mp mirror logo

महाराष्ट्र सरकार का नया नियम, किसी का हुक्का-पानी बंद किया तो खाप पंचायतों की खैर नहीं

अब महाराष्ट्र में पंचायतें किसी का सामाजिक बहिष्कार नहीं कर सकेंगी. कभी जाति, कभी गोत्र तो कभी परंपरा के नाम पर होने वाले सामाजिक बहिष्कार पर महाराष्ट्र सरकार ने रोक लगा दी है. इसके लिए फडणवीस सरकार ने जाति पंचायत विरोधक कानून लागू कर दिया है. इसके तहत यदि कोई पंचायत किसी भी वजह से किसी परिवार या व्यक्ति का हुक्का पानी बंद करती है या गांव से बाहर जाने का फरमान देती है तो पूरी पंचायत को तीन साल तक की सजा होगी.

सरकार के नये आदेश के अनुसार पंचायत ही नहीं जो लोग इस कार्यवाही में शामिल होकर बहिष्कार के फैसले पर हामी भरेंगे वे भी सजा के हकदार होंगे. ऐसे प्रत्येक व्यक्ति पर एक लाख रुपये जुर्माना भी लगाया जाएगा. महाराष्ट्र के कई गांवों में अब भी दलितों को खास कुओं से पानी भरने और कुछ जगहों पर मंदिरों में जाने की मनाही के कई मामले सामने आए हैं. इसके अलावा दूसरी जाति में शादी करने पर समाज से बहिष्कार और पिटाई के मामले भी अक्सर सामने आते हैं. जाहिर तौर पर ऐसी खाप या जाति पंचायतो पर कड़ी लगाम लगाना जरुरी है. इसलिए विधानसभा ने ये कानून पारित किया था जिसे अब लागू कर दिया गया है.

लेकिन सवाल अब भी बाकी है कि क्या केवल कानून बना देने से इस तरह के मामलों पर रोक लग पाएगी? क्योंकि जब तक समाज की मानसिकता नहीं बदलती तब तक कानून सिर्फ कागजों तक ही सिमट कर रह जाएगा.

बहरहाल नये कानून के अनुसार इस तरह की खाप या जाति पंचायत बुलाना ही गैर कानूनी होगा. इस तरह की सूचना मिलने पर पुलिस को तुरंत वहां जाकर पंचायत को रोकना होगा. सामाजिक बहिष्कार की शिकायत दर्ज करने में यदि कोई पुलिसकर्मी आनाकानी करता है तो वह भी इस कानून के तहत दोषी माना जाएगा.

"नेशनल" से अन्य खबरें

दुर्गा विसर्जन पर कलकत्ता हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ SC जाएगी ममता सरकार

मूर्ति विसर्जन मामले में कलकत्ता हाईकोर्ट से झटका लगने के बाद ममता सरकार अब सुप्रीम कोर्ट का रुख करेगी. ममता सरकार हाईकोर्ट के द्वारा पलटे गए फैसले के खिलाफ शुक्रवार को ही याचिका दायर कर सकती है.

बता दें कि HC ने मूर्ति विसर्जन पर राज्य सरकार का फैसला पलट दिया था. कोर्ट ने मुहर्रम के दिन मूर्ति विसर्जन से रोक को हटा दिया था. कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि पहले की तरह रात 12 बजे तक विसर्जन किया जा सकता है.

Read More

पुरुष भक्तों से पत्नी को भी बहन कहलवाता था राम रहीम, डेरा में समलैंगिक हो गए थे कई अनुयायी

मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बलात्कार के लिए 20 साल की सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम के करीबियों के समलैंगिक थे। इंडिया टुडे ने डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के करीबियों के हवाले से लिखा है कि डेरा प्रमुख पुरुष सेवकों को नपुंसक बनवा देता था और कुछ लोग खुशनसीब थे वही इससे बच पाए लेकिन ऐसे लोग समलैंगिक बन चुके थे। डेरा सच्चा सौदा में छह साल काम करने का दावा करने वाले गुरदास सिंह तूर ने इंडिया टुडे से कहा कि पुरुष अनुयायियों पर महिलाओं से घुलने-मिलने पर लगी पाबंदी के कारण वो समलैंगिक बनने को मजबूर होते थे। 

Read More

राम रहीम पर बन रही है फिल्म, हनीप्रीत बनेंगी राखी सावंत

मुंबई। डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत बाबा राम रहीम रेप के आरोप में जाल में बंद हैं। वहीं उनकी गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत की तलाश में पुलिस जुटी है। अब खबर है कि बॉलीवुड में बाबा राम रहीम पर फिल्म बनने वाली हैं। फिल्म की शूटिंग की भी शुरु हो गई है।

राम रहीम और हनीप्रीत पर बनने वाली इस फिल्‍म में हनीप्रीत के किरदार में राखी सावंत नजर आने वाली हैं, जबकि बाबा का किरदार प्रसिद्ध एक्‍टर रजा मुराद करेंगे। फिल्‍म में एजाज खान भी नजर आने वाले हैं।

Read More

नेपाल में देखी गई हनीप्रीत, सादे लिबास में पहुंची हरियाणा पुलिस

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की खास हनीप्रीत के बारे में पुलिस को जानकारी मिली है. सूत्रों के अनुसार, हनीप्रीत को नेपाल के ईटहरी इलाके में देखा गया है. इसके बाद उसकी तलाश में छापेमारी हो रही है.
इसके बाद हरियाणा पुलिस के जवान सादे लिबास में वहां छापेमारी कर रहे हैं. उनके साथ नेपाल पुलिस भी है. वहीं नेपाल पुलिस की सीबीआईडी की स्पेशल टीम भी बॉर्डर पर पहुंच गई है.

Read More

राम रहीम: पंचकूला हिंसा के गुनहगारों की लिस्‍ट तैयार, हनीप्रीत मोस्ट वांटेड

राम रहीम को दो साध्वियों से रेप के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने आरोपियों की सूची जारी की है. हरियाणा पुलिस की ओर से जारी सूची में हनीप्रीत का नाम सबसे उपर है. इस सूची को वेबसाइट पर डाला गया है और इसमें कुल 43 नाम हैं.
 

Read More

अमित शाह से कोर्ट में माया कोडनानी केस के वकील ने किए ये सवाल और मिला ऐसा जवाब

अहमदाबाद: गुजरात में साल 2002 में हुए नरोदा गाम दंगे के मामले में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आज गवाही देने अहमदाबाद की स्पेशल एसआईटी कोर्ट पहुंचे. अमित शाह ने कोर्ट को बताया कि माया कोडनानी उस दिन राज्य विधानसभा में 8.30 बजे मौजूद थीं. 

Read More

पंचतत्व में विलीन हुए अर्जन सिंह, 17 तोपों-फ्लाई पास्ट के साथ दी गई सलामी

भारतीय वायु सेना के मार्शल अर्जन सिंह का अंतिम संस्कार सोमवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया गया. अर्जन सिंह देश के इकलौते वायुसेना अधिकारी थे जिन्हें फाइव स्टार रैंक और मार्शल की उपाधि दी गई थी.

अर्जन सिंह के सम्मान में सभी सरकारी इमारतों में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुकाया गया है.

Read More

7th Pay Commission: बढ़ी हुई सैलरी के एरियर पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, कर्मचारियों को नहीं मिलेगा बकाया

केंद्र सरकार बहुत ही जल्द केंद्रीय कर्मचारियों की न्यूनतम आय में बढ़ोतरी करने जा रही हैं। एक तरफ तो कर्मचारियों को सरकार सैलरी बढ़ाकर तोहफा दे रही हैं तो वहीं दूसरी तरफ सरकार ने फैसला लिया है कि इन कर्मचारियों को एरिएर की सुविधा नहीं दी जाएगी। इस महीने के शुरुआत में मीडिया की सुर्खियों में छाया था कि मोदी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन को बढ़ा दिया गया है। वर्तमान में केंद्रीय कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 18,000 रुपए है जो कि सरकार के इस फैसले के बाद 21,000 रुपए प्रति माह हो जाएगा।

Read More

राम रहीम के खिलाफ मर्डर केस में सुनवाई, चप्पे-चप्पे पर पुलिस

पंचकूला। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ हत्या के 2 मामलों में शनिवार को सुनवाई है। किसी भी प्रकार के उपद्रव से बचने के लिए पूरे इलाके में पहले ही सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। पंचकूला में अर्धसैनिक बलों और हरियाणा पुलिस की टुकड़ियों को तैनात किया गया है। राम रहीम फिलहाल रोहतक की जेल में बलात्कार की सजा काट रहा है।

Read More

रोहिंग्या मुसलमान देश में रहेंगे या नहीं, सोमवार को सुप्रीम कोर्ट को बताएगी मोदी सरकार

केंद्र सरकार सोमवार को उच्चतम न्यायालय में हलफनामा दायर कर रोहिंग्या मुस्लिमों को वापस म्यांमार भेजने की योजना का खुलासा करेगी। केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज एक समारोह में शिरकत के बाद यह जानकारी दी। सिंह ने कहा कि ‘‘सरकार 18 सितंबर को इस मामले में उच्चतम न्यायालय में हलफनामा पेश करेगी।’’ मालूम हो कि अवैध रुप से भारत में रह रहे म्यामां के रोहिंग्या समुदाय के लोगों के भविष्य को लेकर उच्चतम न्यायालय ने सरकार से अपनी रणनीति बताने को कहा था। सरकार द्वारा रोहिंग्या समुदाय के लोगों को वापस म्यांमार भेजने के फैसले के खिलाफ याचिका को सुनने के लिए स्वीकार करते हुये अदालत ने सरकार से जवाब मांगा है।

Read More