mp mirror logo

चुनाव खर्च मामले में नरोत्तम काे राहत, SC ने EC के फैसले पर लगाई रोक

भोपाल. सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव खर्च मामले में मध्य प्रदेश के मंत्री नरोत्तम मिश्रा को राहत दे दी है। उन पर ईसी ने तीन साल चुनाव लड़ने की रोक लगाई थी। इस फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है, साथ ही दिल्ली हाईकोर्ट को यह केस दो हफ्ते में निपटाने का निर्देश दिया है। यह मामला 2008 के विधानसभा चुनाव से जुड़ा है।

– पूर्व विधायक राजेंद्र भारती ने नरोत्तम मिश्रा पर चुनाव खर्च का पूरा ब्योरा न देने का आरोप लगाया था।
– भारती ने इसकी शिकायत ईसी से की थी। ईसी ने जांच में भारती के आरोपों को सही पाया और इसी साल 23 जून को मिश्रा पर तीन साल चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी थी।

– यह मामला 2008 के विधानसभा चुनाव का है। तब नरोत्तम मिश्रा डबरा से बीजेपी कैंडिडेट और भारती बीएसपी कैंडिडेट थे।
– ईसी की कार्रवाई की वजह से मिश्रा राष्ट्रपति चुनाव में भी वोट नहीं डाल पाए। मध्य प्रदेश सरकार ने भी उन्हें सरकारी कामकाज से दूर रखा।

दिल्ली हाईकोर्ट कैसे पहुंचा मामला?
– पिछले करीब एक महीने में मिश्रा का केस हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट, फिर एक दूसरी हाईकोर्ट इसके बाद फिर सुप्रीम कोर्ट और अब फिर हाईकोर्ट पहुंच गया है।
– ईसी के डिसीजन को मिश्रा ने सबसे पहले मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच में चुनौती दी थी, लेकिन वहां वकीलों की हड़ताल की वजह से सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद यह केस जबलपुर हाईकोर्ट पहुंचा, जिसने इसे सुप्रीम कोर्ट ट्रांसफर कर दिया। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई दिल्ली हाईकोर्ट को करने का ऑर्डर दिया।

– सुप्रीम कोर्ट के आॅर्डर के बाद मिश्रा ने दिल्ली हाईकोर्ट की सिंगल बेंच में पिटीशन लगाई, जो खारिज हो गई। बाद में डबल बेंच ने भी पिटीशन खारिज कर दी तो वे एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे। अब सुप्रीम कोर्ट ने ईसी के फैसले पर स्टे देकर दिल्ली हाईकोर्ट से मामला दो हफ्ते में निपटाने का निर्देश दिया है।

नरोत्तम ने कोर्ट में रखी थीं ये दलीलें
– राष्ट्रपति चुनाव से पहले नरोत्तम मिश्रा ने कोर्ट में दलील दी थी, “जिस अखबार की खबर के बेस पर शिकायत की गई है, उसने न्यूज पेड होने से इनकार किया है। एक भी ओरिजनल डॉक्यूमेंट पेश नहीं किया गया। ऐसे तो कोई भी किसी के खिलाफ झूठी फोटोकॉपी पेश कर केस कर देगा। 17 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव की वोटिंग होनी है। मैं वोटर हूं। चुनाव आयोग के इस फैसले से वोट नहीं दे पाऊंगा। इसलिए राहत (स्टे) दें।”

चुनाव आयोग ने ये जबाव पेश किया
– चुनाव आयोग की ओर से कहा गया था कि आयोग ने नरोत्तम मिश्रा और राजेंद्र भारती को सुनवाई का पूरा मौका दिया था। दोनों पार्टियों की बात सुनने और फैक्ट्स के बेस पर ही मिश्रा को अयोग्य घोषित किया गया है।

"जिलों की ख़बरें" से अन्य खबरें

शिवराज सरकार का अतिथि शिक्षकों को दीपावली का तोहफा, कई अहम फैसले भी

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में मंगलवार को मंत्रालय में कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले हुए। सरकार ने संविदा शिक्षकों की भर्ती में अतिथि विद्वानों को 25 प्रतिशत हिस्सेदारी देने का फैसला किया है। इसके अलावा उन्हें 9 साल की आयु में छूट भी दी जाएगी। 3 सालों से अधिक पढ़ाने वाले अतिथि शिक्षकों को लाभ मिलेगा।

Read More

सरकार किसानों की उपज का एक-एक दाना खरीदेगी : सीएम शिवराज

खुरई (सागर)। किसानों की उनकी फसलों का उचित दाम मिलेगा। सरकार समर्थन मूल्य पर किसानों से उनकी फसलों का एक-एक दाना खरीदेगी। किसानों की मेहनत को बेकार नहीं जाने दिया जाएगा। ये कहना है मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का। सीएम शिवराज सागर के खुरई में भावान्तर भुगतान योजना के आयोजन के मौके पर बोल रहे थे।

Read More

मध्य प्रदेश सरकार ने दिए पेट्रोल-डीजल पर जल्द वैट घटाने के संकेत

इंदौर: मध्यप्रदेश सरकार ने गुरुवार को संकेत दिए कि गुजरात, महाराष्ट्र और हिमाचल प्रदेश की तर्ज पर वह भी पेट्रोल और डीजल पर मूल्य संवर्धित कर (वैट) घटाकर जनता को इन ईंधनों की महंगाई से राहत दे सकती है. बता दें पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने पांच अक्तूबर को सभी राज्यों से अपील की थी कि वे पेट्रोल और डीजल पर करों की दरों में कटौती करें.

Read More

मनमर्जी से जीएसटी वसूलने वालों पर कस्टम-सेंट्रल टैक्स की नजर

भोपाल। गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) के नाम पर मनमानी वसूली की शिकायतों के बीच कस्टम एवं सेंट्रल टैक्स विभाग अब कारोबारियों को समझाइश देने में जुट गया है। विभाग को इस संबंध में नकारात्मक फीडबैक के साथ दुकानदारों द्वारा ज्यादा टैक्स वसूली की शिकायतें मिल रही हैं। पिछले साल तक विभाग का मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ में 30 हजार करोड़ रुपए का राजस्व कलेक्शन हुआ था, इस बार शुरुआती मंदी के आसार नजर आ रहे हैं।

Read More

कैबिनेट आज : नई उद्योग नीति लाएगी सरकार, कैपिटल सबसिडी मिलेगी

भोपाल। गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) लागू होने के बाद सरकार अब नई उद्योग नीति लाएगी। इसमें निवेशकों को विभिन्न् टैक्सों में मिलने वाली छूट की जगह कैपिटल सबसिडी दी जाएगी। इसी तरह लघु उद्योग निगम की आरक्षित सूची को भी समाप्त किया जाएगा। सरकारी खरीदी अब ईजैम (गवर्मेंट ई मार्केट प्लेस) के जरिए होगी। इसके लिए सरकार भंडार क्रय नियमों में संशोधन करेगी।

Read More

भोपाल के न्यू मार्केट में बड़ा धमाका, टाइटन शोरूम तहस-नहस, दो घायल

भोपाल. टीटी नगर थाना क्षेत्र में सोमवार दोपहर एक वेल्डिंग सिलेंडर से छेड़खानी कर रहे कर्मचारियों की करतूत से हुए धमाके ने दहशत पैदा कर दी। ठोंका-पीटी के दौरान धमाके से उड़े भारी नोजल ने पड़ोस के घडि़यों के टाइटन शोरूम का मुख्य कांच सहित कई शोकेस तबाह कर दिए। इससे एक सुरक्षा गार्ड सहित दो कर्मचारी घायल हो गए।

Read More

विधवा पेंशन में बीपीएल का बंधन होगा खत्म

भोपाल। मध्यप्रदेश में विधवा पेंशन के लिए अब बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे) का बंधन नहीं होगा। आयकरदाता महिला को छोड़कर सभी विधवा पेंशन के दायरे में आएंगी। इस योजना को लागू करने पर सरकार के ऊपर पांच सौ करोड़ रुपए का वित्तीय भार आएगा।

Read More

मध्यप्रदेश : जबलपुर में छह साल की मासूम की दुराचार के बाद हत्या, आरोपी गिरफ्तार

जबलपुर: मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक हैवान ने छह साल की मासूम बालिका से दुराचार करने के बाद पत्थर से कुचलकर उसकी हत्या कर दी. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजीव उइके शुक्रवार को बताया कि कुंडम थाना क्षेत्र में शरद पूर्णिमा के अवसर पर बीती रात धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. 

Read More

अमिताभ ने कहा : भोपाल मेरे घर जैसा, झलक पाने को उमड़े प्रशंसक

भोपाल। महानायक कहे जाने वाले अमिताभ बच्चन का कहना है कि भोपाल उनके घर जैसा है। यहां एक ज्‍वेलर्स के शोरूम का उद्घाटन करने आए अमिताभ ने यह बात कही।

Read More

एनकाउंटर पर उठे सवाल, IPS से वापस लिया जाएगा राष्ट्रपति पदक

भोपाल। एनकाउंटर पर सवाल उठने के बाद मध्यप्रदेश के एक आईपीएस अधिकारी को राष्ट्रपति पदक वापस लौटाना होगा। रतलाम रेंज के डीआईजी धमेंद्र चौधरी को वीरता के लिए मई 2004 में राष्ट्रपति पदक से सम्मानित किया गया था।

Read More