mp mirror logo

शरद को ठिकाने लगाने नीतीश खेमे ने चली नई चाल, राज्यसभा में आरसीपी सिंह को बनाया नेता

जनता दल यूनाइटेड (जदयू) में अब आर-पार की स्थिति आ गई है। नीतीश कुमार गुट ने एक अहम चाल चलते हुए बागी शरद यादव को ठिकाने लगाने की कोशिश की है। उन्हें राज्य सभा में पार्टी संसदीय दल के नेता के पद से हटा दिया है। राज्यसभा में जदयू के सांसदों ने आज (12 अगस्त को) सभापति वेंकैया नायडू से मिलकर आरसीपी सिंह को सदन में पार्टी का नया नेता बनाने का आधिकारिक पत्र सौंपा। राज्य सभा सभापति को लिखे पत्र में जदयू सांसदों ने कहा है कि उनलोगों ने सर्वसम्मति से आरसीपी सिंह को सदन में पार्टी का नया नेता चुना है। इससे एक दिन पहले शरद यादव के करीबी राज्य सभा सांसद अली अनवर को नीतीश खेमे ने पार्टी के संसदीय दल से निलंबित कर दिया था।
इधर, पार्टी में चल रहे आंतरिक कलह पर पार्टी अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार (11 अगस्त) को अपनी चुप्पी तोड़ी। नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के पहले उन्होंने कहा, ‘शरद यादव अपना फैसला लेने के लिए आजाद हैं। वह अपनी राह चुनने के लिए स्वतंत्र हैं। वह किसके प्रति वफादार रहना चाहते हैं, इसका फैसला खुद कर सकते हैं। भाजपा के साथ गठबंधन का फैसला पूरी पार्टी की सहमति से लिया गया है।’

दूसरी तरफ, बिहार में कार्यकर्ताओं से संपर्क अभियान पर निकले शरद यादव ने दावा किया है, ‘असली जनता दल (यूनाइटेड) उनके साथ है, जबकि सरकार पार्टी नीतीश के साथ है। असली जद (एकी) धर्मनिरपेक्ष ताकतों के साथ मिलकर आम चुनाव में सरकार बनाएगी।’

"राजनीतिक खबरें" से अन्य खबरें

पश्चिम बंगाल पालिका चुनाव: कांग्रेस-लेफ्ट साफ, TMC की जीत, बीजेपी दूसरे नंबर पर

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में 2018 के महत्वपूर्ण पंचायत चुनावों से पहले नगर निकाय चुनावों में तृणमूल कांग्रेस की एकतरफा जीत ने ममता को और ताकतवर बना दिया है। इस जीत के बीच बीजेपी के उभार और कांग्रेस-लेफ्ट के साफ होने को बंगाल की बदलती राजनीतिक तस्वीर के रूप में देखा जा रहा है। तृणमूल कांग्रेस ने सभी सात निकायों पर कब्जा जमाते हुए 148 वॉर्ड में से 140 पर जीत दर्ज की है। वहीं, वाम दलों को तीसरे स्थान पर छोड़ते हुए बीजेपी अधिकतर स्थानों पर दूसरे पायदान पर रही। कांग्रेस को एक भी वॉर्ड पर जीत नसीब नहीं हुई है।

Read More

आज पटना में नीतीश कुमार को चुनौती देंगे शरद यादव: जदयू कार्यकारिणी के जवाब में “जन अदालत”

पटना में आज नीतीश कुमार और शरद यादव की अगुवाई वाले जदयू के प्रतिद्वंद्वी धड़े पटना में अपनी अलग-अलग बैठकें करेंगे, जिससे ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि पार्टी जल्द ही पार्टी दो फाड़ हो सकती है । जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार 19 अगस्त को पटना में अपने सरकारी आवास पर पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई है, जिसमें पार्टी भाजपा की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल होने का न्यौता औपचारिक तौर पर स्वीकार कर सकती है ।

Read More

कांग्रेस के लिए बड़ा मौका है बवाना उपचुनाव

दिल्ली की राजनीति में हाशिए पर पहुंच गई कांग्रेस के लिए 23 अगस्त को होने वाला बवाना (सुरक्षित) विधानसभा उपचुनाव एक बड़ा मौका है। तीन लाख से ज्यादा मतदाता वाले इस सीट का समीकरण कांग्रेस के अनुकूल रहा है जिसे पिछले चुनावों में आम आदमी पार्टी (आप) ने अपने पक्ष में कर लिया था। फरवरी 2015 के विधानसभा चुनावों में ‘आप’ को मिली प्रचंड जीत के बाद दिल्ली के हर चुनाव में आप का असर घटता ही जा रहा है। 

Read More

चुनाव आयुक्त का राजनीतिक दलों पर प्रहार, 'विधायकों की खरीद-फरोख्त चुनावी मैनेजमेंट बना'

नई दिल्ली : चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि आजकल हर हाल में चुनाव जीतने का चलन बना है. रावत ने कहा, “लोकतंत्र तब फलता-फूलता है जब चुनाव पारदर्शी, निष्पक्ष और मुक्त हों. लेकिन ऐसा लगता है कि स्वार्थी आदमी सबसे ज्यादा जोर इस बात पर देता है कि उसे हर हाल में जीत हासिल करनी है और खुद को नैतिक आग्रहों से मुक्त रखता है.”

Read More

बीजेपी ने पैन, आधार पूछे बिना लिया 159 करोड़ का चंदा: एडीआर

राजनीतिक पार्टियों को मिलने वाला चंदा हमेशा ही विवादों में रहा है। राजनीतिक पार्टियों को सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत  लाने की कोशिशों को सबसे बड़ा झटका तब लगा था जब नरेंद्र मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में इस मामले में हुई सुनवाई में राजनीतिक दलों को आरटीआई से बाहर रखने की पैरवी की थी। एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म (एडीआर) की ताजा रिपोर्ट से एक बार फिर ये मुद्दा सुर्खियों में है। एडीआर ने पिछले चार साल में राजनीतिक दलों के मिले चंदे का विश्लेषण किया है।

Read More

उन्‍नाव के पास हिरासत में लिए गए यूपी के पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव

उन्‍नाव : उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को पुलिस ने उन्नाव के पास रोकते हुए हिरासत में ले लिया.  उनके साथ दर्जन भर एमएलसी को भी हिरासत में लिया गया है. वह एक पूर्व विधायक की गिरफ्तारी का विरोध करते हुए लखनऊ से औरेया जा रहे थे. उन्हें बीच में ही रोकते हुए पुलिस ने उन्नाव के पास से हिरासत में ले लिया. बताया जा रहा है कि पहलेे अखिलेश को कन्नौज में ही हिरासत में लेने की तैयारी थी.  

Read More

राहुल गांधी ने लॉन्च की इंदिरा कैंटीन, 10 रुपये में मिलेगा भोजन

बेंगलुरु । कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गरीबों को सस्ती दरों पर भोजन मुहैया कराने के लिए बेंगलुरु में इंदिरा कैंटीन लॉन्च की। इसके बारे में प्रदेश के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने स्वतंत्रता दिवस लोगों को जानकारी दी थी।

कैंटीन हर दिन 5 रुपये में शाकाहारी टिफिन (नाश्ता), 10 रुपये में दोपहर का भोजन और इसी दाम में रात का भोजन मुहैया कराएंगे। अक्टूबर में महात्मा गांधी के 148वें जन्मदिन के अवसर पर 97 वॉर्डों में भी ऐसी कैंटीन खोली जाएंगी। 

Read More

ज्योतिरादित्य ने इंदौर में जारी किया कांग्रेस प्रचार

इंदौर । मध्यप्रदेश में कथित रुप से भ्रष्ट सरकार की पोल खोलने व जन-जन के समक्ष भ्रष्टाचार की कलई खोलने के उद्देश्य से इंदौर कांग्रेस आईटी सेल द्वारा तैयार किया गया वीडियो गीत “एमपी, तूने शिवराज पर भरोसा क्यों किया?” का आज गुना के सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा रेसीडेंसी कोठी, इंदौर में वीडियो व ऑडियो क्लिप का विधिवत औपचारिक रुप से जारी किया ।

Read More

शरद को ठिकाने लगाने नीतीश खेमे ने चली नई चाल, राज्यसभा में आरसीपी सिंह को बनाया नेता

जनता दल यूनाइटेड (जदयू) में अब आर-पार की स्थिति आ गई है। नीतीश कुमार गुट ने एक अहम चाल चलते हुए बागी शरद यादव को ठिकाने लगाने की कोशिश की है। उन्हें राज्य सभा में पार्टी संसदीय दल के नेता के पद से हटा दिया है। राज्यसभा में जदयू के सांसदों ने आज (12 अगस्त को) सभापति वेंकैया नायडू से मिलकर आरसीपी सिंह को सदन में पार्टी का नया नेता बनाने का आधिकारिक पत्र सौंपा। राज्य सभा सभापति को लिखे पत्र में जदयू सांसदों ने कहा है कि उनलोगों ने सर्वसम्मति से आरसीपी सिंह को सदन में पार्टी का नया नेता चुना है। इससे एक दिन पहले शरद यादव के करीबी राज्य सभा सांसद अली अनवर को नीतीश खेमे ने पार्टी के संसदीय दल से निलंबित कर दिया था।

Read More

हम सदन में लड़ते झगड़ते रहे, लेकिन बाहर एकसाथ रहे : गुलाम नबी आजाद

नई दिल्‍ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद राज्‍यसभा के नए सभापति वेंकैया नायूड के स्‍वागत में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने अपने विचार रखें. उन्‍होंने इस मौके पर वेंकैया नायडू की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि वेंकैया ने काफी नीचे से ऊपर तक का सफर तय किया. गुलाम नबी आजाद ने वेंकैया नायडू को नई जिम्‍मेदारी के लिए कांग्रेस की तरफ से बधाई दी. उन्‍होंने कहा कि हम सदन में कई मुददों को लेकर लड़ते झगड़ते रहे, लेकिन बाहर जब भी मिले तो एकसाथ रहे. गुलाम नबी आजाद के भाषण की खास बातें...

Read More