mp mirror logo

शिक्षकविहीन स्कूलों में बच्चों का भविष्य अंधकार में

  • - जनशिक्षा अधिकार संरक्षण समिति ने उठाए कई मुद्दे
  • - प्रदेश के हजारों स्कूलों में नहीं हैं शिक्षक
  • - गैर शैक्षणिक कार्यों में लगे है शिक्षक
मनोहर पाल
भोपाल (एमपी मिरर)। मप्र के सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर लगातार गिरता जा रहा है और बच्चों का भविष्य अंधकारमय होता जा रहा है, फिर भी सरकार इस ओर कोई कदम नहीं उठा रहा है। प्रदेश के हजारों स्कूल शिक्षकविहीन हैं और इन स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति के लिए सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है। जनशिक्षा अधिकार संरक्षण समिति के अध्यक्ष रमाकांत पांडे ने बताया कि स्कूल संचालन की केवल प्रशासकीय खानापूर्ति हो रही है। इसका समाधान खोजने में प्रशासनिक तंत्र की कोई रुचि नहीं है। पांडे ने बताया कि जनशिक्षा अधिकार संरक्षण समिति इस संबंध में प्रदेश सरकार से लेकर केंद्र सरकार तक को अवगत करा चुकी है, लेकिन सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंगा और स्कूलों के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। यही कारण है कि अभिभावक सरकारी स्कूलों को छोड़कर निजी स्कूलों का सहारा ले रहे हैं।

- प्रदेश के 4837 स्कूल शिक्षकविहीन
मप्र में 4837 स्कूल शिक्षकविहीन हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि वहां की पढ़ाई का स्तर क्या होगा। इतना ही नहीं हर साल शिक्षा विभाग के बजट में वृद्धि होती है, लेकिन शिक्षा का स्तर सुधारने की कवायद तेज नहीं होती है। पांडे ने आरोप लगाते हुए कहा कि मप्र के सरकारी स्कूलों में पढ़ाई का स्तर गिरने से कई छात्र-छात्राएं आत्महत्याएं कर चुके हैं, जिन्हें रोकने सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है।
सरकार साल दर साल सिर्फ बजट में ही बढ़ोतरी कर रही है, लेकिन शिक्षा के स्तर में वृद्धि नहीं कर पा रही है। जनशिक्षा अधिकार संरक्षण समिति ने सरकार से मांग की है कि गैर शैक्षणिक कार्यों में लगे शिक्षकों को तत्काल  शैक्षणिक कार्य में लगाया जाए और शिक्षकों के रिक्त पदों को भरवाने के लिए शीघ्र ही कार्रवाई की जाए, ताकि बच्चों का भविष्य सुधर सके।

"स्पेशल रिपोर्ट" से अन्य खबरें

सर्वे, कायम है मोदी की आंधी:आज चुनाव हुए तो फिर बनेगी मोदी सरकार

नई दिल्ली। नरेन्द्र मोदी की अगुआई वाली एनडीए सरकार 26 मई को तीन महीने पूरे कर लेगी। इसके बावजूद इसकी लोकप्रियता में कोई कमी नहीं आई है। इसका प्रमाण है एबीपी-सीएसडीएस-लोकनीति का सर्वे।

सर्वे के अनुसार अगर आज चुनाव हुए, तो एनडीए फिर से बहुमत में आएगी। अब भी मोदी लहर पहले की तरह कायम है। हां, अलग-अलग क्षेत्रों में मोदी का असर अलग-अलग जरूर दिख रहा है।

Read More

शत्रु ने किया लालू का समर्थन, तो सुशील मोदी बोले गद्दारों को घर से बाहर करो

पटना । बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा द्वारा लालू यादव के खिलाफ लगाये गये आरोपों पर सबूत मांगे जाने पर बिहार का सियासी तापमान बढ़ गया है। बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने सीधे 'भाजपा के शत्रु' पर हमला बोला है। सुशील मोदी ने ट्वीट कर पटना साहिब से बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा पर हमला किया है और उन्हें इशारों इशारों में गद्दार करार दिया है।

Read More

चुनाव आयोग ने संसदीय समिति से कहा: ईवीएम पूरी तरह प्रामाणिक, छेड़छाड़ मुमकिन नहीं

नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने शुक्रवार (19 मई) को संसद की एक स्थाई समिति से कहा कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन छेड़छाड़ से मुक्त और प्रामाणिक हैं. चुनाव आयोग शनिवार (20 मई) को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में अपनी ‘ईवीएम चुनौती’ की घोषणा करेगा और उससे एक दिन पहले संसदीय समिति के समक्ष उसने अपनी राय व्यक्त की. कार्मिक, लोक शिकायत, कानून एवं न्याय पर संसद की स्थाई समिति के समक्ष पेश हुए आयोग के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि ईवीएम से छेड़छाड़ नहीं की जा सकती और ये बहुत प्रामाणिक हैं. 

Read More

नहीं रहे केंद्रीय पर्यावरण मंत्री अनिल दवे, 60 साल थी उम्र, PM मोदी बोले- ये मेरी निजी क्षति

केंद्र सरकार में पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे का देहांत हो गया है. वह बुधवार रात तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक में मौजूद थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अनिल माधव की मौत पर दुख जताया. अनिल माधव दवे 60 साल के थे. वह काफी समय से बीमार थे, और एम्स में भर्ती थे. दवे 5 जुलाई 2016 में केंद्रीय मंत्री बने थे, वह मध्यप्रदेश बीजेपी का बड़ा चेहरा थे.

Read More

देश के खिलाफ भड़काऊ टिप्पणी करने वाले बरकती इमाम पद से बर्खास्त, नरेंद्र मोदी के खिलाफ जारी किया था फतवा

इमाम नूर उर रहमान बरकती को आज यानी बुधवार को देश के खिलाफ आपत्तिजनक और भड़काऊ टिप्पणी करने के कारण टीपू सुल्तान मस्जिद के इमाम पद से बर्खास्त कर दिया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सरकारी गाड़ियों से लाल बत्ती हटाए जाने के आदेश दिए जाने के बाद बरकती ने उनके खिलाफ फतवा जारी कर दिया था। मस्जिद बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के प्रमुख शाहज़ादा अनवर अली शाह ने कहा था कि हमारी अपने अधिवक्ताओं के साथ इस मामले में अंतिम चरण की बातचीत चल रही है। शाह ने कहा था कि बरकती के देश विरोधी बयान को बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

Read More

राष्‍ट्रपति चुनाव : BJP के पास अब बहुमत का जादुई आंकड़ा

नई दिल्ली: इस साल जुलाई में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में बीजेपी के लिए अपनी पसंद का राष्ट्रपति बनाने का रास्ता साफ होता जा रहा है. आंध्र प्रदेश के दल वाईएसआर कांग्रेस के नेता जगनमोहन रेड्डी ने पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर समर्थन देने का ऐलान  कर दिया है. वैसे ही बीजेपी के नेतृत्‍व वाला एनडीए पहले से ही काफी मजबूत स्थिति में है. 410 सांसद और 1691 विधायकों की ताकत से एनडीए के पास 5,32,019 वोट हैं. उल्‍लेखनीय है कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए देश भर के सभी 4120 विधायकों और 776 सांसदों को मिला कर चुनाव मंडल बनता है. उनके वोटों का कुल मूल्य 10,98,882 है और जीतने के लिए 5,49,441 वोट चाहिए. यानी एनडीए को सिर्फ 17,422 वोट ही चाहिए. वाईएसआर कांग्रेस के पास 16,848 वोट हैं.

Read More

गृह मंत्रालय का फरमान; संपत्ति का ब्यौरा नहीं तो प्रमोशन भी नहीं

नई दिल्‍ली : केंद्र सरकार ने नौकरशाही में भ्रष्टाचार रोकने के लिए एक और बड़ा कदम उठाया है. गृह मंत्रालय ने अपने नए आदेश में कहा है कि संपत्ति का ब्यौरा नहीं देने वाले भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारियों को अपनी अचल संपत्ति का ब्यौरा नहीं देने पर प्रमोशन नहीं मिलेगी. 

Read More

ईवीएम से छेड़छाड़ पर चुनाव आयोग की 55 पार्टियों के साथ बैठक आज

नई दिल्ली: ईवीएम की विश्वसनीयता पर बहस के बीच चुनाव आयोग इस मुद्दे पर अपना रुख बताने के लिए आज (शुक्रवार, 12 मई) 55 राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों से मिलेगा. आयोग ने चर्चा करने के लिए सात राष्ट्रीय पार्टियों और 48 राज्य स्तरीय पार्टियों की बैठक बुलाई है. गौरतलब है कि ईवीएम में लोगों का विश्वास खत्म हो जाने का दावा करते हुए 16 पार्टियों ने आयोग से मतपत्र के जरिए चुनाव कराने की व्यवस्था की ओर लौटने का अनुरोध किया था.

Read More

शर्म की बात है कि मैं इस धरती पर पैदा हुई: ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक रैली के दौरान कहा है कि उन्हें शर्म आती है कि वह इस धरती पर पैदा हुई। समाचार एजंसी एएनआई के मुताबिक उन्होंने एक जन सभा में यह बातें कही।

Read More

देश के बड़े डिफेंस प्रॉजेक्ट्स के लिए निजी कंपनियों को ऐसे चुनेगी सरकार

मोदी सरकार ने देश के बड़े डिफेंस प्रॉजेक्ट्स के लिए निजी कंपनियों को चुनने की प्रक्रिया का खाका खींच लिया है। रक्षा मंत्रालय देश के लिए सैन्य सामग्री के उत्पादन में निजी क्षेत्र की कंपनियों के चयन की प्रक्रिया के रोडमैप के साथ तैयार है। यह रोडमैप इसी सप्ताह तक सामने आ सकता है। वित्तीय मजबूती, तकनीकी क्षमता और मौजूद इंफ्रास्ट्रक्चर, ये तीन पैमाने होंगे जिसके आधार पर भारतीय कंपनियों को चुना जाएगा जबकि विदेशी साझेदारों के लिए तकनीकी और व्यावसायिक आधार पर चयन की समानांतर प्रक्रिया चलाई जाएगी।

Read More