mp mirror logo

कांग्रेस से मिली हार पचा नहीं पा रही है भाजपा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के गृह राज्य गुजरात में राज्यसभा चुनाव में एक सीट पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल की जीत को भाजपाई आसानी से पचा नहीं पा रहे हैं। पटेल की जीत कमजोर हो रही कांग्रेस के लिए तो संजीवनी साबित हुई। लेकिन भाजपा के लिए घातक। परिणाम आने के दो दिन बाद पराजित उम्मीदवार बलवंत सिंह राजपूत चुनाव आयोग के दो मतों को रद्द किए जाने के फैसले के खिलाफ अदालत जाने की तैयारी में हैं। भाजपा के गुजरात के प्रभारी महासचिव और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कुछ पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में यह जानकारी दी। उनके मुताबित इस तरह के मामले में पार्टी के बजाए उम्मीदवार ही अदालत जाते रहे हैं। उनका कहना है कि इस मामले में चुनाव आयोग का फैसला न नियमों के हिसाब से है न ही सबूत के हिसाब से सही है। उनका कहना है कि अगर कांग्रेस के दो वोट रद्द नहीं होते तो जीत के लिए आवश्यक मतों की संख्या 44 के बजाए 45 हो जाती यानि प्रथम वरियता मत से अहमद पटेल नहीं जीत पाते और दूसरी वरियता में ज्यादा मतों के आधार पर कांग्रेस के बागी बलवंत सिंह जीत जाते।

भाजपा नेता भूपेंद्र यादव ने बताया कि जनता दल (एकी) विधायक और एनसीपी के एक विधायक का वोट भाजपा उम्मीदवार बने राजपूत को मिला। यादव और गोयल इस बात से प्रसन्न हैं कि इस चुनाव में कांग्रेस के 57 विधायकों में से केवल 44 ने उसका साथ दिया। लेकिन इन नेताओं के पास इस सवाल का जबाब नहीं था कि जब चुनाव जीतने के लिए 45 वोट ही चाहिए तो पार्टी प्रमुख अमित शाह और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के लिए 46-46 वोट क्यों आबंटित किए गए। दूसरे जब भाजपा के पास संख्या नहीं थी तो तीसरी सीट को प्रतिष्ठ का सवाल क्यों बनाया। सामान्य ढंग से कांग्रेस से भाजपा में आए बलवंत सिंह राजपूत चुनाव लड़ते और और उनको भाजपा के बाकी विधायक वोट करते। अगर वे कांग्रेस के और विधायक जुटा पाते तो जीतते अन्यथा सम्मानजनक हार होती।
अमित शाह और भाजपा के अनेक रणनीतिकार अमदाबाद में कई दिनों तक जमे रहे और हर स्तर पर प्रयास करते रहे। भाजपा फिर भी सफल नहीं हो पाई। इससे उसकी राज्य सभा की सीटें नहीं घटीं बल्कि अब तो 58 सीटें लेकर वह राज्यसभा में सबसे बड़ी पार्टी बन चुकि है। भाजपा की परेशानी दूसरी थी। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने नौ अगस्त 2014 को भाजपा की बागडोर संभाली थी। उसके बाद से उन्हें बिहार और दिल्ली विधान सभा चुनाव के अलावा कोई और पराजय नहीं झेलनी पड़ी थी। बिहार में भी नीतीश कुमार ने राजद से नाता तोड़कर भाजपा के साथ सरकार बना ली है। इसे भी नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी के तुरंत फैसला लेने की क्षमता की जीत माना जा रहा है।
अमित शाह के अध्यक्ष बनने के तीन साल बाद भाजपा के अभूतपूर्व विस्तार पर उनके अभिनंदन में गुजरात कांटा जैसा चुभने लगा है। शाह के अध्यक्ष बनने से पहले छह राज्यों में भाजपा की सरकार थी। इसमें तीन में भाजपा का मुख्यमंत्री और तीन में उपमुख्यमंत्री था। अब 11 राज्यों में सरकार है और नौ में भाजपा का मुख्यमंत्री और दो में उपमुख्यमंत्री है। भाजपा के सदस्यों की संख्या 11 करोड़ बताई जा रहा है। कहा जा रहा है कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा बन गई है। भाजपा अध्यक्ष ने इस दौरान 5.6 लाख किलोमीटर की यात्रा की। केंद्र और इतने राज्यों में सरकार होने के बावजूद आज भी अमित शाह सामान्य यात्री की तरह हवाई यात्रा करते हैं। पार्टी कार्यालय या सरकारी गेस्ट हाउस में रुकते हैं। इन तीन सालों में तमाम उपलब्धियां उनके नाम हैं लेकिन एक राज्य सभा के चुनाव ने उनकी सभी क्षमताओं पर सवालिया निशान लगा दिया। इसलिए भाजपा नेता इस हार को आसानी से पचा नहीं पा रहे हैं। कहने के लिए आज भी भूपेंद्र यादव और पीयूष गोयल इस चुनाव में पार्टी की क्षमता बढ़ने का दावा कर रहे थे लेकिन जिस तरह से बार-बार इसका उल्लेख किया जा रहा है, उससे भाजपा नेताओं की बेचैनी को समझा जा सकता है। भाजपा इसलिए भी परेशान है कि कुछ महीने बाद ही गुजरात विधानसभा के चुनाव होने हैं।

"स्पेशल रिपोर्ट" से अन्य खबरें

देश को मिली पहली मेड इन इंडिया जंगी पनडुब्बी, पीएम मोदी ने दिया खास नाम ‘SAGAR’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भारतीय नौसेना को देश की स्कॉर्पीन श्रेणी की पहली स्वदेशी पनडुब्बी आईएनएस कलवरी समर्पित की। प्रधानमंत्री ने इसे भारत की रक्षा और सुरक्षा को बढ़ावा देने वाला एक महत्वपूर्ण नया युग कहा। मोदी ने औपचारिक रूप से पनडुब्बी के ऊपर लगी आईएनएस कलवरी की कमीशनिंग पट्टी का अनावरण किया और विभिन्न नौसैना अधिकारियों से हाथ मिलाया। 

Read More

कोयला घोटाला: झारखंड के पूर्व सीएम मधु कोड़ा दोषी करार

कोलया घोटाले मामले में सुनवाई कर रही सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने बुधवार को झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा को दोषी ठहराया है। कोर्ट ने कोयला घोटाले मामले में कोड़ा के अलावा पूर्व कोयला सचिव एच सी गुप्ता, झारखंड के पूर्व मुख्य सचिव अशोक कुमार बसु और एक अन्य व्यक्ति को दोषी करार दिया है। अदालत ने कोड़ा को आपराधिक साजिश रचने का दोषी पाया है। इस मामले में कोर्ट कल यानी गुरुवार को सजा का ऐलान करेगी। 

Read More

नेपाल में वाम गठबंधन की जीत, भारत के लिए क्या हैं मायने

काठमांडू। नेपाल की मुख्य कम्युनिस्ट पार्टी और पूर्व माओवादी विद्रोहियों का गठबंधन भारी जीत की ओर बढ़ रहा है और सत्तारुढ़ नेपाली कांग्रेस को बेदखल कर नेपाल में इस गठबंधन की अगली सरकार बनने की संभावना है। वाम गठबंधन ने अधिकांश संसदीय सीटो पर जीत दर्ज कर ली है और इनके नेता के.पी. ओली देश के अगले प्रधानमंत्री बन सकते हैं। इतनी बड़ी जीत से नेपाल को स्थिर सरकार मिलने की संभावना है लेकिन नेपाल में इस नए सत्ता समीकरण के भारत के लिए क्या मायने हैं, आइए समझते हैं... 

Read More

सुषमा स्वराज की आज चीन और रूस के विदेश मंत्रियों के साथ अहम बैठक

नई दिल्ली: रूस, भारत और चीन (आरआईसी) के विदेश मंत्री सोमवार को यहां त्रिपक्षीय समूह की एक अहम बैठक में कई महत्वपूर्ण क्षेत्रीय एवं वैश्विक मुद्दों पर चर्चा करेंगे. इनमें आतंकवाद एवं चरमपंथ के खतरे से निपटने के तरीकों पर चर्चा शामिल हैं.

समझा जाता है कि भारत आतंकवाद से प्रभावशाली तरीके से निपटने के लिए तीन देशों के बीच सहयोग मजबूत करने तथा लश्कर ए तैयबा एवं जैश ए मोहम्मद जैसे पाकिस्तान स्थित आतंकी समूहों को आरआईसी के घोषण पत्र में शामिल करने पर मजबूती से जोर देगा. ब्रिक्स समूह पहले ही इन संगठनों को आतंकी समूह घोषित कर चुका है.

Read More

मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने में रोड़ा अटकाने वाला चीन बोला

आतंकी मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र की काली सूची में डलवाने के भारत के प्रयासों में रोड़ा अटकाने वाला चीन अब खुद पाकिस्तानी आतंकियों से डर गया है। यही वजह है कि पाकिस्तान स्थित चीनी दूतावास ने वहां रहने वाले अपने नागरिकों को आगाह किया है। आतंकी हमले की आशंका को देखते हुए उन्हें विशेष सतर्कता बरतने की सलाह दी गई है। मालूम हो कि कुछ दिनों पहले ही चीन ने भ्रष्टाचार का आरोप सामने आने के बाद चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) के लिए दी जा रही फंडिंग पर रोक लगा दी थी।

Read More

बड़ी अजब है येरूशलम की कहानी, जानें- इजरायल ने कब किया था कब्जा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से येरूशलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के बाद गाजा पट्टी और वेस्ट बैंक के पास हिंसक प्रदर्शन शुरू हो गए हैं. फिलीस्तीन के लोग इसका विरोध कर रहे हैं, जो कि येरूशलम को अपनी राजधानी मानते हैं. येरूशलम को भले ही इजरायल अपना मानता है, लेकिन इजरायल के येरूशलम पर कब्जे की कहानी भी दिलचस्प है. आइए जानते हैं कैसे और कब इजरायल ने येरूशलम को अपने कब्जे में लिया...

Read More

अयोध्या मामले पर आज 2 बजें से SC करेगी नियमित सुनवाई

नई दिल्ली। पिछले सात साल से अटके अयोध्या के राम जन्मभूमि मामले पर सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को दोपहर 2 बजे से सुनवाई शुरू होगी। यह सुनवाई नियमित होगी और मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा, अशोक भूषण और अब्दुल नजीर की पीठ इस पर सुनवाई शुरू करेगी। यह सुनवाई बाबरी विध्वस के 25 साल पूरे होने के ठीक एक दिन पहले शुरू हो रही है। कोर्ट के सामने सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या विवादित ढांचा किसी हिदू ढांचे को तोड़ कर बनाई गई थी?

Read More

मोदी सरकार का ये कानून आया तो होगी परमानेंट नोटबंदी

मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान वित्तीय जगत पर बड़ा प्रभाव डालने वाले कई बड़े फैसले लिए हैं. इनमें नोटबंदी कर देश में संचार हो रहे 86 फीसदी मुद्रा को बंद करना और उसकी जगह नई मुद्रा का संचार शुरू करना, वन नेशन वन टैक्स की परिकल्पना के तहत गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) लागू करना और बैंकों का एनपीए संकट दूर करने के लिए सरकारी खजाने से लाखों करोड़ का भुगतान करना शामिल हैं. 

Read More

UP में कमल खिलाने वाले मेयर दिल्ली में PM मोदी से करेंगे मुलाकात

प्रदेश के निकायउत्तर चुनाव में मिली जीत को बीजेपी गुजरात में भुनाने की कोशिश में जुटी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी चुनावी रैलियों में निकाय चुनाव के नजीतों का जिक्र कर कांग्रेस पर निशाना साध चुके हैं. अब इस कड़ी में यूपी में जीतकर आए बीजेपी के 14 मेयर गुजरात में भी पार्टी के लिए प्रचार करने उतर रहे हैं.

Read More

अमेरिका: आतंकवाद के खिलाफ पाक ने कुछ नहीं किया

वॉशिंगटन। व्हाइट हाउस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि अमेरिका आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान के सहयोग से संतुष्ट नहीं है।

Read More