mp mirror logo

राष्ट्रपति चुनाव में नहीं डाल पाएंगे वोट, इस्तीफे का भी बढ़ा दबाव

भोपाल पेड न्यूज मामले में चुनाव आयोग की ओर से तीन साल के लिए अयोग्य घोषित किए गए जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा को दिल्ली हाईकोर्ट से राहत नहीं मिलने के कारण राष्ट्रपति चुनाव में उनके मतदान करने की सारी संभावनाएं लगभग खत्म हो गई हैं। चुनाव आयोग पहले ही उनको संशोधित मतदान सूची में अयोग्य घोषित कर चुका है। दिल्ली हाईकोर्ट के याचिका खारिज किए जाने के बाद अब नरोत्तम पर मंत्री पद से इस्तीफा देने का दबाव भी बढ़ गया है।
दिल्ली हाईकोर्ट के जस्टिस इंदरमीत कौर की स्पेशल कोर्ट के समक्ष सुनवाई के दौरान गुरुवार को नरोत्तम मिश्रा की तरफ से दलील दी गई थी कि निर्वाचन आयोग ने काफी देर से फैसला लिया और उसे फैसला जल्द सुनाना चाहिए था। कहा गया कि 2008 के विधानसभा चुनाव में छपी खबरें उनके द्वारा सर्कुलेट नहीं की गई थीं। वहीं पूर्व विधायक राजेंद्र भारती की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा था कि निर्वाचन आयोग को जांच तेजी से करना चाहिए, लेकिन इसके लिए कोई समय सीमा तय नहीं है।
लंबा समय बीत जाने का ये मतलब नहीं कि भ्रष्ट आचरण माफ किया जा सकता है। पेड न्यूज का फैसला निर्वाचन आयोग की ओर से गठित विशेषज्ञ समिति ने किया था। नरोत्तम का आरोप था कि चुनाव आयोग ने अधिकार क्षेत्र के बाहर जाकर फैसला सुनाते हुए उन्हें चुनाव लडऩे के अयोग्य घोषित कर दिया। उन्होंने कोर्ट से आग्रह किया था राष्ट्रपति चुनाव को देखते हुए जल्द से जल्द मामले की सुनवाई की जाए।
इस्तीफे का बढ़ा दबाव
अब दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा याचिका खारिज किए जाने के साथ ही नरोत्तम पर मंत्री पद से इस्तीफा देने का दबाव बढ़ गया है। विपक्ष उनके इस्तीफे पर अड़ा है। नेताप्रतिपक्ष ने तो यहां तक चेतावनी दी है कि अयोग्य व्यक्ति को सदन में प्रवेश नहीं दिया जाना चाहिए। यदि वे मंत्री के तौर पर आए तो वह सब कुछ होगा जो अभी तक नहीं हुआ।
किसने क्या कहा
हाईकोर्ट के आदेश का अध्ययन करने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा। कोर्ट का आदेश यदि स्पष्ट नहीं होगा तो कानून के जानकारों और संविधान विशेषज्ञों की सलाह ली जाएगी।
– डॉ. सीतासरन शर्मा, अध्यक्ष मप्र विधानसभा
चुनाव आयोग नरोत्तम को अयोग्य घोषित कर चुका है। अब हाईकोर्ट ने भी उनकी याचिका खारिज कर दी, एेसे में उन्हें मंत्री बने रहने का अधिकार नहीं है। वे सदन में भी नहीं बैठ सकते।
– श्रीनिवास तिवारी, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष
नरोत्तम अब न सदन में बैठ सकते हैं और न ही मंत्री बन सकते हैं, क्योंकि वे अयोग्य घोषित हो चुके हैं। मुख्यमंत्री मौन तोड़ें और उनसे तत्काल इस्तीफा लें।
– अजय सिंह, नेता प्रतिपक्ष मप्र विधानसभा
दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर हम विधि विशेषज्ञों से राय ले रहे हैं। हमें ऐसा महसूस होता है कि मिश्रा इस मामले में कहीं दोषी नहीं है इसलिए न्याय प्राप्ति के लिए और क्या-क्या विकल्प हो सकते हैं। उस पर विचार जारी है।
नंदकुमार सिंह चौहानभाजपा प्रदेशाध्यक्ष
मैं हाईकोर्ट का सम्मान करता हूं। दिल्ली हाईकोर्ट की डबल बैंच में अपील करुंगा। यहां से राहत न मिली तो सुप्रीमकोर्ट का दरवाजा खटखटाउंगा।
— नरोत्तम मिश्रा, संसदीय कार्यमंत्री
संविधान के प्रावधानों के तहत राज्यपाल, मुख्यमंत्री एवं विधानसभा अध्यक्ष को उन्हें तत्काल मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर देना चाहिए। पेड न्यूज वाले मामले में यह यह दूसरा फैसला है जिससे चुनाव आयोग की सर्वोच्चता और सर्वमान्यता स्वीकार्य हुई है।
-राजेन्द्र भारती, याचिकाकर्ता एवं पूर्व विधायक
कब क्या हुआ
– 23 जून को चुनाव आयोग ने नरोत्तम मिश्रा को पेड न्यूज का दोषी मानते हुए तीन साल के लिए चुनाव लडऩे से अयोग्य घोषित किया।
– 27 जुलाई को नरोत्तम ग्वालियर हाईकोर्ट बैंच में याचिका दाखिल की। प्रतिद्वंद्वी राजेन्द्र भारती ने कैबिएट लगाई।
– 8 जुलाई को ग्वालियर हाईकोर्ट ने केस जबलपुर हाईकोर्ट स्थानांतरित किया।
– 12 जुलाई को सुप्रीमकोर्ट ने दिल्ली हाईकोर्ट में नरोत्तम की याचिका की सुनवाई के निर्देश दिए।
– 13 जुलाई को चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव की मतदाता सूची, नरोत्तम को वोट के अधिकार से वंचित किया।
– 14 जुलाई को दिल्ली हाईकोर्ट ने याचिका खारिज कर दी।
सीएम के साथ नंदकुमार व सुहास की चर्चा…
दिल्ली हाईकोर्ट का फैसला आते ही शाम 4 बजे प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान और संगठन महामंत्री सुहास भगत सीएम हाउस रवाना हो गए। वहां एससीएसटी योजनाओं से प्रदेश की पिछड़ी आबादी को जोडऩे वाले पार्टी के अभियान की समीक्षा बैठक में मंत्री नरोत्तम मिश्रा के मुद्दे पर भी चर्चा हुई। सीएम के साथ प्रदेशाध्यक्ष और संगठन महामंत्री ने इस केस की कानूनी बारीकियों पर चर्चा की। सीएम ने प्रदेश संगठन को हरसंभव डैमेज कंट्रोल के लिए कहा। प्रवक्ताओं की टीम को विधि विभाग के जानकारों की राय लेकर मिश्रा के समर्थन में बयान देने को कहा गया है। सीएम को केंद्रीय नेतृत्व को भेजी गई जानकारियों और फीडबैक से भी अवगत कराया गया। बैठक समाप्त होने के बाद प्रदेशाध्यक्ष दिल्ली रवाना हो गए।

"जिलों की ख़बरें" से अन्य खबरें

MP की विद्युत वितरण कंपनी ने निकाली रिकॉर्ड भर्तियां

भोपाल: मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड (एमपीपीकेवीवीसीएल) ने टेस्टिंग अटेंडेंट (परीक्षण सहायक) के पद पर भर्तियां निकाली हैं. इन पदों के लिए इच्छुक उम्मीदवार ऑनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकते हैं. कंपनी में कुल 41 पद अभी खाली हैं. इन पदों के लिए आवेदन करने वाले मध्य प्रदेश के मूल निवासियों को ही हर तरह का आरक्षण दिया जाएगा. अन्य राज्यों के अभ्यर्थी अनारक्षित श्रेणी में माने जाएंगे.

Read More

अगले साल से एमपी के स्कूलों में पढ़ाई जाएगी 'पद्मावती' की गाथा सीएम शिवराज का ऐलान

भोपाल: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को घोषणा की है कि चित्तौड़ की रानी पद्मावती के पाठ को अगले शैक्षणिक सत्र से राज्य में स्कूल के पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा. चौहान ने यह घोषणा समग्र राजपूत समाज द्वारा उज्जैन में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए की. राजपूत समाज के नेताओं ने यह कार्यक्रम फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली की विवादास्पद फिल्म 'पद्मावती' को मध्यप्रदेश में प्रतिबंध लगाने के लिए मुख्यमंत्री चौहान को सम्मानित करने के लिए आयोजित किया था.

Read More

पटवारी भर्ती परीक्षा:होने वाली 9500 पटवारियों की भर्ती परीक्षा करीब छह महीने टल सकती है।

भोपाल। प्रदेश में होने वाली 9500 पटवारियों की भर्ती परीक्षा करीब छह महीने टल सकती है। दरअसल, राजस्व विभाग पटवारी भर्ती नियमों में संशोधन कर रहा है। वहीं, पटवारियों की पात्रता परीक्षा के बाद उन्हें दी जाने वाली ट्रेनिंग कोर्स में भी बदलाव हो रहा है। ट्रेनिंग मॉड्यूल पुराना हो चुका है, इसमें नई टेक्नोलॉजी को भी जोड़ा जाएगा। साथ ही अब पटवारियों को स्टेट कैडर दिया जाएगा, ताकि प्रदेश में कहीं भी उनका तबादला हो सके। इन नियमों को बदलने के बाद भर्ती परीक्षा आयोजित होगी।

Read More

मुख्यमंत्री: अपराध रोकना आईजी-एसपी की ही जिम्मेदारी नहीं, कलेक्टर की भी है

भोपाल। अपराध रोकना आईजी (पुलिस महानिरीक्षक), एसपी (पुलिस अधीक्षक) की ही नहीं, कलेक्टर की भी जिम्मेदारी है। कलेक्टर जिले में हर माह कम से कम एक बार सभी विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक करें। यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को मंत्रालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से कमिश्नर, आईजी, कलेक्टर और पुलिस अधीक्षकों के साथ महिला अपराधों की समीक्षा करते हुए कही।

Read More

विवादों में घिरी फिल्म पद्मावती MP में प्रतिबंधित करने चलाया हस्ताक्षर अभियान

भोपाल। विवादों में घिरी फिल्म पद्मावती 1 दिसंबर को रिलीज नहीं होगी। फिल्म निर्माताओं ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि रिलीज की नई तारीख जल्द घोषित की जाएगी। फिल्म पद्मावती को लेकर दाखिल याचिका पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा। सुनवाई से पहले फिल्म के विरोध में उतरे कई सामाजिक संगठनों ने संजयलीला भंसाली के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। वहीं, संस्कृति बचाओ मंच के सदस्यों ने फिल्म को मप्र में प्रतिंबधित करने के लिए हस्ताक्षर अभियान चलाया है।

Read More

मानहानि: मध्य प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता मिश्रा को दो साल की सजा

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान व उनके परिजन पर लगाए गए आरोपों के खिलाफ दायर मानहानि के मामले में स्थानीय अदालत ने प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता केके मिश्रा को शुक्रवार को दो साल की साधारण कारावास की सजा सुनाई। मिश्रा के वकील अजय गुप्ता ने कहा कि हम इस फैसले के खिलाफ मध्य प्रदेश हाई कोर्ट में अपील करेंगे। प्रथम अपर जिला व सत्र न्यायाधीश काशीनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री व उनके परिजन पर लगाए गए मिश्रा के आरोपों को निराधार पाया और झूठे आरोप लगाने के लिए मिश्रा को दो वर्ष की सजा सुनाई।

Read More

दुल्हन की मां ने मोदी को लिखा लेटर, PM ने कपल को दी शादी की बधाई

भोपाल. कोलार निवासी सरकारी स्कूल की टीचर औरंग बानो ने 27 साल पहले पति एजाज अहमद के कश्मीर में शहीद होने के बाद न केवल अपनी बेटी की अकेले ही परवरिश की, उसे पढ़ाया लिखाया और उसकी शादी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को निमंत्रण भेजा था। मुख्यमंत्री ने तो निमंत्रण पत्र का कोई जवाब नहीं दिया, लेकिन प्रधानमंत्री ने पत्र पढ़कर उन्हें बेटी की शादी की बधाई दी, साथ ही उनके त्याग और धैर्य को सलाम करते हुए उन पर गर्व जताया है। दुल्हन की मां ने मोदी को भेजा था शादी का न्यौता...

Read More

विधानसभा के शीतकालीन सत्र में साढ़े तीन हजार सवालों से घिरेगी राज्य सरकार

चौदहवीं विधानसभा के शीतकालीन सत्र में करीब साढ़े तीन हजार से ज्यादा सवालों से विधायकों ने सरकार को घेरने की तैयारी की है। विपक्ष इस सत्र में भांवातर योजना, किसानों, महिला अपराध और कानून व्यवस्था के मुद्दे पर सरकार पर तीखे हमले करने वाला है। इन्हीं मुद्दों से जुड़े सवालों की संख्या ज्यादा बताई जा रही है।

Read More

शिवराज का सातवें वेतनमान वालों को एक और तोहफा, बढाया जायेगा DA

भोपाल। राज्य कर्मचारियों के लिए एक और अच्छी खबर आई है। अब राज्य सरकार सातवां वेतनमान पा रहे राजकीय कर्मचारियों को 1 प्रतिशत महंगाई भत्ता यानि डीए देने जा रही है। इसके अलावा छठा वेतनमान पा रहे कर्मचारियों और अध्यापक संवर्ग के शिक्षकों को भी 3 प्रतिशत डीए दिया जाएगा। 1 प्रतिशत महंगाई भत्ता बढ़ने से सरकार पर हर महीने 10 करोड़ रुपए और 3 प्रतिशत महंगाई भत्ता बढ़ाने के बाद सरकार पर हर महीने 24 करोड़ रुपए का अतिरिक्त खर्च बढ़ जाएगा। आपको बता दें कि बढ़े हुए डीए का भुगतान इसी साल की 1 जुलाई से किया जाना है।

Read More

भोपाल नगर निगम को इंदौर के बराबर पैसा मिले

भोपाल। राज्य वित्त आयोग की संभाग स्तरीय बैठक बुधवार को संभागायुक्त कार्यालय में दोपहर को आयोजित की गई। इस बैठक में महापौर आलोक शर्मा ने नगर निगम भोपाल को इंदौर नगर निगम के समकक्ष वित्त अनुदान देने की मांग की। इसके लिए उन्होंने तर्क दिया कि भोपाल की आबादी इंदौर से महज 20 प्रतिशत ही कम है। निगम का आय-व्यय भी आयोग के अध्यक्ष हिम्मत कोठारी के समक्ष पेश किया। 

Read More