mp mirror logo

विधायकों ने बनाया शिक्षकों को गुलाम

भोपाल / मध्यप्रदेश में शिक्षा के बुरे हाल हैं, बावजूद इसके सरकार शिक्षकों को शिक्षण के अतिरिक्त बेगार में लगाए हुए है । ताजा मामला मध्यप्रदेश विधानसभा में विधायकों के पास तैनात सहायकों का है जो पेशे से शिक्षक हैं किन्तु उनसे गुलामों की तरह निजी काम लिया जा रहा है । आश्चर्यजनक बात यह है कि मध्यप्रदेश में एक साल में 28 लाख बच्चे सरकारी स्कूल छोड़ देते हैं और सरकार का सर्व शिक्षा अभियान 4500 करोड़ रूपये वार्षिक खर्च है जबकि परिणाम जब आते हैं तो नीचे से गिनती होती है पूरे देश में ।
दरअसल मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार विधायकों पर कुछ ज्यादा मेहरबान है और नियमों को ताक पर रखकर माननीयों के पी.ए. शिक्षकों को बना रही है । शिक्षक का कार्य करने वाले यह सभी लोग बाबूगिरी करके और गैर शैक्षणिक कार्य करके अब ऊब चुके हैं, उनकी छटपटाहट इसी से देखी जाती है कि वे अब अपने देनंदिनी कार्य और माननीयों के यहाँ बहाने बनाकर, झूठे मेडिकल लगाकर छुट्टियाँ बना रहे हैं । जावरा के विधायक डाॅ. राजेन्द्र पाण्डेय के यहाँ शिक्षक शैलेन्द्र सिंह राठौर, चांचैड़ा विधायक ममता मीणा के यहाँ अध्यापक पंकज श्रीवास्तव, राम निवास रावत विधायक के यहाँ शिक्षक अनिल कुमार बंसल तैनात हैं जबकि सामान्य प्रशासन विभाग ने अपने आदेश क्रमांक एफ.ए. 10-15/94 दिनांक 19.05.95 को एक आदेश जारी करके कहा था कि कोई भी शिक्षक गैर शैक्षणिक कार्यो में न लगाये जायें । जबकि आदेश एफ ए 10-04/2015/एक(1) दिनांक 27 मार्च, 2015 को बी.आर. विश्वकर्मा उप सचिव, सामान्य प्रशासन ने नियमों को शिथिल करते हुए पंकज श्रीवास्तव, विकासखण्ड चांचैड़ा जिला गुना की सेवायें विधायक को सौंप दी । ऐसे अनगिनत उदाहरण हैं जिसमें मंत्रियों, विधायकों के पास 80 प्रतिशत शिक्षक गुलामों सी जिन्दगी जी रहे हैं । अपना नाम न छापने की शर्त पर एक शिक्षक जो गुलामी से रोज दो चार है, उसने बताया कि अटैचमेन्ट खत्म करने के आदेश सरकार ने बहुत पहले दे दिये थे, किन्तु विधायक और मंत्रियों के दबाव में सरकार हमें छुटकारा नहीं दिला पा रही ।
स्कूल शिक्षा विभाग के दिनांक 30 मई 2017 के परिपत्र क्र. एफ 1-13/2017/20-1 के अनुसार राज्य सरकार ने स्कूल शिक्षा विभाग के सभी शिक्षक और गैर शिक्षकों का अटैचमेन्ट समाप्त करते हुए उन्हें विभाग में 31.05.2017 तक शामिल करने के निर्देश दिये थे बावजूद इसके उप सचिव रजनी सिंह के ये आदेश अब तक पालन में नहीं लिये जा सके ।
दूसरी ओर आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय दीप्ति गौड़ मुखर्जी कहती हैं कि शिक्षकों का कहीं भी अटैचमेन्ट नहीं होगा । सरकार उन्हें पढ़ाने का वेतन देती है इसलिये हमने संबंधित जिला कलेक्टरों, निगम मण्डलों और सामान्य प्रशासन विभाग में इसकी सूचना पूर्व में ही दे दी है ।
कुल मिलाकर सरकार शिक्षकों से कागज में केवल शैक्षणिक कार्य कराने की नौटंकी करती है जबकि इसलियत में सरकारी स्कूलों के मास्साब विधायकों के घर उनके निजी कामों को अन्जाम दे रहे हैं । प्रदेश का भविष्य संभालने का जिम्मा जिन शिक्षकों के पास था वे विधायकों के प्रश्न बनाने, उनका रिजर्वेशन कराने, उनके गैर शासकीय कार्यो को अन्जाम दे रहे हैं ।

"जिलों की ख़बरें" से अन्य खबरें

मध्य प्रदेश: शिवपुरी में उपचुनाव से पहले बवाल, लाठीचार्ज में कांग्रेस उम्मीदवार घायल

उपचुनाव से पहले मध्य प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस के बीच तनातनी चरम पर पहुंच गई है। मध्य प्रदेश के शिवपुरी अंतर्गत कोलारस में कांग्रेस नेता देर रात धरने पर बैठे। कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाहा लोगों में रुपये बांट रहे हैं। उनका आरोप है कि बीजेपी विधायक के खिलाफ शिकायत कराने की वजह से उन पर लाठीचार्ज हुआ है। 

Read More

मध्‍यप्रदेश : किसानों की मौत पर मंत्री का अजीबोगरीब बयान

भोपाल : मध्‍यप्रदेश में किसानों की मौत पर राज्‍य के पंचायती राज मंत्री गोपाल भार्गव का अजीबोगरीब बयान सामने आया है. जब पत्रकारों ने उनसे इस बारे में सवाल किया तो उनका कहना था कि विधायक की भी मृत्‍यु होती हैं. पिछले चार साल में दस विधायक मर गए हैं. अब क्‍या मृत्‍यु पर किसी का जोर है? 

Read More

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान: पांच साल का विकास पांच माह में करने का वादा

भोपाल: मध्य प्रदेश के दो विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव में प्रचार अंतिम दौर में है. सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के नेता एक-दूसरे पर हमले कर रहे. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पांच साल का विकास पांच माह में करने का वादा कर रहे हैं, तो दूसरी ओर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुख्यमंत्री चौहान को घोषणावीर बताया. राज्य के शिवपुरी जिले के कोलारस और अशोकनगर के मुंगावली विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव का प्रचार जोरों पर है. दोनों स्थानों पर भाजपा व कांग्रेस के नेता डेरा डाले हुए हैं. आलम यह है कि हर दूसरे गांव में 100 से 500 मतदाताओं के बीच नेता सभाएं कर रहे हैं.

Read More

आज की सबसे बड़ी खबर : 500 के नए नोट को लेकर के RBI ने लिया ये बड़ा फैसला

देवास। हाल ही में मार्केट में 200 रुपए का नया नोट आया है। इस नोट की छपाई के लिए देवास बैंक नोट प्रेस को ऑर्डर मिला था, जिसे तय समय में तैयार किया गया। आपको याद दिला दें कि देवास बैंक नोट प्रेस वही जगह है, जहां नोटबंदी बाद आई नोटों की किल्लत के चलते दिन रात 500 के नए नोटों की छपाई हुई थी। बैंक नोट प्रेस के कर्मचारियों की मेहनत की बदौलत मार्केट में आई नोटों की किल्लत ज्यादा दिन तक नहीं रही। आरबीआई के बड़े फैसलों का केन्द्र रही देवास बैंक नोट प्रेस हाल ही में एक बार फिर बड़ी जिम्मेदारी दी गई थी। इस जिम्मेदारी का असर अब जल्द ही आपको देखना पड़ सकता है।

Read More

चार हजार सवालों से विधानसभा के बजट सत्र में घिरेगी सरकार

भोपाल। मप्र विधानसभा के बजट सत्र में इस बार सरकार को चार हजार से ज्यादा सवालों से घेरा जाएगा। अभी सत्र में प्रश्न करने के लिए विधायकों को दो सप्ताह का समय और है। सत्र में इस बार लोकलेखा समिति के सभापति का चुनाव भी होना है।

Read More

एसिड अटैक पीड़िता से छेड़छाड़ के मामले में मध्य प्रदेश के 'मंत्री' बर्खास्त

मध्य प्रदेश में राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त राजेंद्र नामदेव को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पद से हटा दिया है. नामदेव पर एसिड अटैक पीड़िता से होटल में अश्लील हरकत और छेड़छाड़ करने का आरोप है. उनके खिलाफ रविवार दोपहर हनुमानगंज थाने पहुंचकर पीड़िता ने लिखित शिकायत दी थी.

Read More

पीएनबी घोटाला: भोपाल में गीतांजलि के ठिकानों पर बड़ी कार्रवाई, करोड़ों के हीरे जब्त

भोपाल। पीएनबी घोटाला सामने आने के बाद से देश भर में गीतांजलि के ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय की कार्रवाई जारी है। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में भी ईडी ने गीतांजलि समूह के कई ठिकानों पर छापामार कार्रवाई की।

Read More

शिवराज सिंह की मुश्किलें बढ़ी, चुनाव से पहले सेन समाज ने की आरक्षण की मांग

मध्य प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में आरक्षण की मांग को लेकर सेन समाज ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. सेन समाज के सैकड़ों लोग शनिवार को राजधानी भोपाल में जुट रहे हैं. जहां वे सेन समाज को अनुसूचित जाति में शामिल किए जाने की मांग कर रहे हैं. प्रदर्शन कर रहे आंदोलनकारियों को मुताबिक सेन समाज को मिल रहे आरक्षण का दायरा बढ़ाते हुए अनुसूचित जाति में शामिल करने के लिए राज्य सरकार ने विधानसभा में अशासकीय संकल्प पारित  किया था, लेकिन उसके सालों बाद भी अमल नहीं हो सका.

Read More

MP: कर्ज और फसल बीमा क्लेम न मिलने से परेशान किसान ने लगाई फांसी

मध्य प्रदेश के सागर जिले के गढ़ाकोटा में कर्ज में डूबे किसान ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. किसान पर करीब तीन लाख रुपए का कर्ज था और हाल ही में ओलावृष्टि से चने की फसल भी तबाह हो गई थी.

जानकारी के अनुसार, गढ़ाकोटा थाना क्षेत्र के सिंगपुर कला में रहने वाले किसान गुलाब पटेल ने शुक्रवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. किसान की पत्नी सियारानी पटेल ने बताया कि वह कर्ज की वजह से काफी परेशान थे. उन पर तीन लाख रुपए का कर्ज था.

Read More

ओलावृष्टि पर बोले सीएम- अभी चुनाव है, कुछ नहीं कहूंगा, जो लागू, वही मिलेगा

अशोकनगर.प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार को पिपरई क्षेत्र के ढ़ोढ़िया गांव पहुंचे। जहां उन्होंने चार दिन पहले ओलावृष्टि से नष्ट हुई फसलों का निरीक्षण कर किसानों ने बातचीत की। मुख्यमंत्री श्री सिंह ने ग्रामीणों से कहा कि अभी कुछ घोषणा करूंगा तो कांग्रेस वाले चिल्लाने लगेंगे कि आचार संहिता का उल्लंघन हो रहा है। उन्होंने किसानों ने कहा कि टीवी देखते हो या अखबार पढ़ते हो। उसमें देख लेना। जो भी नुकसान की भरपाई होगी वहीं अशोकनगर जिले को भी मिलेगा।

Read More