mp mirror logo

शिवराज के शासन में ‘चकरघिन्नी’ बनी बेचारी महिला तहसीलदार

राजगढ़। लगातार तबादले से परेशान राजगढ़ जिले की ब्यावरा तहसील में पदस्थ महिला तहसीलदार अमिता सिंह तोमर ने इस बार सीधे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ट्वीट कर न्याय की गुहार लगाई है। तहसीलदार ने गुरुवार को किए ट्वीट में लिखा- 13 साल की नौकरी के दौरान यह मेरा 25 वां ट्रांसफर है। जब भी मेरा ट्रांसफर किया गया, हर बार 500 किमी दूर ही भेजा गया। क्या ब्यावरा में रसूखदारों का अतिक्रमण हटाना ही इतनी दूर भेजने की वजह है… आखिर मैंने ऐसी क्या गलती कर दी…। मुझ पर मानसिक दबाव है, न्याय की उम्मीद के साथ अपील कर रही हूं.. व्यवस्था में मेरा विश्वास है…। मालूम हो कि तहसीलदार ने राजस्व विभाग के प्रमुख सचिव को भी विस्तृत पत्र लिखा है।

उल्लेखनीय है कि 12 जुलाई को ब्यावरा तहसीलदार अमिता सिंह तोमर का स्थानांतरण 800 किमी दूर सीधी किया गया है। उन्होंने प्रधानमंत्री को किए टवीट और प्रमुख सचिव को लिखे पत्र में कहा है कि गत वर्ष 19 सितंबर को राजगढ़ आने के बाद सारंगपुर तहसीलदार के रूप में ज्वाइन किया। एक साल बाद 20 सितंबर को नरसिंहगढ़ भेज दिया। 6 अप्रैल को ब्यावरा ट्रांसफर कर दिया। यहां तीन माह हुए और अब सीधे सीधी भेज दिया। उन्होंने स्पष्ट किया कि जुलाई 2003 से जुलाई 2017 के बीच में 13 वर्षों में यह 9वां जिला है और 25 वां तहसील स्तरीय स्थानांतरण। ऐसा कर मुझे प्रताड़ित किया जा रहा है।

मुझ पर न भ्रष्टाचार के आरोप न फाइलें पेंडिंग फिर गलती क्या..?

प्रमुख सचिव को लिखे पत्र में कहा कि मेरे खिलाफ न कोई शिकायत आई न लेन-देन व भ्रष्टाचार के आरोप लगे। न मेरे कार्यकाल में फाइलें पेंडिंग हंै, बल्कि राजस्व व बैंक वसूली में राज्य में बेहतर प्रदर्शन रहा। हर वर्ष सीआर बेहतर रहती है। सिंहस्थ में कई प्रमाण-पत्र मिले, सैकड़ों पुरस्कार व मेडल मिले। हाल ही में ब्यावरा में जरूर कुछ रसूखदारों के अतिक्रमण हटाने का काम किया था। क्या यही मुझे इतनी दूर भेजने की वजह है…?

पहले कहते थे केबीसी वाली मैडम, अब ट्रांसफर वाली…

उन्होंने लिखा कि मैंने कौन बनेगा करोड़पति में 50 लाख रू जीते थे, तब से लोग मुझे केबीसी वाली मैडम कहते थे, लेकिन बार-बार हो रहे तबादलों के कारण मुझे ट्रांसफर वाली मैडम कहा जाने लगा। मुझे मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा है। अधिकांश तहसीलदारों की पूरी नौकरी 2-4 जिलों में ही पूरी हो जाती है, लेकिन यहां पर मेरा तो 14 साल में 25 तहसीलों में ट्रांसफर कर दिया गया।

तहसीलदार का विवादों से पुराना नाता

-रतलाम जिले के रावटी में पदस्थापना के दौरान 23 जून 2016 को फेसबुक वॉल पर उन्होंने लिखा था कि प्रधानमंत्री अफगानिस्तान गए तो वहां के मुस्लमानों ने भारत के झंडे सड़क पर लेकर वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारे लगाए। इसलिए प्रधानमंत्री से अनुरोध है कि वे राजीव गांधी आत्महत्या योजना शुरू करें ताकि सेक्युलर और कांग्रेसी विचार वाले ऐसी खबर सुनकर आत्महत्या कर सकें। इसके बाद हुए विवाद के कारण उनका तबादला राजगढ़ जिले में नरसिंहगढ़ कर दिया गया।

– 21 जनवरी को नरसिंहगढ़ में पदस्थापना के समय उन्होंने खुले में शौच जाने पर बालिका को चांटा मार दिया था, जिससे उनका भारी विरोध हुआ था।

– 23 मार्च को उन्होंने ट्वीट करके सरकार के खुले में शौच मुक्त अभियान को लेकर सवाल उठाए थे, जिसमें उन्होंने लिखा था कि ‘ग्रामीणजन का कहना बाजिब है कि शौचालय में एक बाल्टी पानी लगता है, जबकि खुले में एक लोटा। पीने का पानी है नहीं, शौच के लिए कहां से लाएं”?

"जिलों से" से अन्य खबरें

जनसुनवाई में आये 65 आवेदन

कार्यालय अधीक्षक श्री रमेशचन्द्र जोशी ने मंगलवार को आयोजित जनसुनवाई के दौरान 65 आवेदकों को व्यक्तिगत रूप से सुना तथा मौके पर ही हो सकने वाली समस्याओं का निराकरण कराया। जबकि मांगो से संबंधित आवेदनों को संबंधित विभागों को भेजकर परीक्षण कराने एवं उपयुक्त पाये जाने पर उसे अगामी कार्य योजना में सम्मलित करने के भी निर्देश निर्माण एजेंसियो के पदाधिकारियो को दिये। इस दौरान समस्त विभागो के जिला अधिकारी भी उपस्थित थे।
महाविद्यालय का कुआं सूख गया है, पीने के पानी की उठ खड़ी हुई है समस्या

Read More

बेटियों को उच्च शिक्षा देना हमारी प्राथमिकता-विधायक श्री दांगी

कस्तुरबा गांधी बालिका छात्रावास जीरापुर में सर्वशिक्षा अभियान द्वारा आयोजित मां-बेटी मेले के शुभांरभ अवसर पर बालिकाओं द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुतियों में समाज में व्याप्त कुरीतियों पर आधारित लोक गीत बोर बंधन नख रालो, राजस्थानी परंपरा पर आधारित घुमर नृत्य एवं लघु नाटिका के माध्यम से स्वच्छता, वृक्षों और वनो को बचाने तथा समाज में जन-जागरूकता लाने के लिये प्रस्तुत किये। कार्यक्रम का शुभारंभ गणेश वंदना से किया गया।

Read More

बेटियों को उच्च शिक्षा देना हमारी प्राथमिकता-विधायक श्री दांगी

कस्तुरबा गांधी बालिका छात्रावास जीरापुर में सर्वशिक्षा अभियान द्वारा आयोजित मां-बेटी मेले के शुभांरभ अवसर पर बालिकाओं द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुतियों में समाज में व्याप्त कुरीतियों पर आधारित लोक गीत बोर बंधन नख रालो, राजस्थानी परंपरा पर आधारित घुमर नृत्य एवं लघु नाटिका के माध्यम से स्वच्छता, वृक्षों और वनो को बचाने तथा समाज में जन-जागरूकता लाने के लिये प्रस्तुत किये। कार्यक्रम का शुभारंभ गणेश वंदना से किया गया।

Read More

प्रधानमंत्री ने परीक्षा के समय तनाव प्रबंधन के लिए विद्यार्थियों को दिये टिप्स

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज कक्षा 6 से 12 वी तक के विद्यार्थियों को परीक्षा के समय होने वाले तनाव के प्रबंधन के संबंध में टिप्स दिये उन्होने परीक्षा के समय तनाव प्रबंधन पर लिखी गई पुस्तक "Exam Warriors" में उल्लेखित कुछ बिंदुओ पर चर्चा करते हुए विद्यार्थियों को विस्तार पूर्वक बताते हुए परीक्षा का डर दिमाग से निकाल देने और शांत मन से परीक्षा की तैयारी करने के लिए समझाईश दी।

Read More

भारत तिब्बत सीमा पुलिस के जवानों ने दिया नर्मदा संरक्षण का संदेश

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के 42 सदस्यों ने शुक्रवार को दो रबर की पतवार वोट से राजघाट पहुंचकर उपस्थित श्रद्धालुओं, विद्यार्थियों को नर्मदा संरक्षण का संदेश दिया। इस दौरान जवानों एवं उनके पदाधिकारियों ने जहां विद्यार्थियों के साथ मिलकर घाट पर फैली पूजन सामग्री एकत्रित कर स्वच्छता का संदेश दिया। वही नर्मदा का संरक्षण क्यों जरूरी है, इसके बारे में उपस्थितो  को बताकर जागरुक किया।

Read More

वृहद विधिक सेवा शिविर 24 फरवरी को ग्राम असीरगढ़ में होगा आयोजित

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बुरहानपुर द्वारा ग्राम असीरगढ़ स्थित हॉयर सेकेण्डरी स्कूल परिसर में आगामी 24 फरवरी 2018 (शनिवार) को प्रातः 11 बजे से वृहद विधिक सेवा शिविर का आयोजन किया जा रहा हैं। वृहद विधिक सेवा शिविर का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जायें। 

Read More

पशुपालन विभाग द्वारा कड़कनाथ चुजे का वितरण किया गया

उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवायें से प्राप्त जानकारी के अनुसार पशुपालन विभाग मण्डला द्वारा आज 7 फरवरी 2018 को विभाग की 80 प्रतिशत अनुदान पर कड़कनाथ कुक्कुट ईकाईयों का वितरण मण्डला जिले के हितग्राहियों को किया गया। उक्त योजना की कुल ईकाई लागत वर्तमान में 4400 रूपये है जिसमें हितग्राही द्वारा 20 प्रतिशत अंशदान राशि 880 रूपये जमा की जाती है। 

Read More

लक्ष्य बनायें, एकाग्रचित् होकर करें तैयारी - राज्यमंत्री श्री जोशी

पौराणिक इतिहास में भी हमने सीखा है कि अर्जुन ने अपने लक्ष्य को तभी पाया, जब एकाग्रचित् होकर लक्ष्य अर्जित करने का प्रयास उन्होने किया। इसलिये आप सभी भी एकाग्रचित् होकर तैयारियों में जुटें और अपना लक्ष्य अर्जित करें। यह प्रेरणा देती हुई बातें शुक्रवार को प्रदेश के तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास (स्वतंत्र प्रभार), श्रम, स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री श्री दीपक जोशी ने डीपीसी स्कूल में विद्यार्थियों से कहीं। उन्होने कहा कि आप लोग अपने प्रोफेशन में उच्चतम मुकाम तक पहुंचें। लेकिन जरुरी है कि अच्छे प्रोफेशनलिस्ट बनने के साथ ही आप एक अच्छे भारतीय नागरिक भी बनें। मोबाईल और कम्प्यूटर का इस्तेमाल उतना ही करने का सुझाव राज्यमंत्री श्री जोशी ने विद्यार्थियों को दिया, जितना की ज्ञान अर्जित करने के लिये जरुरी हो।

Read More

फिर सरकार पर हमलावर यशंवत सिन्हा, शिव’राज’ में किसानों के लिए धरने पर बैठे

नरसिंहपुर पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा भाजपा सरकार को निशाने पर लेने का कोई भी मौका नहीं छोड़ना चाहते हैं। इस बार वे शिवराज सरकार की नींदें उड़ाने मध्यप्रदेश जा पहुंचे हैं। जसवंत सिन्हा मध्यप्रदेश में आंदोलनकारी किसानों पर दर्ज मामलों को वापस लेने की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। एक फरवरी को उन्होंने किसान के लिए अपने पहले आंदोलन की शुरुआत नरसिंहपुर से की। एनटीपीसी से जुड़े भू-विस्थापित किसानों को राहत देने व उन पर दर्ज किए एससीएसटी एक्ट के मामले की निष्पक्ष पड़ताल करने की मांग को लेकर उन्होंने कलेक्टोरेट के मुख्य गेट पर गुरुवार को करीब एक बजे से धरना शुरू कर दिया। प्रशासन ने उनसे बातचीत भी करने की कोशिश की, लेकिन वार्ता विफल रही।

Read More

मानव समाज के पथ प्रदर्शक संत रविदास - लाल सिंह आर्य

मनुष्य कर्म से महान बनता है। अपनी सोच से वह समाज को दिशा देता है। जब मैं भारतीय संस्कृति एवं परम्परा को पढ़ता हूँ और समझने की कोशिश करता हूँ तो अभिभूत हो जाता हूँ। जन्म जननी भारत ने हर वर्ग को इतना ऊँचा स्थान दिया कि उसके आगे सब कुछ गौण हो जाता है। आज मैं संत कवि रविदास जी का स्मरण करते हुए यह कल्पना कर रोमांचित हो जाता हूँ कि वह कैसा समय रहा होगा जब एक बहुत मामूली से व्यक्ति ने अपने सकारात्मक विचारों से समूचे समाज की सोच को बदल दिया। समाज की दशा सुधारने में संत रविदास जैसी पुण्यात्माओं का अमिट योगदान रहा है। 

Read More