mp mirror logo

सीएम की चेतावनी अफसरों पर बेअसर, दागियों के खिलाफ नहीं होती कार्रवाई

भोपाल। मप्र में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निशाने पर भले ही दागी अफसर हों, लेकिन हकीकत ये है कि उनकी चेतावनी का अफसरों पर कोई असर नहीं हो रहा है। जांच में दोषी पाए जाने के बाद भी अफसरों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो पाती है। ऑडियो टेप के जरिए कई अधिकारियों की कारगुजारियां सामने आईं पर किसी के खिलाफ कठोर कार्रवाई नहीं की गई।

जबलपुर में पदस्थ रहे आईएफएस अधिकारी व मुख्य वन संरक्षक अजीत श्रीवास्तव एक कार्रवाई को रफा-दफा करने के एवज में 55 लाख रुपए की मांग करते सुनाई दिए थे। दतिया में कलेक्टर रहे प्रकाश जांगरे व कार्यपालन यंत्री आरके सिंघारे के बीच ऑडियो वायरल हुआ। अजाक आयुक्त रहे जेएन मालपानी विभाग के बड़वानी में पदस्थ सहायक आयुक्त श्रोती से रिश्वत की मांग करते सुनाई दिए थे, तब उन्हें निलंबित कर दिया गया था। इसके अलावा भी कई अफसर ऐसे हैं, जिनके खिलाफ जांच चल रही है पर नतीजा नहीं आया।

आईएफएस श्रीवास्तव का मामला

लकड़ी व्यवसायी अशोक रंगा और आईएफएस अजीत श्रीवास्तव का एक ऑडियो टेप वॉट्सएप पर वायरल हुआ था। इसके मुताबिक रंगा के बेटे अरुण के ट्रक को सागौन की लकड़ी के साथ गत जुलाई में काल्पी डिपो के पास तत्कालीन सीसीएफ श्रीवास्तव ने पकड़ा व राजसात किया था। आरोप है कि श्रीवास्तव ने रंगा को आठ अलग-अलग स्थानों पर चर्चा के लिए बुलाया। उन्होंने 55 लाख रुपए रिश्वत मांगी थी। श्रीवास्तव को हटाकर भोपाल वन मुख्यालय में तैनात कर दिया गया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

मालपानी सेवानिवृत्त, श्रोती निलंबित

रिश्वत के ही एक अन्य ऑडियो में अजाक आयुक्त रहे जेएन मालपानी, विभाग के बड़वानी में पदस्थ सहायक आयुक्त श्रोती को निलंबित कर दिया गया था। मालपानी तो सेवानिवृत्त हो गए। दूसरी तरफ श्रोती के खिलाफ सवा साल बाद भी जांच पूरी नहीं हो पाई है। आदिम जाति कल्याण विभाग में ही अपर संचालक रहे वार्ष्णेय भी निलंबित चल रहे हैं। उनके खिलाफ छत्तीसगढ़ में पदस्थापना के दौरान शिक्षक भर्ती में गोलमाल करने का आरोप है। अदालत में चालान पेश होने के बाद उन्हें निलंबित कर दिया था।

दो दर्जन आईएएस के खिलाफ जांच जारी

प्रदेश में इन दिनों दो दर्जन आईएएस अफसरों के खिलाफ विभिन्न् मामलों में आर्थिक अनियमितता और पद के दुरुपयोग जैसे मामलों की जांच चल रही है। ज्यादातर मामले गंभीर अनियमिताओं और जमीन आवंटन से जुड़े हैं। इसके अलावा रिश्वतखोरी सहित भ्रष्ट आचरण के लोकायुक्त, ईओडब्ल्यू सहित सरकार के पास साढ़े सात हजार से ज्यादा मामले अकिारी, कर्मचारियों के लंबित हैं।

पीके सिंह को राहत की उम्मीद नहीं

वन भू-अभिलेख शाखा में पदस्थ मुख्य वनसंरक्षक पीके सिंह पर मुकुंदपुर सफारी के निर्माण में गड़बड़ी के आरोप हैं। मामले की प्रारंभिक जांच कार्य आयोजना के अपर प्रान मुख्य वनसंरक्षक अरुण कुमार ने की थी। इसमें सिंह पर गड़बड़ी के आरोप सही पाए गए थे। इसके बाद संरक्षण शाखा के एपीसीसीएफ डॉ. अतुल श्रीवास्तव से विस्तृत जांच कराई गई है। इस मामले में सिंह को राहत मिलने की उम्मीद कम है, क्योंकि सिंह मामले की प्रारंभिक जांच करने वाले अफसर अरुण कुमार के खिलाफ रीवा कोर्ट में प्राइवेट इस्तगासा लगा चुके हैं। उनके इस निर्णय से शासन में बैठे अफसर नाराज हैं।

विवादों में रहे होतगी

अपनी कार्यशैली के कारण हमेशा विवादों में रहे 1994 बैच के आईएफएस विश्वनाथ होतगी वर्तमान में स्टेट फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट (एसएफआरआई) जबलपुर में पदस्थ हैं। वन मुख्यालय में रहते हुए होतगी ने चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के साथ मारपीट की थी। इसीलिए उन्हें जबलपुर भेजा है। मामले में उनके खिलाफ विभागीय जांच चल रही हैं। होतगी का रिटायरमेंट अक्टूबर 2025 में है। वे अब तक उप वनसंरक्षक हैं, जबकि इनके साथ के अफसर दो पदोन्न्ति लेकर मुख्य वनसंरक्षक बन चुके हैं।

कोहली की सीआर खराब

मुख्यालय में पदस्थ 1984 बैच के आईएफएस देवेश कोहली की गोपनीय चरित्रावली (सीआर) खराब है। इस कारण कोहली को पदोन्न्ति नहीं मिली और वे अब तक उप वनसंरक्षक हैं। जबकि इस बैच के दूसरे अफसर अपर प्रान मुख्य वनसंरक्षक बन चुके हैं। कोहली का रिटायरमेंट अगस्त-2019 में होना है।

इनका कहना है

पीके सिंह की रिपोर्ट अभी शासन के पास नहीं आई है। जबकि अजीत श्रीवास्तव का प्रकरण सीएम को भेज दिया है। होतगी और कोहली के मामले में तो केंद्र सरकार को लिख चुके हैं। अब वहीं से कार्रवाई होना है।

– दीपक खांडेकर, एसीएस वन

पांच बार धमकी दे चुके हैं शिवराज

17 दिसंबर 2016 आईएएस सर्विस मीट में कहा था कि जनता के विरूद्ध काम करने वालों के साथ पूरी कठोरता के साथ पेश आएंगे। किसी प्रकार की दया नहीं होगी। भ्रष्टाचार के विरूद्ध जीरो टॉलरेंस अपनाएं।

20 अप्रैल 2017 सिविल सर्विस डे पर अफसरों को नसीहत दी थी कि अफसर जनता को कूड़ा समझते हैं। जनता के लिए कुछ नहीं किया तो आपका जीवन बेकार है। लापरवाही हुई तो सख्त कदम उठाया जाएगा।

22 जुलाई 2017 भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में बोले थे कि यदि जिले में अविवादित नामांतरण और राजस्व प्रकरण लंबित मिले तो उल्टा टांग दूंगा। कलेक्टरी करने लायक नहीं छोड़ूंगा।

6 सितंबर 2017 रातापानी गेस्ट हाउस में मुख्यमंत्री सचिवालय के अकिारियों से बातचीत करते हुए कहा था कि जो अधिकारी काम के प्रति संजीदा नहीं हैं, वे परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें।

7 सितंबर 2017 स्वच्छ भारत की कार्यशाला में कहा कि मेरे शब्द भले ही किसी को अच्छे न लगे, लेकिन गड़बड़ी करने वालों को टांग दो। भ्रष्टाचार किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं होगा।

"जिलों की ख़बरें" से अन्य खबरें

12 हजार में डिप्लोमा देने की घोषणा के बाद लगी शिक्षकों की लाइन

इंदौर। निजी स्कूलों के शिक्षकों को 12 हजार रुपए में डिप्लोमा देने की घोषणा के बाद शिक्षकों की लाइन लग गई है। प्रदेश में एक लाख शिक्षकों के रजिस्ट्रेशन का लक्ष्य था। अब तक 1.37 लाख से ज्यादा रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। निजी स्कूलों के शिक्षक योजना को लेकर अब भी असमंजस में हैं।

Read More

विधानसभा चुनाव : अधिकारियों-कर्मचारियों का बनेगा डाटाबेस

भोपाल। चुनाव आयोग ने प्रदेश में अगले साल नवंबर-दिसंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। कलेक्टरों को चुनाव ड्यूटी के लिए अधिकारियों-कर्मचारियों का डाटाबेस बनाने के लिए कहा गया है। इसमें बीमारी, दिव्यांगता, मतदाता परिचय पत्र क्रमांक, मोबाइल नंबर से लेकर पूरा ब्योरा रहेगा। इसी तरह कुछ मतदान केंद्र भी नए बनाए जाएंगे। शहरों में 14 सौ और ग्रामीण क्षेत्रों में 12 सौ से ज्यादा मतदाता होने पर नए केंद्र बनेंगे।

Read More

भोपाल से दुबई और सिंगापुर तक उड़ान शुरू करने के लिए केंद्र से बात करेंगे : सीएम

भोपाल। अंतरराष्ट्रीय स्तर का एयरपोर्ट होने के बावजूद भोपाल से इंटरनेशनल उड़ानें शुरू न होने से एयरपोर्ट अथॉरिटी के साथ ही मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान भी चिंतित हैं।

सोलर एनर्जी प्लांट का शिलान्यास करते हुए सीएम ने कहा कि कम से कम दुबई एवं सिंगापुर के लिए उड़ानें शुरू होनी चाहिए। मैं इस संबंध में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री से चर्चा करूंगा। मुख्यमंत्री एवं एयरपोर्ट अथॉरिटी के चेयरमेन डॉ. गुरु प्रसाद महामात्र ने संयुक्त रूप से 100 फीट ऊंंचे पोल पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया।

Read More

प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों ने 25 से 80 लाख में बेच दीं 94 सीट

जबलपुर। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने प्राईवेट मेडिकल कॉलेजों द्वारा 94 मेडिकल सीट 25 से 80 लाख रुपए में बेचे जाने के आरोप पर सरकार से जवाब मांग लिया है। इस सिलसिले में प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा और डीएमई के अलावा इंडैक्स इंदौर, एनएल भोपाल, अमलतास देवास, चिरायु भोपाल और आरकेडीएफ भोपाल को नोटिस जारी किए हैं।

Read More

यूपी : स्कूल की तीसरी मंजिल पर टॉयलेट गई थी 15 साल की लड़की, फर्श पर पड़ी मिली लहूलुहान

 देवरिया: उत्तर प्रदेश के देवरिया से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है. सोमवार को यहां एक स्कूल की तीसरी मंजिल से 15 साल की छात्रा को किसी ने नीचे फेंक दिया, जिससे उसकी मौत हो गई. यह घटना शहर के मॉडर्न मॉन्टेसरी इंटर कॉलेज में 11वीं कक्षा में पढ़ने वाली यह छात्रा सोमवार सुबह करीब 11 बजे स्कूल की तीसरी मंजिल पर टॉयलेट के लिए गई थी. 

Read More

60 हजार अभ्यर्थी फिर दे सकेंगे आरक्षक भर्ती परीक्षा

भोपाल। मध्यप्रदेश के करीब 60 हजार अभ्यर्थी व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) द्वारा आयोजित की जा रही आरक्षक भर्ती परीक्षा में शामिल नहीं हो पाए। विभिन्न् तकनीकी कारणों के चलते उन्हें यह खामियाजा भुगताना पड़ा। अब व्यापमं इन्हें फिर से प्रवेश पत्र जारी कर परीक्षा में शामिल करेगा। इधर, व्यापमं की दलील है कि यह सर्वर की दिक्कत की वजह से हुआ।

Read More

मुख्यमंत्री करेंगे अभियंताओं का सम्मान, सीधा संवाद भी होगा

भोपाल। विधानसभा के मानसरोवर सभागार में शुक्रवार को अभियंता दिवस मनाया जाएगा। यहां प्रदेश के पांच वरिष्ठ अभियंताओं का सम्मान किया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा उन्हें सम्मानित करेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री सभी इंजीनियरों से सीधा संवाद भी करेंगे।

Read More

विधवा और दिव्यांग से शादी करने पर सरकार देगी दो लाख रुपए

भोपाल। मध्यप्रदेश में विधवा और दिव्यांग महिला व पुरुष से शादी करने पर सरकार ऐसे दंपती को दो लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि देगी। इसी तरह अनाथ बच्चों के भरण-पोषण के लिए पांच सौ रुपए प्रतिमाह देने की योजना भी जल्द ही लागू की जाएगी। सामाजिक न्याय मंत्री गोपाल भार्गव ने बुधवार को बैठक में इन तीन बड़ी योजनाओं को लागू करने की सैद्धांतिक सहमति दी।

Read More

43 हजार शिक्षकों को मिलेगी तीसरी क्रमोन्नति, खजाने पर 110 करोड़ का भार

भोपाल। प्रदेश सरकार ने मंगलवार को शिक्षक और किसान के हित में बड़े फैसले किए। अब 30 साल की नौकरी पूरी करने वाले शिक्षकों को तृतीय क्रमोन्नति मिलेगी। इसका सीधा फायदा 43 हजार शिक्षकों को मिलेगा। वहीं, 35 हजार अन्य शिक्षक भी अगले साल इससे लाभांवित होंगे।

Read More

केन-बेतवा लिंक विवाद : केंद्र ने कहा-मुख्यमंत्री बैठक के लिए तारीख तय करें

भोपाल। उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश के बीच केन-बेतवा लिंक परियोजना में पानी के बंटवारे को लेकर चल रहे विवाद में एक बार फिर केंद्र ने दखल दिया है। नितिन गडकरी को जल संसाधन मंत्रालय मिलने के बाद केंद्र सरकार ने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों को एक साथ बैठक के लिए तारीख तय करने के निर्देश दिए हैं। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि मुख्यमंत्रियों की बैठक से पहले एक बार दोनों राज्यों के अधिकारी फिर से चर्चा करेंगे।

Read More