mp mirror logo

व्यापमं घोटाले के व्हिसिल ब्लोअर आशीष ने सार्वजनिक किया CBI का लिखा पत्र

भोपाल।व्यापमं घोटाले के व्हिसिल ब्लोअर आशीष चतुर्वेदी ने सीबीआई पर व्यापमं घोटाले की जांच में जानबूझकर उपेक्षा बरतने के आरोप लगाते हुए अफसरों की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए हैं। आशीष ने 18 जून को ट्विटर पर सीबीआई के ज्वाइंट डायरेक्टर आरपी अग्रवाल के नाम लिखे पत्र के सार्वजनिक किया है। पत्र 6 माह पुराना है, जो 14 दिसंबर 2016 को रजिस्टर्ड डाक से सीबीआई भोपाल दफ्तर के साथ ही सीबीआई डॉयरेक्टर राकेश अष्ठाना को भी भेजा गया था।

आशीष ने बताया कि इस पत्र के बाद सीबीआई के अफसरों ने 3 से 4 बार उनसे व्यक्तिगत रूप से मुलाकात कर अनऑफिशियली जानकारी ली है, लेकिन अधिकारिक रूप से साक्ष्य लेने को तैयार नहीं हैं। आशीष ने बताया कि मिलने आने वाले सीबीआई के सीनियर अफसर उससे आकर कहते हैं कि यह अपराध काफी पुराना है और यह क्लोज्ड डोर क्राइम
है। इसलिए इस मामले में जांच का किसी अंजाम तक पहुंच पाना संभव नहीं हैं। ऑन रिकॉर्ड यह अफसर घोटाले से जुड़ी जानकारी लेने तैयार नहीं हैं।

सीधी बात… एक जुलाई से लागू हो रहे जीएसटी पर कमिश्नर कमर्शियल टैक्स राघवेंद्र सिंह से चर्चा
केवल इनीशियल माइग्रेशन ले चुके व्यापारी कारोबार शुरू कर सकेंगे, चाहे उनका डाटा अपलोड हुआ हो या नहीं। इसके बाद भी रजिस्ट्रेशन के लिए तीन माह का समय दिया जा सकता है। व्यापारियों को परेशानी नहीं होगी…

Q आखिर व्यापारी जीएसटी के खिलाफ हड़ताल क्यों कर रहे हैं?
A व्यापारी जीएसटी को समझने में गलती कर रहे हैं। जीएसटी में सारे टैक्स मिलाकर एक हो रहे हैं। व्यापारियों को काम करने में आसानी होगी। हम इसके लिए लगातार कार्यशाला भी आयोजित कर रहे हैं। उन्हें हम इस नियम की बारिकियां समझा रहे हैं। हमने प्रदेशभर में 200 से अधिक हेल्प डेस्क बनाई हैं। जीएसटी के आने के बाद कई मौजूदा कानून खत्म हो जाएंगे।

Q जीएसटी लागू होने में सिर्फ 14 दिन शेष हैं। अभी भी 31 हजार लोगों ने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है। क्या इन्हें और समय दिया जाएगा?
A मैं पहले ही बता चुका हूं कि 25 जून से दोबारा पंजीयन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। हम छह दिन में शेष व्यापारियों का पंजीयन कर देंगे।

Q क्या मध्यप्रदेश में जीएसटी आसानी से लागू हो पाएगा?
A विभाग की तैयारियां पूर्णता की ओर हैं। विभाग के 1000 अधिकारियों का प्रशिक्षण पूरा हो चुका है। 2300 अधिकारियों को हैंड्स ऑन कंप्यूटर की ट्रेनिंग दी गई है। 85 फीसदी से अधिक व्यापारियों का पंजीयन जीएसटीएन पर हो चुका है। प्रदेशभर में सेंट्रल एक्साइज के साथ मिलकर 300 से अधिक कार्यशालाएं आयोजित कर रहे हैं। 25 जून से पंजीयन का काम फिर से शुरू हो रहा है। 1 जुलाई तक केवल इनीशियल माइग्रेशन ले चुके व्यापारी कारोबार शुरू कर सकेंगे। चाहे उनका डाटा अपलोड हुआ हो या नहीं। एक जुलाई के बाद भी रजिस्ट्रेशन के लिए तीन माह का समय दिया जा सकता है।

Q जीएसटी को लेकर कमर्शियल टैक्स, सेंट्रल एक्साइज, सर्विस टैक्स और कस्टम विभाग में काफी मतभेद रहे हैं। अब क्या स्थिति है?
A कहीं कोई मतभेद नहीं है। हम सेंट्रल एक्साइज विभाग के साथ मिलकर पूरे प्रदेश में ब्लॉक स्तर तक 300 वर्कशॉप आयोजित कर चुके हैं। 1.50 करोड़ तक के टर्नओवर वाले 10 फीसदी मामले सेंट्रल एक्साइज के पास रहेंगे और 90 फीसदी राज्य के कमर्शियल टैक्स विभाग के पास। 1.50 करोड़ रुपए से ज्यादा के टर्नओवर वाले व्यापारियों के असेसमेंट में दोनों के पास 50-50 फीसदी मामले होंगे।

Q सेंट्रल एक्साइज और कमर्शिलय टैक्स के बीच प्रकरणों का बंटवारा कैसे होगा?
A जीएसटी काउंसिल ने यह तय किया है कि दोनों प्रकरणों में बंटवारा कंप्यूटराइज्ड रेंडम बेस पर होगा। यह व्यवस्था 1.5 करोड़ रुपए से कम और ज्यादा वाले दोनों प्रकरणों में लागू होगी।

Q जीएसटी से जुड़े कई मसलों पर अभी स्पष्टता का अभाव है। विभाग क्या कर रहा है?
A जहां स्पष्टता का अभाव है उसको लेकर हम फिक्रमंद हैं। प्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया ने कई बिंदुओं पर वित्त मंत्री अरुण जेटली से बातचीत की है। इलेक्ट्रॉनिक वे-बिल की अनिवार्यता खत्म करने की मांग की है। लोगों को यह समझ लेना चाहिए कि जो 1 जुलाई को तय हो जाएगा वह अंतिम नहीं होगा। इस पर समय-समय पर बदलाव होते रहेंगे।

Q क्या यह सच है कि जीएसटी का रेट पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा 28 फीसदी भारत में है?
A अगर केवल 18 फीसदी की एक दर होती तो हमने अनाज समेत कई वस्तुओं में जीरो फीसदी टैक्स रखा, वह नहीं रख पाते। जहां तक एक से अधिक दरें होने की बात है तो नार्वे में भी एक से अधिक टैक्स की दरें हैं।

"जिलों से" से अन्य खबरें

एमपी: धर्मांतरण के आरोप में 30 पादरी हिरासत में, थाने पहुंचे ईसाई धर्मगुरुओं की जलाई कार

मध्यप्रदेश के सतना शहर के एक गांव में कैरोल गा रहे 30 से ज्यादा पादरियों और सेमिनरीज को पुलिस ने गुरुवार को हिरासत में ले लिया है।

Read More

इंदौर में टी-20 का जबरदस्त रोमांच : दो घंटे में बिक गए गैलरी के साढ़े पांच हजार टिकट

इंदौर. भारत-श्रीलंका के बीच २२ दिसंबर को होने वाले अंतरराष्ट्रीय टी-२० मुकाबले के टिकटों की ऑनलाइन बिक्री गुरुवार सुबह ६ बजे शुरू हुई। पेटीएम और इनसाइडर वेबसाइट पर बिक्री शुरू होने के महज दो घंटे में ही ईस्ट और वेस्ट गैलरी के करीब ५५०० टिकट बिक गए, जबकि पैवेलियन के महंगे टिकट देर रात तक वेबसाइट पर मौजूद थे।

Read More

आदिवासी मत्स्य उद्योग सहकारी समिति के 40 मत्स्य पालक परिवार हुए आत्मनिर्भर

आदिवासियों में मत्सयपालन की परम्परा प्राचीन काल से ही रही है। आदिवासी परिवार अपने पौष्टिक आहार एवं उत्सव के लिए छोटे-छोटे तालाबों में मत्स्य पालन करते रहे हैं। पुष्पराजगढ जनपद पंचायत के ग्राम पोडकी में जल संसाधन विभाग द्वारा पूर्व के वर्षो में सिंचाई हेतु जोहिला जलाशय का निर्माण कराया गया था। प्रारंभ में इस जलाशय का प्रारंभ में सिंचाई कार्य हेतु उपयोग किया जाता था। जब मत्स्यपालन विभाग के अधिकारियों ने ग्राम के कृषकों को खेती के साथ मत्स्यपालन कर अधिक लाभ कमाने की जानकारी लोगों को दी तो वे तैयार हो गये। 

Read More

प्रगतिशील कृषक भी खुश है भावांतर योजना में मिल रहे लाभ से (सफलता की कहानी)

बड़वानी जिले के ग्राम बगूद रहवासी प्रगतिशील किसान श्री सालिगराम जाट, भावान्तर योजना में मक्का विक्रय पश्चात मिल रही भावान्तर की राशि से प्रसन्न है। उनका कहना है कि मुख्यमंत्री ने इस योजना को लागू कर छोटे-मझले किसानों के उत्पाद पर मिलने वाले लाभ को युक्तियुक्तकरण कर जो दाम दिलवा रहे है, उससे सभी किसान खुश है।

Read More

लगता है कि किसी प्ले स्कूल में आ गए (सफलता की कहानी)

हरदा जिले के खिरकिया तहसील मुख्यालय के एनआरसी सेंटर को देखें तो आपको लगेगा कि किसी प्ले स्कूल में आ गए हों। दीवारों पर जंगली जानवरों का चित्रण। साफ-सुथरे बेड, बच्चे खिलौना गाड़ियों में घूमते हुए। यह खूबसूरत सा एनआरसी सेंटर पिछले नौ सालों से बच्चों के सुपोषण के लिए कार्य कर रहा है। यहाँ एक बार में 20 बच्चों के पोषण की व्यवस्था है। वातावरण हाइजनिक है। यहाँ माँ और बच्चों के रहने-खाने की व्यवस्था है। 

Read More

अभ्यर्थियों को परीक्षा केन्द्र पर मूल प्रवेश पत्र के साथ मूलफोटो पहचान पत्र लाना अनिवार्य रहेगा

कलेक्टर श्री राजेश जैन ने पटवारी भर्ती परीक्षा पूरी गंभीरता एवं सजगता के साथ सम्पन्न कराने के आब्जर्वरों को निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने इस आशय के निर्देश यहॉं कलेक्ट्रेट में सम्पन्न हुई आब्जर्वरों की बैठक में दिए। यह बैठक पटवारी भर्ती परीक्षा के आयोजन के सिलसिले में आयोजित की गई थी। बैठक में अपर कलेक्टर श्री नियाज अहमदखान, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सत्येन्द्र सिंह तोमर, संयुक्त कलेक्टर श्री भूपेन्द्र गोयल समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं आब्जर्वर उपस्थित थे। 

Read More

सैनिक का पार्थिव शरीर पहुंचा देवास, गांव में सभी की आंखें नम

देवास। श्रीनगर में हुए एक हादसे में गोली लगने से सैनिक निलेश धाकड़ (26) की मौत हो गई थी। गुरुवार सुबह उनकी पार्थिव देह देवास पहुंची। धाकड़ पांच साल पहले सेना में भर्ती हुए थे। वर्तमान में उनकी पोस्टिंग श्रीनगर में थी। सोनकच्छ तहसील में स्थि‍त उनके गृहग्राम घिचलाय में निलेश धाकड़ को सैनिक सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी जाएगी। गांव के रास्ते में जगह-जगह अंतिम विदाई देने के‍ लिए 50 से अधिक मंच बनाए गए हैं।

Read More

बजरंग इलेवन और केजीएन इलेवन के बीच हुआ रोमांचक मैच

विराट क्रिकेट क्लब शहडोल के तत्वावधान में आज संभागीय मुख्यालय शहडोल के टेक्निक स्कूल ग्राउण्ड में क्वार्टर फायनल क्रिकेट मैच आयोजित हुआ। क्वार्टर फायनल बजरंग इलेवन और केजीएन इलेवन के बीच खेला गया। क्वार्टर फायनल मैच में बजरंग इलेवन की टीम ने पहले बैटिंग करते हुये 150 रन बनाये वहीं लक्ष्य का पीछा करते हुये केजीएन इलेवन की टीम ने 145 रन बनाये। 

Read More

कृषि विज्ञान केन्द्र बड़वानी द्वारा ’’विश्व मृदा दिवस’’ आयोजित किया गया

कृषि विज्ञान केन्द्र बडवानी द्वारा मंगलवार को केन्द्र के सभागार में ’’विश्व मृदा दिवस’’ का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. डी. के. जैन, प्रभारी वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख ने की साथ ही कार्यक्रम में श्री एन, बी. वर्मा उप परियोजना संचालक (आत्मा), श्री दीपक कुमार बेनल सहायक संचालक (कृषि), श्री कछावा जी एम. पी. एग्रो, डॉ. एस. के. बड़ोदिया एवं झंझाड़ सिहं अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। जिले के प्रगतिशील कृषकों एवं कृषक महिलाओं की भी कार्यक्रम में सक्रिय भागीदारी रही।

Read More

राज्य सेवा के अधिकारियों ने ग्रामीण भ्रमण में देखी व्यवस्थाऐं

प्रशासनिक अकादमिक भोपाल से जिले में राज्य सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों को भेजने की व्यवस्था सुनिश्चित की। इन अधिकारियों ने विगत दिनो ग्राम बिलाव एवं पिथनपुरा भ्रमण के दौरान शासन की योजनाओं की मैदानी हकीकत जानी। साथ ही किसानों की खेती को फायदे का धंधा बनाने की दिशा में क्षेत्रीय किसानों से चर्चा की। 

Read More