL बमों से हुई थी। इसके बाद एंटी-टैंक बमों, 125 एमएम बमों में ब्लास्ट शुरू हुआ। बाद में एंटी-एयरक्राफ्ट बमों की खेप भी चपेट में आ गई। फूटने वाले सभी बम रिजेक्टेड थे। इनमें सबसे ज्यादा 20 हजार RCL बम थे। वहीं, पांच हजार एंटी-एयरक्राफ्ट बम एल-70 और करीब एक हजार टैंक भेदी बम भी फटे। धमाकों के दौरान कोई नहीं था आसपास...

- फैक्ट्री की ट्रांजिट बिल्डिंग में RCL बम करीब 30 साल से रखे हैं। इनके साथ ही रिजेक्टेड टैंक भेदी और एंटी-एयर क्राफ्ट बमों का जखीरा भी रखा था।
- धमाकों के दौरान कोई भी इम्प्लॉई बिल्डिंग के आसपास नहीं था। शुरुआती जांच में पता चला कि धमाकों में ट्रांजिट बिल्डिंग नंबर 845 पूरी तरह तबाह हो गई है।
- पहले कहा जा रहा था कि बिल्डिंग नंबर 316 और 324 में ब्लास्ट हुआ है, लेकिन रविवार को साफ हुआ कि ब्लास्ट मिनी मैगजीन की बिल्डिंग में हुआ। इसकी खास वजह RCL बमों का फ्यूज कटना बताया गया है।

- बताया जा रहा है कि बंदरों या जंगली जानवरों की उछल-कूद या चूहों के फ्यूज काटने के चलते हादसा हुआ होगा।
- पहले RCL बम फ्यूज लगाकर बनाए जाते थे, लेकिन सुरक्षा कारणों के चलते बाद में यह बम बनाने बंद कर दिए गए।
- ऑर्डनेंस फैक्टरी के जीएम एके अग्रवाल के मुताबिक, ब्लास्ट के कारणों की जांच चल रही है। जो रिजेक्टेड बम खत्म करने थे, वही फटे हैं। पूरी रात ऑपरेशन चला। अब स्थिति पूरी तरह से कंट्रोल में है। हादसे में कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ।

पुणे से आई स्पेशल टीम ने राख से खंगाले सैम्पल, बिल्डिंग सील
- हादसे के 24 घंटे के अंदर ही पुणे से स्पेशल टीम पहुंच गई है। टीम में शामिल चारों अफसर रविवार को मौके पर पहुंचे। बिल्डिंग नंबर 824 का बारीकी से मुआयना किया।

- राख के सैम्पल लिए। गोला-बारूद के अवशेष भी जुटाए गए। बिल्डिंग नंबर 845 को सील कर दिया गया है। सैम्पल पुणे स्थित लैब में जाएंगे, जिससे हादसे की असल वजह को तलाशा जा सकेगा।
- वैसे क्वालिटी इन्श्योरेंस मिलिट्री एक्सप्लोसिव (क्यूएएमई) के अफसरों के आने की उम्मीद तो सोमवार को की जा रही थी। मामले की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि टीम रविवार को ही पहुंच गई।

- इसके बाद टीम ने एडमिनिस्ट्रेशन के साथ मीटिंग भी की। जानकाराें का कहना है कि एडमिनिस्ट्रेटिव अफसरों से चर्चा के दौरान जांच का पूरा ब्योरा लिया गया, साथ ही हादसे के मुमकिन वजहों पर भी चर्चा की गई है। इस दौरान उन्होंने यह जानना चाहा कि आखिर किन हालात में इस तरह का हादसा हो सकता है।

सिक्युरिटी के मद्देनजर बनाया दायरा
- जिस जगह हादसा हुअा उस पूरे इलाके को जांच के दायरे में लिया गया है। साथ ही, फैक्ट्री एडमिनिस्ट्रेशन ने बिल्डिंग नंबर 845 को सील कर दिया गया है। इस बिल्डिंग के 5 सौ मीटर के दायरे में भी किसी काे आने-जाने की इजाजत नहीं होगी।
- इधर फैक्ट्री एडमिनिस्ट्रेशन ने अपने लेवल पर इस मामले की जांच करने की तैयारी कर ली है। पता चला है कि सोमवार को हाई लेवल टीम बनाई जाना है। इसमें फैक्ट्री के अलावा सेना के अफसर भी शामिल हो सकते हैं। एडमिनिस्ट्रेशन का कहना है कि जांच टीम को एक हफ्ते के अंदर अपनी रिपोर्ट सौंपनी होगी।

1993 में ब्लास्ट में 5 की मौत हुई थी
- 27 जनवरी 1993 में भी इस फैक्ट्री में बड़ा हादसा हो चुका है। तब 5 इम्प्लॉइज की मौत हुई थी। वे सभी रिजेक्टेड बम हटा रहे थे। उसी दौरान ब्लास्ट हो गया। उसके बाद से इस बिल्डिंग को सिक्युरिटी के मद्देनजर खतरनाक घोषित कर दिया गया था।

ऐसे होगी जांच-पड़ताल
- सबूत के तौर पर ली गई राख का पुणे की लैब में हाई लेवल टेस्ट किया जाएगा। 
- राख का केमिकल टेस्ट कर यह पता लगाया जाएगा कि हादसे की वजह क्या थी। 
- जानकारों का मानना है कि जिस फैक्टर की वजह से हादसा हुआ, उसके पार्टिकल राख में मौजूद रह सकते हैं।
- बमों के अवशेष से यह जानने की कोशिश होगी कि ब्लास्ट किस वजह से हुआ। 
- शाॅर्ट सर्किट की चिंगारी या दूसरे किसी कारण से ब्लास्ट के हालात को जांचेगी टीम।

"जिलों से" से अन्य खबरें

मुख्यमंत्री श्री चौहान के मंदसौर आगमन पर हेलीपैड पर हुआ स्वागत

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल से प्रस्थान कर मंदसौर हेलीपैड पर दोपहर 1.30 बजे पहुंचे। 

Read More

आदि गुरु शंकराचार्य के संदेश जन-जन तक पहुंचाने के लिये निकाली गई एकात्म यात्रा

आदि गुरु शंकराचार्य के सिद्धान्तों और उनके संदेशों को जन-जन तक पहुंचाने के लिये तथा प्रसिद्ध धर्मस्थली ओंकारेश्वर में स्थापित की जाने वाली आदि शंकराचार्य की 108 फीट ऊंची विशाल प्रतिमा के लिये जन जागृति हेतु आज इंदौर शहर में एकात्म यात्रा और अनेक उप यात्राओं का आयोजन किया गया। यह यात्रा आज सुबह एरोड्रम स्थित अखण्डधाम आश्रम से शुरू होकर बड़े गणपति, राजवाड़ा, एमजी रोड होते हुए शाम में गाँधी हाल में समाप्त हुई। 
  

Read More

अन्ना हजारे की खजुराहो में लिखी इबारत पर गांधीवादियों की मुहर

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने तीन दिसंबर को विश्व पर्यटन स्थल खजुराहो की दीवार पर आगामी 23 मार्च से जन-आंदोलन की इबारत लिखी थी, जिस पर देश के तमाम गांधीवादियों ने अपनी मुहर लगा दी। अब 23 मार्च से पानी, किसानी और जवानी को लेकर देशव्यापी आंदोलन होगा। 

Read More

एकात्म यात्रा में भिड़े सांसद-विधायक, सांसद समर्थकों ने की विधायक से हाथापाई

 एकात्म यात्रा में उस समय हंगामा मच गया, जब ध्वज उठाने की बात पर भाजपा सांसद मनोहर ऊंटवाल और भाजपा विधायक गोपाल परमार आपस में भिड़ गए। बहस सेे शुरू हुआ विवाद हाथापाई तक पहुंच गया। पहले तो सांसद- विधायक ध्वज को एक दूसरे से छीनते रहे। बाद में सांसद के सामने ही उनके समर्थकों ने विधायक के साथ हाथापाई कर दी। 

Read More

चुनाव से ठीक पहले बीजेपी की महिला विधायक का वीडियो वायरल, जिसे देख मच गया हड़कंप!

भोपाल। जब कोई नेता सरकार में मंत्री होता है तो पूरा महकमा उसकी आवभगत में लगा होता है, उसका रुतबा और रसूख के आगे कोई नहीं टिक पाता। प्रशासन भी नहीं। लेकिन, मंत्री पद गंवा देने के बाद जब प्रशासन नियम पर चलने की सलाह दे तो गुस्सा आना लाजिमी है।

 

Read More

एमपी में स्कूल बस संचालकों की हड़ताल पर सरकार सख्त

मध्य प्रदेश में स्कूल बस संचालकों की हड़ताल को लेकर सरकार सख्त नजर आ रही है. गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने हड़ताली बस संचालकों को दो टूक कह दिया है कि अगर हड़ताल जारी रही तो सरकार उनसे सख्ती से निपटेगी.

Read More

सीएम शिवराज ने अपने सुरक्षाकर्मी को जड़ा थप्पड़, वीडियो वायरल

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के लिए फिर एक बार एक वीडियो परेशानी का सबब बन गया है। नगरीय निकाय चुनाव के प्रचार के आखिरी दिन सीएम के रोड-शो का ये वीडियो बताया जा रहा है। जिसमें सीएम सुरक्षाकर्मी को धक्का देते और थप्पड़ मारते नजर आ रहे हैं।

Read More

एेसे तो अगले सौ साल में राजधानी से खत्म हो जाएगी सर्दी

भोपाल. राजधानी में सितम्बर का न्यूनतम औसत तापमान 0.075 डिग्री सेल्सिसय बढ़ गया है। जबकि, ग्वालियर शहर में जून और अगस्त के अधिकतम औसत तापमान में क्रमश: 0.067 और 0.064 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी हो चुकी है। भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में मानसून की तरीख लगभग एक सप्ताह आगे बढ़ गई हैं।

 

Read More

7th Pay: सरकार ने दिया संक्रांति का बड़ा तोहफा, अब मेडिकल स्टाफ को भी मिलेगा सातवां वेतनमान

भोपाल. सातवें वेतनमान की मांग कर रहे निगम-मण्डलों पर राज्य सरकार ने शर्त लगा दी है कि उन्हें लाभ दिए जाने के पहले वित्त विभाग से अनुमति ली जाए। दूसरी ओर नर्सिंग स्टाफ को यह लाभ दिए जाने के लिए मेडिकल कॉलेजों, नर्सिंग कॉलेजों, अस्पताल प्रबंधन से खर्च की जानकारी मांगी है।

 

Read More

भारत की सांस्कृतिक एकता को समृद्ध बनाने का श्रेय आदि गुरू शंकराचार्य को -मुख्यमंत्री श्री चौहान विदिशा में एकात्म यात्रा के दौरान जनसंवाद

देश में एक नहीं अनेक मत मतान्तर दिखाई देते है। ऐसे समय में आदि गुरू शंकराचार्य द्वारा बताए गए अद्वैतवाद दर्शन में विश्व की समस्याओं का समाधन निहित है। इस आशय के विचार प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज विदिशा में नगर में आयोजित जनसंवाद यात्रा को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि विश्व में आंतकवाद जैसी प्रवृतियों को समाप्त करने और सभी मत मतान्तरों को समाप्त कर शांति स्थापित करने की दिशा में शंकराचार्य का एकात्म दर्शन सही दिशा दे सकता है। 

Read More