mp mirror logo

कांग्रेस से मिली हार पचा नहीं पा रही है भाजपा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के गृह राज्य गुजरात में राज्यसभा चुनाव में एक सीट पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल की जीत को भाजपाई आसानी से पचा नहीं पा रहे हैं। पटेल की जीत कमजोर हो रही कांग्रेस के लिए तो संजीवनी साबित हुई। लेकिन भाजपा के लिए घातक। परिणाम आने के दो दिन बाद पराजित उम्मीदवार बलवंत सिंह राजपूत चुनाव आयोग के दो मतों को रद्द किए जाने के फैसले के खिलाफ अदालत जाने की तैयारी में हैं। भाजपा के गुजरात के प्रभारी महासचिव और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कुछ पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में यह जानकारी दी। उनके मुताबित इस तरह के मामले में पार्टी के बजाए उम्मीदवार ही अदालत जाते रहे हैं। उनका कहना है कि इस मामले में चुनाव आयोग का फैसला न नियमों के हिसाब से है न ही सबूत के हिसाब से सही है। उनका कहना है कि अगर कांग्रेस के दो वोट रद्द नहीं होते तो जीत के लिए आवश्यक मतों की संख्या 44 के बजाए 45 हो जाती यानि प्रथम वरियता मत से अहमद पटेल नहीं जीत पाते और दूसरी वरियता में ज्यादा मतों के आधार पर कांग्रेस के बागी बलवंत सिंह जीत जाते।

भाजपा नेता भूपेंद्र यादव ने बताया कि जनता दल (एकी) विधायक और एनसीपी के एक विधायक का वोट भाजपा उम्मीदवार बने राजपूत को मिला। यादव और गोयल इस बात से प्रसन्न हैं कि इस चुनाव में कांग्रेस के 57 विधायकों में से केवल 44 ने उसका साथ दिया। लेकिन इन नेताओं के पास इस सवाल का जबाब नहीं था कि जब चुनाव जीतने के लिए 45 वोट ही चाहिए तो पार्टी प्रमुख अमित शाह और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के लिए 46-46 वोट क्यों आबंटित किए गए। दूसरे जब भाजपा के पास संख्या नहीं थी तो तीसरी सीट को प्रतिष्ठ का सवाल क्यों बनाया। सामान्य ढंग से कांग्रेस से भाजपा में आए बलवंत सिंह राजपूत चुनाव लड़ते और और उनको भाजपा के बाकी विधायक वोट करते। अगर वे कांग्रेस के और विधायक जुटा पाते तो जीतते अन्यथा सम्मानजनक हार होती।
अमित शाह और भाजपा के अनेक रणनीतिकार अमदाबाद में कई दिनों तक जमे रहे और हर स्तर पर प्रयास करते रहे। भाजपा फिर भी सफल नहीं हो पाई। इससे उसकी राज्य सभा की सीटें नहीं घटीं बल्कि अब तो 58 सीटें लेकर वह राज्यसभा में सबसे बड़ी पार्टी बन चुकि है। भाजपा की परेशानी दूसरी थी। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने नौ अगस्त 2014 को भाजपा की बागडोर संभाली थी। उसके बाद से उन्हें बिहार और दिल्ली विधान सभा चुनाव के अलावा कोई और पराजय नहीं झेलनी पड़ी थी। बिहार में भी नीतीश कुमार ने राजद से नाता तोड़कर भाजपा के साथ सरकार बना ली है। इसे भी नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी के तुरंत फैसला लेने की क्षमता की जीत माना जा रहा है।
अमित शाह के अध्यक्ष बनने के तीन साल बाद भाजपा के अभूतपूर्व विस्तार पर उनके अभिनंदन में गुजरात कांटा जैसा चुभने लगा है। शाह के अध्यक्ष बनने से पहले छह राज्यों में भाजपा की सरकार थी। इसमें तीन में भाजपा का मुख्यमंत्री और तीन में उपमुख्यमंत्री था। अब 11 राज्यों में सरकार है और नौ में भाजपा का मुख्यमंत्री और दो में उपमुख्यमंत्री है। भाजपा के सदस्यों की संख्या 11 करोड़ बताई जा रहा है। कहा जा रहा है कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा बन गई है। भाजपा अध्यक्ष ने इस दौरान 5.6 लाख किलोमीटर की यात्रा की। केंद्र और इतने राज्यों में सरकार होने के बावजूद आज भी अमित शाह सामान्य यात्री की तरह हवाई यात्रा करते हैं। पार्टी कार्यालय या सरकारी गेस्ट हाउस में रुकते हैं। इन तीन सालों में तमाम उपलब्धियां उनके नाम हैं लेकिन एक राज्य सभा के चुनाव ने उनकी सभी क्षमताओं पर सवालिया निशान लगा दिया। इसलिए भाजपा नेता इस हार को आसानी से पचा नहीं पा रहे हैं। कहने के लिए आज भी भूपेंद्र यादव और पीयूष गोयल इस चुनाव में पार्टी की क्षमता बढ़ने का दावा कर रहे थे लेकिन जिस तरह से बार-बार इसका उल्लेख किया जा रहा है, उससे भाजपा नेताओं की बेचैनी को समझा जा सकता है। भाजपा इसलिए भी परेशान है कि कुछ महीने बाद ही गुजरात विधानसभा के चुनाव होने हैं।

"स्पेशल रिपोर्ट" से अन्य खबरें

पांच-दस नहीं, पूरे 50 साल के लिए सत्‍ता में आई है भाजपा : अमित शाह

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने यहां शुक्रवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी पांच-दस नहीं, बल्कि 50 साल के लिए सत्ता में आई है, और यह भाव कार्यकर्ताओं के भीतर होना चाहिए, तभी देश में आमूलचूल परिवर्तन संभव है। भोपाल के तीन दिनी दौरे पर आए शाह ने पार्टी के कोर ग्रुप के सदस्यों, प्रदेश पदाधिकारियों, सांसदों, विधायकों व जिला अध्यक्षों की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए कहा, “संगठन के कार्यकर्ताओं को अब आराम करने का अधिकार नहीं है, इस राष्ट्र में आमूलचूल सकारात्मक परिवर्तन देखना चाहते हैं तो हमें बिना थके, बिना रुके अपनी दिशा में आगे बढ़ते रहना है।”

Read More

चीन से तनाव के बीच लद्दाख जाएंगे राष्ट्रपति, आर्मी चीफ

चीन के साथ बॉर्डर पर चल रहे तनाव के बीच आर्मी चीफ बिपिन रावत अपने तीन दिन का दौरा लेह-लद्दाख करेंगे. बिपिन रावत का यह दौरा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के लेह लद्दाख दौरे से पहले हो रहा है, राष्ट्रपति 21 अगस्त को लद्दाख में होंगे.

आपको बता दें कि डोकलाम के बाद चीन के साथ हाल ही में लद्दाख में भी तनाव की खबरें थी. लद्दाख में भारत और चीनी सेना के बीच पत्थरबाजी की घटना हुई थी.

Read More

डोकलाम विवाद: चीनी मीडिया की गंदी हरकत, नस्लभेदी वीडियो से उड़ाया भारत का मजाक

डोकलाम गतिरोध पर भारत-चीन के बीच तनातनी दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। डोकलाम बॉर्डर पर एक तरफ चीन अपनी सेना पीछे करने को तैयार नहीं है तो वहीं दूसरी तरफ चीनी मीडिया की तरफ से आए दिन भारत के लिए धमकी भरे बयान जारी किए जा रहे हैं। इसी बीच डोकलाम विवाद को लेकर चीनी मीडिया ने बुधवार को भारत के खिलाफ नस्लभेदी वीडियो जारी किया है, जिसमें भारतीय नागरिक के रूप में पगड़ी पहने हुए एक शख्स को दिखाया गया है। 

Read More

विदेशी नेताओं ने नरेंद्र मोदी को दी स्‍वतंत्रता दिवस की बधाई, पीएम ने दिया ये जवाब

विभिन्न देशों के नेताओं ने आज 71वें स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को सोशल मीडिया के माध्यम से बधाई दी। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने ट्वीट कर मोदी को और भारतीय नागरिकों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी। गनी ने कहा, ‘‘मैं भारत के स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत की महान जनता को बधाई देना चाहूंगा। हमारी मित्रता हमेशा मजबूती के साथ बरकरार रहेगी।

Read More

बुर्किना फासो में एक होटल और रेस्टोरेंट के बाहर फायरिंग, 17 लोगों की मौत

बुर्किना फासो की राजधानी औगादौगु में रविवार देर रात हुए आतंकी हमले में 17 लोगों की मौत हो गई। बताया जा रहा है 3 आतंकियों ने एक होटल और रेस्टोरेंट के बाहर ताबड़तोड़ फायरिंग की। इस घटना में करीब आठ लोग जख्मी भी हुए हैं। पिछले साल जनवरी में भी आतंकियों ने यहां एक कैफे को निशाना बनाया था, जिसमें 30 लोगों की मौत हुई थी

Read More

कांग्रेस से मिली हार पचा नहीं पा रही है भाजपा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के गृह राज्य गुजरात में राज्यसभा चुनाव में एक सीट पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल की जीत को भाजपाई आसानी से पचा नहीं पा रहे हैं। पटेल की जीत कमजोर हो रही कांग्रेस के लिए तो संजीवनी साबित हुई। लेकिन भाजपा के लिए घातक। परिणाम आने के दो दिन बाद पराजित उम्मीदवार बलवंत सिंह राजपूत चुनाव आयोग के दो मतों को रद्द किए जाने के फैसले के खिलाफ अदालत जाने की तैयारी में हैं।

Read More

योगी सरकार का आदेश, 15 अगस्‍त को मदरसों में फहराएं तिरंगा, इस पर बोले मुसलमान...

नई दिल्‍ली : उत्‍तर प्रदेश की योगी आदित्‍यनाथ सरकार इस बार के स्‍वतंत्रता दिवस को हर तरह से खास बनाना चाहती है. इसके लिए राज्‍य के सभी मदरसों को 15 अगस्‍त को तिरंगा फहराने और राष्‍ट्रगान गाने का आदेश दिया है. सरकार की तरफ से दिए गए आदेश में स्‍वतंत्रता दिवस के मौके मदरसों में हर हाल में शहीदों को श्रद्धांजलि देने और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजनों करने का भी जिक्र किया गया है. इस संबंध में उत्तर प्रदेश मदरसा परिषद बोर्ड की तरफ से 3 अगस्‍त को हर जिले के अल्पसंख्यक अधिकारी को एक लिखित पत्र के माध्‍यम से आदेश दिया गया है.

Read More

जीएसटी के तहत टैक्स रिटर्न फाइल करने की समयसीमा अधिसूचित

नई दिल्ली: सरकार ने वस्तु एवं सेवा कर यानी जीएसटी के तहत जुलाई और अगस्त के लिए अंतिम रिटर्न दाखिल करने की समयसीमा को अधिसूचित कर दिया है. वित्त मंत्री अरुण जेटली की अगुवाई वाली जीएसटी परिषद ने जून में कारोबारियों के लिए फॉर्म जीएसटीआर-1, जीएसटीआर-2 और जीएसटीआर-3 में जुलाई और अगस्त के लिए अंतिम जीएसटी रिटर्न दाखिल करने की विस्तारित समयसीमा को मंजूरी दी थी.

Read More

भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल: जेटली बोले- आतंकवाद बड़ी चुनौती

नई दिल्ली। संसद में आज भारत छोड़ों आंदोलन के 75 साल पूरे होने पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है. इस पर राज्यसभा में चर्चा के दौरान वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि हमारे देश के जवानों में देश की सुरक्षा करने की क्षमता है. देश के लिए सबसे बड़ी चुनौती आतंकवाद है. जेटली ने कहा कि देश के कई हिस्सों में जो लोग संविधान को नहीं मानते हैं, वो संविधान पर आक्रमण कर रहे हैं.

Read More

पाकिस्तान: 20 साल में पहली बार कोई हिन्दू बना मंत्री, शाहिद अब्बासी कैबिनेट में दर्शन लाल को मिली अहम जिम्मेदारी

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी के नए मंत्रिमंडल ने शुक्रवार को यहां शपथ ली। नए मंत्रिमंडल में कुछ पुराने सदस्यों की वापसी हुई है। हालांकि, उनके कार्यभार में काफी बदलाव आए हैं। इस दौरान 20 साल में पहली बार पाकिस्तान में कोई हिन्दू मंत्री बना है। 

Read More