mp mirror logo

बढ़ी हुई पेंशन पाने का रास्ता खुला, ईपीएफओ ने जारी की गाइडलाइन

 

भोपाल। बढ़ी हुई पेंशन पाने की योजना को लेकर कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने गाइडलाइन जारी कर दी है। इससे प्रदेश के साढ़े तीन लाख पेंशनर्स प्रभावित होंगे। पेंशन हासिल करने के लिए ईपीएफओ ने अपनी वेबसाइट पर दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए हैं। हालांकि अभी ज्यादातर लोगों को नियोक्ताओं से वेतन-पीएफ अंशदान संबंधी दस्तावेज हासिल करने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

राजधानी स्थित भविष्य निधि भवन में हर दिन बड़ी संख्या में इस योजना की पूछताछ के लिए पेंशनर पहुंच रहे हैं। क्षेत्रीय कमिश्नर ईपीएफओ संजय केसरी ने बताया कि भोपाल में करीब 29 हजार पेंशनर हैं लेकिन अभी तक उनके पास 2200 आवेदन ही पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि ईपीएफओ से इस संबंध में स्पष्ट दिशा-निर्देश जारी हो गए हैं। योजना का लाभ नवंबर 1995 के बाद से 1 सितंबर 2014 तक सेवानिवृत कर्मचारियों को मिलेगा। सितंबर 2014 के बाद सेवानिवृत होने वाले कर्मचारियों का मामला अभी मुख्यालय में लंबित है।

उन्होंने बताया कि सितंबर 2014 के बाद उच्च वेतन पर पेंशन निधि में अंशदान की सुविधा का विकल्प खत्म कर दिया गया है। इसलिए जो लोग पहले से पेंशन निधि में वेतन सीमा से ऊपर अंशदान कर रहे थे, सिर्फ उन्हें ही 1 सितंबर 2014 के बाद वेतनसीमा से ऊपर अंशदान करने की सुविधा रहेगी। इसके अलावा जो पेंशनर इस सुविधा के पात्र हैं उन्हें लाभ लेने के लिए अपने नियोक्ता के साथ संयुक्त आवेदन करना होगा।

देना होगा एरियर

नवंबर 1995 के बाद से 1 सितंबर 2014 तक की अवधि में यदि पेंशन मद में राशि कम जमा हुई है तो बढ़ी हुई राशि के हिसाब से एरियर के लिए ईपीएफओ डिमांड जारी करेगा। उक्त राशि जमा करने के बाद ही योजना की पात्रता तय हो पाएगी। साथ ही नियोक्ता को 1995 से 2014 तक वेतन/अंशदान का विवरण पुन: ईपीएफओ को देना होगा। भविष्य निधि संगठन में अब पेंशनर का पुराना रिकॉर्ड रखने का प्रावधान समाप्त हो गया है। कमिश्नर ने बताया कि यह पेंशन योजना मूलत: अंशदान के आधार पर ही तैयार की गई है, तय सीमा के ऊपर वेतन के आधार लाभ नहीं मिल सकता।

"जिलों की ख़बरें" से अन्य खबरें

चार हजार सवालों से विधानसभा के बजट सत्र में घिरेगी सरकार

भोपाल। मप्र विधानसभा के बजट सत्र में इस बार सरकार को चार हजार से ज्यादा सवालों से घेरा जाएगा। अभी सत्र में प्रश्न करने के लिए विधायकों को दो सप्ताह का समय और है। सत्र में इस बार लोकलेखा समिति के सभापति का चुनाव भी होना है।

Read More

एसिड अटैक पीड़िता से छेड़छाड़ के मामले में मध्य प्रदेश के 'मंत्री' बर्खास्त

मध्य प्रदेश में राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त राजेंद्र नामदेव को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पद से हटा दिया है. नामदेव पर एसिड अटैक पीड़िता से होटल में अश्लील हरकत और छेड़छाड़ करने का आरोप है. उनके खिलाफ रविवार दोपहर हनुमानगंज थाने पहुंचकर पीड़िता ने लिखित शिकायत दी थी.

Read More

पीएनबी घोटाला: भोपाल में गीतांजलि के ठिकानों पर बड़ी कार्रवाई, करोड़ों के हीरे जब्त

भोपाल। पीएनबी घोटाला सामने आने के बाद से देश भर में गीतांजलि के ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय की कार्रवाई जारी है। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में भी ईडी ने गीतांजलि समूह के कई ठिकानों पर छापामार कार्रवाई की।

Read More

शिवराज सिंह की मुश्किलें बढ़ी, चुनाव से पहले सेन समाज ने की आरक्षण की मांग

मध्य प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में आरक्षण की मांग को लेकर सेन समाज ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. सेन समाज के सैकड़ों लोग शनिवार को राजधानी भोपाल में जुट रहे हैं. जहां वे सेन समाज को अनुसूचित जाति में शामिल किए जाने की मांग कर रहे हैं. प्रदर्शन कर रहे आंदोलनकारियों को मुताबिक सेन समाज को मिल रहे आरक्षण का दायरा बढ़ाते हुए अनुसूचित जाति में शामिल करने के लिए राज्य सरकार ने विधानसभा में अशासकीय संकल्प पारित  किया था, लेकिन उसके सालों बाद भी अमल नहीं हो सका.

Read More

MP: कर्ज और फसल बीमा क्लेम न मिलने से परेशान किसान ने लगाई फांसी

मध्य प्रदेश के सागर जिले के गढ़ाकोटा में कर्ज में डूबे किसान ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. किसान पर करीब तीन लाख रुपए का कर्ज था और हाल ही में ओलावृष्टि से चने की फसल भी तबाह हो गई थी.

जानकारी के अनुसार, गढ़ाकोटा थाना क्षेत्र के सिंगपुर कला में रहने वाले किसान गुलाब पटेल ने शुक्रवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. किसान की पत्नी सियारानी पटेल ने बताया कि वह कर्ज की वजह से काफी परेशान थे. उन पर तीन लाख रुपए का कर्ज था.

Read More

ओलावृष्टि पर बोले सीएम- अभी चुनाव है, कुछ नहीं कहूंगा, जो लागू, वही मिलेगा

अशोकनगर.प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को पिपरई क्षेत्र के ढ़ोढ़िया गांव पहुंचे। जहां उन्होंने चार दिन पहले ओलावृष्टि से नष्ट हुई फसलों का निरीक्षण कर किसानों ने बातचीत की। मुख्यमंत्री श्री सिंह ने ग्रामीणों से कहा कि अभी कुछ घोषणा करूंगा तो कांग्रेस वाले चिल्लाने लगेंगे कि आचार संहिता का उल्लंघन हो रहा है। उन्होंने किसानों ने कहा कि टीवी देखते हो या अखबार पढ़ते हो। उसमें देख लेना। जो भी नुकसान की भरपाई होगी वहीं अशोकनगर जिले को भी मिलेगा।

Read More

कांग्रेस का सवाल, शिवराज जी! अवैध कब्जेदारों पर इतनी मेहरबानी?

भोपाल। मध्यप्रदेश में भारी बारिश और ओलावृष्टि से करीब 1000 गांवों में फसलें पूरी तरह चौपट हो गयी हैं, जिससे किसान परेशान हैं, बस इसी परेशानी को राजनीतिक पार्टियां भुनाने में लगी हैं, सत्ताधारी पार्टी जहां किसानों को उनके नुकसान की भरपाई करने का आश्वासन दे रही है, वहीं विपक्ष किसानों की उपेक्षा का आरोप लगा रही है।

Read More

उपचुनाव: बढ़ती जा रही भाजपा की मुश्किल, अब गैस पीड़ित भी सीधी जंग को तैयार

भोपाल। मध्यप्रदेश के दो विधानसभा क्षेत्रों में हो रहे उपचुनाव में भोपाल के यूनियन कार्बाइड पीड़ितों के लिए संघर्ष करने वाले पांच संगठनों ने सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों का विरोध करने का ऐलान किया है। इन उपचुनाव में इन संगठनों के नेता भाजपा के खिलाफ प्रचार अभियान चलाएंगे।

Read More

एमपी में सियासी भूचाल, अल्पेश ठाकोर की दस्तक से तिलमिलाई बीजेपी,

भोपाल। गुजरात के राधनपुर से कांग्रेस विधायक व ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर के मध्यप्रदेश में दस्तक देते ही सियासत गरमा गई है। आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। बीजेपी का कहना है कि अल्पेश के एमपी में आने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि कांग्रेस के पास कार्यकर्ता बचे नहीं, अब वह बाहरी कार्यकर्ताओं का सहारा ले रही है।

Read More

सीएम ने बुलाई आपात बैठक, अफसरों से कहा-नुकसान की भरपाई करें

भोपाल। प्रदेश में ओलावृष्टि से प्रभावित गांवों की संख्या बढ़ती जा रही है। 13 जिलों में 621 गांवों के प्रभावित होने की प्रारंभिक रिपोर्ट सरकार के पास पहुंची है। यहां 27 हजार हेक्टेयर की फसल खराब हुई है। नुकसान को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को आपात बैठक बुलाई।

Read More